कंगना रनौत : चीन के सामानों का करें बहिष्कार

न्यूज़

कंगना हमेसा से अपने बेबाक अंदाज़ के लिए जानी जाती हैं। कंगना फिल्म इंडस्ट्री पर ही नहीं बल्कि समाज और राजनीति से जुड़े मुद्दों पर भी खुलकर बोलती है। कंगना ने पिछले दिनों लद्दाख में भारतीय सेना पर हुए चीनी

हमले की निंदा इस हमले में भारत के 20 जवान शहीद हो गए थे।अब इसी मुद्दे पर कंगना ने एक वीडियो के जरिए अपने विचार शेयर किए हैं।

कंगना रनौत : चीन के सामानों का करें बहिष्कार
कंगना रनौत : चीन के सामानों का करें बहिष्कार

कंगना रनौत ने भारतीय सेना पर हुए चीनी हमले की निंदा करते हुए बायकॉट चायना का समर्थन किया बॉलिवुड ऐक्ट्रेस कंगना रनौत ने सोशल मिडिया पर एक वीडियो साझा किया है। जिसमे उन्होंने लद्दाख में भारतीय सेना पर हुए क्रूर चीनी हमले की निंदा करते हुए कहा की, यह हमला हमारे सैनिको पर नहीं हमारे राष्ट्र पर हमला हुआ है। हमें (भारतीय सैनिको) हमारे शहीदों के बलिदान को भूलना नहीं चाहिए। हमें शहीदों के परिवारों की स्थिति को समझाना होगा और चायना को सबक सीखना होगा

हमारे शहीदों के सर्वोच्च बलिदान का सम्मान करने और चीन को सबक सिखाने का यही समय है

हमें इस युद्ध में भारतीय सैनिको और सरकार का साथ देते हुए चायना के कोई भी प्रोडक्ट को बायकॉट करना है। कंगना कहती है की अगर कोई हमारे हाथ से हमारी उंगलियों को काटे या हमारी भुजाओ से हमारे हाथो को काटे तो किस तरह का कष्ट होगा आपको,वही कष्ट पहुंचाया है। चायना ने हमें लद्दाख पर अपनी लालची नजरे गड़ाकर और वहा पर हमारी सीमा का एक – एक इंच बचाते हुए हमारी सेना के 20 जवान शहीद हो गए है, तो क्या भूल पाएंगे आप उनकी माँओ के आँसुओ को,उनकी विधवाओं की चीखो को और उनके बच्चो के दिए बलिदान को

कंगना आगे कहती है। क्या यह सोचना ठीक है, की जो युद्ध होता है सिर्फ सेनाओ का होता है। और सरकार का होता है उसमे हमारा कोई योगदान नहीं होता है

महात्मा गांधी जी बात को याद दिलाते हुए कंगना कहती है। क्या हम भूल गए वो वक्त जब महात्मा गांधी जी ने कहा था की अगर अंग्रेजो की नीव तोड़नी है। तो भारत में उनके बनाये हर उत्पादन का बहिष्कार करना होगा। तो क्या यह जरुरी नहीं है की हम भी इस युद्ध में हिस्सा ले। क्योंकी लद्दाख सिर्फ एक जमीं का टुकड़ा नहीं है। लद्दाख भारत की अस्मिता (अभिमान) का बहुत बड़ा हिस्सा है। लद्दाख भारत की हथेली है। हम उसके लिए दुश्मनो को उनके गंदे इरादों में सफल नहीं होने दे सकते।

वो आगे कहती है तो क्या हम लोगो को इसमें हिस्सा नहीं लेना चाहिए। की जो भी चायना के प्रोडक्ट आते है ,जिन – जिन कम्पनि में उसने इन्वेस्ट किया हुआ है। उनसे उनको रिटन्स आते है। रेवेन्यूस आते है, भारत में चायना का जो भी प्रॉफिट होता है। उन सबका बहिष्कार करे,

ताकि वो यहाँ से जो सम्पति इकठा करके जाते है उस सम्पति, उस पैसे से हथियार खरीद कर हमारी सेना का (हमारे सैनिको ) का सीना छलनी करते है। तो क्या हम इस युद्ध में चायना का साथ दे सकते है। आप बताइये क्या ये हमारा कर्तव्य नहीं की हम अपनी सेना का अपनी सरकार का साथ दे। तो हम प्रतिज्ञा लेते है, की हम आत्मनिर्भर रहेंगे और चायनीज़ प्रोडक्ट को बिलकुल बायकॉट करेंगे और इस युद्ध में हिस्सा लेंगे
जय हिन्द जय भारत

इससे पहले भी कंगना ने बॉलिवुड ऐक्टर सुशांत सिंह राजपूत की आत्महत्या पर बेबाकी से अपने बयान सबके सामने रखे थे। जिसमे कंगना को बहुत लोगो का सपोट मिला था

कंगना रनौत: सुशांत ने सुसाइड नहीं किया यह प्लान्ड मर्डर था

Leave a Reply