केरल: गर्भवती हथिनी की हत्या

न्यूज़
केरल: गर्भवती हथिनी हत्या
केरल: गर्भवती हथिनी हत्या

क्यों हमारे देश में ऐसा हो रहा ह। पहले इंसान इंसान का दुश्मन बना रोज़ नए नए बहाने ढूढ रहा था मारने के पर अब अबोध जानवर जो सिर्फ प्यार का भूखा है, उसे भी धोके से मार रहा है कहा गयी भारत की सभ्यता

Advertisement

अब इंसान इतना निर्दय हो चूका है की गर्भवती हथनी को मार दिया धोके से एक साथ दो दो हत्याएं

केरल में आज बहुत ही शर्मनाक घटना हुई है जिसे देखने और सुनने के बाद मानवता से विश्वास उठा जाता है खुद को प्रकृति से जुड़ा बताने वाले केरल राज्य के लोगो ने एक गर्भवती हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया था ।अनानास मादा हाथी के मुंह में फट गया जिससे वह बुरी तरह से जख्मी हो गई।

जंगल से भोजन की खोज में गांव आई गर्भवती हथिनी की धोके से स्थानीय लोगो ने ली जान

दिल दहला देने वाली यह घटना सोशल मीडिया पर नीलाम्बुर के खंड वन अधिकारी मोहन कृष्णन ने साझा कि। उत्तरी केरल के मलप्पुरम जिले में एक गर्भवती हथिनी खाने की तलाश में भटकते हुए जंगल से गांव में आ गई और गांव के मानवता विहीन स्थानीय लोगो ने हथिनी को पटाखों से भरा अनानास खिला दिया था। अनानास हथिनी के मुंह में फट गया जिससे वह बुरी तरह से जख्मी हो गई।और दर्द से इधर उधर भागने लगी पर दर्द में भी उसने गांव में किसी को नुकसान नहीं पहुंचाया।

गर्भवती हथिनी बहुत सीधी थी

वह बेहद सीधी थी। वह इतनी बुरी तरह जख्मी हो गई थी कि कुछ खा भी नहीं पा रही थी। खाने की तलाश में वह वेल्लियार नदी तक पहुंची और नदी में मुंह डालकर खड़ी हो गई। शायद पानी में मुंह डालने से उसे आराम मिला हो।

हथिनी इंसानो को देख डरने लगी

जैसे ही वन विभाग के कर्मचारीयो को हथिनी की जानकारी मिली, वन विभाग के कर्मचारी उसके रेस्क्यू के लिए पहुंचे।परन्तु हथिनी पानी से बहार आने को त्यार नहीं थी सायद इंसानो को देख कर डरने लगी थी या उसे पानी में मुँह डालने से दर्द में आराम मिल रहा था बहुत देर मशक्कत करने के बाद उसे पानी से निकाल लिया गया लेकिन शनिवार को उसकी मौत हो गई।

केरल: गर्भवती हथिनी हत्या
केरल: गर्भवती हथिनी हत्या

क्या इन दो हत्याओं (हथनी और हथनी के गर्भ में पल रहा बच्चा) के गुनहगारों को केरल सरकार सजा देगी या फिर ये फिर किसी जानवर या इंसान की जान लेंगे

भारत की सभ्यता को क्या हो गया हमारी संस्कृति को कभी पालघर में साधुओ को मारा जाता है ,कभी दिल्ली में दंगे होते है ,और अब इंसान इतना निर्दय हो चूका है की गर्भवती हथनी को मार दिया धोके से एक साथ दो दो हत्याएं

केरल के लोगो से एक ही बात कहुगी

वह जानवर होते हुए भी तुम इंशानो पर भरोसा कर गयी
और तुम निर्दय इन्शान हो कर भी जानलेवा जानवर बन गए

आज से पहले कभी भी इतना दुःख पोस्ट लिखने में नहीं हुआ जितना इस गर्भवती हथनी हत्या से हुआ है

Leave a Reply