चारधाम यात्रा: आज बद्रीनाथ धाम के कपाट अगले 6 महीने के लिए बंद

आस्था
badrinath

आज शाम 5:13 मिनट पर बद्रीनाथ धाम

Advertisement
के किवाड़ बंद हो रहे है, यह हिन्दुओ का एक प्रमुख तीर्थ स्थल है जो की देवभूमि उत्तराखंड के चमोली जिले में अलकनंदा नदी के किनारे स्थित है यह भगवान विष्णु का मन्दिर है इस मन्दिर का उल्लेख विष्णु पुराण, महाभारत, और स्कन्द पुराण में मिलता.

बद्रीनाथ मन्दिर में भगवान विष्णु के शालिग्राम स्वरूप की 1 मीटर ऊंची मूर्ति स्थापित है ऐसी मान्यता है की भगवान विष्णु को वैकुण्ठ के बाद बद्रीनाथ धाम अतिप्रिय है इसलिए इसे धरती का वैकुण्ठ भी कहा जाता है बद्रीनाथ मन्दिर भारत के सबसे व्यस्त तीर्थ स्थलों में से एक है हर साल लाखो की संख्या में देश-विदेश से श्रद्धालु इस तीर्थ स्थल पर चार धाम की यात्रा के लिए पहुंचते है यह मन्दिर हर साल सिमित समय के लिए खुला रहता है हिमायल की घाटी में स्थित होने के कारण यह स्थान सर्दियों में बर्फ से ढका रहता है   

Badrinath dham

बद्रीनाथ धाम के विषय में अनेक कहानिया प्रचलित है किन्तु पौराणिक मान्यताओं के अनुसार यह स्थान भगवान विष्णु को प्रिय है, यहाँ पर उन्होंने ध्यान लगाया था और माता लक्ष्मी ने बदरी (बेर) के वृक्ष का रूप धारण कर उन्हें हिमपात से बचाया तब से यह स्थान बद्रीनाथ धाम के नाम से विश्व विख्यात हो गया, बद्रीनाथ के दर्शन मात्र से मनुष्य को वैकुण्ठ (मोक्ष) की प्राप्ति होती है. 

Leave a Reply