दानवीर बुजुर्ग महिला कामलम्मा

न्यूज़

आज ट्वीटर पर एक पोस्ट मिली तो सोचा आप सभी मित्रो तक भी sangeetaspen.com

Advertisement
ब्लॉग के माध्यम से यह कहानी शेयर करू यह एक सच्ची कहानी है एक गरीब वृद्ध महिला की. यह महिला धन से गरीब है पर मन से बहुत अमीर है। जिन्होंने अपनी पेंशन दान दे कर कोरोना के खिलाफ लड़ाई में अपना योगदान दिया।

बुजुर्ग महिला कामलम्मा ने यह भी साबित कर दिया कि हमें अभी पैसे और भोजन के साथ-साथ एक दूसरे के सहयोग की भी बहुत आवश्यकता है।

दानवीर बुजुर्ग महिला कामलम्मा
दानवीर बुजुर्ग महिला कामलम्मा

आइये जानते है पूरी कहानी क्या है ?

रोटरी हैरिटेज मैसूर के सदस्य प्रति दिन की भाँति आज भी अन्नदानम की तैयारियों में लगे हुए थे कि अचानक एक 70 वर्षीय अम्मा (कामलम्मा) उस परिसर में आती है जहाँ पर भोजन वितरित किया जा रहा है। वहां पर उपस्थित सभी व्यक्तियों ने अम्मा (कामलम्मा) को देख कर सोचा वृद्ध महिला (कामलम्मा) को भोजन की आवश्यकता होगी। और वह खाने का पैकेट लेने आयी है। ऐसा सोच कर उन लोगों ने अम्मा (कामलम्मा) को खाने का पैकेट दिया।

परन्तु अम्मा ने पैकेट लेने से मना कर दिया और संकोच करते हुए अपने कपड़ों की पोटली से कुछ निकालते हुए उस टीम से कहा कि मैं आप लोगों को पिछले एक महीने से अपने एरिया में भोजन दान करते हुए देख रही हूँ। ऐसे में मुझे लगा कि मुझे भी आप लोगों की सहायता करनी चाहिए। ऐसा बोलते हुए अम्मा ने पेंशन से मिले हुए 600/00 रुपयों में से 500/00 रूपये रोटरी हैरिटेज टीम की ओर बढ़ाते हुए लेने का आग्रह किया। पहले तो टीम सदस्यों ने रूपये लेने से मना कर दिया। परन्तु अम्मा के बार-बार आग्रह करने पर अम्मा की भावनाओं का सम्मान करते हुए टीम के सदस्यों ने अम्मा (कामलम्मा) की सहायता राशि ले ली।

दानवीर बुजुर्ग महिला कामलम्मा
दानवीर बुजुर्ग महिला कामलम्मा

अम्मा (कामलम्मा) ने इस दान से निश्छल सेवाभाव का परिचय दिया

इस दान से अम्मा (कामलम्मा) ‘दानवीरों’ की सूची में आ चुकी हैं। क्योँकि इस मुश्किल घड़ी में जहाँ एक ओर अवसरवादी लोगों ने महामारी को अपने पैसे कमाने का जरिया बनाया है। वही अम्मा (कामलम्मा) ने आगे बढ़कर अपनी निश्चल सेवा भाव से देश हित में अपना कर्तव्य निभाते हुए अपना योगदान दिया है।

अगर देश को आगे बढ़ाना है और इस कोरोना महामारी से लड़ना है तो हमें एक दूसरे पर आरोप-प्रत्यारोप लगाने से बेहतर होगा कि हम सब मिल कर काम करते हुए आगे बढ़ें। तभी देश आगे बढ़ेगा।

जय हिंद जय भारत।

Leave a Reply