विश्व दुग्ध दिवस (Milk Day)

न्यूज़

प्रतेक वर्ष 1 जून के दिन विश्व दुग्ध दिवस

Advertisement
(World Milk Day)मनाया जाता है.जिसका उद्देश्य दुध का प्रतेक व्यक्ति तक प्रचार-प्रसार करना है. सबसे पहले विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day) 1 जून, 2001 को मनाया गया था.

विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day) मनाने का प्रमुख कारण

1 जून के दिन विश्व दुग्ध दिवस मनाने का उद्देश्य लोगो को दूध के बारे में ज्यादा से ज्यादा जानकारी देना तथा प्राकृतिक दुध के सभी पहलूओं के बारे में जागरूक करना हैएवं उन्हें इस बात का एहसास कराना की दूध हमारे जीवन के लिए कितना महत्वपूर्ण है।विश्व दुग्ध दिवस धीरे धीरे लोगो में दूध की सच्चाई को समझाने के लिए बड़ी जनसंख्या पर असर डालता है.लोग इसमें एक उत्सव की भाति भाग ले रहे है।

विश्व में दुग्ध का व्यवसाय

दुग्ध व्यवसाय एक अच्छा मुनाफे का व्यवसाय हे यह आपको कम लागत में अधिक फायदा देता हे एक सर्वे के अनुसार विश्व में अब तक दुग्ध उधोग से जुड़े (DIRECT OR INDIRECT)१ अरब लोगो को रोजगार मिला है। गाँवों तथा शहरो में दुग्ध उत्पादन का बहुत अच्छा व्यवसाय चलता है ,तथा गाँवों में यह आय का प्रमुख साधन भी मन जाता है, दुग्ध व्यवसाय आर्थिक विकास का आधार भी बनता जा रहा है।

विश्व दुग्ध दिवस (Milk Day)
विश्व दुग्ध दिवस (Milk Day)

विश्व दुग्ध दिवस (World Milk Day) की थीम क्या क्या थी ?

विश्व दुग्ध दिवस 2012 का थीम था “ताजा दूध पीयें, शरीर फिट रहे, दिमाग तेज”।
विश्व दुग्ध दिवस 2013 का थीम था “दक्षिणपूर्व एशिया क्षेत्र के समृद्धि और स्वास्थ्य के लिये दूध”।
विश्व दुग्ध दिवस 2014 का थीम था “मानव के लिये पहला भोजन दूध है” और “विश्व स्तरीय पोषण”।
विश्व दुग्ध दिवस 2015 का थीम अभी तक उजागर नहीं हुआ है।
वर्ष 2015 में विश्व दुग्ध दिवस के लिए थीम “दूध मानव के लिए पहला भोजन है” था।
वर्ष 2016 में विश्व दुग्ध दिवस के लिए थीम “एक ग्लास उठाओ” था।
वर्ष 2017 में विश्व दुग्ध दिवस के लिए थीम “आर्थिक विकास, आजीविका, पोषण” था।
वर्ष 2018 में विश्व दुग्ध दिवस के लिए थीम “पीओ मजबूत हो जाओ” था।
वर्ष 2019 में विश्व दुग्ध दिवस के लिए थीम “ड्रिंक मिल्क: टुडे एंड एवरी डे” है.

Leave a Reply