केजरीवाल तीसरी बार लेंगे CM पद की शपथ

न्यूज़
Kejriwal swearing in ceremony 2020
Kejriwal swearing in ceremony 2020

आज सुबह 10 बजे आम आदमी पार्टी संथापक अरविन्द केजरीवाल तीसरी बार  रामलीला मैदान में होने वाले शपथ ग्रहण समारोह दिल्ली के  मुख्यमंत्री (CM) पद की शपथ ग्रहण करंगे। आम आदमी पार्टी ने किसी अन्य पार्टी के नेता एवं राज्य के मुख्यमंत्री को इस शपथ ग्रहण समारोह में नहीं बुलाया है। इस शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली जनता ही मुख्य रूप से उनकी मेहमान होगी.

Advertisement

अरविन्द केजरीवाल के शपथ ग्रहण के लिए अधिसूचना जारी की जा चुकी है राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने अरविंद केजरीवाल को दिल्ली के मुख्यमंत्री पद पर नियुक्त किया है। इस शपथ ग्रहण समारोह में अरविंद केजरीवाल के साथ 6 विधायक भी मंत्री पद की शपथ लेंगे इन में मनीष सिसोदिया, गोपाल राय, सत्येंद्र जैन, इमरान हुसैन, कैलाश गहलोत,और राजेंद्र गौतम के नाम शामिल हैं।

इस शपथ समारोह में दिल्ली के सरकारी शिक्षको को विशेष आमंत्रण दिया गया था। इस पर विपक्ष का विरोध कहा अरविंद केजरीवाल शिक्षको को जबरन शपथ ग्रहण समारोह में बुला रहे हैं।

विरोध के बाद निमंत्रण में बदला आदेश

किन्तु विपक्ष ने आरोप लगाया था कि अरविंद केजरीवाल के शपथ ग्रहण समारोह के लिए दिल्ली के सरकारी स्कूलों को शिक्षकों को भेजने का आदेश दिया गया है ताकि शपथ ग्रहण के दौरान भीड़ जुटाई जा सके।

दिल्ली सरकार स्कूल टीचर एसोसिसिएशन ने भी उपराज्यपाल को पत्र लिखकर कहा था कि इस फैसले पर फिर से विचार किया जाए। पत्र में मांग की गई थी कि इस आदेश को अनिवार्य न बनाया जाए और इसे सिर्फ एक आमंत्रण में रहने दिया क्योंकि शिक्षकों की उपस्थिति अनिवार्य की गई है।

मनीष सिसोदिया ने इस फैसले का किया बचाव

manish-sisodia
 

मनीष सिसोदिया ने इस फैसले का किया बचाव करते हुए कहा है की “बीजेपी शिक्षकों का सम्मान करना नहीं जानती है हमने सभी को आमंत्रित किया है जैसे शहीदों के परिवारो को, पत्रकार, वकील, किसान, ऑटो ड्राइवर, एवं आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं को.

यह जीत दिल्ली की जनता की जीत है इस चुनाव में दिल्ली वालो ने केजरीवाल मॉडल को अपनी स्वीकृति दी है”।

सिसोदिया ने यह भी कहा की इस शपथ ग्रहण समारोह में दिल्ली के लोग ही मुख्य अतिथि होंगे लगभग 50 हजार से 1 लाख  लोग शपथ ग्रहण में शामिल होंगे।

विरोध के बाद दिल्ली सरकार ने अपने कदम पीछे खींचे हैं. अब आदेश निमंत्रण में बदल दिया गया है।

ये भी पढ़ेंः बच्चों की परीक्षा शुरू होने वाली है। परीक्षा बच्चों के साथ –साथ माता –पिता की भी होती है।

Leave a Reply