‘अल्लाह से मिलूँगी’: आयशा ने हँसते हुए की आत्महत्या

न्यूज़
Ahmedabad Will meet Allah'Ayesha commits suicide by laughing
Ahmedabad Will meet Allah’Ayesha commits suicide by laughing

आयशा ने कहाँ  माँ-बाप अच्छे मिले, दोस्त भी बहुत अच्छे मिले- फिर भी कमी कहाँ रह गई ?
Advertisement

Ayesha suicide by laughing

‘अल्लाह से मिलूँगी’: आयशा ने हँसते हुए की आत्महत्या,प्यार करते हैं आरिफ से। उसे परेशान थोड़े न करेंगे। उसे आज़ादी चाहिए, आज़ाद रहे वो चलो, अपनी ज़िंदगी तो यहीं तक है। मैं खुश हूँ कि मैं अल्लाह से मिलूँगी।

मैं उनसे पूछूँगी कि मुझसे क्या गलती हुई। अच्छे माँ-बाप मिले, दोस्त भी बहुत अच्छे मिले- फिर भी कमी कहाँ रह गई? और अल्लाह से मैं ये भी कहूँगी कि मुझे दोबारा इंसानों की शक्ल न दिखाए।”

सोशल मीडिया पर आयशा का  तेजी से  वीडियो वायरल हो रहा है

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें एक महिला हँसते-हँसते नदी में कूद जाती है। हिजाब पहनी इस महिला के आत्महत्या के वीडियो (Ayesha suicide by laughing) को देख कर लोग दंग हैं कि कोई ऐसा क्यों करेगा ?

उक्त वीडियो गुजरात के अहमदाबाद का है और जिस नदी में महिला ने कूद कर आत्महत्या की, वो साबरमती नदी है। आयशा नाम की इस महिला ने अपनी आत्महत्या का वीडियो सोशल मीडिया पर खुद लाइव किया था।

यह घटना रिवरफ्रंट पुलिस थाना क्षेत्र की है, जहाँ के पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल पर पहुँच कर मामले की जाँच शुरू कर दी है। महिला ने शेयर की गई वीडियो में कहा, “मुझे ज़िंदगी मिली। सुकून है।

अब खुदा से मिलना चाहती हूँ।” महिला का पूरा नाम आयशा आरिफ खान है। उसने वीडियो में लोगों को ‘हैलो’ कह कर ग्रीट करते हुए दावा किया कि वो जो भी करने जा रही है, वो अपनी मर्जी से करने जा रही है।

आयशा ने कहा, “मैं किसी के दबाव में आकर ऐसा नहीं कर रही हूँ। बस इतना समझ लीजिए कि खुदा ने मुझे इतनी ही ज़िंदगी दी थी और ये ज़िंदगी बहुत ही सुकून वाली मिली।

और डैड, आप कब तक अपनों से लड़ोगे? अब केस वापस ले लीजिए। एक चीज जरूर सीख रही हूँ कि मोहब्बत करनी है तो दो तरफा करो, क्योंकि एकतरफा में कुछ हासिल नहीं है। वरना मोहब्बत तो निकाह के बाद भी अधूरी रहती है।

आयशा ने वीडियो में आगे कहा, “ऐ प्यारी सी नदी, दुआ करते हैं कि मुझे अपने में समा ले और मेरे पीठ पीछे जो भी हो, प्लीज ज्यादा बखेड़ा मत करना। मैं हवाओं की तरह हूँ। बस बहते रहना चाहती हूँ।

किसी के लिए नहीं रुकना। मैं खुश हूँ कि आज के दिन जिन सवालों के जवाब चाहिए थे, वे मिल गए और मुझे जिसको जो बताना था, बता चुकी हूँ। थैंक्यू, मुझे दुआओं में याद रखना। पता नहीं, जन्नत मिले न मिले। चलो अलविदा।”

Ayesha suicide by laughing

आयशा ने ये भी कहा, “प्यार करते हैं आरिफ से। उसे परेशान थोड़े न करेंगे। उसे आज़ादी चाहिए, आज़ाद रहे वो। चलो, अपनी ज़िंदगी तो यहीं तक है। मैं खुश हूँ कि मैं अल्लाह से मिलूँगी।

मैं उनसे पूछूँगी कि मुझसे क्या गलती हुई। अच्छे माँ-बाप मिले, दोस्त भी बहुत अच्छे मिले- फिर भी कमी कहाँ रह गई? सुकून के साथ जाना चाहती हूँ। और अल्लाह से मैं ये भी कहूँगी कि मुझे दोबारा इंसानों की शक्ल न दिखाए।”

Leave a Reply