amazing benefits of cinnamon

हेल्थ
amazing benefits of cinnamon
amazing benefits of cinnamon

दालचीनी किसे कहते है (What is Cinnamon)

भारत में Cinnamon का इस्तेमाल खाने में मसालों के रूप में किया जाता हैं। दालचीनी, Cinnamomum zeylanicum Breyn नामक पेड़ की छाल है। इसकी छाल थोड़ी मोटी, चिकनी तथा हल्के भूरे रंग की होती हैं। Cinnamon के फलों को तोड़ने पर भीतर से तारपीन जैसी गन्ध आती है। इसकी छाल मसाले की तरह प्रयोग होती है।

Advertisement

यह हमारे स्वास्थय के लिए बहुत लाभकारी हैं। इसमें एक अलग ही सुगन्ध होती है, जिसके कारण इसे गरम मसालों की श्रेणी में रखा जाता है। 

दालचीनी का Scientific name: Cinnamomum zeylanicum

दालचीनी की कटाई (Cinnamon harvesting)

दालचीनी (Cinnamon) के पेड़ो के 4 या 5 वर्ष से इसकी छाल को निकलना शुरू किया जाता है। मई में एक बार और फिर नवंबर जैसे ही बारिश बंद हो जाती है, छिलके के लिए कटाई शुरू हो जाती है।

दालचीनी (Cinnamon) एक सदाबहार पेड़ है, जो कि 10–15 मी (32.8–49.2 फीट) ऊंचा होता है, यह लौरेसिई (Family: Lauraceae) परिवार का है। यह श्रीलंका एवं दक्षिण भारत और इंडोनेशिया में बहुतायत में मिलता है।

दालचीनी के फायदे क्या क्या है? (Cinnamon Benefits)

दालचीनी (Cinnamon)  के सेवन से पाचनतंत्र संबंधी विकार, दांत, व सिर दर्द, चर्म रोग, मासिक धर्म की परेशानियां ठीक की जा सकती हैं। कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करने में इसके साथ ही दस्त, और टीबी में भी इसके प्रयोग से लाभ मिलता है।

दालचीनी (Cinnamon) के आयुर्वेदिक व औषधीय गुण

पेट के रोग :- अपच, गैस, पेट दर्द और एसिडिटी जैसी समस्यों में भी दालचीनी का पाउडर लेने से आराम मिलता है। इससे उल्टी-दस्त की समस्या में भी लाभ होता है, और भोजन का पाचन भी बेहतर होता है। शहद और दालचीनी के पावडर का मिश्रण लेने से पेट का अल्सर जड़ से ठीक हो जाता है।

कोलेस्ट्रोल घटाए :- कोलेस्ट्रोल के स्तर को कम करने में यह बेहद फायदेमंद है| इसमें प्रचुर मात्रा में कैल्शियम और फाइबर पाया जाता है| यह आपके शरीर में कोलोस्ट्रोल को नियंत्रित करने में मदद करता है| यदि आपको भी कोलेस्ट्रोल की समस्या है तो नियमित रूप से खाली पेट इस के पाउडर का सेवन करे| इसके बाद गुनगुना पानी पी ले।

साइनस में दर्द से राहत दिलाये :- क्या आप जानते है की दालचीनी दर्द को दूर करने के लिए भी बेहतरीन औषधि के रूप में काम करती है। यदि आपको साइनस की समस्या है और उसके कारण सिरदर्द हो रहा है तो दालचीनी इसमें आपकी मदद कर सकती है।

जब भी सिरदर्द हो एक चौथाई चम्मच दालचीनी को पानी में मिलाकर पेस्ट बना ले। फिर इस पेस्ट को सिर में लगाएं।  इस में शहद या फिर अदरक मिलाकर पीने से अर्थराइटिस का दर्द भी खत्म हो जाता है।

वजन घटाने में मददगार :- कई लोग अपने वजन से बेहद परेशान रहते है| इसके लिए वो कई जतन करते है लेकिन उनका Weight Loss नहीं होता| यदि आप भी इस समस्या से परेशान है तो हम आपको बताना चाहते है की वजन कम करने में शहद और दालचीनी आपकी मदद कर सकती है।

शहद और दालचीनी कोलेस्ट्रॉल को ज्यादा बनने नहीं देते जिससे की आप एक्टिव रहते हैं। आप जितना एक्टिव रहेंगे, उतनी ही आपकी कैलोरी खर्च होगी और वजन कंट्रोल में रहेगा।

मधुमेह दालचीनी मधुमेह के रोगी को भी फ़ायदा पहुँचाती हैं । भोजन में दालचीनी पाउडर का 1 चम्‍मच रक्‍त में शुगर का स्‍तर कम करता हैं । इसके प्रयोग से टाइप टू डायबीटिज में रक्‍त शुगर 18 से 24 फीसदी तक कम हो सकती हैं।

ये भी पढ़े Curry leaves : Use of curry leaves, health benefits and loss

ह्रदय रोगो में लाभप्रद :- इस का सेवन ह्रदय रोगो के खतरे को दूर करने में भी सहायक है| जैसे जैसे किसी भी इंसान की उम्र बढ़ती है इंसान की धमनियां और शिरायें कठोर होती जाती है| धमनियों को कठोर होने से बचाने के लिए दालचीनी और शहद का सेवन फायदेमंद है| जिन लोगो की उम्र ज्यादा है जैसे की 30 की ऊपर उन् लोगो को दालचीनी और शहद के मिश्रण को रोटी पर लगाकर खाना चाहिए।

दालचीनी और शहद के सेवन से धमनियों पर कोलेस्ट्रोल नहीं जमता है और हार्ट अटैक और ह्रदय की अन्य समस्याओ से निजाद मिलती है। जिन लोगो को पहले से हार्ट अटैक आ चूका है उन्हें इसके सेवन करने से अगली बार अटैक आने की संभावना काफी हद तक कम हो जाती है।

Benefits of Cinnamon and Honey

दिल से जुड़ी समस्याओं के लिए दालचीनी भी फायदेमंद होती हैं। शहद और इस के पाउडर का पेस्ट बनाकर रोटी के साथ खाने से धमनियों में कोलेस्ट्रोल जमा नहीं होता हैं और दिल के दौरे की संभावना को भी कम किया जा सकता हैं।

यह मैंगनीज का भंडार हैं। इससे हमारी स्‍मरण शक्‍ति बढ़ती हैं। इसलिये बच्‍चों, महिलाओं और मानसिक श्रम करने वालों को ब्रेड पर मक्‍खन या शहद के साथ आधा चम्‍मच दालचीनी (honey and cinnamon) का पाउडर लगा कर सुबह शाम खाना चाहिए

कैंसर रोग के लिए भी दालचीनी लाभ देती हैं । कैंसर के रोगियों को एक बड़ा चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी के पाउडर को गर्म पानी के साथ एक महीने तक लेने से आराम मिलता हैं ।

खूबसूरत बालों और त्वचा के लिए benefits of cinnamon for skin and hair

त्वचा से जुड़ी हुई समस्याओं को दालचीनी दूर कर करती हैं। त्वचा में खुजली होने पर इसका पाउडर में शहद बराबर मात्रा में लेकर उसका पेस्‍ट बना लें। इस पेस्‍ट को लगाने से त्वचा की यह समस्‍या दूर होती हैं और दालचीनी के पाउडर में थोड़ा सा नीबूं का रस मिक्स करके चेहरे पर लगाने से कील मुंहासे दूर होते हैं।

गरम जैतून के तेल में एक चम्मच शहद और एक चम्मच दालचीनी का पावडर डाल कर पेस्ट बनाएं और बालों में लगाए . एक घंटे बाद सर धोले . इससे बाल झडना रुक जायेंगे

दालचीनी का सेवन कैसे करें? (How to use Cinnamon) 

इसके लिए रोज़ाना आप 2 चम्मच दालचीनी पाउडर और 1 चम्मच शहद को मिलाकर गर्म पानी के साथ पीएं. या फिर इसे पानी में मिलाकर आप पूरे दिन थोड़ा-थोड़ा इसका सेवन कर सकते हैं।

दालचीनी वाला दूध पीने के फायदे:

अच्छे पाचन के लिए अगर आपकी पाचन क्रिया अच्छी नहीं है तो दालचीनी वाला दूध पीना आपके लिए बहुत फायदेमंद रहेगा, ब्लड शुगर लेवल कंट्रोल करने के लिए,  अच्छी नींद के लिए और मजबूत हड्ड‍ियों के लिए इसका सेवन कर सकते हैं।

दालचीनी कितने प्रकार के होते हैं? (cinnamon types)

दालचीनी दो प्रकार की होती है। आमतौर पर हम दालचीनी के एक ही प्रकार के बारे में जानते हैं। जिसका उपयोग ड्रिंक्स, दाल और सब्जी तैयार करने में किया जाता है।

दालचीनी मुख्य रूप से दो तरह की होती है। इन दोनों तरह की दालचीनी के बीच मुख्य अंतर स्वाद का होता है।

आमतौर पर जो लकड़ी के रंग जैसी दालचीनी हमारे घरों में यूज होती है, उसका टेस्ट अधिक तीखा होता है। इसे रेग्युलर सिनमन या Cassia नाम से जाना जाता है। यह दालचीनी सुपरमार्केट और किराना शॉप्स पर आराम से मिल जाती है।

दूसरी तरह की दालचीनी को सीलोन (Ceylon) नाम से जाना जाता है। इसका स्वाद Cassia से लाइट होता है। इस दालचीनी को ट्रयू सिनमन नाम से भी जाना जाता है। सीलोन का उपयोग कुछ खास चीजों और दवाओं में ही किया जाता है। यह Cassia की तुलना में महंगी होती है।

दालचीनी खाने के क्या नुकसान है? (Cinnamon price)

क्यों नहीं खानी चाहिए सूखी दालचीनी?

सूखी दालचीनी खाने से गले में छाले, जलन, सूजन और घाव की समस्या भी हो सकती है।

साथ ही ना केवल गले में बल्कि सीने में तेज जलन हो सकती है। सूखी दालचीनी खाने से आपके फेफड़े  भी डैमेज हो सकते हैं

दालचीनी का क्या रेट है? cinnamon price

असली-नकली के भाव में अंतर
असली व नकली दालचीनी के भाव में जमीन आसमान का अंतर है। बताया गया है कि बाजार में नकली दालचीनी का रेट 150 से 300 प्रतिकिलो तक है जबकि असली दालचीनी का रेट करीब 900 रुपये प्रति किलो है।

में जल्द ही आपको cinnamon essential oil की जानकारी भी देने वाली हूँ आपको ये पोस्ट कैसा लगा मुझे comment कर जरूर बताये 

image credit : pixabay

Leave a Reply