Apricot Oil Benefits and Side Effects in Hindi

हेल्थ
Apricot Oil Benefits and Side Effects in Hindi

Table of Contents

खुबानी के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान | Apricot Oil Benefits and Side Effects in Hindi

खुबानी क्या है ?

Apricot fruit : खूबानी एक बीज युक्त फल है. वनस्पति-विज्ञान के नज़रिए से ख़ुबानी, आलू बुख़ारा और आड़ू तीनों एक ही “प्रूनस” नाम के वनस्पति परिवार के फल हैं। उत्तर भारत में यह बहुत ही महत्वपूर्ण फल समझा जाता है और कुछ विशेषज्ञों के अनुसार यह भारत में पिछले 5,000 साल से उगाया जा रहा है। खूबानी का पेड़ ज्यादा बड़ा नहीं होता है. इसका कद 8 मीटर से 12 मीटर तक होता है. इसकी जड़ 40 सेंटीमीटर होती है.

Advertisement

पत्तों का आकार 4 सेंटीमीटर से 9 सेंटीमीटर लम्बा और 4 से 8 सेंटीमीटर चौड़ा और अंडे के आकार के समान होता है. आमतौर पर इसका रंग पीला और नारंगी रंग का होता है, लेकिन फल का जो भाग धूप के सम्पर्क में आता है सूर्य की किरणों के प्रभाव से वह लाल रंग का हो जाता है. खूबानी फल के अंदर का बीज कड़ा होता है. यह फल पल्प युक्त होता हैं. खूबानी ठण्ड वाले स्थानों पर पाया जाता हैं. भारत में यह कश्मीर, हिमाचल प्रदेश और उत्तराखंड में पाया जाता है. ये मीठा और सुखा हुआ फल दोनों रूपों में प्राप्त होता है.

खूबानी का इतिहास (Apricot history)

एप्रीकॉट (Apricot fruit) अर्थात खूबानी को चाइना में शान जिंग नाम से जाना जाता है. एप्रीकॉट शब्द का जन्म अब्रेकाक शब्द से हुआ है, जो कि फ़्रांस के एब्रिकोट से आता है. इस फल का नाम अलग अलग देशो में अलग नामों से लिया जाता है.भारत में इसकी खोज 3000 ईस्वी पूर्व में हुई थी. इस फल के पेड़ को लगाने के उदेश्य के बारे में चीनी दार्शनिक चुआंग तसू के बारे में एक कहानी में बताया है

कि वो अपने छात्रों को ख़ुबानी के लकड़ी से घिरे हुए मंच पर पढ़ाया करते थे, और लोगो का इलाज करने के बाद चिकित्सा फ़ीस में वो खुबानी का पेड़ लगाने की सलाह देते थे. तुर्की और अमेरिका में इसके पैदावार को बढ़ाने के लिए रोड के दोनों किनारों पर इसके पौधे को लगया गया है. ये वहा इतना पसंद किया जाता है कि प्रत्येक घर के पास इसका एक पेड़ आसानी से दिख जायेगा.

सूखी ख़ुबानी को भारत के पहाड़ी इलाक़ों में बादाम, अख़रोट और न्योज़े की तरह ख़ुबानी को एक ख़ुश्क मेवा समझा जाता है और काफ़ी मात्रा में खाया जाता है। कश्मीर और हिमाचल के कई इलाक़ों में सूखी ख़ुबानी को किश्त या किष्ट कहते हैं। माना जाता है के कश्मीर के किश्तवार क्षेत्र का नाम इसीलिए पड़ा क्योंकि प्राचीनकाल में यह जगह सूखी खुबनियों के लिए प्रसिद्ध थी।

अन्य भाषाओँ में खुबानी को कहते हैं

अग्रेजी में ख़ुबानी को “ऐप्रिकॉट” (apricot) कहते हैं। पश्तो में इसे “ख़ुबानी” (خوبانۍ‎) ही कहते हैं। फ़ारसी में इसको “ज़र्द आलू” (زردآلو‎) कहते हैं। फ़ारसी में “आलू” का मतलब “आलू बुख़ारा” और “ज़र्द” का मतलब “पीला (रंग)” होता है, यानि “ज़र्द आलू” का मतलब “पीला आलू बुख़ारा’ होता है। ध्यान रहे के जिसे हिन्दी में आलू बोलते हैं उसे फ़ारसी में “आलू ज़मीनी” बोलते हैं (यानि ज़मीन के नीचे उगने वाला आलू बुख़ारा)। मराठी में इसके लिए फ़ारसी से मिलता-जुलता “जर्दाळू” शब्द है।

खूबानी फल की विशेषता

खूबानी फल की विशेषता (Apricot fruit features) यह एक कठोर बीज युक्त फल होता है. यह पतले छिलके वाला फल है. यह चमकीला होता है. सबसे ज्यादा इसकी पैदावार उज्बेकिस्तान में और तुर्की में होती है. इसका फूल सफ़ेद और गुलाबी रंगत लिए होता है. यह चार या पांच गुच्छों में होता है. यह फल या तो एक या जोड़े में निकलता है यह फूल के ऊपर वाले भाग में होता है. इन फलों के ऊपर छोटे छोटे और मुलायम रोएं जैसा रहता है.

खूबानी के आकार और रंग रूप को लेकर मतभेद है. यह नारंगी और सेब के रूप में खूब चमकीला भी हो सकता है. चमकीला जो होता है, उसको थोडा कम लाभकारी बताया गया है. इसका स्वाद मीठा, खट्टा और कड़वा तीनों तरह का होता है. जब यह कच्चे रूप में होता है तो खट्टा होता है और पकने के बाद मीठे स्वाद में बदल जाता है. यह वसा युक्त होने की वजह से गर्म प्रवृत्ति का फल है

खुबानी का रंग जितना चमकीला होगा, उसमें विटामिन-सी और ई और पोटेशियम की मात्रा उतनी ही अधिक होगी।

सूखी खुबानी में ताजी खुबानी की तुलना में 12 गुना लौह, सात गुना आहारीय रेशा और पांच गुना विटामिन ए होता है। सुनहरी खुबानी में कच्चे आम व चीनी मिला कर बहुत स्वादिष्ट चटनी बनती है। खुबानी का पेय भी बहुत स्वादिष्ट होता है, जिसे ‘एप्रीकॉट नेक्टर’ कहते हैं।

खुबानी के तेल के फायदे, उपयोग और नुकसान | Apricot Oil Benefits and Side Effects in Hindi

दैनिक जीवन में कई तरह के तेल का इस्तेमाल करते हैं। कुछ तेल खाना बनाने के लिए, तो कुछ त्वचा और बालों को स्वस्थ रखने के लिए। ऐसा ही एक जरूरी तेल खुबानी का भी है। ज्यादातर लोग इस तेल के उपयोग के बारे में नहीं जानते, लेकिन खुबानी का तेल कई लाभकारी गुणों से समृद्ध है। इसे खाने के साथ ही बालों और त्वचा पर लगाने के लिए भी इस्तेमाल किया जा सकता है। शरीर के लिए खुबानी का तेल कैसे फायदेमंद है, जानने के लिए स्टाइलक्रेज के इस लेख को पढ़ें। यहां हम खुबानी के तेल के फायदे और उपयोग दोनों की जानकारी दे रहे ह

खुबानी का फल जिस तरह से स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है उसी प्रकार से खुबानी के तेल के फायदे भी कई होते हैं। इससे शारीरिक समस्याओं को दूर रखने के साथ ही त्वचा और बालों को बेहतर बनाया जा सकता है। ऐसे ही कुछ फायदों की जानकारी नीचे हम विस्तार से दे रहे हैं।

हृदय स्वास्थ्य के लिए –  हृदय को स्वस्थ रखने और इससे संबंधित समस्याओं को ठीक करने में खुबानी का तेल लाभकारी साबित हो सकता है। एनसीबीआई (नेशनल सेंटर फॉर बायोटेक्नोलॉजी इंफॉर्मेशन) की वेबसाइट पर पब्लिश एक रिसर्च के मुताबिक, खुबानी के तेल में शक्तिशाली कार्डियोप्रोटेक्टिव प्रभाव होता है। यह दिल के दौरे (Myocardial Infarction) से बचाव में मदद कर सकता है। इसी वजह से इसे हृदय स्वास्थ्य के लिए जरूरी माना जाता है ।

इंफ्लेमेशन के लिए – इंफ्लेमेशन और उससे जुड़ी समस्या से राहत पाने के लिए खुबानी के तेल का उपयोग किया जा सकता है। इस संबंध में प्रकाशित एक मेडिकल रिसर्च के मुताबिक, खुबानी के अर्क में एंटी- इंफ्लेमेटरी गुण होता है,

जो पेट से संबंधित इंफ्लेमेशन की समस्या को कम कर सकता है । इसके अलावा, इस तेल में मौजूद लिनोलिक पॉलीअनसैचुरेटेड फैटी एसिड भी इंफ्लेमेशन से राहत दिला सकता है । ऐसे में खुबानी के तेल के फायदे में इंफ्लेमेशन को भी गिना जा सकता है।

कब्ज के लिए – कब्ज एक ऐसी समस्या है, जिसमें मल कठोर हो जाता है। इस कारण मल त्यागने में परेशानी होती है। ऐसे में कब्ज की समस्या से जूझ रहे लोगों के लिए खुबानी का तेल फायदेमंद हो सकता है। इस संबंध में प्रकाशित एक वैज्ञानिक शोध में दिया हुआ है कि खुबानी के तेल को कब्ज के उपचार के लिए उपयोग कर सकते हैं । फिलहाल, खुबानी के तेल का कौनसा गुण कब्ज में मददगार होता है, यह स्पष्ट नहीं है।

आंखों के लिए – खुबानी के तेल का उपयोग करके आंखों को स्वस्थ रखा जा सकता है। इससे संबंधित एक मेडिकल रिसर्च के अनुसार, खुबानी के बीज का अर्क ड्राई आई सिंड्रोम (शुष्क आंखों) से राहत दिलाने में मदद कर सकता है। इसमें मौजूद बायोएक्टिव कंपाउंड को ड्राई आई डिजीज के लिए लाभकारी माना गया है। इसी वजह से खुबानी के तेल को आंखों के स्वास्थ्य के लिए अच्छा माना गया है।

कैंसर से बचने के लिए – कैंसर एक ऐसी समस्या है, जिससे हर कोई बचे रहने की कामना करता है। ऐसे में खुबानी का तेल इस समस्या को दूर रखने में सहायक साबित हो सकता है। इस संबंध में पब्लिश एक वैज्ञानिक अध्ययन के मुताबिक, खुबानी बीज में साइनोजेनिक ग्लाइकोसाइड (Cyanogenic Glycosides) होता है। यह एक तरह का कंपाउंड है, जिसे कैंसर से बचाव के लिए अच्छा माना जाता है ।खुबानी के तेल का नियमित उपयोग आपका जीवन बदलने वाला है हालांकि, यह कैंसर का इलाज नहीं हो सकता है। कैंसर जैसी गंभीर समस्या के लिए डॉक्टरी इलाज जरूरी है।

डार्क सर्कल के लिए – डार्क सर्कल की समस्या त्वचा में नमी की कमी की वजह से भी हो सकती है । ऐसे में इस समस्या से छुटकारा पाने के लिए खुबानी के तेल का उपयोग किया जा सकता है। दरअसल, खुबानी के तेल में मॉइस्चराइजिंग प्रभाव होता है, जो त्वचा में नमी बनाए रखने का काम कर सकता है।खुबानी के तेल के नियमित उपयोग से आपकी आँखों की खूबसूरती में चार चाँद लग जायेगे क्युकी इससे डार्क सर्कल में सुधार होता है।

त्वचा के लिए – खुबानी के तेल के फायदे त्वचा पर भी दिखाई दे सकते हैं। इस तेल में लिनोलिक और लिनोलेनिक जैसे एसेंशियल फैटी एसिड होते हैं, जो त्वचा को स्वस्थ रखने का काम कर सकते हैं। इसके अलावा, खुबानी का तेल सोरायसिस (एक तरह की त्वचा संबंधी समस्या) के उपचार में भी मदद कर सकता है। इसके लिए खुबानी के तेल में मौजद प्रो-एपोप्टोटिक प्रभाव (Pro-apoptotic effect) को सहायक माना जाता है।

बालों के लिए – खुबानी के तेल का उपयोग बालों को लाभ पहुंचा सकता है। एनसीबीआई की वेबसाइट पर प्रकाशित एक वैज्ञानिक रिसर्च के अनुसार, खुबानी के तेल में सॉफ्टनिंग और मॉइस्चराइजिंग प्रभाव होते हैं। ये प्रभाव बालों को मुलायम और नमी युक्त बनाए रखने में मदद कर सकते हैं। साथ ही इसमें लिनोलिक और लिनोलेनिक एसिड भी होते हैं, जिन्हें बालों के विकास को बढ़ावा देने के लिए जाना जाता है ।

खुबानी के तेल में कौन-कौन से पौष्टिक तत्व होते हैं

खुबानी के​ तेल के पौष्टिक तत्व – Apricot Oil Nutritional Value in Hindi

खुबानी का तेल पौष्टिक तत्वों से भरपूर होता है। यही वजह है कि इससे ऊपर बताए गए लाभ होते हैं। इस तेल में विटामिन ई, सैचुरेटेड और अनसैचुरेटेड फैटी एसिड, ओलिक एसिड, लिनोलेनिक एसिड, पामिटिक एसिड, स्टीयरिक एसिड और एराचिडिक एसिड होते हैं ।

 

 

 खुबानी के तेल को किस-किस तरह से उपयोग किया जा सकता है।

खुबानी के​ तेल का उपयोग – How to Use Apricot Oil in Hindi

कई लोग खुबानी के तेल का उपयोग करने की सोचते हैं, लेकिन उन्हें पता नहीं होता कि खुबानी के तेल का उपयोग कैसे किया जा सकता है। ऐसे में लेख के इस हिस्से से खुबानी के​ तेल का उपयोग पाठक जान सकते हैं:

कैसे उपयोग करें

खुबानी के तेल को खाद्य पदार्थ तैयार करने के लिए उपयोग कर सकते हैं (8)।
इस तेल को सलाद ड्रेसिंग के लिए इस्तेमाल में लाया जा सकता है।
खुबानी के तेल को त्वचा पर लगा सकते हैं।
इसे बालों में लगाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।
जोड़ों की मसाज के लिए भी खुबानी के तेल का उपयोग कर सकते हैं।
शैम्पू या कंडीशनर में खुबानी के तेल की कुछ बूंदें मिलाकर भी बालों को मजबूत बनाने के लिए इस्तेमाल कर सकते हैं।

कितना उपयोग करें

बालों और त्वचा पर लगाने के लिए इसकी कुछ बूंदों का इस्तेमाल किया जा सकता है।
खाने के लिए खुबानी के तेल को कितना उपयोग करना चाहिए, इस संबंध में किसी तरह के वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं हैं। ऐसे में खुबानी के तेल के उपयोग की सही मात्रा जानने के लिए आहार विशेषज्ञ से संपर्क करें।
आगे जरूरी जानकारी है

 खुबानी का​ तेल बनाने की विधि 

खुबानी का​ तेल बनाने की विधि – How to Make Apricot Oil in Hindi

अगर किसी को घर में ही खुबानी का तेल बनाना है, तो वो हमारे द्वारा बताए गए तरीके से इसका तेल बना सकते हैं। इसके लिए खुबानी के सूखे बीज का इस्तेमाल किया जाता है।

सामग्री

200 ग्राम खुबानी के बीज
एक कप गर्म पानी

तेल बनाने की विधि

  • सबसे पहले खुबानी के बीज को तोड़कर उसके खोल को अलग कर लें और अंदर मौजूद बादाम जैसे खाद्य पदार्थ को एक कटोरी में जमा करें।
  • फिर उस बीज को दो से तीन दिन के लिए धूप में सुखाएं।
  • इसके बाद एक ओखल को गर्म करके उसमें बीज को डाल दें और मूसल से 15 से 20 मिनट तक इसे कूटें।
  • जब यह महीन पाउडर बन जाए, तो इसमें थोड़ा सा गर्म पानी डालें।
  • फिर इसे तब तक कूटते रहें जब तक कि इसमें चिकनाई नजर न आ जाए।
  • जब यह पेस्ट की तरह बन जाएगा, तो एक कपड़े में इसे डालकर निचोड़ लें।
  • इसे तबतक निचोड़ते रहें जबतक इससे तेल निकलता रहे।
  • अब इस तेल को कांच के एयरटाइट बोतल में रख लें और जरूरत के अनुसार इस्तेमाल करें।

 खुबानी के तेल को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखना चाहिए।

खुबानी के​ तेल को लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें – How to Store Apricot Oil in Hindi

  • खुबानी के तेल को हमेशा एयर टाइट डिब्बे में रखना चाहिए।
  • इस तेल के उपयोग के तुरंत बाद ही डिब्बे के ढक्कन को अच्छे से बंद कर दें।
  • अगर खुबानी का तेल घर में बनाया है, तो उसे कांच की बोतल में ही स्टोर करें।
  • खुबानी के तेल को हमेशा सूरज की सीधी रोशनी से बचाएं।
  • इसके तेल की शीशी को अंधेरे और ठंडी जगह में रखें।

ख़ुबानी के बीज

ख़ुबानी की गुठली के अन्दर का बीज एक छोटे बादाम की तरह होता है और ख़ुबानी की बहुत सारी क़िस्मों में इसका स्वाद एक मीठे बादाम सा होता है। इसे खाया जा सकता है, लेकिन इसमें हलकी मात्रा में एक हैड्रोसायनिक ऐसिड नाम का ज़हरीला पदार्थ होता है। बच्चों को ख़ुबानी का बीज नहीं खिलाना चाहिए। बड़ों के लिए यह ठीक है लेकिन उन्हें भी एक बार में 5 -10 बीजों से अधिक नहीं खाने चाहिए।

खुबानी के​ तेल के नुकसान की जानकारी दे रहे हैं।

खुबानी के​ तेल के नुकसान – Side Effects of Apricot Oil in Hindi

खुबानी के तेल के फायदे स्वास्थ्य के लिए कई हैं, लेकिन खुबानी के तेल के नुकसान भी हो सकते हैं। हालांकि, किसी रिसर्च में इसके नुकसान का जिक्र नहीं है। फिर भी सावधानी के तौर पर नीचे दी गई बातों का ध्यान रखकर खुबानी के तेल के नुकसान से बचा जा सकता है।

  • अधिक संवेदनशील त्वचा वाले इसका इस्तेमाल चेहरे और बालों पर पैच टेस्ट करके ही करें। इससे संवेदनशील लोग एलर्जी के खतरे से बच सकते हैं।
  • गर्भवती और छोटे बच्चों को इस तेल का उपयोग विशेषज्ञ की सलाह पर ही करना चाहिए।
  • खुबानी का तेल उन चुनिंदा तेलों में से एक है, जिसे सेहत के लिए फायदेमंद माना जाता है। यह तेल बीमारियों से बचाव करने के साथ ही त्वचा और बालों को स्वस्थ बना सकता है। इसी वजह से इस तेल को गुणों का राजा भी कहा जा सकता है। बस इस तेल का इस्तेमाल संयमित मात्रा में करें और अगर इसे आहार में शामिल कर रहे हैं, तो एक बार डॉक्टर से सलाह जरूर लें।

FAQ:

Q : क्या खुबानी का तेल त्वचा में निखार ला सकता है?
Ans: खुबानी का तेल त्वचा में निखार ला सकता है या नहीं, यह स्पष्ट नहीं है। हां, इससे त्वचा को मॉइस्चराइज करने और उसे स्वस्थ रखने में मदद मिल सकती है ।

Q: चेहरे पर खुबानी के तेल का उपयोग कैसे करें?
Ans: चेहरे को अच्छी तरह धोकर खुबानी तेल की कुछ बूंदों को हल्के हाथों से चेहरे पर लगा सकते हैं। साथ ही क्रीम में मिलाकर भी इसका उपयोग किया जा सकता है।

Q: क्या खुबानी का तेल नाखूनों के लिए अच्छा है?
Ans: खुबानी का तेल नाखून के लिए अच्छा माना जा सकता है, लेकिन इसपर किसी तरह का वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है।

Q: क्या खुबानी का तेल बालों के विकास के लिए अच्छा है?
Ans: जी हां, खुबानी का तेल बालों के विकास के लिए अच्छा होता है। इस बारे में हमने ऊपर लेख में भी विस्तार से बताया है।

Q: क्या खुबानी तेल डार्क सर्कल के लिए अच्छा है?
Ans: हां, खुबानी का तेल डार्क सर्कल के लिए अच्छा हो सकता है।

Q: क्या खुबानी का तेल एनीमिया के लिए लाभ पहुंचा सकता है?
Ans: एनीमिया की स्थिति में खुबानी का तेल फायदेमंद है या नहीं, इस संबंध में कोई वैज्ञानिक शोध उपलब्ध नहीं है।

अब जानते हैं खुबानी का तेल कहां से खरीदा जा सकता है।

खुबानी के तेल को अपने नजदीक सुपर मार्केट से खरीद सकते हैं। इसके अलावा, इसे विश्वसनीय शॉपिंग वेबसाइट से ऑर्डर किया जा सकता है।

Leave a Reply