Arbi For Health | Health benefits For Arbi | Arbi Health benefits And Side Effects  | अरबी के फायदे, उपयोग और नुकसान

न्यूज़
Arbi For Health:अरबी के फायदे, उपयोग और नुकसान
Arbi For Health:अरबी के फायदे, उपयोग और नुकसान

Arbi For Health:अरबी के फायदे, उपयोग और नुकसान

Arbi For Health:भारत के अलग-अलग हिस्से में अरबी को अलग-अलग नामों से जाना जाता है. कुछ लोग इसके पत्तों की पकौड़ी बनाकर खाना पसंद करते हैं तो कुछ इसकी सब्जी. कई जगहों पर तो इसे व्रत में फलाहार के रूप में भी खाया जाता है.

Advertisement

Arbi For Health : अरबी क्या है? (What is Arbi in Hindi?)

Arbi For Health : अरबी की खेती कन्द, और पत्तों के लिए होती है। यह वातकारक है, इसलिए अरबी से बने व्यंजनों में वात के शमन के लिए अजवायन को डाला जाता है। यह वातकारक होते हुए भी हृदय रोगों में फायदेमंद होता है। इसके सेवन से शरीर को पौष्टिक तत्व मिलता है। अरबी को तेल में पकाकर खाने से इसका स्वाद बहुत ही उत्तम हो जाता है।

इसे भी पढ़ें : अरबी के पत्तों की सब्जी

Arbi For Health : भारत के अलग-अलग हिस्से में अरबी को अलग-अलग नामों से जाना जाता है. कुछ लोग इसके पत्तों की पकौड़ी बनाकर खाना पसंद करते हैं तो कुछ इसकी सब्जी. कई जगहों पर तो इसे व्रत में फलाहार के रूप में भी खाया जाता है.

अरबी (Arbi) कई प्रकार के व्यंजन और स्वादिष्ट पकवान बनाने के काम में आती है। क्या आपको पता है, यह स्वादिष्ट सब्जी न सिर्फ खाने का स्वाद बढ़ाती है, बल्कि स्वास्थ्य के लिए भी फायदेमंद है। पहले यह सब्जी सिर्फ एशिया में मशहूर थी, लेकिन इसके स्वाद और स्वास्थ्य के गुणों के कारण यह धीरे-धीरे पूरे विश्व में फैल गई।

आपको बता दें कि अरबी (Arbi) में कई फाइबर और कार्बोहाइड्रेट भरपूर मात्रा में होता है. इसके अलावा इसमें विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन ई, विटामिन बी 6 और फोलेट भी अधिक मात्रा में होता है. इसमें मैग्नीशियम, आयरन, कॉपर, जिंक,फॉस्फोरस, पोटैशियम और मैंगनीज जैसे तत्व भी पाए जाते हैं

इसे भी पढ़ें : दालचीनी चाय के फायदे और नुकसान

जो शरीर को कई समस्याओं से बचाने में मदद कर सकते हैं. अरबी के सेवन से इम्यूनिटी को मजबूत बनाया जा सकता है. अरबी कैंसर, आंखों की बीमारी, हृदय रोग व डायबिटीज जैसी कई बीमारियों में औषधि के रूप में काम आ सकती है। आइए जानते हैं कि अरबी किस प्रकार से हमारे स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद (Arbi For Health) है।तो चलिए आज हम आपको अरबी खाने के फायदों के बारे में बताते हैं.

अरबी के फायदे – Benefits of Taro Roots in Hindi

इम्यूनिटी के लिए : कोरोना काल में इम्यूनिटी का मजबूत होना बहुत जरूरी है. अरबी में विटामिन सी होता है ये आपकी इम्यूनिटी बढ़ाने में मददगार है. अरबी (Arbi)में मौजूद विटामिन सी एक एंटीऑक्सिडेंट के रूप में काम करता है जिससे इम्यूनिटी को मजबूत बनाया जा सकता है.

यह भी पढ़े : कलौंजी किसे कहते है,तथा इसके फायदे एवं नुकसान क्या क्या है

मोटापा के लिए : मोटापे की समस्या से परेशान हैं और वजन कम करना चाहते हैं तो आप अपनी डाइट में अरबी की सब्जी को शामिल कर सकते हैं. अरबी में कैलोरी की मात्रा कम होती है, जो वजन कम करने में मदद कर सकती है. वजन कम करना चाहते हैं तो आप अपनी डाइट में अरबी की सब्जी को शामिल कर सकते हैं.

डायबिटीज के लिए : डायबिटीज रोगियों के लिए फायदेमंद है अरबी की सब्जी. अरबी में पाए जाने वाले पोषक तत्व सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माने जाते हैं. इसके सेवन से शुगर लेवल को कंट्रोल किया जा सकता है.

पाचन के लिए : अरबी (Arbi) में भरपूर मात्रा में फाइबर पाया जाता है. फाइबर को पाचन के लिए अच्छा माना जाता है. अरबी के सेवन से गैस, कब्ज और दस्त की समस्या को दूर किया जा सकता है.

इसे भी पढ़ें : कलौंजी और प्याज के बीजों में क्या अंतर है

आंखों के लिए : अरबी को आंखों के लिए अच्छा माना जाता है. अरबी में एंटीऑक्सीडेंट, एंटी-इंफ्लेमेटरी और विटामिन-ए, सी जैसे तत्व पाए जाते हैं जो आंखों की रोशनी को बढ़ाने में मदद कर सकते हैं.

मांसपेशियों के लिए : अरबी में मौजूद मैग्नीशियम आपकी मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत बनाने में मदद कर सकता है. अरबी में विटामिन ई, आयरन, कॉपर, जिंक,फॉस्फोरस और मैग्नीशियम जैसे गुण पाए जाते हैं, जो कैंसर और हृदय रोगों से बचाने में मदद कर सकते हैं.

कैंसर के इलाज में :अरबी का सेवन आपको कैंसर के खतरे से बचने में सहयोगी होता है क्योंकि एक रिसर्च के अनुसार अरबी में कैंसर के विपरीत कार्य करने की क्षमता होती है

यह भी पढ़ें : jackfruit: कटहल के फायदे

Arbi For Health:अरबी के फायदे, उपयोग और नुकसान
Arbi For Health:अरबी के फायदे, उपयोग और नुकसान

अरबी से नुकसान (Side Effects of Arbi in Hindi)

अरबी का इस्तेमाल करते समय विशेष रूप से इस बात का ध्यान रखना जरूरी है

अरबी के पत्ते, और कंद में कैल्शियम ऑक्जलेट होता है, जिसके सेवन से गले, तथा मुंह में सुई चुभने जैसी खुजली हो सकती है। इसलिए अरवी का सेवन पानी में उबालकर करें। इसे विधिपूर्वक बनाएं, तथा इसकी मात्रा सही होनी चाहिए। इससे आप अरबी के नुकसान से बच सकते हैं .

Q:अरवी कहां पाया या उगाया जाता है?
Ans:अरबी की खेती देश भर में की जाती है। देश के लगभग सभी गर्म प्रदेशों, एवं हिमालय के आर्द्र, तथा सूखे भागों में अरबी की खेती की जाती है। अरवी 2500 मीटर की ऊंचाई तक नदियों व तालाबों के किनारे भी पाई जाती है।

Q : क्या अरबी के सेवन से कोई नुकसान होता है?
Ans :अरबी से वैसे तो कोई नुक्सान नहीं होता है परन्तु यदि अधिक मात्रा में इसका सेवन कर लिए जाए तो यह बदहजमी या गैस का कारण बन सकती है, क्योंकि यह पचने में भारी होती है

यह भी पढ़ें : pomegranate :अनार के फायदे व नुकसान

Q : अरबी सेहत के लिए कितना फायदेमंद है?
Ans :अरबी में फाइबर, कैल्शियम, विटामिन्स,स्टार्च आदि पोषक तत्त्व पाए जाते है। इसमें प्रोटिन्स की मात्रा इतनी अधिक नहीं होती है। कहने का मतलब यह है कि यदि सामान्य मात्रा में खाया जाए तो यह सुपाच्य होती है

यह भी पढ़ें : Beetroot benefits : चुकन्दर के फायदे और नुकसान

Q :प्रेगनेंसी में अरबी खाने के फायदे
                          or
प्रेग्नेंट महिला को अरबी का सेवन करना चाहिए या नहीं
Ans :फाइबर, पोटैशियम, आयरन, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, प्रोटीन जैसे पोषक तत्व अभी में मौजूद होते हैं। जो गर्भवती महिला के लिए जरुरी होते हैं, ऐसे में गर्भवती महिला चाहे तो अरबी का सेवन प्रेगनेंसी के दौरान कर सकती है।

क्योंकि यह सभी पोषक तत्व गर्भवती महिला की प्रेगनेंसी के दौरान आने वाली परेशानियों को कम करने के साथ गर्भवती महिला को फिट रखने में भी मदद करते हैं। साथ ही इससे माँ के पेट में पल रहे शिशु के बेहतर विकास में भी मदद मिलती है। लेकिन इस बात का ध्यान रखें की जरुरत के अनुसार ही अरबी का सेवन करें। क्योंकि जरुरत से ज्यादा किसी भी चीज का सेवन आपको नुकसान पहुंचा सकता है

इसे भी पढ़ें : Green Vegetables : हरी सब्जियां खाने से क्या लाभ है

Q : अरबी की सब्जी खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए ?
Ans :अरबी की सब्जी खाने के बाद ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए इससे आपको स्वास्थय सम्बन्धी परेशानी हो सकती है। क्युकी अरबी की तासीर ठंडी होती है।

Q : अरबी की तासीर क्या है?
Ans :अरबी की तासीर ठंडी होती है।

Q : क्या शुगर पेशेंट अरबी की सब्जी खा सकते हैं?
Ans:अरबी में फाइबर होता है. ये शरीर में शुगर लेवल को कंट्रोल करता है. ये शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज को रिलीज करता है. इसके सेवन से ग्लाइसेमिक लेवल भी मेंटेन कर सकते हैं.

इसे भी पढ़ें : BITTER GOURD : Karela Ke Fayde करेला के फायदे

Q :अरबी का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कितना है?
Ans :100 ग्राम अरबी में 42 ग्राम कैलोरी है जो आलू से भी अधिक है। इसके अलावा इसमें 3.7 ग्राम फाइबर, पांच ग्राम प्रोटीन, 648 मिलीग्राम पोटैशियम, विटामिन ए, सी, कैल्शियम और आयरन जैसे कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं

Q : अरबी में कितना पोटेशियम होता है?
Ans :इसकी पत्तियों में विटामिन ए खनिज लवण जैसे फास्फोरस, कैल्शियम व आयरन और बीटा कैरोटिन पाया जाता है। इसके प्रति 100 ग्राम में 112 किलो कैलोरी ऊर्जा, 26.46 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स, 43 मिली ग्राम कैल्शियम, 591 मिली ग्राम पोटेशियम पाया जाता है।

यह भी पढ़ें : bamboo jam recipe in hind : बांस का मुरब्बा बनाने की विधि

Q : ग्लाइसेमिक इंडेक्स क्या होता है ?
Ans : ग्लाइसेमिक इंडेक्स वह पैमाना है जो बतलाता है कि कोई खास खाद्य पदार्थ कितनी तेजी से और कितनी मात्रा में शरीर में शुगर को बढ़ाता है।

Q : अरबी की सब्जी खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए ?
Ans :अरबी की सब्जी खाने के बाद ठंडा पानी नहीं पीना चाहिए इससे आपको स्वास्थय सम्बन्धी परेशानी हो सकती है। क्युकी अरबी की तासीर ठंडी होती है।

Q : क्या शुगर पेशेंट अरबी की सब्जी खा सकते हैं?
Ans:अरबी में फाइबर होता है. ये शरीर में शुगर लेवल को कंट्रोल करता है. ये शरीर में इंसुलिन और ग्लूकोज को रिलीज करता है. इसके सेवन से ग्लाइसेमिक लेवल भी मेंटेन कर सकते हैं.

Q :अरबी का ग्लाइसेमिक इंडेक्स कितना है?
Ans : 100 ग्राम अरबी में 42 ग्राम कैलोरी है जो आलू से भी अधिक है। इसके अलावा इसमें 3.7 ग्राम फाइबर, पांच ग्राम प्रोटीन, 648 मिलीग्राम पोटैशियम, विटामिन ए, सी, कैल्शियम और आयरन जैसे कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं

इसे भी पढ़ें : Spinach benefits and side effects : पालक के फायदे व नुकसान

Q : अरबी में कितना पोटेशियम होता है?
Ans : इसकी पत्तियों में विटामिन ए खनिज लवण जैसे फास्फोरस, कैल्शियम व आयरन और बीटा कैरोटिन पाया जाता है। इसके प्रति 100 ग्राम में 112 किलो कैलोरी ऊर्जा, 26.46 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स, 43 मिली ग्राम कैल्शियम, 591 मिली ग्राम पोटेशियम पाया जाता है।

Q : ग्लाइसेमिक इंडेक्स क्या होता है ?
Ans :ग्लाइसेमिक इंडेक्स वह पैमाना है जो बतलाता है कि कोई खास खाद्य पदार्थ कितनी तेजी से और कितनी मात्रा में शरीर में शुगर को बढ़ाता है। 

Leave a Reply