वकील दीपिका राजावत के विवादित ट्वीट के चलते अरेस्ट करने की मांग बढ़ी,हिन्दू धर्म का किया अपमान

Top News
Arrest Deepika Rajawat trend on twitte,Insulted Hindu religion
Arrest Deepika Rajawat trend on twitte,Insulted Hindu religion

वकील दीपिका राजावत के विवादित ट्वीट के चलते अरेस्ट करने की मांग बढ़ी

वकील दीपिका राजावत (Deepika Rajawat) ने ट्विटर पर एक पोस्ट शेयर की है। जिसमें एक स्त्री और पुरुष को दिखाया गया है ।और साथ ही तस्वीर के दूसरे हिस्से में उसी पुरुष को उसी देवी के पूजा करते दिखाया गया है। इस ट्वीट के बाद से दीपिका राजावत (Deepika Rajawat

Advertisement
) चर्चाओं में हैं। उन्होंने इस ट्वीट को पोस्ट करते हुए लिखा है विडम्बना,

READ ALSO : नवरात्रि के चौथे दिन जानिए Maa Kushmanda की पूजन विधि, कथा और उनका महत्व

जब से यह ट्वीट किया गया है । तब से ही वकील दीपिका राजावत (Deepika Rajawat) के लिए लोग के अलग अलग रियेक्सन आ रहे है। कुछ लोग उन्हें हिन्दू धर्म का अपमान करने वाली महिला बता रहे हैं तो कुछ ऐसे लोग भी हैं ।

जो उनका सपोर्ट कर रहे हैं। कई लोग उन्हें अरेस्ट (Arrest Deepika Rajawat) करने के लिए कह रहे हैं। जिसके चलते मुद्दा इतना बढ़ गया है की यह ट्वीट ट्वीटर पर दूसरे नंबर पर ट्रेंड कर रहा है।

कठुआ केस से सुर्खियों में आयी थी वकील दीपिका राजावत (Deepika Rajawat)

इससे पहले वकील दीपिका राजावत (Deepika Rajawat) जम्मू कश्मीर के कठुआ केस से सुर्खियों में आयी थी जहाँ एक आठ साल की बच्ची के साथ सामूहिक दुष्कर्म हुआ था । और उसके बाद उसकी हत्या कर दी गई थी। उस मामले में पठानकोट (PATHAANKOT) के एक विशेष अदालत ने छह लोगों को दोषी करार दिया था।

READ ALSO : आगरा : 80 साल की ‘रोटी वाली अम्मा’ की कहानी,दिल्ली के बाबा का ढाबा की तरह

उसके बाद मुख्य आरोपी सांझीराम के बेटे एवं सातवें आरोपी विशाल को बरी कर दिया गया था। वकील दीपिका सिंह (Deepika Rajawat) राजावत की कठुआ सामूहिक दुष्कर्म के मामले में पीड़िता की वकील थीं, लेकिन कुछ ही समय बाद पीड़िता के परिवार ने दीपिका सिंह राजावत (Deepika Rajawat) से केस वापस से लिया था।

पीड़ित परिवार ने दीपिका सिंह राजावत (Deepika Rajawat) से क्यों केस वापर लिया

पीड़ित परिवार का कहना था की वकील दीपिका रजावत (Deepika Rajawat) की केस में कोई रूचि नहीं है । और अदालत में भी नहीं आती हैं। वो वकील के नाम पर सिर्फ इस मामलें में पब्लिसिटी लेने में लगी है।


मै स्वयं भी इन महिलाओ या अन्य सभ्य नागरिको से जानना चाहती हु । की आप लोग प्रतेक घटना पर मूक दर्शक बने रहते है । देश में जब जब इस प्रकार की घटनाएं होती है ।

तब मौनव्रत क्यों और जैसे ही हिन्दू पर्व आते है नए नए तरीको से महिलाओ एवं हिन्दुओ की आस्था पर प्रश्न उठाते हो आधी से ज्यादा घटनाओ के लिए वे लोग जिम्मेदार है । जो ऐसी (वकील दीपिका राजावत) जैसी मानसिकता के शिकार है ।

ट्वीटर पर लोगो ने Deepika Rajawat क्या कमेंट किये को देखे

Leave a Reply