Bamboo jam health benefits in hindi,and | Bamboo murabba recipe

न्यूज़
bamboo jam recipe in hind : बांस का मुरब्बा  बनाने की विधि
bamboo jam recipe in hind : बांस का मुरब्बा बनाने की विधि

Bamboo health benefits in hindi,and bamboo jam | murabba recipe in hind,बांस का मुरब्बा रेसिपी बनाने की विधि

bamboo jam recipe in hind : बांस (Bamboo) के आयुर्वेदिक गुण कमाल हैं. बांस ( bamboo) की पत्ती, फूल, कोंपल, तना का प्रयोग कई रोगों में फायदेमंद हैं. आमतौर पर बांस मकान बनाने में प्रयोग होता है और दैनिक उपयोग की वस्तुओं (टोकरी, डगरा, सूप, हाथ पंखा आदि) के निर्माण के लिए किया जाता है।

Advertisement

लेकिन क्या आपको पता है कि दुनियाभर में बांस का इस्तेमाल एक खाद्य पदार्थ के तौर पर भी किया जाता है? क्योंकि बांस ( bamboo) सड़ता नहीं और नमी में भी सालों साल चलता है.

bamboo jam recipe in hind : बांस के रस में अदरक का रस, शहद मिलाकर पीने से खांसी शांत होती है. बांस के फूल का 2-3 बूँद रस दिन में 3-4 बार कान में डालने से बहरेपन के रोगी को आराम मिलता है और धीरे धीरे सुनाई देने लगता है.

bamboo jam recipe in hind : बांस का मुरब्बा  बनाने की विधि
bamboo jam recipe in hind : बांस का मुरब्बा बनाने की विधि

बांस का मुरब्बा खाने के फायदे – Benefits of eating bamboo jam

बढ़ते हुए बच्चों को बांस का मुरब्बा खिलाने से उनकी लंबाई अच्छी बढ़ती है, सही शारीरिक विकास होता है और दिमाग भी तेज होता है। लंबाई बढ़ाने के लिए बांस ( bamboo) के मुरब्बे का काफी इस्तेमाल किया जाता है। बच्चों की लंबाई नहीं बढ़ रही है तो उन्हें बांस का मुरब्बा खिलाए।

इसमें कैल्शियम प्रोटीन अधिक मात्रा में पाया जाता है जिससे बच्चों की लंबाई बढ़ती है बच्चों का विकास होता है। साथ ही बास में एनिमा एसिड मौजूद होता है जो पूरी बॉडी की ग्रोथ बढ़ाने में काफी मदद करता है।

ऊर्जा के लिए बांस का मुरब्बा खाने के फायदे – For energy
आप जिम जाते हैं थके थके रहते हैं आपके अंदर उर्जा नहीं है तो आप बांस के मुरब्बे का सेवन करें। बास में कई पोषक तत्व होते हैं, जिससे हमें भरपूर ऊर्जा प्राप्त होती है। यदि हम थके हुए हो और तुरंत बांस ( bamboo) का मुरब्बा खाले तो थकान दूर हो जाती है।

 पेट के लिए बांस का मुरब्बा खाने के फायदे – For stomach
यदि पेट बाहर हो तो बांस का मुरब्बा खाने से पेट कम होता है। साथ ही बांस के मुरब्बे से पाचन क्रिया ठीक होती है, और पेट में कीड़ों होतो वह भी मरते हैं और भी पेट में रोग बांस के मुरब्बे से दूर होते हैं।

रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है बांस का मुरब्बा – Increase immunity
यदि आपकी रोग प्रतिरोधक क्षमता कमजोर है तो आप बांस का मुरब्बा खा सकते हैं इसमें मौजूद विटामिन बी6, विटामिन ए, प्रोटीन ओर आयरन भरपूर होते है जो कि हमारी रोग प्रतिरोधक क्षमता को तेज करते हैं।

इसे भी पढे –

एलर्जी दूर करे बांस का मुरब्बा – Remove infection
बांस के मुरब्बे में कई पोषक तत्व होते हैं। जो हमारे शरीर में होने वाली कई तरह की एलर्जी और संक्रमण से बचाव करते हैं और इसे दूर करते है। तो इसके लिए आप बांस के मुरब्बे का सेवन जरूर करें।

आंतो के लिए बांस का मुरब्बा खाने के फायदे – For gut
यदि जिनकी आंते खराब हो मल सही से नहीं आता हो मल में कण आते हो तो इस स्थिति में बांस का मुरब्बा आपके लिए बहुत फायदेमंद होता है। आप बांस का मुरब्बा खाएं इससे आपकी खराब आते ठीक हो जाती है।

  • खून के लिए बांस का मुरब्बा खाने के फायदे – For blood
    बांस का मुरब्बा खाने से हमारा खून साफ होता है। साथ ही यह खून में जमे कोलेस्ट्रोल को कम करता है जिससे हमारे ब्लड प्रेशर भी कंट्रोल में रहता है।

bamboo jam recipe in hind : बांस का मुरब्बा  बनाने की विधि
bamboo jam recipe in hind : बांस का मुरब्बा बनाने की विधि

बांस के मुरब्बे के अन्य फायदे – Other benefits

  • बांस का मुरब्बा खाने से बच्चो का दिमाग तेज होता है
  • दिल के लिए फायदेमंद होता है बांस का मुरब्बा।
  • इसे खाने से हड्डियां मजबूत होती है।
  • दांतो के लिए फायदेमंद होता है।

बांस का मुरब्बा रेसिपी – bans ka murbba recipe in hindi

सामाग्री
500 ग्राम – कच्चा बांस
250 ग्राम – शक्कर
पानी

मुरब्बा बनाने की विधि

  • सबसे पहले बांस को छील ले सूखा बांस नही लेना है। बांस हमे गीले तने वाला कच्चा बांस लेना है।
  • बांस को छीलने के बाद इसे गोल गोल रिंग की तरह काट देना है। अब काटने के बाद इसमें छोटे छोटे छेद करने है ताकि यह अंदर तक पके।
  • अब एक बड़ा बर्तन ले उसमे पानी डाल दे और इसे गैस पर रख दे। फिर इस पानी का एक उबाल आने दे उबाल के बाद इसमें कटे हुए बांस के टुकड़े डाल कर ढक कर 8 से 10 मिनट तक उबलने दे।
  • अब 10 मिनट बाद चेक करे पानी जा रंग बदल कर पिला हो गया होगा और बांस के टुकड़े नर्म हो गए होंगे तो गैस बंद करके इसे छान कर निकाल ले।
  • अब चासनी बनानी है इसके लिए एक बर्तन ले उसमे 250 ग्राम शक्कर और 400 ग्राम पानी डाल दे
  • अब शक्कर गुल गई और एक उबाल आ गया तब इसमें बांस के टुकड़े डाल दे और इसे चासनी जब तक शहद की तरह गाड़ी ना हो तब तक पकने दे।
  • अब चासनी पूरी तरह गाड़ी हो गई है गैस बंद कर दे और मुरब्बा हमारा बन गया अब इसे कांच के डिब्बे में स्टोर करके रखे और इसे खा कर लाभ उठाये।

बांस का मुरब्बा कितना खाये – How much to eat bamboo jam
बांस का मुरब्बा 40 से 50 ग्राम जितना खाये बच्चो को 25 से 30 ग्राम जितना खिलाये। और मधुमेह के मरीज को ना खिलाये इसमें चीनी की मात्रा अधिक होती है।


बांस का मुरब्बा कैसे खाये – How to eat bamboo jam
बांस का मुरब्बा आपको ऐसे ही कच्चा सुबह सुबह खाली पेट खाना चाहिए। खाली पेट खाने से इसके सभी पोषकतत्व आपको पूरी तरह से मिलेंगे।

अब हमने bans ka murbba ke fayde भी जान लिए और इसे आसानी से घर पर बनाने की विधि भी तो घर में ही बनाईए और इसके फायदे का लाभ उठाइये।

महत्वपूर्ण जानकारी important information

● सांस की समस्या या फेफड़ो की समस्या वाले को बांस का मुरब्बा नही खाना है यह ठंडा होता है

● बांस के मुरब्बे के साथ गोंद का तीरा या उसके थोड़ी देर पहले या थोड़ी देर बाद ना खाएं।

● जिसे डायबिटीज है वह भी इसे ना खाएं यह काफी मीठा होता है।

मुझे उम्मीद है कि आपको हमारा यह लेख bans ka murabba khane ke fayde जरूर पसंद आया होगा। हमारी कोशिश यही रहती है की आपको हमारी site पर पूरी तरह से सही information मिले। यदि आपको लगता हो इस article मैं कोई सुधार होना चाहिए। तो आप हमें नीचे comments मैं लिख कर सूचित कर सकते है।


यदि आपको यह लेख bans ka murabba khane ke fayde पसंद आया या अच्छी जानकारी मिली तो कृपया इस पोस्ट को आप social media जैसे facebook , whatsapp , instagram या दूसरे social media site पर share करे

अब bans ka murabba ke fayde तो हम देख चुके है तो अब इसके लिए सवाल होगा की इसे कहा से ले तो बांस का मुरब्बा ऑनलाइन मार्किट या किसी शॉप पर मिल जायेगा और यदि नही मिले तो इसे घर में ही आप आसानी से बना सकते है। तो इसके लिए हम आपको bans ka murabba recipe in hindi बता रहे है।

bamboo jam के आयुर्वेदिक गुण जानकार इसे अपने आहार में सीमित मात्रा में इसे शामिल कर इसका लाभ उठाये । आशा करती हु कि यह लेख आपके लिए मददगार साबित होगा। इस तरह के अन्य लेख पढ़ने के लिए जुड़े रहें https://sangeetaspen.com के साथ।

Leave a Reply