bay leaf water benefits in hindi | Bay Leaf Water Uses | All About Bay Leaf (Tej Patta) in Hindi| tej patta ke fayde upyog aur nuksan in hindi | तेज पत्ते का पानी है सेहत के लिए फायदेमंद

हेल्थ
 Bay Leaf Water Benefits
Bay Leaf Water Benefits

Table of Contents

bay leaf water benefits in hindi | Bay Leaf Water Uses | All About Bay Leaf (Tej Patta) in Hindi| tej patta ke fayde upyog aur nuksan in hindi | तेज पत्ते का पानी है सेहत के लिए फायदेमंद, कई समस्याएं होंगी दूर

Bay Leaf Water Uses : भारतीय किचन में इस्तेमाल किए जाने वाले मसाले खाने का स्वाद बढ़ाने में मददगार होते हैं। साथ ही यह मसाले सेहत के लिहाज से भी काफी फायदेमंद होते हैं। हमारे किचन में कई ऐसे मसाले हैं, तो शरीर की गंभीर से गंभीर परेशानियों से निजात दिलाने में असरदार होती हैं।

Advertisement

इन्हीं मसालों में से एक है तेजपत्ता। इसके इस्तेमाल से कई डिशेज की खुशबू बढ़ जाती है। वहीं, तेजपत्ता आपके शरीर को कई पोषक तत्व प्रदान करता है। रसोई में मिलने वाला तेजपत्ता (Bay Leaf)न केवल सब्जियों में इस्तेमाल होता है बल्कि सेहत के लिए बेहद उपयोगी है।

तेज पत्ते के अंदर कॉपर, कैल्शियम, आयरन, एंटीऑक्सीडेंट आदि पोषक तत्व पाए जाते हैं जो इसे और प्रभावशाली बना देते हैं। लेकिन क्या आप जानते हैं कि तेज पत्ते का इस्तेमाल कर कई शारीरिक बीमारियों से बचा सकता है।

आयुर्वेद में इस औषधीय पत्ते के प्रयोग के कई लाभ बताए गए हैं।इसके साथ ही तेज पत्ते का पानी (Bay Leaf Water) भी सेहत के लिए बेहद उपयोगी है? जी हां, इस लेख के माध्यम से जानते हैं कि तेज पत्ते के पानी का इस्तेमाल कैसे किया जाए. साथ ही तेज पत्ते के पानी के फायदों (Bay Leaf water Benefits) और कुछ नुकसान के बारे में भी जानेंगे

Bay Leaf : तेज पत्ते का वैज्ञानिक नाम लॉरस नोबिलिस (laurus nobilis) है। यह एक सुगंधित पत्ता है, जो लॉरस परिवार से संबंधित है। खाने और औषधि में इसका उपयोग 1 हज़ार वर्षों से किया जा रहा है। तेज पत्ते की 2400 से 2500 प्रजातियां हैं, जिसमें से अधिकतर पूर्वी एशिया, दक्षिण व उत्तरी अमेरिका और एशिया में पाई जाती हैं।

इस पत्ते में टैनिन, फ्लेवोन, फ्लेवोनोइड्स, एल्कलॉइड्स, यूजेनॉल, लिनालूल और एंथोसायनिन शामिल हैं। प्रजाति के अनुसार सभी के रासायनिक घटक अलग-अलग हो सकते हैं। आमतौर पर मसाले, एसेंशियल ऑयल व पारंपरिक चिकित्सा में प्रयोग होने वाले इस पत्ते की दो प्रजातियां प्रयोग की जाती हैं – लॉरस एजोरिका और एल नोबिलिस। तेजपत्ता का उपयोग इसके सूखने के बाद ही होता है। इसके कई औषधीय गुण भी हैं

तेज पत्ते के पानी के फायदे

शरीर की सूजन कम करे : शरीर की सूजन को दूर करने में तेज पत्ते का पानी आपका बेहद काम आ सकता है. ऐसे में आप दिन में दो बार तेज पत्ते के गुनगुने पानी का सेवन करें. ऐसा करने से शरीर की सूजन को दूर किया जा सकता है.

इंफेक्शन होगा दूर : तेजपत्तों में विटामिन सी भरपूर रूप से होता है। यह एंटीबैक्टीरियल गुणों से भरपूर होता है, जो इंफेक्शन को बचाने में मददगार हो सकते हैं। सर्दियों में नियमित रूप से तेजपत्तों का पानी पीने से आपको सर्दी-जुकाम की परेशानी कम होगी।

किडनी स्टोन से बचाव : किडनी स्टोन से बचाव में तेज पत्ते का पानी आपके बेहद काम आ सकता है. ऐसे में आप तेज पत्ते को पानी में उबालें और उसके बाद उसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें. अब बनें मिश्रण का दिन में दो से तीन बार सेवन करें. ऐसा करने से किडनी स्टोन की परेशानी से बचा जा सकता है. इसके अलावा किडनी स्टोन की परेशानी को दूर किया जा सकता है.

नींद को करे बेहतर : अनिद्रा की शिकायत को दूर करने में तेजपत्ते का पानी आपके लिए बहुत ही लाभकारी हो सकता है। इसके लिए रात में खाने के कुछ घंटे बाद तेजपत्ते का पानी पिएं। इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।

tej patta ke fayde upyog aur nuksan
tej patta ke fayde upyog aur nuksan

वजन कम करता है : वजन को कम करने में तेज पत्ते का पानी आपके बेहद काम आ सकता है. ऐसे में आप दिन में दो से तीन बार तेज पत्ते का पानी पिएं. ऐसा करने से न केवल शरीर की चर्बी कम हो सकती है. बल्कि मोटापे को भी नियंत्रित किया जा सकता है.

ब्लड शुगर कंट्रोल : तेजपत्ते का पानी नियमित रूप से पीने से आपके शरीर का ब्लड शुगर कंट्रोल हो सकता है। दरअसल, तेजपत्ते में फाइटोकेमिकल्स पाया जाता है, जो ब्लड शुगर को कंट्रोल करने में आपकी मदद कर सकता है। सर्दियों में तेजपत्ते का हल्का गुनगुना पानी पीने से ब्लड शुगर कंट्रोल में रह सकता है।

कैसे तैयार करें तेजपत्ता का पानी

आवश्यक सामाग्री
पानी- 2 कप
तेज पत्ता- 2 से 3
दालचीनी पाउडर – आधा चम्मच

विधि

सबसे पहले एक पैन में पानी डालें और इसे अच्छे से उबाल लें। इसके बाद इसमें कुछ तेजपत्ते डाल दें। अब इसे कुछ मिनटों के लिए उबालें। जब पानी अच्छे से उबल जाए, तो गैस बंद करके इसमें दालचीनी का पाउडर डाल लें। पानी कुछ देर के बाद जब हल्का ठंडा हो जाए, तो इसे कप में छानकर कॉफी की तरह पिएं। इससे आपको काफी लाभ मिलेगा।

तेजपत्ता का पानी स्वास्थ्य के लिए कई तरह से लाभकारी हो सकता है। हालांकि, अगर आपको किसी भी तरह की परेशानी है, तो इसका सेवन करने से पहले एक बार डॉक्टर से जरूर सलाह लें। अधिक मात्रा में किसी भी चीज का सेवन करने से बचें।

तेज पत्ता के नुकसान – Side Effects of Bay Leaf in Hindi

  • गर्भावस्था या स्तनपान के दौरान तेज पत्ता या इसके सप्लीमेंट के सेवन के बारे में पर्याप्त विश्वसनीय जानकारी नहीं है, इसलिए गर्भावस्था के दौरान इसका सेवन करने से पहले अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।
  • मधुमेह के रोगी तेजपत्ते का सेवन डॉक्टर की देखरेख में ही करें।
  • ये पत्तियां एनेस्थीसिया की दवाओं के साथ रिएक्शन करके केंद्रीय तंत्रिका तंत्र (CNS) को धीमा कर सकती है। इसलिए सर्जरी से कम से कम 2 सप्ताह पहले तेज पत्ते या इसके किसी सप्लीमेंट के सेवन को रोक देना सही निर्णय साबित हो सकता है।
  • तेज पत्ता के नुकसान में एलर्जी भी शामिल है। तेज पत्ते से बनाया गया एसेंशियल ऑयल संवेदनशील त्वचा पर एलर्जी का कारण बन सकता है।
Side Effects of Bay Leaf
Side Effects of Bay Leaf

FAQ :

Q : तेजपत्ता का पानी पीने से क्या होता है?

Ans : तेज पत्ता विटामिन सी का एक स्रोत है, यह इम्यून सिस्टम के लिए भी बहुत अच्छा है और इसमें एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं, जो संक्रमण को दूर रखते हैं।

Q : तेज पत्ते से क्या क्या फायदे होते हैं?

Ans: वजन को कर सकता है कम तेज पत्‍ते के पानी का सेवन करने से आपके शरीर का वजन कम हो सकता है।

Q : तेज पत्ते की तासीर क्या होती है?

Ans:तेज पत्ता की तासीर तीक्ष्ण और गर्म होती है

Q : तेजपत्ता का सेवन कैसे करें?

Ans:दाल और सब्जी में तेजपत्ते डालकर सेवन कर सकते हैं। इसके अलावा, रोजाना तेजपत्ते का काढ़ा जरूर पिएं।

Q : क्या तेज पत्ते को निगलना हानिकारक है?

Ans: तेज पत्ते का सेवन पाउडर के रूप में ही करना चाहिए, इसे निगलने के बाद यह पचता नहीं है। इसके किनारे धारदार होते हैं, जो शरीर के अंदरूनी अंगों को हानि पहुंचा सकते हैं और ये गले में अटक भी सकता है। अगर तेज पत्ते का उपयोग साबुत किया जाता है, तो उसे खाएं नहीं, बल्कि भोजन बनने के बाद बाहर निकाल दें।

Q : क्या तेज पत्ता जानवरों के लिए हानिकारक है?

Ans : हां, तेज पत्ते का सेवन कुत्ते, बिल्ली और घोड़ों के लिए जहरीला हो सकता है और उन्हें उल्टी-दस्त लग सकते हैं।

Q : तेज पत्ता को जलाने से क्या होता है?

Ans: एक शोध के अनुसार, तेज पत्ते या तेज पत्ता पाउडर को जलाकर धुआं करने (अरोमाथेरपी) से तनाव कम हो सकता है और मानसिक शांति मिल सकती है।

Q : अन्य भाषाओं में तेज पत्ता को क्या कहा जाता है?

Ans: तेज पत्ते को अंग्रेजी में बे लीफ, वैज्ञानिक भाषा में लॉरस एजोरिका और एल. नोबिलिस कहा जाता है। वहीं, हिन्दी और नेपाली में इसे तेजपत्ता, आसामी में तेजपात कहा जाता है, जबकि मराठी और संस्कृत में तमालपत्र, तेलुगू में बगारा आकु, तमिल में पुनाई इलाइ और कन्नड़ में सिन्नेमोमम तमाला व मालाबाथरम कहा जाता है।

Q : क्या तेज पत्ते की चाय रक्तचाप को कम कर सकती है?

Ans: तेज पत्ता पाउडर रक्तचाप को कम कर सकता है और इस संबंध में लेख में ऊपर विस्तार से बताया गया है। इस आधार पर कहा जा सकता है कि इसकी पत्तियों को उबालकर बनने वाली चाय पीने से उच्च रक्तचाप की समस्या कुछ कम हो सकती है।

Q : क्या तेज पत्ते का सेवन मूत्रवर्द्धक है?

Ans: हां, तेज पत्ते का सेवन मूत्रवर्द्धक (Diuretic) है। यह हानिकारक पदार्थों को मूत्र के जरिए शरीर से बाहर निकालने में मदद कर सकता है।

Q : क्या तेज पत्ता कीड़े-मकोड़ों को दूर रखने में सहायक है?

हां, तेज पत्ता कीड़े-मकोड़ों को भगाने में कारगर हो सकता है। इसकी तीखी गंध कीड़े-मकोड़ों को दूर रख सकती है।

Q : क्या तेज पत्ता नींद आने में मदद कर सकता है?

Ans: तेज पत्ते की खुशबू तनाव को कम कर सकती है, जिससे अच्छी नींद आने की संभावना बन सकती है।

Q : मधुमेह वाले लोग तेज पत्ता का उपयोग कैसे कर सकते हैं?

Ans: मधुमेह के रोगियों को तेज पत्ते के सेवन से फायदा और नुकसान दोनों हो सकता है। इसलिए, मधुमेह के मरीज को तेज पत्ते का सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए ।

Leave a Reply