Beetroot benefits : चुकन्दर के फायदे और नुकसान

हेल्थ

चुकंदर का परिचय – Introduction of Beetroot

चुकन्दर क्या है ? What is Beetroot ?

 Introduction of Beetroot
Introduction of Beetroot

beetroot benefits : चुकंदर (chukandar/ beetroot ke fayde) 30-90 सेमी ऊँचा, कंद (bulb) मोटा तना वाला, शाकीय पौधा होता है। इसके पत्ते मूली या शलगम के पत्ते जैसे होते हैं। चुकंदर के फूल 2-3 के गुच्छों में या एकल, लम्बे बेलनाकार स्पाइक जैसे होते हैं। इसकी जड़ बैंगनी लाल रंग की होती है।

Advertisement

चुकंदर सितम्बर से फरवरी महीने में फलता-फूलता है।इसकी जड़ मीठी और ठंडे तासीर की होती है। चुकंदर एक ऐसा सब्जी है जो शरीर के लिए बहुत लाभकारी ( chukandar/ beetroot benefits in hindi) होता है

लेकिन इसके साथ-साथ चुकंदर के औषधीय गुण भी बहुत है। चुकन्दर आँखों के लिए अच्छा, चर्बी कम करने वाला होता है। चुकंदर कफ निकालने वाली, कमजोरी दूर करने वाली, हिमोग्लोबीन की संख्या बढ़ाने वाली होती है। मिलती है। यह भी पढ़े : wood apple juice :बेल के शरबत के फायदे, बेल का शरबत बनाने का तरीका

beetroot benefits : चुकंदर (Chukandar / Beetroot) एक ऐसा मूसला जड़ वाला वनस्पति है जो लगभग पूरे साल पाया जाता है। इसको सलाद, सब्जी और जूस के रुप में उपयोग में लिया जाता हैं। चुकंदर न सिर्फ सौन्दर्य दृष्टि से फायदेमंद है

यानी चेहरे पर निखार लाता है । साथ ही ये वजन कम करने में भी मदद करता है। चुंकदर खाने के बारे में कुछ लोगों के मन में ये सवाल रहता हैं, कि इसे सलाद के रूप में खाना ज्यादा फायदेमंद रहता है या फिर इसका जूस पीना चाहिए। हेल्थ एक्सपर्ट की मानें, तो दोनों ही रूप में इसका सेवन करना शरीर के लिए फायदेमंद है।

चुकंदर देखने में छोटा होता है लेकिन चुकंदर के फायदे (chukandar ke fayde) अनगिनत होते हैं। चलिये आज के इस पोस्ट में हम जानेगे इस नन्हे रंगीन वनस्पति चुकंदर (Chukandar / Beetroot) के बारे में

चुकन्दर के फायदे – Benefits and Uses of Chukandar or Beetroot

आम तौर पर लोग चुकंदर खाने से कतराते है लेकिन क्या आप जानते है कि चुकंदर खाने के फायदे (beetroot benefits in hindi) कितने होते हैं। वह तरह-तरह के बीमारियों के लिए फायदेमंद है।

Introduction of Beetroot

चुकंदर कहां पाया और उगाया जाता है ?

चुकन्दर का प्रयोग सभी जगह शाक तथा सलाद के रूप में किया जाता है। इसकी भारत के विभिन्न भागों में खेती की जाती है। यह भी पढ़े : Summer fruit benefits : ये फल गर्मियों में शरीर में पानी की कमी नहीं होने देते हैं

चुकंदर इतना गुणकारी / फायदेमंद है

beetroot benefits : 100 ग्राम चुकंदर में कैलोरी की मात्रा 43 मिलीग्राम, फैट 0।2 ग्राम, शुगर 6।8 ग्राम, प्रोटीन 1।6 ग्राम, कैल्शियम 16 मिलीग्राम, आयरन 0।80 मिलीग्राम सहित कई अन्य कई तत्व मौजूद होते हैं। बीटरूट में पाए जाने एंटीऑक्सी डेंट्स (anti-oxidants) शरीर के लिए अत्यशधिक फायदेमंद साबित होते हैं।

चुकंदर में पाये जाने वाले पौष्टिक तत्वों के कारण सेहत को अनगिनत फायदे मिलते हैं, क्योंकि एक रिचर्स के अनुसार इसमें विटामिन सी , बी -1, बी -2 , बी-6 और बी -12 पाया जाता है। इसकी पत्तियाँ विटामिन – ए का भी बहुत ही अच्छा स्त्रोत है साथ ही चुकंदर आयरन का भी एक अच्छा स्त्रोत माना जाता है।

तो चलिये आगे जानते हैं कि चुकंदर या बीटरूट किन-किन बीमारियों में कैसे लाभ पहुँचता है।

beetroot benefits : चुकंदर में आयरन, सोडियम, पोटेशियम, फॉस्फोरस पर्याप्त मात्रा में होते हैं, जिस कारण यह शरीर को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है। सर्दियों में हर रोज चुकंदर का सलाद खाना चाहिए या जूस पीना चाहिए। यह भी पढ़े : Ficus religiosa :ऑक्सीजन का natural plant पीपल

चुकंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाता है – चुकंदर रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने का काम करता है। क्योंकि इसके फाइबर्स पेट को साफ रखने में मददगार होते हैं। यह शर्करा का प्राकृतिक स्रोत है।

हाई बीपी में फायदेमंद है – चुकंदर हाई बीपी वाले मरीजों के लिए खासतौर पर लाभदायक रहता है। चुकंदर और गाजर का जूस बनाकर पीने से शरीर को नेचुरल शुगर मिलती है और बीपी भी कंट्रोल में रहता है।

ब्लड प्यूरिफिकेशन और ऑक्सीजन बढ़ाने में मदद करता है – चुकंदर में विटामिन-बी, विटामिन-सी, फॉस्फोरस, कैल्शियम, प्रोटीन और एंटिऑक्सीडेंट्स होते हैं। जो शरीर में ब्लड प्यूरिफिकेशन और ऑक्सीजन बढ़ाने का काम करते हैं।

बालों की ग्रोथ में है मददगार- फॉस्फोरस बालों की ग्रोथ के लिए बहुत अच्छा माना जाता है और चुकंदर इसका नेचुरल सोर्स है, जो बालों को बढ़ने में मददगार है।केवल बाल ही नहीं चुकंदर हमारी त्वचा की रंगत को भी निखार क्र सुंदर बनाता है। चुकंदर से सिर के बंद रोमछिद्र खुल जाते हैं, जिससे बाल मजबूत होते है और त्वचा पर लगाने से डेड सेल साफ होती हैं।

मासिकधर्म में लाभदायक – महिलाओं को मासिकधर्म आने पर बहुत परेशानियों का सामना करना पड़ता है। जिसे दूर करने के लिए चुकंदर के रस को पीना चाहिए। इसमें लोह की मात्रा अधिक होता है जो लाल रक्त कोशिकाओं की संख्या को बढ़ाता है।

अक्सर मासिकधर्म के दौरान महिलाये अपने आप को अधिक कमजोर और सुस्त महसूस करती है इसका मुख्य कारण कमजोरी होता है। इसलिए महिलाओं को ऐसी अवस्था में चुकंदर का सेवन करना चाहिए। यह आपके शरीर को मजबूत बनाता है और सुस्ती को दूर करता है। यह भी पढ़े : Mint Natural Medicine : पुदीना के फायदे और उपयोग

त्वचा के लिए – चुकंदर त्वचा की झुर्रिया को कम करने में मदद करता है। महिलाये हमेशा अपने चेहरे पर दाग-धब्बे की समस्या होती है इन समस्या को चुकंदर द्वारा ठीक किया जा सकता है। क्योंकि चुकंदर में अच्छी मात्रा में फोलेट, फाइबर होता है। चुकंदर की तासीर ठंडी होती है यह त्वचा पर फोड़े-फुंसी आने की समस्या को रोकती है। अगर आप अपनी त्वचा की सुरक्षा करनी चाहती है तो रोजाना एक ग्लास चुकंदर रस जरूर पिये।

 Introduction of Beetroot
Introduction of Beetroot

चुकंदर के नुकसान क्या है ? -What are the Side-Effects of Beetroot

  • चुकंदर के स्वास्थ्य लाभ तो बहुत है किंतु अत्यधिक मात्रा में उपयोग करने से कुछ नुकसान जरूर हो सकता है।
  • चुकंदर का अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से किडनी स्टोन की समस्या हो सकती है। क्योंकि इसमें उच्च मात्रा में कैल्शियम और विटामिन सी उपस्थित होता है।
  • अत्यधिक मात्रा में चुकंदर का सेवन करने से त्वचा पर चकत्ते भी आ सकते है।
  • अत्यधिक मात्रा में सेवन करने से आपके पेट में दर्द व ऐंठन हो सकता है।
  • कुछ लोगो के चुकंदर का अत्यधिक सेवन करने से कलर स्टूल की समस्या हो सकती है।
  • अधिक चुकंदर खाने से पहले अपने चिकिस्तक की सलाह ले।

आपको हमारा आज का पोस्ट चुकन्दर के फायदे और नुकसान (beetroot benefits and Side-Effects in Hindi) कैसा लगा coment करके अवश्य बताये अगर पोस्ट पसंद आये तो इसे अन्य लोगो के साथ share करे और ऐसी ही Helth news के लिए मेरे blog sangeetaspe .com और sngeetaspen youtube चैनल को subscribe करे

आप सभी पाठको का धन्यवाद

हमारा उद्देश्य केवल आपको लेख के माध्यम से जानकारी देना है। हम आपको किसी तरह दवा, उपचार की सलाह नहीं देते है। चुकंदर का उपयोग करने से पहले अपने हेल्थ एक्सपट से सलाह अवश्य ले

Leave a Reply