benefits of blood donation : रक्तदान से फायदे

हेल्थ
Objectibenefits of blood donation : रक्तदान से फायदेve of World blood donor day
benefits of blood donation : रक्तदान से फायदे

रक्तदाता करने से न सिर्फ किसी की जान बचाई जा सकती है, बल्कि ये हमारी सेहत के लिए भी फायदेमंद होता है ब्लड एक ऐसा सुरक्षित दान है जिससे बॉडी में कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है। इसके बावजूद कई लोग रक्तदान (benefits of blood donation)

Advertisement
करने से हिचकिचाते हैं. एक्सपर्ट कहते हैं कि रक्तदान से दिल की सेहत में सुधार और वजन कंट्रोल समेत हेल्थ को कई बड़े फायदे होते हैं.

ये रक्तदाता के शरीर और मन दोनों पर बहुत अच्छा प्रभाव डालता है. इसलिए इसके प्रति लोगों को जागरूक करने के लिए हर साल 14 जून को वर्ल्ड ब्लड डोनर डे (world blood donor day) मनाया जाता है

रक्तदान से फायदे

  • ब्लड देने से हमारी बॉडी में होने वाली बीमारियों का पता चलता है।
  • रक्तदान से पहले आपकी बॉडी की जांच होती है। उसमें हमे पहले ही पता चल जाता है कि हमें किसी प्रकार की बीमारी होने वाली है।
  • रक्तदान से पहले हीमोग्लोबिन का टेस्ट होता है। कम होने पर आप रक्तदान नहीं कर सकते। लेकिन पता चलने पर आप हीमोग्लोबिन के लिए प्रयास कर सकते हैं।
  • ब्लड देने से ह्र्दय संबंधित बीमारी के आसार कम होते हैं। क्योंकि उनका ब्लड गाढ़ा बहुत कम होता है।
  • रक्तदान के बाद आपका शरीर खून को पूरा करने के काम में लग जाता है. इससे शरीर की कोशिकाएं ज्यादा लाल रक्त कोशिकाओं के निर्माण के लिए प्रेरित होती हैं, जो आपकी सेहत को सुधार सकता है और शरीर को बेहतर तरीके से काम करने में मदद करता है.
  • एक युनिट रक्‍तदान करने से हमारे शरीर से 650 कैलोरी जलती है। यह वजन को नियंत्रण में करने में भी मददगार है। तो अगर आप नियमित रूप से रक्‍तदान करते हैं तो अपनी कैलोरी जलाते हैं।
  • नियमित अंतराल पर रक्तदान से आप अपने शरीर को आयरन की अधिकता से बचा सकते हैं. यह कुछ निश्चित प्रकार के कैंसर के खतरे को भी कम करता है.
benefits of blood donation : रक्तदान से फायदे
benefits of blood donation : रक्तदान से फायदे

किस प्रकार की बीमारी होने पर रक्तदान नहीं कर सकते हैं ?

अगर आपको किसी भी प्रकार की टेबलेट चल रही है तो आप रक्तदान नहीं कर सकते हैं। डायबिटीज, एचआईवी बीमारी होने पर आप ब्लड नहीं दे सकते हैं। एक स्वस्थ इंसान कभी भी ब्लड दे सकता है। जो लोग फिट है वह किसी के काम आ सकते हैं, लेकिन अगर ऐसा नहीं होता है तो उस जीवन का बहुत अधिक महत्व नहीं है।

क्या पियर्सिंग और टैटू बनवाने वाले भी ब्लड डोनेट कर सकते हैं ?

जी हां, वे लोग ब्लड डोनेट (benefits of blood donation) कर सकते हैं लेकिन पियर्सिंग और टैटू बनने के 3 महीने से पहले नहीं। लेकिन सबसे बड़ी परेशानी यह रहेगी कि अपने परिवार में किसी को जरूरत पड़ने पर भी आप किसी भी स्थिति में ब्लड नहीं दे सकते हैं।

रक्तदान करने से पहले किन बातों का ध्यान रखना जरूरी है ?

रक्तदान से पहले पेट भर कर नाश्ता करें या भोजन करें। खाली पेट रक्तदान नहीं करें। आपने 12 घंटे से पहले किसी प्रकार की मेडिसिन नहीं ली हो। कम से कम 2 घंटे पहले स्मोकिंग नहीं की हो। तो आप बिल्कुल ब्लड दे सकते हो।

ब्लड डोनेट करने के बाद किस तरह की सावधानियां रखने की जरूरत है ?

ब्लड डोनेट करने के बाद किसी खास प्रकार की सावधानी रखने की जरूरत नहीं है। आपको ब्लड बैंक में ही 15 से 20 मिनट तक के लिए आराम कराया जाता है। इसके बाद आप काम कर सकते हैं।

क्या आने वाले समय में रक्त की कमी हो जाएगी ?

कोरोना काल जैसे समय में ब्लड की मांग बंद हो जाती है। ब्लड की अभी कोई समस्या नहीं है ना ही आगे होगी। ब्लड बैंकों के पास ब्लड है और ब्लड की बहुत अधिक डिमांड भी नहीं है।

डॉक्टर्स कहते हैं कि 18 से 60 साल की उम्र का कोई भी व्यक्ति रक्तदान (benefits of blood donation) कर सकता है. बस, इसके लिए जरूरी है कि वह स्वस्थ हो और कुछ मानकों को पूरा करता हो. अगर आपको कोई बीमारी है या आप कोई दवा ले रहे हैं तो बेहतर होगा कि रक्तदान (benefits of blood donation) से पहले अपने चिकित्सक से सलाह ले लें और रक्तदान के लिए हो रही जांच के समय पूरी जानकारी दें.

जनता को रक्तदान के लिए कैसे जागरूक करेंगे ?

मैं सभी से निवेदन करती हूं कि अपनी बारी का इंतजार नहीं करें। और ना ही ये सोचे की सिर्फ हमारे परिवार और दोस्तों को ब्लड की जरूरत होगी तब ही रक्तदान करेंगे। तो जब भी किसी को खून की जरूरत होती है उन्हें ब्लड जरूर दें।

2 comments

Leave a Reply