ब्रोकली के फायदे

न्यूज़

हमारे स्वास्थ्य के लिए सब्जियां और फल बहुत लाभदायक होते हैं। इसके नियमित सेवन से अनेक बीमारियों से छुटकारा मिलता है। उन्हीं में से एक सब्जी है ब्रोकली, आज sangeetaspen के माध्यम से मैं आपको ब्रोकली के विषय में ही बताने का प्रयास कर रही हु की ब्रोकली क्या है, और इसके फायदे Benefits of Broccoli

Advertisement
एवं नुकशान Side Effects of Broccoli क्या क्या है। साथ ही इस लेख में बताऊगी की कितनी मात्रा में ब्रोकली का प्रतिदिन कितना सेवन करना चाहिए।

ब्रोकली क्या है – What is Broccoli

ब्रोकली फूलगोभी प्रजाति की एक सब्जी है, जिसे हम खाने में स्लॉट एवं सब्जी के रूप में उपयोग करते हैं। लेकिन इसका स्वाद फूलगोभी से बिलकुल अलग होता है। ब्रोकली नाम इटेलियन शब्द ब्रोक्कोलो से आया है, जिसका मतलब होता है गोभी के फूल की शिखा, ब्रोकली में प्रोटीन, कैल्शियम, कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन-ए और सी व कई अन्य पोषक तत्व भी पाए जाते हैं, जो सेहत के लिए बहुत लाभदायक होते हैं । इसके सेवन से शरीर में पोषक तत्वों की कमी को पूरा किया जा सकता है।

इसमें मौजूद पोषक तत्व हृदय रोग, आंखों की समस्या, पाचन की समस्या व मधुमेह की समस्या तथा केंसर की समस्या और इस तरह के अन्य समस्याओं से निजात दिलाते हैं। ब्रोकली अनेक प्रकार या प्रजाति की होती हैं।अब जानते है कौन – कौन से प्रकार है तथा कहा कहा उगाई जाती है, और यह किस तरह की दिखाई देती है।

ब्रोकली के प्रकार – Types of Broccoli

केलाब्रेसी ब्रोकली – Calabrese broccoli :  ब्रोकली की इस प्रजाति का नाम इटली के मशहूर शहर कालाब्रिया के नाम पर पड़ा है। इसका ऊपरी भाग गहरा हरा रंग का होता है। इसे ठंड के दिनों में या ठंडी जगह पर उगाया जाता है।

ब्रोकली रेब – Broccoli rabe : ब्रोकली रेब को ब्रोकली रॉब के नाम से भी जाना जाता है। यह पालक की तरह पत्तेदार होती है।

ब्रोकोफ्लोवर – Broccoflower : यह ब्रोकली की तरह कम और फूलगोभी की तरह ज्यादा दिखती है। इसका स्वाद भी कुछ-कुछ फूलगोभी की तरह होता है।

अंकुरित ब्रोकली -Sprouting broccoli : इसका ऊपरी भाग फैला हुआ होता है और इसमें कई डंठल होते हैं।

गई-लन ब्रोकली – Gai-lan: इसे चायनीज ब्रोकली के नाम से भी जाना जाता है। यह लंबी और पत्तेदार होती है और सामान्य ब्रोकली की तुलना में ज्यादा पौष्टिक होती है।

पर्पल कॉलीफ्लॉवर – Purple cauliflower : पर्पल ब्रोकली भी ब्रोकली का एक प्रकार है। यह बैंगनी रंग की होती है। इसे अमेरिका और यूरोप में ज्यादा उपयोग किया जाता है।

ब्रोकली के फायदे – Benefits of Broccoli

कैंसर में ब्रोकली के फायदे

कैंसर होने केअनेक कारण हो सकते हैं और इसके इलाज पर लाखों करोड़ो रुपये खर्च हो जाते हैं, लेकिन क्या आप जानते है कि ब्रोकली के सेवन से कैंसर से बच सकते हैं। ब्रोकली में सल्फोराफेन नामक यौगिक होता है, जो कैंसर को होने से रोकने में अहम भूमिका निभा सकता है।

सल्फोराफेन एक प्राकृतिक प्लांट कंपाउंड है, जिसके कई स्वास्थ्य लाभ हैं, लेकिन सल्फोराफेन ब्रोकली की जरूरत से ज्यादा पकाने या उबालने पर नष्ट हो सकता है। इसलिए ब्रोकोली को हमेसा हल्का उबालकर या स्टीम करके सेवन किया जाए तो बेहतर है।ब्रोकली को अंकुरित करके भी खाया जाता हैं

गर्भावस्था में ब्रोकली खाने के फायदे – Benefits of eating broccoli during pregnancy

गर्भावस्था के समय शरीर को पर्याप्त मात्रा में पोषक तत्व मिलना बहुत जरूरी होता है। अगर ऐसा न हो, तो होने वाला शिशु कुपोषण का शिकार हो सकता है। इसलिए, गर्भावस्था में ब्रोकली का सेवन करना गर्भवती महिलाओ के लिए लाभदायक माना जाता है,

क्योंकि ब्रोकली में अधिक मात्रा में विटामिन, सल्फोराफेन और प्रोटीन पाए जाते हैं, जो गर्भावस्था में चुस्त व तंदुरुस्त रखते हैं। जिससे शिशुऔर मां दोनों स्वस्थ और तंदुरुस्त रहे ।

लेकिन एक बात ध्यान रखे की गर्भावस्था में सभी महिलाओ की सेहत एक जैसी नहीं होती है, इसलिए ब्रोकली का सेवन करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर की सलाह जरूर लें।

मधुमेह के लिए ब्रोकली – Broccoli for diabetes

मधुमेह के मरीज को बहुत चीजों का सेवन करना मना होता है, क्योंकि इनमें कुछ ऐसे तत्व होते हैं, जो मधुमेह की समस्या को बढ़ा सकते हैं। लेकिन डॉक्टर मधुमेह के मरीज को ब्रोकली खाने की सलाह देते हैं, क्योंकि इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व मधुमेह की समस्या को नियंत्रित रखने में सहायक होते हैं।

ब्रोकली में एंटीआक्सीडेंट गुण पाए जाते हैं, जो ब्लड ग्लूकोज और ऑक्सिडेटिव स्ट्रेस को कम करने में मदद करते हैं और ऐसा ब्रोकली में पाए जाने वाले फाइबर के कारण संभव है, जो मधुमेह की बीमारी को कम करने में सहायता पहुंचाता है।Read this : Diabetes manage tips : यह कुछ नटस मधुमेह के लिए अच्छे माने जाते है

बालों के लिए ब्रोकली के फायदे – Benefits of broccoli for hair

बालों के टूटने – झड़ने और गंजेपन की समस्या के अनेक कारण हो सकते है। लेकिन ऐसे में पर्याप्त पोषक तत्वों का सेवन करना बहुत जरूरी है और इनकी पूर्ति हरी सब्जियां के सेवन से हो सकती है।

हरी सब्जियों में ब्रोकली को भी अपने आहार में शामिल करें, क्योंकि ब्रोकली में विटामिन-बी और विटामिन-सी पाए जाते हैं। ये बालों को मजबूत बनाते हैं और उन्हें टूटने – झड़ने से रोकते हैं।

ब्रोकली के नुकसान – Side Effects of Broccoli

  • ब्रोकली को सही मात्रा में उपयोग करने से सामान्यतय कोई नुकसान नहीं होता है। अगर इसका अधिक मात्रा में सेवन किया जाए तो यह लिए नुकसानदायक हो सकता है, क्योंकि ब्रोकली में फाइबर अधिक मात्रा पाया जाता है। जिससे यह ज्यादा सेवन करने पर पेट सम्बन्धी समस्या पैदा कर सकता है ।
  • ब्रोकली से कुछ लोगों को एलर्जी भी हो सकती है
  • गर्भावस्था में ब्रोकली का सेवन कम मात्रा में करें। अधिक मात्रा में सेवन करना सेहत के लिए नुकसानदायक हो सकता है।

ब्रोकली का उपयोग – How to Use Broccoli 

ब्रोकोली का उपयोग कैसे करे ।

  • ब्रोकली को अन्य सब्जीयो की तरह खाया जा सकता है।लेकिन ज्यादा ना पकाये इससे मौजूद पोसक तत्व नष्ट हो सकते है
  • अगर ब्रोकली को नूडल्स और पास्ता में मिक्स किया जाए, तो इससे न सिर्फ उनका स्वाद बढ़ता है, बल्कि जरूरी पोषक तत्व भी मिल जाते हैं। और बच्चे भी बड़े चाव से खाते है
  • ब्रोकली को चिकन और अंडे के साथ भी मिलाकर बनाया जा सकता है ।
  • ब्रोकली का सूप बना सकते हैं या फिर इसे उबाल कर सलाद बना कर खाया जा सकता है।

ब्रोकली को लंबे समय तक सुरक्षित और ताजा कैसे रखें ?

ब्रोकोली को लंबे समय तक सुरक्षित और ताजा रखने के लिए कोसिस करे की ब्रोकोली सब्जी मंडी से खरीदे, क्योंकि मंडीयो में प्रतिदिन ताज़ी और फ्रेश सब्जियां लाई जाती हैं। ताजी सब्जी में प्रोटीन व विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं, जो स्वस्थ रखने में सहायक होते हैं।

अगर सुपर मार्केट या फिर किसी दुकान से ब्रोकली खरीद रहे है तो उस समय ध्यान रखें कि उसकी (ब्रोकोली) पत्तियां हरी हों और उनमें कीड़ा न लगा हो।

कोसिस करे की आस पास ऑर्गेनिक ब्रोकली मिले, यह स्वास्थ के लिए ज्यादा लाभदायक होती है ।

इस लेख के माध्यम से आपको ब्रोकली के सही तरीके से सेवन Benefits of Broccoli करने के बारे में पता चल गया । इसलिए, अब जल्द से जल्द ब्रोकली को अपनी डाइट में शामिल करें और इस लेख को अन्य लोगों के साथ शेयर करना न भूलें। ऐसे ही पोस्ट के लिए मेरे ब्लॉग को सब्सक्राइब करे और अब आप मुझे sangeetaspen youtube channel  पर भी फॉलो कर सकते है 

Leave a Reply