Benefits Of Clay Pot Water | Mitti Ke Ghade ka Pani Pine Ke Fayde | Clay pot water side effects

हेल्थ
गर्मियों  में क्यों पीना चाहिए मिट्टी के घड़े में रखा पानी? जानें फायदे
गर्मियों में क्यों पीना चाहिए मिट्टी के घड़े में रखा पानी? जानें फायदे
Advertisement

Benefits Of Clay Pot Water and Clay pot water side effects | मिट्टी के बर्तनो के फायदे

गर्मियों का मौसम शुरू होते ही सभी को ठंडा पानी चाहिए होता है. शहरों में तो लोग फ्रिज से ठंड़ा पानी निकालकर पी लेते हैं लेकिन गांव में फ्रिज ना होने के चलते लोग मिट्टी के बर्तनों का पानी पीते हैं. मिट्टी के बर्तनों में पानी काफी ठंडा रहता है. कई घरों में लोग फ्रिज के होते हुए भी मिट्टी का मटका गर्मियों में जरूर रखते हैं.

दरअसल, मिट्टी में कई प्रकार के रोगों से लड़ने की क्षमता होती है. इसमें लाभकारी मिनरल्स मौजूद होते हैं जो शरीर को विषैले तत्वों से मुक्ति दिलाते हैं. इसलिए आज sangeetaspen.com के माध्यम से आपको बताऊगी कि किस तरह घड़े का पानी मनुष्य को स्वस्थ बनाए रखने में मदद करता है. इसके साथ ही इन बर्तनों में पानी पीने के कई फायदे भी होते हैं.

Clay pots use and benefits गर्मियों में क्यों पीना चाहिए मिट्टी के घड़े में रखा पानी? जानें फायदे

ऐसा कहा जाता है कि अमृत की कुछ बूंदे भी शरीर की तमाम बीमारियों को एकदम से खत्म कर सकती हैं, घड़े के पानी को अमृत के समान माना जाता है क्योंकि इससे मिलने वाले 6 फायदे अमृत मिलने के सामान है खासतौर पर गर्मियों के मौसम में।

अगर गर्मी के दिनों में पानी पीने के लिए मिट्टी के घड़े का इस्तेमाल किया जाता है तो आप गर्मी से होने वाली कई सम्स्याओं से बच सकती हैं। पीढ़ियों से भारतीय घरों में पानी स्टो र करने के लिए मिट्टी के बर्तन यानी घड़े का इस्तेमाल किया जाता है। आज भी कुछ लोग ऐसे हैं जो इन्हीं मिट्टी से बने बर्तनो में पानी पीते है। ऐसे लोगों का मानना है कि मिट्टी की भीनी-भीनी खुशबू के कारण घड़े का पानी पीने का आनंद और इसका लाभ अलग है।

आयुर्वेद के अनुसार गर्मियों में क्यों पीना चाहिए मिट्टी के घड़े में रखा पानी? जानें फायदे

आयुर्वेद में भी मिट्टी के बर्तनों में पानी रखने और उनमें भोजन पकाने तक के फायदे माने गए हैं। बदलते वक्त में मिट्टी के घड़े की जगह फ्रिज ने ले ली है लेकिन सेहत के लिहाज से देखा जाए, तो फ्रिज में पानी सिर्फ ठंडा होता है लेकिन मिट्टी के घड़े जितने पोषक तत्व आपको नहीं मिलते।

ऐसे में कोशिश करें कि गर्मियों में फ्रिज की जगह मिट्टी के घड़े में रखे पानी को पिएं, जिससे कि न सिर्फ आप बीमारियों से बचे रह सकें बल्कि आपका डाइजेशन सिस्टम भी मजबूत हो सके।

Benefits Of Clay Pot Water
Benefits Of Clay Pot Water

मिट्टी के घड़े में पानी कैसे होता है ठंडा – मिट्टी के बने मटके में सूक्ष्म छिद्र होते हैं। ये छिद्र इतने सूक्ष्म होते हैं कि इन्हें नंगी आंखों से नहीं देखा जा सकता। पानी का ठंडा होना वाष्पीकरण की क्रिया पर निर्भर करता है। जितना ज्यादा वाष्पीकरण होगा, उतना ही ज्यादा पानी भी ठंडा होगा। इन सूक्ष्म छिद्रों द्वारा मटके का पानी बाहर निकलता रहता है। गर्मी के कारण पानी वाष्प बन कर उड़ जाता है। वाष्प बनने के लिए गर्मी यह मटके के पानी से लेती है। इस पूरी प्रक्रिया में मटके का तापमान कम हो जाता है और पानी ठंडा रहता है।

गले को होगा फायदा – घड़े के पानी के प्रयोग से गले को फायदा मिलता है क्योंकि इसके सेवन से गले की कोशिकाओं का तापमान अचानक नहीं गिरता है जबकि फ्रीज के पानी के सेवन से गले की कोशिकाओं का तापमान अचानक गिर जाता है।

मिट्टी के घड़े के पानी में मिलेगा पीएच का संतुलन – मिट्टी के घड़े का पानी पीने का एक और लाभ यह भी है कि इसमें मिट्टी में क्षारीय गुण विद्यमान होते है। क्षारीय पानी की अम्लता के साथ प्रभावित होकर, उचित पीएच संतुलन प्रदान करता है। इस पानी को पीने से एसिडिटी पर अंकुश लगाने और पेट के दर्द से राहत प्रदान पाने में मदद मिलती हैं।

लू से बचाव में मदद – मिट्टी के बर्तनों में रखे पानी में मौजूद विटामिन और खनिज शरीर के ग्लूकोज के स्तर को बनाए रखने में मदद करते हैं। इससे लू लगने का खतरा कम हो जाता है।

गैस की समस्या से राहत – मटके का पानी का सेवन गैस की समस्या से निजात दिलाने में मदद करता है, अगर व्यक्ति को गैस या एसिडिटी संबंधी कोई परेशानी है, तो घड़े के पानी के सेवन से फायदा होता है।

ब्लड प्रेशर – मटके का पानी ब्लड प्रेशर को भी नियंत्रित रखने में मदद करता है। खास बात यह है कि यह बैड कॉलेस्ट्रोल की मात्रा को कम करके हार्ट अटैक की संभावनाओं को भी कम करता है।

स्किन प्रॉब्लम्स से राहत मिलती है – मटके का पानी पीने से त्वचा संबंधित कई परेशानियों जैसे फोड़े, फुंसी और मुंहासे से राहत मिलती है। इतना ही नहीं मटके का पानी पीने से त्वचा में भी चमक आती है।

प्रेगनेंसी में फायदेमंद – गर्भवती को फ्रिज में रखे, बेहद ठंडे पानी को पीने की सलाह नहीं दी जाती। उनसे कहा जाता है कि वे घड़े या सुराही का पानी पिएं। इनमें रखा पानी न सिर्फ उनकी सेहत के लिए अच्छा होता है, बल्कि पानी में मिट्टी का सौंधापन बस जाने के कारण गर्भवती को बहुत अच्छा लगता है।

इन सभी फायदों के साथ एक खास और बहुत बड़ा फायदा ये है की भीषण गर्मी में भी आपको बिना बिजली खर्च किए ठंडा पानी मिलेगा।जो प्राकृतिक रूप से ठंडा है।

Benefits Of Clay Pot Water
Benefits Of Clay Pot Water

प्लास्टिक से होने वाले नुकसान से बचाएं

प्लासस्टिक की बोतलों में पानी स्टोर करने से उसमें प्लारस्टिक से अशुद्धियां इकट्ठी हो जाती है और वह पानी को अशुद्ध कर देता है। साथ ही यह भी पाया गया है कि घड़े में पानी स्टोपर करने से शरीर में टेस्‍टोस्टेतरोन का स्तर बढ़ जाता है इसलिए अग्र आप प्लास्टिक से होने वाले नुकसान से बचना चाहती हैं तो आपको मिट्टी के घड़े में पानी पीना चाहिए।

90 फीसदी ग्रामीण ले रहे मटके का सहारा

ग्रामीण इलाकों में 90 फीसदी लोग अभी भी मटके का ही पानी पीते हैं। बड़े-बुजूर्गों का मानना है कि फ्रिज के पानी के मुकाबले मटके के पानी की तासीर ज्यादा ठंडी होती है। साथ ही मटके के पानी का अलग ही स्वाद होता है। मटके का पानी पीने से सर्दी-गर्मी की भी शिकायत नहीं होती। लोगों की पसंद को ध्यान में रखते हुए मटकों को स्टाइलिश लुक भी दिया जा रहा है। सुराही भी नए ढंग से तैयार की जा रही है।

मटके का पानी पीने के नुकसान – Clay or pot (Matka) water side effects in Hindi

मटका में पानी रखकर उसके इस्तेमाल करने से किसी भी प्रकार के नुकसान की जानकारी नहीं है फिर भी कुछ बातों का ध्यान रखना आवश्यक है

मटके का पानी पीते समय ध्यान रखने योग्य कुछ सुझाव

  •  मटका को साफ और रोगाणु मुक्त रखें। मिट्टी के बर्तन पानी को बरकरार रख सकते हैं और जल्दी से मैल इकट्ठा कर सकते हैं।
  • मटके को भरने से पहले और प्रत्येक उपयोग के बाद साफ़ करना और सुखाना सबसे अच्छा माना जाता है।
  • बाजार में विभिन्न प्रकार के मिट्टी के बर्तन उपलब्ध हैं। एक छोटा सुराही संभालना आसान हो सकता है, जबकि एक बड़ा मटका या घड़ा चारों ओर घूमना मुश्किल हो सकता है।
  • यदि आप मटका का उपयोग करते हैं, तो इसे कीड़ों, धूल और अन्य दूषित पदार्थों को गिरने से रोकने के लिए इसे हर समय ढक कर रखें
  • पॉट को एक मजबूत टेबल पर रखें या खिड़की के पास रखना चाहिए। हवा पानी को ठंडा रखने में मदद करेगी।
  • गर्म महीनों के दौरान, आप ज्यादा कूलिंग के लिए मटका के चारों ओर एक साफ नम कपड़े को लपेट सकते हैं।
  • मटका से पानी बाहर निकालने के लिए एक साफ, लंबे हाथ वाले हेंडल का प्रयोग करें।
  • एक गिलास डुबोना या अपने हाथ से पानी को छूना इसे दूषित कर सकता है।

Leave a Reply