Benefits Of Jaggery : सर्दियों के मौसम में खाने में शामिल करें गुड़, होंगे अनेक फायदे

हेल्थ
Benefits Of Jaggery
Benefits Of Jaggery
image by :ptrika
खास बाते (Important things)
Benefits of jaggery
what is jaggery
what benefits does it have for health in winter
Disadvantages of Jaggery
how many types Jaggery
power of Jaggery,

Table of Contents

what is jaggery

गु़ड़ (Jaggery) को नेचुरल मिठाई कहा जाता है इसे इंग्लिश में जग्गेरी (Jaggery) कहा जाता है।यह (Jaggery) सिर्फ खाने में स्वादिष्ट नहीं होता है। बल्कि सेहत के लिए भी खज़ाने के समान है,

अगर आज से पहले आपको आपको इसके (Jaggery) लाभदायक फायदे (Benefits Of Jaggery) के विषय में नहीं पता था तो अब जान जाएंगे। गुड़ खाने के फायदे के साथ ही आज हम आपको गुड़ खाने के नुकसान (

Advertisement
Disadvantages of Eating Jaggery) भी बताएगे।

जिससे आप एक सीमित मात्रा में ही गुड़ (Jaggery) का सेवन करें और अधिक गुड़ (Jaggery) खाने के नुकसान से बच सकें। गुड़ (Jaggery) आसानी से मार्केट में मिल जाता है इसको खाने के कई फायदे हैं और सर्दियों में गुड़ (Jaggery) पॉवर बूस्टर का काम करता है।

Benefits of jaggery: what benefits does it have for health in winter

गुड़ (Jaggery) में शरीर को गर्माहट देने की शक्ति मौजूद होती है जिसकी वजह से इसे अक्सर सर्दियों में खाने की राय दी जाती है। ये ह्यूमन बॉडी के तापमान को रेगुलेट करने के साथ ही उसे डिटॉक्सिफाई भी करता है। क्या आपको पता है मात्र 10 ग्राम गुड़ में 38 कैलोरी होती है।

Also Read : GOOD MORNING POST


गुड़ (Jaggery) में  विटामिन और मिनरल्स पाए जाते है। गुड़ (Jaggery) की सबसे खास बात यह है, कि इसे डायबिटीज़ के मरीज़ भी खा सकते हैं।

गुड़ (Jaggery) बनाने के लिए सबसे ज्यादा उपयोग गन्ने के रस का होता है। गन्ने के रस को उबाल कर उसको ठोस बना दिया जाता है। हालांकि बहुत लोग गुड़ (Jaggery) बनाने के लिए खजूर के गूदे, नारियल भी यूज करते हैं, परन्तु जो स्वाद गन्ने के रस से बने गुड़ (Jaggery) में है वो किसी और में नहीं

गुड़ (Jaggery) की चाय पीने के जाने ये अद्भुद फायदे (Benefits Of Jaggery)

Also Read : Optisafe: My Hero संकट की स्थिति में भरोसेमंद साथी

सर्दी-जुकाम और कफ में कारगर है गुड़ (Jaggery)

सर्दी-जुकाम और खांसी होने पर गुड़ (Jaggery) का सेवन करने से काफी आराम मिलता है। क्युकी इसकी तासीर गर्म होती है। जुकाम के दौरान कई बार इसे चाय में या लड्डू बनाकर इस्‍तेमाल करना चाहिए।

इसके अलावा गले में खराश के कारण आवाज बैठ जाने की समस्‍या होने पर दो काली मिर्च, 50 ग्राम गुड़ (Jaggery) के साथ खाने से इस समस्या को दूर किया जा सकता है जिससे गले को भी आराम मिलता है।

अस्थमा में लाब्दायक है गुड़ (Jaggery)

अक्सर हमें डॉक्टर मीठी चीजों से दूर रहने को कहते है पर जब बात अस्‍थमा के मरीज़ों को भी गुड़ (Jaggery) खाने की सलाह दी जाती है। गुड़ (Jaggery) शरीर के तापमान को कंट्रोल करता है और इसमें एंटी एलर्जिक गुणों के कारण इसका सेवन अस्‍थमा के मरीजों के लिए काफी लाभकारी होता है

शरीर को डिटॉक्स करता है (Jaggery) 

शरीर को डिटॉक्स करने में गुड़ (Jaggery) की चाय बहुत फायदेमंद होती है। साथ ही गुड़ (Jaggery) थकान और कमजोरी दूर करता है ,अगर कभी भी आपको थकन महसूस हो तो एक कप गुड़ (Jaggery) की चाय पिए थकान बाग़ जाएगी।

त्वचा को खूबसूरत बनता है गुड़ (Jaggery)

त्वचा के लिए गुणकारी गुड़ (Jaggery) स्किन के लिए भी बहुत अच्‍छा होता है। यह आपकी स्किन को हैल्दी और अट्रेक्टिव बनाने में मदद करता है। गुड़ (Jaggery) खून से खराब टॉक्सिन को दूर करने में मदद करता है जिससे ब्लड साफ हो जाता है। जिससे आपकी त्वचा चमक आ जाती है साथ ही मुहांसे और झुर्रियों की समस्या भी दूर होती है 

Also Read : कैमोमाइल चाय के फायदे

चीनी की जगह करे गुड़ (Jaggery) का उपयोग

चीनी कैमिकल प्रोसेस के जरिए तैयार की जाती है। जिस वजह से इसका ज्यादा सेवन सेहत को नुकसान पहुंचा सकता है। ऐसे में जरुरी है चीनी की जगह गुड़ (Jaggery) का इस्तेमाल करें। गुड़ (Jaggery) खाने से शरीर को कैल्शियम, फास्फोरस, आयरन और कॉपर मिलता है। जिससे शरीर को बहुत से फायदे मिलते हैं।.

गुड़ (Jaggery) से खून की कमी दूर की जाती है

गुड़ (Jaggery) में आयरन, कैल्शियम और फास्फोरस जैसे गुण होते हैं जो हमारे शरीर में खून की कमी दूर करने में सहायक रहता हैं। गुड़ (Jaggery) खाने से शरीर में रेड ब्‍लड सेल्‍स बनती हैं जो शरीर की रोग-प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में सहायक हैं। निरंतर सिमित मात्रा में गुड़ (Jaggery) के सेवन से गर्भावस्‍था के दौरान बीमारियों और एलर्जी से लड़ने में मदद मिलती है।

पीरियड्स में गुड़ (Jaggery)की चाय है फायदेमंद

जिन महिलाओं या लड़कियों को पीरियड्स के दौरान पेट दर्द होता है, उनके लिए गुड़ (Jaggery) काफी फायदेमंद होता है क्योंकि इसमें अनेक विटामिन और मिनरल्स होते है। गुड़ (Jaggery) से हमारा पाचन सही रहता है इसलिए पीरियड्स के दौरान गुड़ (Jaggery) खाने से दर्द कम होता है और ये शरीर को गर्म रखने में मदद करता है।

Also Read : लेमनग्रास (ग्रीन) टी

गुड़ (Jaggery) खाने के नुकसान (Disadvantages of Eating Jaggery)

गुड़ (Jaggery) खाने के अनेक फायदे है तो साथ ही नुकसान भी हैं। अब तक मैंने आपको गुड़ (Jaggery) खाने के फायदों के बारे में बताया,अब में गुड़ (Jaggery) से होने वाले साइड इफेक्ट्स बताऊगी । गुड़ (Jaggery) नेचुरल मिठाई होने की वजह से शरीर के लिए अच्छा होता है,

लेकिन यही गुड़ (Jaggery)हेल्थ से जुड़ी समस्या को बढ़ा सकता है अगर गुड़ (Jaggery) साफ और शुद्ध न हो तब। ये और भी खतरनाक हो सकता है। अब जानते है ज़्यादा गुड़ (Jaggery) खाने से होने वाले कुछ नुकसान


ज्यादा गुड़ (Jaggery) खाने से वजन बढ़ता है

गुड़ (Jaggery) मीठा होने के साथ ही कार्बोहाइड्रेट से भी भरपूर होता है। गुड़ ज्‍यादा खाना आपका वजन बढ़ा सकता है।क्युकी 100 ग्राम गुड़ (Jaggery) में 385 कैलोरी होती हैं। इसलिए जो लोग वज़न घटाने के लिए डाइटिंग कर रहे हैं, उन्‍हें तो गुड़ (Jaggery) खाने से बचना चाहिए।


गुड़ (Jaggery)  गठिया के मरीज़ों के लिए घातक

गुड़ (Jaggery) पूरी तरह शुद्ध नहीं होता है और इसमें काफी मात्रा में सुक्रोज पाया जाता है, इसलिए गठिया के मरीज़ों को गुड़ (Jaggery) नहीं खाना चाहिए। यह बात रिसर्च में भी सामने आ चुकी है,

गुड़ (Jaggery) से एलर्जी

कई बार गुड़ (Jaggery) का ज़्यादा उपयोग करने से एलर्जी की परेशानी हो जाती है इससे नाक बहना, उल्टी, सर्दी, खांसी, सिरदर्द जैसी अनेक दिक्कतें हो सकती हैं। ये सम्सयाएं या एलर्जी ज़्यादा गुड़ (Jaggery) खाने से हो जाती है।

गुड़ (Jaggery) खाने से इंफेक्शन होने का खतरा

गुड़ (Jaggery) ज्‍यादातर गांवों में तैयार किया जाता है, जहां इसे बनाते समय इसकी शुद्धता पर ज़्यादा ध्‍यान नहीं दिया जाता है। इस वजह से इनमें छोटे जीव रह जाते है जो आपकी हैल्थ को अफेक्ट कर सकता है

Benefits Of Jaggery : सर्दियों के मौसम में खाने शामिल करें गुड़, होंगे अनेक फायदे
Benefits Of Jaggery : सर्दियों के मौसम में खाने शामिल करें गुड़, होंगे अनेक फायदे
image by : Navbhart Times

गुड़ में पाये जाने वाले तत्वों की मात्रा (Immunity Power )

गुड़ में पानी (30-40%),
सुक्रोज़ (40-60%),
चीनी (15-25%),
कैल्शियम (0.30%),
आयरन (8.5-10mg) फॉस्फोरस (05-10mg),
प्रोटीन (0.10-100mg) विटामिन बी (04-100mg)
कार्बोहाइड्रेट(98%)

क्या करे गुड़ (Jaggery) की चाय फटे नहीं

आप पानी गरम करे , उसमे चाय पत्ती अदरख या इलायची जो आप चाय में मिलाते हो वो डाले पानी थोड़ा गरम होने के बाद उसमे  गुड  (Jaggery) के छोटे छोटे टुकड़े डाले

याद रहे उसमे नैसर्गिक गुड़ ही डाले केमिकल युक्त गुड़ सेहत के लिए अच्छा नहीं होता।

अब गैस बंद कर दे और चाय के बर्तन में ढक्कन रख दे । थोड़ी देर रुकने के बाद उसमे हल्का गरम दूध मिला दे

उम्मीद करती हु अब आपकी गुड़ (Jaggery) की चाय नहीं फटेगी

Also Read : रखे हेल्दी नेटल टी जानें इस चाय के लाभ

क्या डायबिटीज के मरीजों को किसी भी तरह की शुगर को लेने से बचना चाहिए?

लेकिन, क्या यह संभव है डायबिटीज में गुड़  (Jaggery) का सेवन करना सेहतमंद है अगर हां तो डायबिटीज में गुड़ (Jaggery) कितना फायदा करता है, और कैसे ? अगर नहीं तो इसका विकल्प क्या है ?

डायबिटीज के मरीजों को अनेक पाबंदियों के साथ जीना पड़ता है. डायबिटीज की सबसे खराब बात होती है कि आप डाइट से चीनी (मीठे) को  बिल्कुल गायब करे 

एक्सपर्ट्स के मुताबिक, डायबिटीज में अगर किसी भी चीज से इन्सुलिन बढ़ती है तो वह खराब है, चाहे वह गुड़ (Jaggery) ही क्यों ना हो. गुड़ केवल सफेद चीनी के मुकाबले ज्यादा बेहतर है.

Also Read : गिलोय क्या है इसके फायदे एवं नुकशान

गुड़ (Jaggery) में आयरन और मैंगनीज जैसे जरूरी तत्व भी मौजूद होते हैं और यह मानव शरीर में चीनी की तरह बुरा असर नहीं डालता है.

हेल्थ एक्सपर्ट्स की माने तो वह कहते है, कि पोषक तत्वों से भरपूर होने के बावजूद भी डायबिटीज के मरीजों को गुड़ (Jaggery) के बजाए ऑर्गैनिक शहद का सेवन करना चाहिए.

Also Read : घर पर बादाम पाउडर कैसे बनाये

आपके सवाल हमारे जवाब

गुड़ (Jaggery) को बनाने हेतु रस को गर्म करने प्रक्रिया को क्या कहते है ?

                                या 
काकवी क्या होता है ?

काकडी का अर्थ है  गन्ने का रस जब हम गन्ने के रस को गर्म करना शुरू करते हैं तो गरम करते – करते गुड (Jaggery) बनने से पहले और उसका रस गर्म होने के बाद एक लिक्विड बनता है उसी लिक्विड को काकवी कहते है. जहां भी गुड (Jaggery) बनता है वहां पर काकवी अवश्य मिलेगी.

गुड (Jaggery) दो प्रकार का होता है.

एक गुड (Jaggery) के द्वारा बनाया जाता है,  अगर केमिकल वाले गुड (Jaggery) की बात की जाये तो वह दिखने में एकदम पीला या सफेद होता है. इसे गुड (Jaggery) की चाय हमेशा फटेगी. लेकिंन बिना केमिकल वाले गुड (Jaggery) की चाय कभी भी नही फटेगी. और बिना केमिकल वाला गुड़ (Jaggery) दिखने में काला होगा 

Also Read : amazing benefits of holy basil


सुबह खाली पेट गुड़ (Jaggery) खाने के फायदे

खाली पेट गुड़ खाने के फायदे
सुबह खाली पेट गुड़ खाने से पेट की समस्याएं दूर होती है। इसके लिए सुबह खाली पेट गुनगुने पानी के साथ गुड़ खाना चाहिए

रात में सोने से पहले गर्म पानी के साथ थोड़ा गुड़ का सेवन करना चाहिए इससे जानलेवा बीमारियों का खतरा कम हो जाता है।

Also Read : Essential Oil : मच्छरों से बचाव का रामबाण उपाय


आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा अवश्य बताये तथा आपके कोई सवाल हो तो वह भी कमेंट के द्वारा पूछे

Leave a Reply