Best Health Foods For Long Life In Hindi  | natural tips for longer and healthier life in hindi |  लंबी उम्र के लिए खास आयुर्वेद टिप्स

हेल्थ
Best Health Foods For Long Life In Hindi
Best Health Foods For Long Life In Hindi

Best Health Foods For Long Life In Hindi  | natural tips for longer and healthier life in hindi |  लंबी उम्र के लिए खास आयुर्वेद टिप्स

Best Health Foods For Long Life : अक्सर घर और ऑफिस के कामों में हम सभी इतने व्यस्त रहते हैं, कि खुद पर ध्यान देने के लिए समय ही नहीं मिल पाता है। लेकिन, जब तक स्वस्थ और फिट

Advertisement
नहीं रहेंगी, घर-बाहर की जिम्मेदारियों को कैसे संभाल पाएंग। हमें अपने शरीर और दिमाग की जरूरतों की तरफ ध्यान देना बहुत जरुरी है,

नहीं तो एक दिन ऐसा आएगा जब छोटे-मोटे काम करने में भी खुद को असमर्थ पाएंगे। हमेसा थकान महसूस होगी, हमारी हड्डियां, मांसपेशियां, आंखें 35 की उम्र में ही कमजोर होने लगेंगी। हालांकि कई लोगों का ये मानना है कि उम्र (Age) का नाता जेनेटिक होता है. मतलब अगर आपके पेरेंट लंबी उम्र (Long life) तक जीवित रहे हैं

तब आपके साथ भी ऐसा हो सकता है. जबकि आयुर्वेद और विज्ञान का मानना है कि हमारे जिन का हमारी उम्र से एक बहुत ही छोटा नाता होता है. हमारी लम्बी उम्र (Health tips for long life) का राज़ हमारा खान पान और रहन सहन पर निर्भर करता है। अगर हम अपने खानपान में लापरवाही बरतेंगी, एक्सरसाइज नहीं करेंगी, अपनी लाइफ को रूटीन में फॉलो नहीं करेंगे तो तो लंबी उम्र तक फिट और हेल्दी रहकर जीना (ways to live longer) मुश्किल हो जाएगा.

स्वस्थ जीवन का आनंद लेने के लिए अन्य जरूरी बाते हैं।

अपनी उम्र को लंबा करने के लिए एक एक्टिव जीवन शैली का पालन करें। आज अधिकांश वैज्ञानिक मानते हैं कि उम्र बढ़ने की प्रक्रिया का केवल लगभग 30 प्रतिशत ही जीन्स पर निर्भर करती है बल्कि 70 प्रतिशत आपकी जीवन शैली के आधार पर होती है। समझें कि हमारी लंबी उम्र हमारे हाथों में है। जीन हमारे जीवनकाल के केवल एक हिस्से के लिए जिम्मेदार होते हैं। आयुर्वेद के अनुसार लंबी उम्र के लिए कुछ टिप्स अपनाने चाहिए। जानें क्या करें आयुर्वेद में लम्बी उम्र का राज ।

natural tips for longer and healthier life in hindi
natural tips for longer and healthier life in hindi

natural tips for longer and healthier life in hindi |  लंबी उम्र के लिए खास आयुर्वेद टिप्स

खाना और पोषण – हम जानते हैं कि आज की फास्ट फूड लाइफस्टाइल बीमारी का कारण बन सकती है। ताजे फल और सब्जियां खाना हमेशा स्वास्थ्य बढ़ाते हैं। न्यूट्रिशन और फूड सेफ्टी वयस्कों के लिए बेहद जरूरी है. जैसे-जैसे उम्र बढ़ती है खाद्य पदार्थ से संबंधित बीमारियां और फूड पॉइजनिंग होने का खतरा बढ़ जाता है. हेल्दी और संतुलित आहार लें. सोडियम, फल, सब्जियां, अनाज, दूध, दही, डेयरी प्रोडक्ट्स आदि भरपूर खाएं. ये भी ध्यान रखें कि खाना खाने के बाद आपका पेट का एक तिहाई हिस्सा खाली रहना चाहिए।

लो कैलोरी डाइट – अपने भोजन से कैलोरी कट करना बहुत जरूरी है. ऐसे में अगर आप वर्कआउट कर कैलोरी को बर्न कर ले रहे हैं या कम कैलोरी वाला डाइट ले रहे हैं तो आप अधिक उम्र तक हेल्‍दी और जी सकते हैं.

अधिक दवाओं के सेवन से बचें – दवाएं कई सेहत संबंधित समस्याओं को दूर करती हैं, लेकिन गलत तरीके से इनका सेवन नुकसान भी पहुंचा सकता है. अक्सर कुछ महिलाएं जब भी शरीर के किसी भी भाग में दर्द होता है, तो पेनकिलर खा लेती हैं. बार-बार इनका सेवन नुकसानदायक हो सकता है. डॉक्टर की राय पर ही दवाओं का सेवन करें.

कैफीन और अल्‍कोहल से रहें दूर – लंबी उम्र के लिए जरूरी है कि आप अपने डाइट में से कैफीन और अल्‍कोहल को कम कर दें. बता दें कि आपकी चाय और कॉफी में निकोटीन और कैफी होते हैं जबकि शराब का अत्‍यधिक सेवन आपके किडनी आदि को प्रभावित कर आपको बीमार बना सकते हैं

एक्सरसाइज – एक्सरसाइज स्वस्थ जीवन की नींव में से एक है और इसकी कमी हमारे शरीर और सेहत पर नकारात्मक प्रभाव डाल सकती है। यह एक संतुलन देता है जो तनाव कम करता है। सकारात्मक प्रभावों के लिए रोज एक्सरसाइज करें। हफ्ते में कम से कम तीन से चार बार 30-40 मिनट के लिए एक्सरसाइज करें।

 लंबी उम्र के लिए खास आयुर्वेद टिप्स
 लंबी उम्र के लिए खास आयुर्वेद टिप्स

रूटीन मेडिकल चेकअप कराएं – यदि आपकी उम्र 35 हो गई है, तो प्रत्येक 6 से एक साल के गैप में फुल बॉ़डी चेकअप कराती रहें. हेल्थ स्क्रीनिंग बढ़ती उम्र में बहुत जरूरी है. इससे आपको जल्दी ही स्वास्थ्य समस्याओं के बारे में पता चल जाएगा, ताकि समय पर इलाज शुरू किया जा सके. कई बार लक्षण और संकेत नजर आने से पहले रोग अंदर ही अंदर इतना बढ़ जाता है कि आप चाह कर भी कुछ नहीं कर सकती हैं. मैमोग्राम, कोलोन कैंसर स्क्रीनिंग, एचआईवी टेस्ट, ब्रेस्ट और यूटरस कैंसर से संबंधित जरूरी टेस्ट कराते रहना चाहिए.

एक्टिव रहें – जहां तक हो सके खुद को हर उम्र में एक्टिव रखें. अगर आप शारीरिक रूप से बहुत एक्टिव रहते हैं तो आपके शरीर के हर अंग हेल्‍दी और मजबूत रहेंगे. आपको बेहतर नींद भी आएगी और आप तनाव को कम रख सकेंगे.

आराम – दुनिया में एक चौथाई से अधिक लोग थकावट यानी बर्नआउट से पीड़ित हैं। कुछ का मानना ​​है कि 70 प्रतिशत से अधिक बीमारियां तनाव का परिणाम हैं। आराम तनाव को कम करने में मदद कर सकता है। शरीर और मन को रिलेक्स करने के लिए समय निकालें। इसमें पर्याप्त नींद लेने के साथ-साथ दिन में आराम करने के लिए समय निकालना शामिल है।

भरपूर नींद – नए सामान्‍य इंसान के लिए रात को 7 से 8 घंटे की नींद बहुत ही जरूरी है. ऐसे में अपने सोने और जागने का नियम तय करें और उसे फॉलो करें.

एक शोध के मुताबिक, अगर हम कल कैलरी वाला डाइट लाइफ लॉन्‍ग खाएं तो हमारा लाइफ स्‍पैम अधिक रहता है. यही नहीं, कम कैलोरी वाला खाना खाने से हम कई बीमारियों से भी बचे रहते हैं.

Leave a Reply