Best Indoor games name for kids | इंडोर गेम्स in Hindi | बच्चों के लिए बेस्ट इंडोर गेम्स

हेल्थ
Best Indoor games name for kids | इंडोर गेम्स in Hindi | बच्चों के लिए बेस्ट इंडोर गेम्स
Best Indoor games name for kids

जब भी बच्चो की छुट्टियां होती है तो माता पिता के लिए यह परेशानी बन जाती है कि इन छुट्टियों में बच्चों को कैसे टीवी, कंप्यूटर, एवं मोबाइल से दूर रखें जिससे उनको बोरियत भी ना हो और वह व्यस्त भी रहे।मोबाइल और कंप्यूटर का ज्यादा इस्तेमाल बच्चो के लिए हानिकारक है एक माँ होने के नाते मैंने स्वयं यह महसूस किया है मेरी 7 साल की बेटी जो अपना समय लैपटॉप, मोबाइल और TV

Advertisement
देखने में पर व्यतीत कर रही थी वह बीते कुछ समय से अपनी पलकों को बार झपका (eyes blink) रही थी।

डॉक्टर्स के अनुसार एक मिनट में 10 बार से ज्यादा पलकें झपकना मतलब आपका बच्चे को कुछ प्रॉब्लम है, तब मैंने उसके साथ समय बिताया उसको TV से दूर रखा और वह दो दिन में ही इस नार्मल हो गयी, आप भी अपने बच्चे क साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताये।

आज मैं आपको कुछ ज्ञानवर्धक व रोचक इनडोर गेम्स बता रही हु जो माता पिता एवं बच्चे साथ में खेल सकते है जिससे आपका घर भी अस्त-व्यस्त न हो और बच्चो को भी कुछ नया सिखने को मिले और आप अपने परिवार एवं बच्चो के साथ इन पलो को मजेदार व यादगार बनाये। सच मानिये इन सभी गेम्स को हमने भी अपने बचपन में बहुत खेला है।शायद इन गेम्स को खेलते हुए आपको भी अपना बचपन याद आ जाये मेरी तरह तो आइये जानते हे ये कौन कौन से गेम है।

चिड़िया उड़ – यह बेहद मजेदार गेम है। इसे खेलने के लिए उंगली का उपयोग किया जाता है। साथ में कुछ चिड़िया, जानवरों और वस्तुओं का नाम लिया जाता है। नाम के अनुसार उंगलियों को ऊपर या जमीन पर रखना होता है। जैसे उड़ने वाले जीव या वस्तु के नाम पर उंगली को उठाना होता है और जानवर के नाम पर उंगली को जमीन पर ही रखना होता है।

राजा मंत्री चोर सिपाही-चार लोगों में खेले जाने वाले इस इंडोर गेम में कागज की पर्चियों पर राजा, मंत्री, चोर और सिपाही लिखा होता था। सभी चारों खिलाड़ियों को एक पर्ची चुननी होती थी जिसमें मंत्री की पर्ची वाले खिलाड़ी को चोर और सिपाही की पर्ची चुनने वाले का पता लगाना होता था। यह खेल अब बच्चों द्वारा नहीं खेला जाता और इसे लुप्तप्राय माना जा सकता है।

एनिमल कैरेक्‍टर-यह खेल बहुत ही मजेदार होता है इसमें कोई एक बच्चा जानवर की एक्टिंग करता हैं और अन्य सभी बच्चों को यह बताना होता की उसने किस जानवर की एक्टिंग की और जिस बच्चे ने गलत बताया फिर वह एक्टिंग करता है।

ये भी पढ़े: Top Exam Tips For Kids and parents | exam ke samay bachchon ka kaise rakhein dhyan

स्टोन-पेपर-सीजर-इसे रॉक-पेपर-सीजर के नाम से भी जाना जाता है। यह एक हाथ से खेले जाने वाला खेल है, जिसे आमतौर पर दो लोगों के बीच खेला जाता है। इसमें प्रत्येक खिलाड़ी को एक साथ तीन आकृतियों में से एक का चुनाव कर वैसा हाथ बनाना होता है।

स्टैचू-हर खेल से बच्चों को किसी न किसी तरह का फायदा जरूर होता है। इसे खेलना काफी आसान है। इसके लिए बच्चों के सामने जाकर उन्हें स्टैचू कहना होता है।बच्चे जिस स्थिति में होते हैं, उसी स्थिति में स्टैचू बन जाते हैं। जो नहीं बनता वह आउट हो जाता है।स्टैचू से सामान्य करने के लिए मूव कहना होता हैवैसे ही इस खेल से बच्चों के अंदर धैर्य पैदा होता है, जो हर बच्चे के लिए जरूरी होता है।

पिक्शनरी-यह खेल बच्चों की कला को निखारने का काम करता है। इस खेल को तीन या इससे अधिक लोगों के बीच खेला जाता है। इसमें एक बोर्ड और पेंसिल या मार्कर का उपयोग किया जाता है। प्रत्येक के लिए अलग बोर्ड और पेंसिल का उपयोग करना अच्छा होगा। अगर ऐसा संभव न हो, तो सभी एक ही बोर्ड पर बारी-बारी खेल सकते हैंइसमें उन्हें किसी वस्तु या जीव का नाम बोला जाता है, जिसका उन्हें चित्र बनाना होता है।जो सबसे अच्छा चित्र बनाता है, वह खेल का विजेता होता है।

Best Indoor games name for kids
Best Indoor games name for kids

ऊंच-नीच का पापड़ा-यह मनोरंजक खेल है। इसे खेलने के लिए ऊंचा और नीचा स्थान चाहिए होता है। इसके लिए आप घर के फ्लोर, सोफा या बेड का चुनाव कर सकते हैं।इसमें एक सदस्य बोलता है “ऊंच-नीच का पापड़ा, ऊंच मांगी या नीच।”अगर बाकी खिलाड़ी ऊंचा चुनते हैं, तो उन्हें ऊंचे स्थान पर रहना होता है।ऊंची जगह पर खड़े खिलाड़ी उसे चिढ़ाने या तंग करने के लिए बीच-बीच में नीची जगह पर आते हैं।अगर इस बीच पहले से नीचे खड़ा खिलाड़ी, किसी एक को छू लेता है, तो वह आउट हो जाता है और ऊंच-नीच बोलने की बारी उसकी होती है।

डम्ब शराड-दूसरों को सिर्फ अपने हाव-भाव से बात समझाना भी एक कला है और इस कला को डम्ब शराड जैसी गेम खेलकर विकसित किया जा सकता है। बच्चे हों या बड़े, यह गेम हर किसी को पसंद आता है। चार लोग इकट्ठा हुए नहीं कि इसे खेलने का मन हो जाता है। इसमें इशारों की मदद से किसी फिल्म या गाने की पहचान की जाती है।

वहीं, बच्चों की बात करें, तो वो अपने पसंदीदा कार्टून को लेकर इस गेम को खेल सकते हैं।सबसे पहले दो टीम बना लें।उसके बाद एक टीम दूसरे टीम के किसी एक सदस्य के कान में कार्टून का नाम बताएगी।अब उसे बिना बोले एक्टिंग करके व इशारों से अपने टीम के सदस्यों को उस कार्टून के बारे में बताना है।इस खेल में जो टीम सबसे ज्यादा सही जवाब देगी, वो टीम जीत जाएगी।

आंख मिचौली-इस खेल में सुनने की क्षमता का प्रयोग सबसे ज्यादा किया जाता है, क्योंकि इसे आंखों पर पट्टी बांधकर खेला जाता है। इसे माता-पिता भी बच्चों के साथ खेल सकते हैं। इसे दोनों या उससे अधिक लोग एक साथ खेल सकते हैं।सबसे पहले किसी एक खिलाड़ी की आंखों पर पट्टी बांध दें। पट्टी इस तरह बांधें कि उसे कुछ नजर नहीं आना चाहिए।
फिर उसे बीच में छोड़ दें। अब वह दूसरे खिलाड़ियों की आवाज सुनकर उन्हें पकड़ कर आउट करने का प्रयास करेगा।
जब एक-एक करके सभी आउट हो जाते हैं, तो दूसरे खिलाड़ी की बारी आती है

संगीत कुर्सी (Musical Chair)-यह गेम काफी लोकप्रिय हैं। इसे हम स्कूल टाइम पे भी खेलते थे इस गेम में जीतने बच्चे होंगे उससे एक कम कुर्सी होती है स्टार्ट कहते ही सब दोड़ेगे और स्टॉप कहते ही रुकते हुए कुर्सियों पर बैठेगे जिसे कुर्सी नहीं मिली वह आउट हो जाता है आप इस गेम को म्यूजिक प्ले कर खेल सकते है

पजल गेम-पजल गेम से बच्चों की तार्किक क्षमता बहुत तेजी से बढ़ती है। इस प्रकार के गेम छोटे बच्चो के खेल ज़रूर होने चाहिए जिससे उसकी सोचने समझने की क्षमता बढ़ती है और इससे माइंड शार्प होता है अनेको ऐसे पजल गेम आते हैं जिसमें चित्र बनाने के लिए कुछ टुकड़ों को मिलाकर एक चित्र को पूरा करना होता है शुरुवात में बच्चे को कम कम (3-4 ) टुकड़ों वाले पजल गेम ही दें। फिर एक बार जब बच्चा अच्छे से खेलना सीख जाये फिर उसे ज्यादा टुकड़ों के पजल गेम खेलने को दें।

तंबोला-तंबोला एक रोमांचक और मनोरंजक खेल है। इसे बच्चे, बुजुर्ग और जवान कोई भी खेल सकता है। यह नंबरों वाला खेल होता है, जिसे कई लोग एक बार में खेल सकते हैं। इसके लिए उपयोग की जाने वाली हर शीट पर 1 से 90 तक के बीच के 15-15 नंबर लिखे होते हैं। वहीं, एक थैली में 1 से 90 नंबर तक के कूपन होते हैं। जिसकी शीट पर अधिक नंबर कटते हैं, उसे इनाम दिया जाता है। साथ ही शीट के पूरे नम्बर कटने पर सबसे बड़ा इनाम दिया जाता है।

लुकाछिपी-लुकाछिपी काफी प्रचलित खेल है। इस खेल को बच्चों के साथ माता-पिता भी एन्जॉय करते हैं। बच्चे कई बार ऐसे स्थान में छुप जाते हैं, जहां उन्हें ढूंढना मुश्किल हो जाता है।

Best Indoor games name for kids
Best Indoor games name for kids

पेंटिंग-छोटे बच्चों को पेंटिंग करना और उनमें रंग भरना बहुत अच्छा लगता हैं । इसलिए बच्चो को स्कैच बुक, रंग, ब्रश आदि खरीदकर दे या किसी ब्लेंक पेपर पर कुछ पिक्चर बना कर दे और बच्चो को कहे इनमे अपनी पसंद का रंग भरे अगर बच्चे थोड़े बड़े हैं तो उन्हें कोई टॉपिक दे और उस टॉपिक पर अपने विचार लिखने को कहे तथा विचारों के साथ -साथ चित्र बनाने को कहे या फिर चित्रों के माध्यम से ही अपने विचारों को व्यक्त करने को कहे इससे आपके बच्चे के अंदर छिपा हुनर देखने को मिलेगा।

कुकिंग-बच्चों को कुकिंग करने का बहुत शौक होता हैं। आप उन्हें नूडल्स बनाना, सलाद सजाना, सैंडविच बनाना, भी सिखा सकती हैं। उन्हें ऐसी चीजें बनाना सिखाए जिनमे गैस का इस्तेमाल नहीं होता हो इसके अलावा बच्चों को उनके पसंदीदा कुकीज, केक बनाना सिखाएं।

पोशंपा-इस खेल में दो बच्चे हाथ को आपस में पकड़कर चेन बनाते हैं। साथ ही गाना भी गाते हैं “पोशंपा भई पोशंपा, लाल किले में क्या हुआ, सौ रुपये की घड़ी चुराई, अब तो जेल में जाना पड़ेगा, जेल की रोटी खानी पड़ेगी, जेल का पानी पीना पड़ेगा, अब तो जेल में आना पड़ेगा”। इस दौरान, बच्चे उस चेन के बीच से गुजरते हैं। जैसे ही गाना खत्म होता है, वहां से गुजरने वाला बच्चा पकड़ा जाता है। जो पकड़ा जाता है वह खेल से आउट हो जाता है।

कोलाज बनाएं-कोलाज बनाने के लिए फैमिली फोटो का इस्तेमाल करें। आप अपने बच्चों से अपने सारे परिवार के सदस्यों के जन्मदिन या सालगिरह का एक चार्ट बनवाएं, इससे उसे सब के जन्मदिन भी याद हो जाएंगे।

ये भी पढ़े: Kids Healthy Diet Plan:बढ़ती उम्र में बच्चों के लिए कौन कौन से पोषक तत्व जरूरी हैं ?

शब्द मिलकर पढ़ना-अगर आपका बच्चा (K G या FIST) छोटा है तो आप उसे इन छुट्टियो में शब्दो को मिलाकर पड़ना सीखा सकते है और अगर बच्चा बड़ा है तो इंग्लिश, मैथ्स प्रेक्टिस या कुछ अच्छा व रोमांचक पढ़ने के लिए भी कह सकते है इसके लिए उन्हें अच्छे साहित्य, कॉमिक्स, बच्चों की मैगजीन, महापुरुषों कि कहानी तथा अन्य स्टोरी बुक या ज्ञानवर्धक पुस्तकों गिफ्ट दे और पड़ने के लिए प्रेरित करें। इससे उनमे पढने की इच्छा बढ़ेगी और कई नए शब्दों का ज्ञान होगा।

हैंडराइटिंग प्रैक्टिस-बहुत माता पिता यह कहते है की हमारा बच्चा स्लो लिखता है तो इन छुटियो में बच्चे को हर दिन 2 या 3 पन्ने हैंडराइटिंग प्रैक्टिस कराये इससे बच्चे की राइटिंग भी अच्छी होगा और बच्चा जल्दी लिखना भी सीखेगा

जीरो-काटा-इस खेल को टिक टैक टोए के नाम से भी जाना जाता है। इस खेल को खेलने के लिए हमें पेन और पेपर की आवश्यकता होती है। यह बच्चों के दिमागी क्षमता को बढ़ाने में मदद कर सकता है, क्योंकि इस खेल को जीतने के लिए सही तरीके से सोचना जरूरी होता है।

टिपी टिपी टॉप-इस खेल में रंगों की अहम भूमिका होती है, इसे चार से पांच बच्चे मिलकर खेल सकते हैं। इसमें अच्छी शारीरिक गतिविधि भी हो जाती है, क्योंकि इस खेल में रंगों को छूना होता है। किसी रंग के पास में न होने पर बच्चे को उस रंग को ढूंढकर छूना होता है।

यह कुछ गेम्स है जिनको हम सभी ने खेला है लुडो, सांप-सीढ़ी, कैरम, हाइड एंड सीक। आप इनको भी खेल सकते है।

आपको हमारा यह पोस्ट कैसा लगा कमेंट करके अवश्य बताये तथा आपके पास बच्चो की छुटियो में बिजी रखने का अन्य कोई सुझाव या विचार हो तो वह भी बताये

Leave a Reply