TIME मैगजीन ने जारी की दुनिया के सबसे प्रभावशाली लोगों की लिस्ट

न्यूज़
bilkis dadi of shaheen bagh TIME 100 Most Influential People

विश्व की सबसे प्रतिष्ठित इंटरनेशनल मैगजीन ‘टाइम’ (TIME) ने इस वर्ष (2020)

Advertisement
दुनिया के 100 प्रभावशाली लोगों (TIME 100 Most Influential People List) की सूची जारी कर दी है। इस लिस्ट में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ-साथ और भी कई भारतीयों के नाम शामिल हैं।

जिसमे गूगल सीईओ सुंदर पिचाई, ऐक्टर आयुष्मान खुराना, एचआईवी से जुड़ी रिसर्च करने वाले रविंद्र गुप्ता, (पिछले साल लंदन में एक मरीज को एचआईवी से मुक्ति दिलाने में अहम भूमिका निभाने वाले प्रफेसर है रविंद्र गुप्ता) लंदन का यह मरीज दुनिया का दूसरा मरीज है ।  

जो एचआईवी मुक्त हुआ है। अमेरिका के उपराष्ट्रपति पद की उम्मीदवार कमला हैरिस, चीनी राष्ट्रपति शी जिनपिंग,तथा शाहीन बाग आंदोलन के दौरान सुर्खियों में आईं बिलकिस दादी को भी लिस्ट में जगह दी है।

यहां पर खास बात यह है कि टाइम मैगजीन ने शाहीन बाग आंदोलन के दौरान नागरिकता संशोधन अधिनियम (Citizenship Amendment Act) के खिलाफ हुए प्रदर्शन से सुर्खियों में आईं बिलकिस जो की बिलकिस दादी (Bilkis dadi) के नाम से मशहूर हुईं को भी दुनिया के 100 सबसे प्रभावशाली लोगों में शामिल किया है।

82 साल की बिल्‍किस दादी ने एंटी सीएए प्रोटेस्ट (Citizenship Amendment Act) के दौरान दिल्ली में शाहीन बाग प्रदर्शन पर बैठकर सबका ध्यान अपनी और आकर्षित किया था।

लोग इस बात के लिए बिल्‍किस दादी (Bilkis dadi) की तारीफ कर रहे थे कि 82 साल की उम्र में भी वह किसी चीज के खिलाफ आवाज उठाने से पीछे नहीं हट रहीं। बिल्‍किस दादी रोज हजारों महिलाओं के साथ शाहीन बाग जाती थीं । और प्रदर्शन का हिस्सा बनती थीं।

सीएए प्रोटेस्ट का चेहरा बनकर उभरीं बिल्‍किस दादी (Bilkis dadi) उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की रहने वाली हैं। बिल्‍किस (Bilkis) के पति करीब दस-ग्यारह साल पहले गुजर चुके हैं, जो खेती-मजदूरी करते थे।बिल्‍किस (Bilkis) इस समय दिल्ली में अपने बहू-बेटों के साथ रहती हैं।

बिल्‍किस दादी (bilkis dadi) ने गृह मंत्री अमित शाह पर साधा था निशाना

जब शाहीन बाग में सुप्रीम कोर्ट के द्वारा नियुक्‍त वार्ताकार बात करने के लिए पहुंचे थे तब बिल्‍किस बानो (Bilkis dadi) ने कहा था कि गृहमंत्री कहते हैं हम एक इंच नहीं हटेंगे तो मैं कहती हूं हम एक बाल बराबर नहीं हटेंगे।

इससे पहले गृहमंत्री अमित शाह ने कहा था कि हम (सरकार) सीएए को लेकर पीछे नहीं हटेगी। गृह मंत्री अमित शाह ने पहले भी अपनी अनेको सभाओं में कहा था कि हम पीड़ित शरणार्थियों की मदद के लिए सीएए (Citizenship Amendment Act) लागू करेंगे और एक इंच भी पीछे नहीं हटेंगे।

Leave a Reply