cranberries in hindi | Karonda Ke Fayde | amazing benefits of eating karonda daily | करौंदा के फायदे

हेल्थ
health benefits of exotic fruit cranberries in hindi
health benefits of exotic fruit cranberries in hindi

cranberries in hindi | amazing benefits of eating karonda daily | health benefits of exotic fruit cranberries in hindi | Karonda Ke Fayde | amazing benefits of eating karonda daily | करौंदा के फायदे

cranberries : लाल रंग का ये बेहद छोटा लेकिन टेस्टी फल क्रैनबेरीज

Advertisement
(करौंदा) न्यूट्रिएंट्स का पावरहाउस है। जिन लोगों को खट्टी चीजें पसंद होती हैं उन्होंने कभी ना कभी इसका अचार, चटनी, जूस और सब्ज़ी जरूर खाई होगी. करौंदे (Karounda in Hindi) सेहत के लिए बहुत अच्छे होते हैं

क्योंकि इसमें भरपूर मात्रा में प्रोटीन, विटामिन सी,आयरन, कैल्शियम और फास्फोरस होता हैं यह स्वाद के साथ सेहत के लिए भी बहुत लाभकारी होता है.गर्मियों के मौसम में आने वाला फल करौंदा अधिकांश भारतीय घरों में रोज दाल या सब्जी के साथ खाया जाता है।

करौंदा क्या है? (What is Karounda in Hindi?)

करमर्द या करौंदा की हमेशा हरी-भरी रहने वाली झाड़ी होती है। इसके कंटक अत्यन्त तीक्ष्ण तथा मजबूत होते हैं। आयुर्वेदीय संहिताओं में दो तरह के (1) करौंदा (2) करौंदी का वर्णन पाया जाता है। करौदें के फल पकने के बाद काले पड़ जाते हैं। इसलिए इसको कृष्णपाक फल कहते हैं।

विज्ञान भी मानता है करौंदे के लाभ

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ हॉर्टिकल्चर रिसर्च (Indian Institute of Horticultural Research) के अनुसार करौंदे एनीमिया रोग में फायदेमंद हैं। इसके अलावा, करौंदा फल में फ्लेवोनोइड्स, एल्कलॉइड्स, टैनिन्स, कैरिसोन और ट्राइटरपीनोइड्स जैसे असंख्य एंटीऑक्सीडेंट होते हैं, जो एंटी-इंफ्लेमेटरी, एंटीपीयरेटिक, कार्डियोटोनिक और एनाल्जेसिक लक्षणों जैसे महत्वपूर्ण लाभ प्रदान करते हैं।

शोधकर्ताओं का कहना है कि करौंदे या उसके जूस का नियमित सेवन करने से यूटीआई ( यूरिनरी ट्रैक्ट इंफेक्शन) की समस्या नहीं होती। महिलाओं को खासकर इसका सेवन करना चाहिए, क्योंकि उनमें यूटीआई की समस्या अधिक देखने को मिलती है।

health benefits of exotic fruit cranberries in hindi
health benefits of exotic fruit cranberries in hindi

करौंदा के फायदे | Karonda ke Fayde in hindi | benefits of exotic fruit cranberries (Karonda)

दांतों को रखता है स्वस्थ्य – करौंदे खाना दांतो और मसूड़ों के लिए बहुत फायदेमंद होता है. इससे दांत मजबूत होते हैं और साथ में मसूड़े भी स्वस्थ रहते हैं. करौंदे के इस्तेमाल से सांस की दुर्गंध और पायरिया जैसी परेशानी दूर रहती है और दांतों को स्वस्थ रखने में मदद करता है.

वजन कम करने में है मददगार – अगर आप भी अपने बढ़ते वजन से परेशान है तो करौंदे का इस्तेमाल करें. इसमें अधिक मात्रा में फाइबर होता है जिस वजह से इसका यूज करने के बाद पेट काफी देर तक भरा सा महसूस होता है जिससे कुछ और खाने की इच्छा नहीं होती है. इस कारण यह आपका वजन कंट्रोल करने में मदद करता है.

इम्यूनिटी को करता है बूस्ट – आपकों बता दें करौंदे का इस्तेमाल करने से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता अच्छी होती है. यह शरीर में बीमारियों से लड़ने में अहम रोल प्ले करता है. इसमें मौजूद आयरन हीमोग्लोबिन शरीर में खून की कमी नहीं होने देता.

कोलेस्ट्रॉल के लेबल शरीर में रखता है कंट्रोल – करौंदे की सब्जी या जूस शरीर में कोलेस्ट्रॉल के लेबल को कंट्रोल में रखता है और इससे हृदय संबंधी परेशानियां दूर रहती है. हाई बल्ड प्रेशर जैसी बीमारियां दूर रहती है.

​इन्फ्लेमेशन की समस्या होगी दूर – इन्फ्लेमेशन यानी सूजन-जलन बहुत सी बीमारियों की मुख्य वजह होती है। कैंसर, आर्थराइटिस, डायबीटीज ये सब शरीर में इन्फ्लेमेशन होने की वजह से ही होता है। ऐसे में ऐंटी इन्फ्लेमेट्री फूड खाने से इन्फ्लेमेशन को कम करने में मदद मिलती है और क्रैनबेरी ऐसा ही एक फूड है जिसमें पॉलिफेनॉलिक कम्पाउंड पाया जाता है जो कैंसर और हार्ट डिजीज समेत कई बीमारियों को रोकने में मदद करता है।

पेट को रखता है स्वस्थ्य – करौंदे का सेवन करने से आपकी पेट संबंधी परेशानियों को दूर करता है. इससे आपकों कब्ज़, गैस और एसिडिटी जैसी परेशानियां दूर होती है साथ ही लूज़ मोशन जैसी परेसानियों से भी मुक्ति मिलती है. यह आंतो को स्वस्थ्य रखने में मदद करता है.

कैंसर सेल के विकास को रोकता है – रिसर्च में यह बात भी साबित हो चुकी है कि क्रैनबेरीज में मौजूद फाइटोकेमिकल्स ट्यूमर या कैंसर के सेल्स को बढ़ने से रोकता है जिससे ब्रेस्ट कैंसर, कोलोन कैंसर, लंग कैंसर जैसी बीमारियों को बढ़ने से रोका जा सकता है। इतना ही नहीं, क्रैनबेरीज को अपनी डेली डायट में शामिल करने से बहुत तरह के कैंसर को होने से भी रोका जा सकता है। क्रैनबेरी में ऐंटी-कार्सिनोजेनिक कम्पाउंड पाया जाता है जो शरीर में कैंसर के सेल्स को बढ़ने से रोकता है।

करौंदा का उपयोगी भाग Useful Parts of Karounda)

आयुर्वेद के अनुसार करौंदा का औषधीय गुण इसके इन भागों को प्रयोग करने पर सबसे ज्यादा मिलता है-

पत्ता,

जड़ एवं

फल।

करौंदा का इस्तेमाल कैसे करना चाहिए | How to Use Karounda in Hindi

यदि आप किसी ख़ास बीमारी के घरेलू इलाज के लिए करौंदा का इस्तेमाल करना चाहते हैं तो बेहतर होगा कि किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक की सलाह के अनुसार ही इसका उपयोग करें। चिकित्सक के सलाह के अनुसार 20-40 मिली पत्ते का काढ़ा या क्वाथ ले सकते हैं।

करौंदा सेवन के साइड इफेक्ट करौंदा के नुकसान | Karonda ke Nuksan in hindi | Karonda side effects

आयुर्वेद में करौंदे के फल का सेवन अर्थराइटिस, गाउट, साइटिका एवं अल्सर में लेना नुकसानदेह होता है।

करौंदा का पेड़ कहां पाया या उगाया जाता है | Where is Karounda Found or Grown in Hindi

करौंदा प्राय: भारत के गुजरात, पंजाब, उत्तराखण्ड, उत्तर प्रदेश व अन्य प्रान्तों में पाया जाता है तथा इसकी खेती की जाती है।

Leave a Reply