क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन|Benefits and Side Effects of Credit Card

हेल्थ
Credit Card apply process in hindi| benefits and side effects of Credit Card
Credit Card apply process in hindi,benefits and side effects of Credit Card

Table of Contents

क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन | क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान |Credit Card apply process in hindi| benefits and side effects of Credit Card

Credit Cards : क्रेडिट कार्ड्स का जन्म इस विचार को आधार बनाकर हुआ कि अगर किसी व्यक्ति बहुत छोटी रकम उधार लेनी हो तो बैंक किस तरह उसे ज्यादा कागजी कार्रवाई के यह उपलब्ध करवा सके और उधार लेने वाले को बैंक के चक्कर भी नहीं काटने पड़े. अपने ग्राहकों को यह सुविधा उपलब्ध करवाने के लिए क्रेडिट कार्ड्स का जन्म हुआ.क्रेडिट कार्ड यानी उधारी खाता।

Advertisement

Credit Card Table of Contents

  • क्रेडिट कार्ड क्या होता है? – what is Credit Card in hindi
  • क्रेडिट कार्ड के लिए आवेदन कैसे करें? – Credit Card apply process in hindi
  • क्रेडिट कार्ड से क्या क्या होता है?
  • सबसे अच्छा क्रेडिट कार्ड कौन सा है?
  • क्रेडिट कार्ड से लोन कैसे मिलता है?
  • क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार का होता है?
  • क्रेडिट कार्ड के फायदे benefits of Credit Card
  • क्रेडिट कार्ड के नुकसान side effects of Credit Card
  • क्रेडिट कार्ड अप्लाई ऑनलाइन
  • क्रेडिट कार्ड कैसे बनता है
  • क्रेडिट कार्ड अप्लाई
  • क्रेडिट कार्ड लोन
  • क्रेडिट कार्ड क्या है
  • क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए
  • सबसे अच्छा क्रेडिट कार्ड

Credit Card : सोचिए जब आपके पास कैश न हो लेकिन आपको खरीदारी करना हो तो आप क्या करेंगे? उस समय जिनके पास Credit Card होता है वह बिल का भुगतान Credit Card से कर देंगे। क्रेडिट कार्ड के माध्यम से आपको बैंक कुछ समय के लिए वह रकम उधार देता है जितनी राशि आपने अपने क्रेडिट कार्ड के माध्यम से चुकाई है.

क्रेडिट कार्ड (Credit Cards)  से चुकाई जाने वाली राशि की लिमिट आपके आर्थिक आधार के अनुसार बैंक तय करता है और यह 5 हजार से शुरू होकर कुछ भी हो सकती है. इस रकम पर आपको तय ब्याज भी देना होता है.

क्रेडिट कार्ड क्या है? (What is Credit Card in Hindi)

 क्रेडिट कार्ड फाइनेंशियल संस्थानों द्वारा जारी किया जाने वाला एक पतला प्लास्टिक कार्ड है, जो आपको अपनी खरीद के लिए भुगतान करने के लिए प्री-अप्रूव्ड लिमिट से पैसे उधार लेने की सुविधा देता है क्रेडिट कार्ड उपयोगकर्ताओं को एक ब्याज शुल्क का भुगतान करने की आवश्यकता होती है, अगर वे समय पर अपने बिलों का भुगतान नहीं करते हैं तो बैंक बकाया राशि पर ब्याज दर लगाती है।

क्रेडिट कार्ड (Credit Cards) बिल का भुगतान करने के लिए अमूमन आपको 20 दिन का क्रेडिट फ्री पीरियड मिलता है. यह समय बिल इश्यू होने की तारीख से लागू होता है. अगर आप केवल ‘मिनिमम ड्यू अमाउंट’ (न्यूनतम बकाया रकम) का भुगतान करते हैं तो बाद की अवधि में आप बकाया रकम दे सकते हैं.

इस प्रक्रिया को ‘रिवॉल्विंग क्रेडिट फेसि‍लिटी’ के नाम से जानते हैं. मिनिमम ड्यू अमाउंट बिल की कुल रकम का करीब 5 फीसदी होता है. लेकिन, बिल के भुगतान को टालने की लागत चुकानी पड़ती है. बिल का पूरा भुगतान नहीं होने तक बची हुई रकम पर ब्याज देना पड़ता है.

क्रेडिट कार्ड कितने प्रकार के होते हैं? (Types of Credit Card in Hindi)

शॉपिंग से बिजली के बिल भरने तक हर तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है जरुरत है तो बस उनके बारे में जानने की| आइये जानते है भारत में कितनी तरह के क्रेडिट कार्ड उपलब्ध है और उनकी क्या विशेषताएं है:

भारत में क्रेडिट कार्ड के प्रकार और उनकी विशेषताएं

ट्रैवल क्रेडिट कार्ड – ट्रैवल क्रेडिट कार्ड की मदद से आप सभी एयरलाइन टिकट बुकिंग, बस और रेल टिकट बुकिंग, कैब बुकिंग और भी बहुत कुछ पर छूट का लाभ उठा सकते हैं. जब भी आप टिकट बुकिंग करते है तो आपको कुछ न कुछ पॉइंट्स मिलते है जो की आप बाद में रिडीम कर सकते है

फ्यूल क्रेडिट कार्ड – फ्यूल क्रेडिट कार्ड की मदद से फ्यूल सरचार्ज छूट का लाभ उठाकर आप पेट्रोल पंप के द्वारा चलाये गए ऑफर्स का लाभ उठा सकते है इसके अलावा आप अतिरिक्त रिवॉर्ड प्वॉइंट्स अर्जित कर पुरे वर्ष में काफी पैसे बचा सकते है

रिवॉर्ड क्रेडिट कार्ड – इस तरह के क्रेडिट कार्ड के हर ट्रांजैक्शन पर निश्चित रूप से कोई न कोई रिवॉर्ड (पुरस्कार) मिलता है। कुछ कार्ड पर कैशबैक का ऑफर भी मिलता है। आप कार्ड से कहीं पेमेंट करते हैं, तो आपको एक या दो प्रतिशत का कैशबैक मिलेगा।

शॉपिंग क्रेडिट कार्ड – शॉपिंग क्रेडिट कार्ड से खरीदारी या ट्रांज़ैक्शन पर छूट का लाभ उठाने के लिए पार्टनर स्टोर पर ऑनलाइन या ऑफलाइन खरीदारी करें. इस कार्ड का उपयोग कर के आप पार्टनर स्टोर के साल भर कैशबैक, डिस्काउंट वाउचर और अधिक का लाभ उठा सकते है

सेक्योर्ड क्रेडिट कार्ड – जिन लोगों का क्रेडिट स्कोर यानी सिबिल स्कोर बहुत खराब हो उनको सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के लिए अप्लाई करना चाहिए। ख़राब क्रेडिट स्कोर वालों के लिए यह कार्ड बहुत उपयोगी साबित होता है। आप कोई नया खाता खोलते हैं या लोन के लिए अप्लाई करते हैं, तो सिक्योर्ड क्रेडिट कार्ड के जरिए अपना क्रेडिट स्कोर सही कर सकते हैं।
बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड – जब बहुत ज़्यादा ब्याज या पेनाल्टी से बचने के लिए आप बैलेंस ट्रांसफर क्रेडिट कार्ड ले सकते हैं। यह आपके मौजूदा क्रेडिट कार्ड के बकाए को कम करने में मददगार होता है। ऐसे कार्ड्स में आपको बकाया चुकाने के लिए 6 से 21 महीने तक मिल जाते हैं। हां, इसके इस्तेमाल में आपको एक बार बैलेंस ट्रांसफर फीस देनी होती है, जो कुल रकम की 5% तक हो सकती है।

क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान

क्रेडिट कार्ड के फायदे और नुकसान से जुड़ी अहम बातें जानें

क्रेडिट कार्ड (Credit Cards) के फायदे और नुकसान दोनों हैं. आम तौर पर क्रेडिट कार्ड आर्थिक कठिनाई से उबरने में काम आता है. हालांकि, क्रेडिट कार्ड को अगर हिसाब से उपयोग नहीं किया जाए, तो कर्ज के जाल में फंसने की संभावना बढ़ जाती है. ऐसे में अगर आपके पास क्रेडिट कार्ड हैं तो इनका इस्तेमाल सही ढंग से करना जरूरी है.

क्रेडिट कार्ड के फायदे

क्रेडिट कार्ड के बिल का भुगतान सही समय पर करने पर आपका क्रेडिट स्कोर (Credit score) भी काफी अच्छा बना रहता है. ऐसी स्थिति में इस बात की पूरी संभावना है कि आपको दूसरे बैंकों से भी नए क्रेडिट कार्ड के ऑफर मिलेंगे. बता दें कि एक व्यक्ति एक से अधिक क्रेडिट कार्ड का इस्तेमाल कर सकता है. क्रेडिट कार्ड लेते वक्त आपके सैलरी या इनकम के सोर्स के हिसाब से आपके क्रेडिट कार्ड की लिमिट (Credit Card Limit) तय की जाती है. इनकम बढ़ने के साथ बैंक आपकी क्रेडिट लिमिट बढ़ाने की सुविधा भी ऑफर करता है. हालांकि, क्रेडिट स्कोर खराब होने पर अपनी लिमिट को बैंक घटा भी सकता है.

क्रेडिट कार्ड से क्या लाभ होता है?

क्रेडिट कार्ड के जरिए फाइनेंशियल ट्रांजैक्‍शन आज के समय में कॉमन है. हर तरह की खरीदारी के लिए क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का इस्‍तेमाल धड़ल्‍ले से हो रहा है. यह एक ऐसी सुविधा है, जिसका इस्‍तेमाल अगर समझदारी के साथ किया जाए, तो यह काफी फायदेमंद हो सकती है. मूवी टिकट से लेकर कार की खरीदारी तक आप आसानी से क्रेडिट कार्ड से कर सकते हैं. आइए जानते हैं क्रेडिट कार्ड के 10 बेनेफिट्स के बारे में.

पेमेंट में सुविधा – क्रेडिट कार्ड के जरिए महज एक स्‍वाइप पर आपका पेमेंट हो जाता है. आपको कैश काउंट करने या चेक काटने की जरूरत नहीं पड़ती है. अगर आपकी जेब में क्रेडिट कार्ड है, तो आपको ज्यादा कैश लेकर चलने की जरूरत नहीं होती है. आप चाहें तो क्रेडिट कार्ड को डिजिटल वॉलेट से लिंक करा सकते हैं. इसके जरिए अब बिना कार्ड के भी वॉलेट से स्‍कैन कर पेमेंट कर सकते हैं.

रिकरिंग पेमेंट्स में आसानी – मर्चेंट शॉप या ऑनलाइन वन टाइम पेमेंट के अलावा क्रेडिट कार्ड से रिकरिंग पेमेंट्स भी कर सकते हैं. इसके लिए आप अपने क्रेडिट कार्ड को पेमेंट के लिए ऑटोमैटिक सेट कर सकते हैं. इससे हर महीने अपने फोन, बिजली या गैस बिल का पेमेंट अपने आप समय पर हो जाएगा. इसका फायदा यह है कि पेमेंट करने में चूक नहीं होगी, जिससे कि आपको किसी तरह की पेनल्‍टी नहीं देनी पड़ेगी.

रिचार्ज और टिकट बुकिंग में आसानी – क्रेडिट कार्ड से सबसे ज्‍यादा आसानी आपको ऑनलाइन सर्विसेज के पेमेंट में होती है. जैसेकि, आपको फ्लाइट की टिकट बुक करनी हो या मोबाइल रिचार्ज कराना हो, आपके अकाउंट में पर्याप्‍त बैलेंस नहीं है, तो भी आप इनके लिए पेमेंट कर सकते हैं.

इंटरेस्‍ट फ्री क्रेडिट का फायदा – क्रेडिट कार्ड से खरीदारी और पेमेंट के बीच एक ग्रेस पीरियड मिलता है. यह 50 दिन तक हो सकता है. इस दौरान बैंक आपसे कोई ब्‍याज नहीं लेता है. इसका फायदा यह है कि यह आपको कोई बड़ी खरीदारी करनी है तो आप आसानी से कर सकते हैं. बाय नाउ एंड पे लेटर का यह सबसे सटीक उदाहरण है.

रिवॉर्ड्स का मिलेगा फायदा – क्रेडिट कार्ड से पेमेंट करते हैं, अमूमन रिवॉर्ड्स मिलते हैं. आप फ्री शॉपिंग ट्रिप्‍स या फ्री फ्लाइट टिकट्स जैसे गिफ्ट्स या वाउचर्स के लिए रिवॉर्ड्स को रिडीम करा सकते हैं. इस तरह आपकी सेविंग हो जाती है.

कैशबैक एंड डिस्‍काउंट्स – क्रेडिट कार्ड से कई तरह के पेमेंट जैसे करने पर डिस्‍काउंट और कैशबैक मिलते हैं. जैसेकि, कई बैंकों के क्रेडिट कार्ड से फ्यूल पेमेंट करने पर फ्यूल सरचार्ज नहीं देना पड़ता है.

खर्च कर रख सकते हैं हिसाब – क्रेडिट कार्ड इस्‍तेमाल एक बेनेफिट यह भी है कि आप हर महीने होने वाले अपने खर्चों का हिसाब रख सकते हैं. क्रेडिट कार्ड स्टेटमेंट के जरिए आप यह जान सकेंगे कि कहां कितना खर्च कर रहे हैं.

क्रेडिट कार्ड रखना ज्‍यादा सेफ – आप कहीं भी ट्रैवल कर रहे हैं, तो भारी भरकम कैश लेकर चलने की बजाय क्रेडिट कार्ड लेकर चलना ज्‍यादा सेफ है. अगर कहीं आप अपका क्रेडिट कार्ड चोरी या भूल जाता है तो आप बैंक में शिकायत कर उसे ब्‍लॉक करा दूसरा इश्‍यू करा सकते हैं.


क्रेडिट स्‍कोर होता है मजबूत – क्रेडिट कार्ड का बेहतर इस्‍तेमाल आपका क्रेडिट स्‍कोर भी मजबूत करता है. ज्यादातर लोगों को इसकी जानकारी नहीं होती है, लेकिन क्रेडिट कार्ड आपके क्रेडिट स्कोर में इजाफा कर सकता है. CIBIL जैसी संस्थाएं लोगों को क्रेडिट स्कोर देती हैं. यह आपकी पेमेंट हिस्‍ट्री पर निर्भर करता है कि पेमेंट को लेकर कितने एक्टिव हैं. अगर आप क्रेडिट कार्ड बिल समय पर चुका देते हैं तो इससे आपके क्रेडिट स्कोर में इजाफा होता है. अच्छा क्रेडिट स्कोर से आपको जरूरत पर आसानी से लोन लेने में मददगार होगा.

एक्‍स्‍ट्रा बेनेफिट – क्रेडिट कार्ड पर आपको कई दूसरे बेनेफिट भी मिलते हैं. जैसेकि, आज के समय में लगभग हर बैंक के क्रेडिट कार्ड पर उसकी कैटेगरी के मुताबिक टर्म इंश्‍योरेंस या एक्‍सीडेंटल डेथ कवर मिलता है. इसके लिए अलग से कोई प्रीमियम चुकाने की जरूरत नहीं पड़ती है. (नोट: यह जानकारी एचडीएफसी बैंक की ऑफिशियल वेबसाइट से ली गई है.)


क्रेडिट कार्ड के नुकसान

क्रेडिट कार्ड का भुगतान सही समय पर नहीं करने पर आप मुश्किल में फंस सकते है. एक से अधिक क्रेडिट कार्ड (Credit Card) का इस्तेमाल करने पर भी कई बार आपके कर्ज के जाल में फंसने की संभावना बढ़ जाती है. एक से अधिक कार्ड का मतलब एक से अधिक ड्यू डेट. यदि आप एक बार फिर किसी कार्ड का बिल भरना भूलें, तो आपको भारी ब्याज देना पड़ेगा.

इसके साथ ही आपका क्रेडिट स्कोर भी खराब होगा. कई बार कंपनियां सालाना फीस या अधिक ब्याज दर जैसी हिडेन चार्जेस आपसे छुपा लेती हैं. ऐसी दशा में नया कार्ड लेने के पहले उसकी सारी जानकारी ले लें. अगर आपके पास एक से अधिक क्रेडिट कार्ड है तो कई बार बैंक आपको बड़े लोन (Home Loan Or Auto Loan) देने से मना कर देते हैं.

खो गया क्रेडिट कार्ड, तो करें ये काम

किसी वजह से आप अपना क्रेडिट कार्ड खो देते हैं तो ऐसे में आपकी परेशानी बढ़ सकती है. क्रेडिट कार्ड के खोने को हल्के में लेने की भूल कभी नहीं करनी चाहिए. क्रेडिट कार्ड (Credit Card) के खो जाने या फिर चोरी होने की स्थिति में आप मोबाइल एप का उपयोग करके या फिर बैंक जाकर भी इसे ब्लॉक करवा सकते हैं.

कार्ड को ब्लॉक करने के बाद आपको नया कार्ड इश्यू किया जाएगा. अगर आपने अपना एड्रेस बदल लिया है, तो नया क्रेडिट कार्ड अप्लाई करते वक्त अपना एड्रेस भी जरूर अपडेट करा लें. क्रेडिट कार्ड खोने की स्थिति में भी कार्ड से संबंधित जानकारी किसी से साझा नहीं करें. अन्यथा आपके क्रेडिट कार्ड से फ्रॉड होने का खतरा बढ़ जाता है.

क्रेडिट कार्ड अप्लाई ऑनलाइन कैसे करे

आजकल सभी बैंक अपने वेबसाइट पर क्रेडिट कार्ड (Credit Card) के लिए ऑनलाइन आवेदन देते है, आपका जिस भी बैंक में खाता है, उसके लिए आप उस बैंक की वेबसाइट पर जाकर ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं, अप्लाई करने के बाद बैंक आपको कॉल करेगी, और कुछ जानकारी मांगेगी, इसके बाद आपका एप्लीकेशन बैंक Accept कर लेगी, फिर कुछ दिनों बाद बैंक आपको सूचित करेगी,बैंक में जाए बिना किसी परेशानी आप क्रेडिट कार्ड के लिए ऑनलाइन अप्लाई कर सकते हैं।

क्रेडिट कार्ड के लिए आवश्यक दस्तावेज (Credit Card required documents)

आवेदन प्रक्रिया में शामिल आसान दस्तावेजों के साथ, एक व्यक्ति अलग – अलग बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा प्रदान की जाने वाली क्रेडिट सेवा का आसानी से लाभ उठा सकता है. इसके लिए दस्तावेजों को दो प्रकार से बताया गया है-

निवासी ग्राहकों द्वारा आवश्यक दस्तावेज :

पहचान का प्रमाण : पैन कार्ड, आधार कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, पासपोर्ट, वोटर आईडी आदि. पैन कार्ड का महत्व यहाँ पढ़ें.

पता का प्रमाण : 2 महीने तक का टेलेफोन या बिजली बिल, बैंक स्टेटमेंट, किराया अनुबंध, वोटर आईडी, राशन कार्ड, पासपोर्ट और ड्राइविंग लाइसेंस आदि.

आयकर प्रमाण : वेतनभोगी व्यक्ति के लिए पिछले तीन महीने की वेतन स्लिप और वेतन खाते के लिए 6 महीने का बैंक स्टेटमेंट आदि और स्वरोजगार व्यवसायियों या पेशेवरों के लिए आय के प्रमाण या प्रमाणित वित्तिय दस्तावेजों के साथ नवीनतम आईडी रिटर्न, व्यवसाय निरंतरता का सबूत आदि.

आयु प्रमाण : माध्यमिक विद्यालय प्रमाण पत्र (कक्षा 10वीं), जन्म प्रमाण पत्र, पासपोर्ट, आधार कार्ड और वोटर आईडी कार्ड
अनिवासी ग्राहकों द्वारा आवश्यक दस्तावेज : एनआरआई के लिए :

पता का प्रमाण (या तो मेलिंग या विदेशी पता)
गैर अंग्रेजी भाषा की घोषणा (यदि दस्तावेज किसी विदेशी भाषा में है). दस्तावेज को ग्राहक द्वारा स्वयं प्रमाणित किया जाना है और क्षेत्रीय प्रबंधक द्वारा ‘मूल सीन और
सत्यापित’ के रूप में दर्ज किया गया है.

FAQ :

Q: क्रेडिट कार्ड पेमेंट न करने पर क्या होगा?
Ans: क्रेडिट कार्ड पेमेंट न करने पर अगले महीने आपको पूरा पेमेंट करना होगा, साथ ही ब्याज और पेनाल्टी भी चुकानी होगी. पूरा पैसा देने के वाबजूद आपका क्रेडिट स्कोर खराब हो सकता है. ये भी हो सकता है कि अगले महीने बिल अमाउंट और बढ़ जाए और आप फिर पेमेंट न कर पाएं

Q: क्रेडिट कार्ड का उपयोग कैसे करें?
Ans: क्रेडिट कार्ड का उपयोग

  • रियायती अवधि का लाभ उठाएं
  • सही खरीदारी के लिए सही कार्ड का उपयोग करें
  • एमरज़ेंसी के दौरान पर्सनल लोन का विकल्प चुनें
  • अपनी खरीद को EMI में बदलें
  • सबसे अधिक रिवॉर्ड प्वॉइंट अर्जित करने के लिए ऑनलाइन खरीदारी करें
  • अपने रिवॉर्ड पॉइंट रिडीम करें

Q: क्रेडिट कार्ड कौन जारी करता है?
Ans: क्रेडिट कार्ड बैंकों और वित्तीय संस्थानों (बैंक और एनबीएफसी) द्वारा जारी किए जाते हैं। क्रेडिट कार्डधारक इन संस्थाओं से क्रेडिट (पैसे) उधार लेकर खरीदारी या विभिन्न सेवाओं के लिए भुगतान कर सकते हैं। इसके अलावा क्रेडिट कार्ड रिवॉर्ड, कैशबेक, ब्याजमुक्त अवधि पर लोन जैसे आदि लाभ देता है।

Q: क्रेडिट कार्ड क्या होता है हिंदी में बताये?
Ans: क्रेडिट कार्ड, फाइनेंशियल संस्थानों द्वारा जारी किया गया प्लास्टिक या मेटल कार्ड होता है, जो आपको अपनी खरीद हेतु भुगतान करने के लिए प्री-अप्रूव्ड लिमिट से फंड उधार लेने की सुविधा देता है

Q : सबसे अच्छा क्रेडिट कार्ड कौन सा है?
Ans:सबसे अच्छा क्रेडिट कार्ड

  • एक्सिस बैंक ऐस क्रेडिट कार्ड
  • Amazon Pay आईसीआईसीआई बैंक क्रेडिट कार्ड
  • HDFC रेगलिया क्रेडिट कार्ड
  • SBI BPCL ऑक्टेन क्रेडिट कार्ड
  • सिम्पली क्लिक एसबीआई (SBI) कार्ड
  • सिटी प्रीमियर माइल्स क्रेडिट कार्ड
  • SBI कार्ड एलीट
  • यस फर्स्ट प्रेफर्ड क्रेडिट कार्ड

Q: क्रेडिट कार्ड लोन
Ans: सामान्यत: क्रेडिट कार्ड पर लोन प्री-अप्रूव्ड होता है और बैंक पर निर्भर करता है। आमतौर पर बैंक ईएमआई स्कीम देते हैं। इससे आपको कर्ज चुकाने को लेकर परेशान नहीं होना पड़ता है।

Q: क्रेडिट कार्ड के लिए कितनी सैलरी होनी चाहिए
Ans: क्रेडिट कार्ड को लेने के लिए भारत के अधिकतर बैंकों ने ₹15000 की न्यूनतम मासिक वेतन का नियम बनाया है।

Q: क्रेडिट कार्ड कितने दिन में आता है
Ans: क्रेडिट कार्ड अनुरोध (आवेदन) करने के एक सप्ताह (1 week)के भीतर आप तक पहुंचता है

 

 

Leave a Reply