सीएम केजरीवाल के शालीमार बाग़ की रैली में ₹500 देने का वादा कर जुटाई भीड़, रूपए ना मिलने पर मजदूरों का हंगामा

Sports News
सीएम केजरीवाल के शालीमार बाग़ की रैली में ₹500 देने का वादा कर जुटाई भीड़, रूपए ना मिलने पर मजदूरों का हंगामा
Advertisement
सीएम केजरीवाल के शालीमार बाग़ की रैली में ₹500 देने का वादा कर जुटाई भीड़, रूपए ना मिलने पर मजदूरों का हंगामा

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) की रैली में आए लोगों का एक वीडियो सामने आया है, जिसमे उन्होंने दावा किया है कि वो मजदूर हैं और उन्हें 500-500 रुपए देने का वादा कर के केजरीवाल की रैली में बुलाया गया था।

उनका कहना है कि अब तक मजदूरों को पैसों (500-500 रुपए) का भुगतान भी आम आदमी पार्टी (AAP) नेताओं द्वारा नहीं किया गया है। जिसमें ये मजदूर रुपए देने का वादा करने वाले AAP नेताओं को ढूँढ रहे है और एक नेता उन्हें किसी दूसरे के पास जाने की सलाह दे रहा है।

इस वीडियो को बीजेपी नेता कपिल मिश्रा के ट्विटर अकाउंट से सैर किया गया ह। इस वीडियो में देखा जा सकता है रैली में आने के लिए तय किए गए रुपए न मिलने के कारण मजदूर भड़के हुए हैं और अपने पैसों की माँग कर रहे हैं। इस वीडियो में महिलाएँ भी देखि जा सकती है

बीजेपी नेता कपिल मिश्रा ने ट्विट करते हुए लिखा कि ” कल शाम दिल्ली के शाहबाद में केजरीवाल का रोड शो – 500 – 500 रुपये का वादा देकर बुलाये गरीब लोग और बाद में हुई सुंदर शब्दो से केजरीवाल की आरती”

ये वही महिलाये है जो मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal)की रैली में शामिल हैं, जिन्हें AAP के झंडे लेकर बुलाया गया था। महिला ने कहा कि गरीबों से वादा करने के बाद ये नेता उन्हें रुपए नहीं दे रहे हैं। इसी तरह से कई अन्य मजदूरों ने भी रैली के बाद अपना विरोध दर्ज किया।

आप इंडिया के अनुसार अरविंद केजरीवाल (Arvind kejriwal) ने दिल्ली के शालीमार बाग़ में हाल ही में रोड शो किया, जिसमें किसानों के प्रति एकता दिखाने की कोशिश की गई। हालाँकि, इस रोड शो में कोरोना के नियमों की भी जम कर धज्जियाँ उड़ाई गईं

और सोशल डिस्टेंसिंग तो दूर की बात, किसी के चेहरे पर मास्क तक नहीं दिखा। सम्बोधन में केजरीवाल ने कहा भी कि दिल्ली में कोरोना ख़त्म हो गया है और दिल्ली वालों ने कोरोना को हरा दिया है।

वहीं अब AAP के मुखिया ‘किसान आंदोलन’ की आड़ में उत्तर प्रदेश में भी दस्तक देने वाले हैं। राज्य के पश्चिमी हिस्से में स्थित मेरठ में फरवरी के अंतिम दिन ‘किसान महापंचायत’ होनी है,

जहाँ दिल्ली के सीएम जनसभा को सम्बोधित करेंगे। इसके लिए दिल्ली पुलिस की टीम ने वहाँ जाकर सुरक्षा व्यवस्था का भी जायजा लिया है। तीनों कृषि कानूनों के खिलाफ होने वाली इस रैली को सफल बनाने के लिए केजरीवाल ने किसान नेताओं के साथ दिल्ली में बैठक भी की।

Leave a Reply