Desi Ghee Benefits: एक चम्मच घी देता है गजब के फायदे, आप भी जान लें

हेल्थ
Desi Ghee Benefits, ghee ke fayde /laabha
Desi Ghee Benefits, ghee ke fayde /laabha

Desi Ghee Benefits: बुजुर्ग लोग भी इसीलिए घी खाने की सलाह देते हैं।दरअसल अच्छी सेहत के लिए घी का सेवन करना बहुत फायदेमंद माना जाता है। और घी के अनगिनत फायदे होने के कारण ही इसे इतना महत्व दिया जाता है। घी का सेवन शारीरिक और मानसिक स्वास्थ्य दोनों के लिए ही अच्छा है। इस लेख में हम आपको घी के फायदे, नुकसान और घी खाने के सही तरीके के बारे में विस्तार से बता रहे हैं। आइये जानते हैं :

Advertisement

घी क्या है

जब मक्खन को अच्छी तरह पकाते हैं, तब पकने के बाद छाछ के अंश को अलग करने से जो पदार्थ तैयार होता है, उसे घी कहते हैं। सभी प्रकार के तैलीय व चिकने पदार्थों में घी सबसे अच्छा माना गया है क्योंकि अन्य औषधियों के साथ पकाने से यह उनके बल को बढ़ा देता है। अन्य किसी भी चिकनाई युक्त खाद्य पदार्थ में ऐसे गुण नहीं मिलते हैं।

घी के गुण

घी भारी, चिकनाई युक्त मधुरविपाक व शीतवीर्य होता है। यह बुद्धि, याददाश्त, बल, शुक्र, चमक और स्वर में वृद्धि करने वाला अच्छा रसायन है। घी से ह्रदय को ताकत मिलती है और यह वृद्धों के लिए भी काफी फायदेमंद होता है .सभी प्रकार के घी में गाय का घी सबसे अच्छा माना गया हैं।

Desi Ghee Benefits: : एक चम्मच घी देता है गजब के फायदे, आप भी जान लें

Desi Ghee Benefits:देसी घी (Desi Ghee) खाना सेहत के लिए फायदेमंद (Beneficial) होता है, फिर भी लोग घी खाने से पहरेज करते हैं. उन्हें लगता है कि घी खाने से कहीं उनका वजन न बढ़ जाये. लेकिन बता दें कि घी का सेवन अगर सही मात्रा में किया जाये, तो ये सेहत को नुकसान नहीं बल्कि कई तरह के फायदे (Benefit) पहुंचाता है. साथ ही इससे वजन बढ़ने की दिक्कत भी नहीं होती है,

बल्कि इसमें मौजूद कॉन्जुगेटेड लिनोलेइक एसिड वजन कम करने में आपकी मदद करता है. घी में विटामिन ए, डी, कैल्शियम, फॉस्फोरस, मिनरल्स और पोटैशियम जैसे कई पोषक तत्व होते हैं, जो सेहत के लिए फायदेमंद होते हैं. इसलिए सुबह के नाश्ते में आप एक चम्मच घी का इस्तेमाल किसी भी चीज के जरिये कर सकते हैं. ये आपकी शारीरिक और मानसिक हेल्थ को बेहतर बनाने में कई तरह से मदद करेगा. आइये जानते हैं घी के फायदों के बारे में.

इम्युनिटी बढ़ती है – घी का सेवन करने से इम्यूनिटी स्ट्रांग होती है. इसके सेवन से शरीर से विषैले पदार्थ बाहर निकलते हैं. साथ ही घी खाने से आपका मानसिक स्वास्थ्य भी बेहतर बना रहता है.

ये भी पढ़ें: Uttarakhand ghee sankranti festival : घी संक्रांति कब है

पेट की दिक्कतें दूर होती हैं – घी खाने से आप कब्ज और पाचन सहित पेट से जुड़ी कई दिक्कतों को खुद से दूर रखने में सफल हो सकते हैं. घी में विटामिन ए, डी, ई और के की पर्याप्त मात्रा होती है, जो आपके पेट की हेल्थ को बेहतर बनाने में मदद करती है. इतना ही नहीं घी में मौजूद एमिनो एसिड पेट की चर्बी को कम करने में भी मदद करता है.

टीबी में लाभदायक – टीबी एक गंभीर बीमारी है और इसका सही समय पर इलाज कराना बेहद ज़रूरी है। आयुर्वेद के अनुसार टीबी के मरीजों के लिए घी (Desi Ghee Benefits) का सेवन करना फायदेमंद रहता है। हालांकि टीबी के इलाज के लिए सिर्फ घरेलू नुस्खों पर निर्भर ना रहें बल्कि नियमित अंतराल पर चिकित्सक के पास जाकर अपनी जांच कराएँ।

जोड़ों के दर्द से राहत मिलती है – घी खाने से आपके जोड़ों में दर्द की दिक्कत भी कम होने लगती है. घी में विटामिन के- 2 होता है. ये शरीर में कैल्शियम पहुंचाने का काम करता है. इसलिए इससे हड्डियों में मजबूती आती है. इतना ही नहीं बालों और स्किन की हेल्थ के लिए भी घी काफी फायदेमंद होता है.इम्युनिटी बढ़ती है

खांसी में फायदेमंद –  खांसी होना एक आम समस्या है लेकिन अगर यह लम्बे समय तक रहे तो इसका इलाज करना ज़रुरी है। खांसी होने के कई कारण है। आयुर्वेदिक विशेषज्ञों के अनुसार खांसी होने पर घी का सेवन करना लाभकारी होता है। आप भी खांसी दूर करने का यह घरेलू नुस्खा ज़रूर आजमायें।

ये भी पढ़ें: Giloy Immunity Booster drink : ठंड के मौसम में पीएं ये काढ़ा, बीमारियों से कोसो दूर


घी के प्रकार

आयुर्वेद के अनुसार दस सालों तक संरक्षित करके रखा गया घी “पुराना घी” कहलाता है। इसी तरह 100 साल तक रखे गए घी को “कुम्भघृत” और 100 साल से भी ज्यादा वक्त से रखे गए घी को “महाघृत” कहा जाता है।

पुराने घी की महक काफी तीव्र होती है इसके बावजूद यह मिरगी, बेहोशी, मलेरिया एवं सिर, कान, आंख व योनि से जुड़े रोगों में फायदेमंद होता है।

इसी तरह गाय और भैंस के दूध से तैयार घी का भी अपना अलग अलग महत्व है। हालांकि भैंस के घी की तुलना में गाय का घी ज्यादा पौष्टिक और स्वादिष्ट माना जाता है।

कैसा घी नहीं खाना चाहिए

कांसे के बर्तन में दस दिन या इससे ज्यादा समय से रखा हुआ घी नहीं खाना चाहिए क्योंकि यह विषैला हो जाता है। इसी तरह अगर घी से किसी तरह की दुर्गंध आ रही है तो उस घी का सेवन ना करें।

कभी भी घी का सेवन बहुत अधिक मात्रा में ना करें. ज्यादा मात्रा में घी के सेवन से आपका हाजमा बिगड़ सकता है। अगर आप किसी बीमारी के घरेलू इलाज के रूप में घी का उपयोग करना चाहते हैं तो किसी आयुर्वेदिक चिकित्सक से परामर्श लें।

Q:1 दिन में कितना घी खाना चाहिए?
Ans: डॉक्टर्स बताते हैं कि एक आम इंसान को 1 दिन में दो चम्मच से घी ही खाना चाहिए। ज्यादा घी खाने से सैचुरेटेड फैट की मात्रा ज्यादा होती है जो कोलेस्ट्रॉल लेवल को बढ़ा भी सकता है। जिन लोगों को हार्ट से जुड़ी बीमारियां है या हाई ब्लड प्रेशर है, उन्हें बहुत ही कम मात्रा में घी खाना चाहिए।

Q: Ghee में कितनी कैलोरी होती है?
Ans: 1 चम्मच में 45 कैलोरी होती हैं. दो चम्मच में 90 कैलोरी. देसी घी जब शरीर में जाता है तो सेल्स इसे सोख लेते हैं, जिससे हमें ताकत मिलती है.

 

 

Leave a Reply