Do you know which flour is best to eat in summer | eating this kind of flour in summer | healthy chapati in summer | garmiyo me konse aate ki roti khaye

हेल्थ
healthy chapati in summer
healthy chapati in summer

Do you know which flour is best to eat in summer ? | eating this kind of flour in summer | Which is the Healthiest Flour for Weight Loss | healthy chapati in summer | garmiyo me konse aate ki roti khaye | गेहूं ही नहीं गर्मी में बनाएं इन आटे की रोटियां, शरीर को मिलेगी ठंडक और रोग रहेगें कोसो दूर
Advertisement

which flour is best to eat in summer : गर्मियों का मौसम चल रहा है। ऐसे में लोग ठंडी तासीर वाले खाद्य पदार्थों पर ध्यान दे रहें है। ऐसे में शरीर को ठंडा रखना और पौष्टिक आहार खाना बहुत मुश्किल काम है. अक्सर दोनों चीज़ें लोग साथ में नहीं कर पाते. गर्मीयों में आप ठंडी तासीर के फूड्स को महत्व दे रहें है, तो ठंडी तासीर वाले आटा की रोटीया खाने से आप शरीर को पौष्टिक आहार के साथ साथ ठंडा रख सकते है इसके लिए आपको डाइट में ऐसा आटा शामिल करना होगा। जिसकी तासीर ठंडी हो.तो चलिए बताती हु कौन सा आटा पेट को ठंडक पहुंचाता है.

यह भी पढ़े : इन नेचुरल तरीको से गर्मियों में घमौरियों से पाए राहत

चने का आटा – चने के आटे की तासीर ठंडी होती है, इसलिए यह गर्मी के मौसम के अनुकूल होती है। चने के आटे में प्रोटीन अधिक होता है। 1 कप चने के आटे में करीब 20 ग्राम प्रोटीन होता है। चने का आटा मांसपेशियों का निर्माण करने, वजन को कंट्रोल रखने में भी सहायक होता है। गर्मियों में चने के आटे से बनी रोटियां भी खाई जा सकती हैं।

गेहूं का आटा- वैसे तो अधिकतर लोग गेहूं से बनी रोटियां ही खाते हैं। वही गर्मी के मौसम में आप दोबारा से गेहूं की रोटियों को अपनी डाइट में शामिल कर सकते हैं। गेहूं की तासीर ठंडी होती है, इसलिए गर्मियों में इसका सेवन किया जा सकता है।

गेहूं का आटा पोषक तत्वों से भरपूर होता है। चोकर वाला गेहूं खाने से पाचन क्रिया में सुधार होता है। गेहूं के गुण रक्त को भी साफ करते हैं। गेहूं में फाइबर अधिक होता है, जो वटन घटाने में कारगर होता है।

healthy chapati in summer
healthy chapati in summer

जौ का आटा- गर्मियों में जौ को इसलिए फायदेमंद माना जाता है, क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है। साथ ही जौ पोषक तत्वों से भी भरपूर होता है। जौ के आटे से बनी रोटियां खाने से पेट से संबंधित समस्याएं दूर होती हैं। गर्मियों में अधिकतर लोग पेट को ठंडा रखने के लिए जौ का पानी पीते हैं। जौ जौ ठंडा होता है, इसलिए यह गर्मी से होने वाले कील मुहांसों से भी बचाता है। डायबिटीज रोगियों के लिए भी जौ की रोटियां लाभकारी होती है।

ज्वार का आटा- ज्वार की तासीर ठंडी होती है, इसलिए पित्त प्रकृति के लोग भी इसकी रोटियां खा सकते हैं। वात के लोगों को इसका सेवन डॉक्टर की सलाह पर ही करना चाहिए। ज्वार में पोषक तत्व होते हैं। ज्वार प्रोटीन, विटामिन बी कॉम्प्लेक्स और मिनरल्स से भरपूर होता है।

यह भी पढ़े : गर्मियों के लिए 5 खास ड्रिंक्स

इसके अलावा ज्वार में पोटैशियम, फॉस्फोरस, कैल्शियम और आयरन भी होता है। ज्वार में कैलोरी कम होती है, पोषण अधिक होता है। इससे वजन घटाने में मदद मिलती है। ज्वार के आटे की रोटियां खाने से थकान दूर होती है, शरीर को बल मिलता है।

Leave a Reply