fenugreek seeds in hindi | methi dana in hindi | fenugreek seeds benefits and side effects | methi dana ke fayde | fenugreek or methi benefits and side effects

हेल्थ
fenugreek seeds in hindi | methi dana in hindi | fenugreek seeds benefits and side effects | methi dana ke fayde | fenugreek or methi benefits and side effects
fenugreek seeds in hindi

Table of Contents

fenugreek seeds in hindi | methi dana in hindi | fenugreek seeds benefits and side effects | methi dana ke fayde | Benefits of methi in Hindi | fenugreek or methi benefits and side effects | सेहत के लिए फायदेमंद है मेथी दाना

fenugreek seeds in hindi :मेथी दाना (Methi seeds) होता बहुत छोटा है, लेकिन इस छोटे से दाने में गुणों का खजाना छिपा होता है। मेथी के दाने भले स्वाद में कड़वे हों, लेकिन ये बहुत काम के होते हैं. मेथी (fenugreek seeds)

Advertisement
के दाने सेहत के लिए बहुत फायदेमंद माना जाता है. इसे खाने से कई तरह की बीमारियां दूर होती हैं.

Methi Dana : आयुर्वेद के मुताबिक, मेथी अनेक रोगों की दवा है. इसके दाने का प्रयोग मसालों के साथ-साथ औषधि के रूप में किया जाता है. मेथी के दाने में खूब सारे विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं. मेथी के दानों (Fenugreek Seeds) को तड़का लगाने या फिर चूर्ण के रूप में भी इस्तेमाल किया जाता है.

मेथी और मेथी के तेल (methi ka tel) में गांठ को बनने से रोकने के गुण होते हैं. मेथी में कई औषधीय गुण और न्यूट्रिएंट्स पाए जाते हैं, जो डायबिटीज को कंट्रोल करने में मदद करता है.

मेथी के बीजों का प्रयोग मसालों के साथ-साथ औषधि के रूप में किया जाता है। गाँवों में प्रसूता स्त्री को मेथी के लड्डू विशेष रूप से दिये जाते हैं। मेथी के पानी का सेवन करने से पाचन से संबंधित परेशानियां आसानी से दूर हो जाती है. यदि आप भी इनका रोज सुबह में सेवन करें, तो आपको ऐसी खतरनाक बीमारियों से निजात मिल सकता है.

मेथी दाना की ही तरह मेथी के पत्तों का उपयोग भी तरह-तरह के व्यंजनों और दवाएं आदि बनाने में इस्तेमाल किया जाता है। मेथी का उपयोग भारत में सैंकड़ों सालों से अनेक स्वास्थ्य समस्याओं का इलाज करने के लिए एक घरेलू उपचार के रूप में किया जाता हैआइए जानते हैं कि मेथी के दानों (Methi Dana) के इस्तेमाल से किस तरह बीमारियां दूर की जा सकती हैं.

मेथी क्या है? (What is Methika in Hindi?)

मेथी (methika) का पौधा साल में एक बार होता है। पौधी लंबााई लगभग 2-3 फीट लंबा होती है। पौधे में छोटे-छोटे फूल आते हैं। इसकी फली मूंग दाल के जैसी होती है। इसके बीज बिलकुल छोटे-छोटे होते हैं। यह स्वाद में कड़वा होता है।मेथी के पत्ते हल्के हरे और फूल सफेद रंग के होते हैं। इसकी फली में 10 से लेकर 20 छोटे, पीले-भूरे रंग के तेज गंध वाले बीज होते हैं।

इन बीजों का उपयोग (uses of methi dana) कई सारे रोगों में किया जाता है। इसकी एक और प्रजाति होती है, जिसको वन मेथी कहते हैं। यह कम गुण वाला होता है। इसे जानवरों के चारे के रूप में प्रयोग किया जाता है।

मेथी में मौजूद पोषक तत्व (Fenugreek Nutrition Facts)

मेथी में नियासिन, पोटेशियम, प्रोटीन, फाइबर, विटामिन सी, आयरन आदि अधिक होते हैं। इसमें डाओस्जेनिन नामक कम्पाउन्ड होता है, जो एस्ट्रोजन सेक्स हार्मोन को बढ़ाने का काम करता है। इससे मेथी सेक्सुअल समस्याओं को दूर करने के भी काम आती है। मेथी यौन जीवन को रोमांचक (Methi seeds boost sexual power) बनाती है, साथ ही यह यौन क्षमता को भी (Methi Benefits)बढ़ाती है।

मेथी के फायदे (Benefits of methi in hindi)

मेथी को मेथिका (Methika)भी बोलते हैं।मेथी के दानों (Fenugreek Seeds) से साबुन और सौंदर्य प्रसाधनों की चीजें बनाई जाती हैं।मेथी (Fenugreek Seeds benefits in hindi) में कई तरह के औषधीय गुण होते हैं, जिसके बारे में आपको शायद ही पता हो।

डाइबिटीज कंट्रोल करने में मददगार – मेथी दानों के सेवन से ब्लड में शुगर के लेवल (Blood sugar level) को कंट्रोल करने में मदद मिलती है. मेथी के दानों में मौजूद हाइपोग्लिसेमिक प्रभाव की वजह से यह हो सकता है. इसे ब्लड में शुगर की मात्रा को कम करने के लिए जाना जाता है.

कोलेस्ट्रॉल कंट्रोल करने में मददगार – मेथी के दानों में नारिंगेनिन नामक फ्लेवोनोइड होता है, जो ब्लड में लिपिड के लेवल को कम करने में मदद करता है. इसके साथ ही इसमें एंटी-ऑक्सीडेंट गुण भी पाये जाते हैं, जो बढ़े हुए कोलेस्ट्रॉल को कम करने में मदद करते हैं.

fenugreek seeds benefits and side effects
fenugreek seeds benefits and side effects

सूजन कम करने में मददगार मेथी – मेथी दानों में लिनोलेनिक और लिनोलिक एसिड काफी मात्रा में पाया जाता है. इस एसिड के पेट्रोलियम ईथर के अर्क में एंटी-इंफ्लेमेटरी एक्टिविटी पाई जाती है, जो शरीर की सूजन से निजात दिलाने में मदद करती है.

वजन कम करने में करते हैं मदद – मेथी में कई तरह के पॉलीफेनॉल्स (Polyphenols) पाए जाते हैं, जो वजन कम करने में कारगर हैं. इसके साथ ही मेथी शरीर में फैट को जमा होने से रोकने का काम भी बखूबी करती है.

जोड़ों के दर्द से देते हैं राहत – मेथी में आयरन (Iron), कैल्शियम (Calcium), फास्फोरस (Phosphorus), एंटी-इंफ्लेमेटरी (Anti-Inflammatory) और एंटी-ऑक्सीडेंट (Anti-Oxident) जैसे गुण होते हैं. जो जोड़ों के दर्द से निजात पाने में मदद करते हैं.

बालों को स्वस्थ रखे मेथी (Fenugreek for Hair) – बालों के लिए भी मेथी हेल्दी है। इसका पानी बालों में लगाने से बालों की कई समस्या दूर होती है। बाल लगातार टूट रहे हैं, तो मेथी के दाने का इस्तेमाल आप बालों में करना शुरू कर दें। बालों में मेथी का उपयोग करने के लिए दो चमच्च मेथी के दानों को पानी में डालकर उबालें।

ठंडा करके इस पानी से सिर धोएं और 10 मिनट तक रहने दें। मेथी दानों का पेस्‍ट तैयार करके गीले बालों में लगाएं। 30 मिनट के बाद ठंडे पानी से बाल धो लें।

शुगर को कम करे मेथी (Fenugreek benefits for Diabetes)- मेथी डायबिटीज को भी कंट्रोल करती है। यह डायबिटीज के मरीजों के लिए किसी वरदान से कम नहीं है। मेथी में घुलनशील फाइबर गैलाक्टोमेनन मौजूद होता है, जो रक्त में शुगर के सोखने की प्रक्रिया को कम करने में मदद करता है।

fenugreek or methi is harmful for health | methi daanaa side effects in hindi 

आमतौर पर मेथी स्वास्थ्य के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। लगभग सभी घरों में मेथी के बीज का इस्तेमाल नियमित रूप से किया जाता है। ये पोषक तत्व से भरपूर होते हैं। लेकिन जरूरत से ज्यादा कोई भी चीज का इस्तेमाल सेहत के लिए नुकसानदेह साबित हो सकता है। इसलिए मेथी के बीज का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए।

मेथी पानी कैसे बनाएं?

मेथी दाने (Fenugreek)का पानी बनाने के लिए आपको बहुत ज्यादा मेहनत करने की जरूरत नहीं. एक से डेढ़ चम्मच मेथी दानों को रात को एक गिलास साफ पानी में भिगो दें.

सुबह उठकर इस पानी को अच्छे से छान लें और फिर इसे खाली पेट पीएं. अगर आप चाहे तो मेथी दाने (Methika)को भी बाद में खा सकते हैं. सुबह खाली पेट मेथी पानी पीने से शरीर में मौजूद विषाक्त तत्व बाहर निकल जाते हैं. चूंकि मेथी (Methika) गर्म होती है, इसलिए गर्भावस्था में महिलाएं केवल डॉक्टर की सलाह पर ही इसका सेवन करें.

  • मेथी चूंकि डायबिटीज में शुगर लेवल को कंट्रोल करता है इसलिए अगर आप इसका ज्यादा सेवन करते हैं तो ब्लड शुगर काफी नीचे जा सकता है। ब्लड शुगर का ज्यादा कम होना भी डायबिटीज के मरीज के लिए खतरनाक होता है इसलिए डॉक्टर शुगर के मरीजों को जरूरत से ज्यादा मेथी के सेवन की सलाह नहीं देते।
  • गर्भवती महिलाओं को भी ज्यादा मेथी का सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि इसकी तासीर गर्म होती है और इसके ज्यादा सेवन से ब्लीडिंग की समस्या हो सकती है।
  • जो माएं बच्चों को फीड कराती हैं, उनको भी मेथी का ज्यादा सेवन करने से बचना चाहिए क्योंकि ज्यादा मेथी के सेवन से फीड करने वाले बच्चों को दस्त लग सकते हैं।
  • मेथी की तासीर गर्म होती है और अगर आप इसका ज्यादा सेवन करते हैं तो मूत्र में गर्मी उत्पन्न हो सकती है। ऐसे में जलन के साथ साथ यूरिन में दुर्गंध की परेशानी हो सकती है।
  • कई बार अधिक मात्रा में मेथी का सेवन करने से पेट से जुड़ी समस्याएं जैसे गैस, अपच आदि भी होती है। इसलिए इसका सेवन सीमित मात्रा में ही करें।
  • मेथी के बीज के ज्यादा सेवन करने से आपको एलर्जी जैसी परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है। मेथी का अधिक मात्रा में सेवन करने से त्वचा पर जलन, रैशेज हो सकती है।
fenugreek or methi benefits and side effects
fenugreek or methi benefits and side effects

FAQ :

Q : सुबह खाली पेट मेथी खाने से क्या फायदे होते हैं?

Ans : सुबह खाली पेट मेथी का पानी पीने से वजन कम करने में मदद मिलती है। यह कोलेस्ट्रॉल को काफी तेजी से कम करता है। यह एसिडिटी की प्रॉब्लम को दूर करता है, पाचन शक्ति को इम्प्रूव करता है और पेट की कई समस्याओं जैसे एसिडिटी कब्ज की प्रॉब्लम को दूर करता है। मेथी का पानी ब्लड शुगर लेवल को भी कंट्रोल करता है।

Q : मेथी दाना का पानी पीने से क्या फायदा?

Ans :मेथी का पानी एसिडिटी, कब्ज और पेट से जुड़ी समस्याओं दूर करने में मदद करता है. इसके लिए आपको रोज सुबह खाली पेट मेथी का पानी पीना होगा

Q : मेथी भिगोकर खाने से क्या फायदा होता है?

Ans : शुगर लेवल को करता है,भगोई हुई मेथी (Fenugreek) आपके बोन हेल्थ (Bone Health) के लिए बेहद फायदेमंद है

Q : मेथी कौन सी बीमारी में काम आती है?

Ans : मेथी के सेवन से ह्रदय रोग में लाभ मिलता है. पेट के रोग में मेथी के सेवन से लाभ प्राप्त होता है. मेथी के सेवन से कब्ज का इलाज किया जा सकता है. मेथी के औषधीय गुण से उल्टी रोक सकते हैं.

Q : मेथी का पानी पीने से क्या नुकसान है?

Ans : मेथी पानी के अधिक उपयोग से दस्त, मतली और पाचन तंत्र से संबंधित नुकसान हो सकते हैं। इससे कुछ लोगों को चक्कर और सिरदर्द की समस्या भी हो सकती है। अधिक मात्रा में मेथी के पानी का सेवन करने पर निम्न रक्त चाप का जोखिम उत्पन्न हो सकता है

Q : मेथी की तासीर क्या है?

Ans : मेथी की तासीर बेहद गर्म होती है।

Q : मेथी दाना कितने दिन खाना चाहिए?

Ans : मेथी दाना लगातार सिर्फ 7 दिन खाना चाहिए।

Q : मेथी का पानी कैसे बनाते हैं?

Ans : मेथी के बीज का पानी-
इस उपाय में आप 1 चम्मच मेथी दाने को पैन में बिना तेल के हल्का सा फ्राई कर लें और फिर ब्लेंडर में डालकर उसका पाउडर बना लें। 1 गिलास गर्म पानी में 1 चम्मच मेथी का पाउडर डालें, मिक्स करें और हर सुबह खाली पेट इस पानी को पिएं।

Q : शुगर में मेथी का पानी कैसे पिए?

Ans : रात को एक चम्मच मेथी पानी में भिगोकर रख दें और सुबह खाली पेट इसका पानी पिएं. पानी पीने के बाद मेथी दानों को भी चबाकर खा लें. इसके 30 मिनट बाद आप नाश्ता कर सकते हैं. डायबिटीज के मरीजों के लिए मेथी दाने का सेवन फायदेमंद है

Q : क्या मेथी का पानी त्वचा के लिए अच्छा है?

Ans : हां, मेथी का पानी त्वचा के लिए लाभकारी हो सकता है। एक शोध में जिक्र मिलता है कि इसके इस्तेमाल से झुर्रियां, ब्लैकहेड्स, पिंपल्स, ड्राईनेस और रैशेज जैसे त्वचा संबंधी समस्याओं से बचाव में मदद हो सकती है

Q : क्या वजन बढ़ाने के लिए मेथी का पानी अच्छा है?

Ans :मेथी के पानी का उपयोग वजन कम करने के लिए जाना जाता है, लेकिन इसका इस्तेमाल वजन को बढ़ाने के लिए भी किया जा सकता है। दरअसल, एक शोध में इस बात का जिक्र मिलता है कि मेथी के बीज का सेवन भूख न लगने की समस्या को ठीक करने में सहायक हो सकता है। इस तरह मेथी के पानी का सेवन भूख को बेहतर कर काफी हद तक वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है।

सावधानी
मेथी दाने की तासीर गर्म होती है, इसलिए इसके अत्यधिक सेवन से यह त्वचा को नुकसान पहुंच सकती है. यदि आपको सेक्स से संबंधित समस्या है, तो मेथी का इस्तेमाल अपने खानपान में जरूर करें। इसे सब्जी में डाल सकते हैं.

Leave a Reply