Figs health benefits | Anjeer ke fayde in hindi |अंजीर के नुकसान | Side Effects of Figs | अंजीर खाने फायदे

हेल्थ
Health Benefits of Figs
Health Benefits of Figs

अंजीर खाने के हैं ये फायदे

अंजीर मध्यसागरीय क्षेत्र और दक्षिण पश्चिम एशियाई मूल की एक पर्णपाती झाड़ी नुमा छोटे पेड़ होते है इसका Scientific name: Ficus Carica है।

अंजीर के पेड़ की लंबाई 3 – 10 फुट तक हो सकती है। अंजीर अपने सौंदर्य एवं स्वाद के लिए प्रसिद्ध अंजीर एक स्वादिष्ट, स्वास्थ्यवर्धक और बहुउपयोगी फल है।

Advertisement

आजकल इसकी पैदावार ईरान, मध्य एशिया और अब भूमध्यसागरीय देशों में भी होने लगी है। इसकी खेती गर्म जलवायु में की जाती है। यह फल रसीला और गूदेदार होता है। इसका रंग गहरा सुनहरा या गहरा बैंगनी हो सकता है।

अंजीर फाइकस (Ficus) फैमिली का फल होता है। ताजा अंजीर जल्दी खराब हो जाता है, इसलिए लंबे वक्त तक उसे इस्तेमाल योग्य रखने के लिए अंजीर को सुखा दिया जाता है। ड्राई अंजीर का इस्तेमाल सालों भर किया जा सकता है।

ऐसा मन जाता है की अंजीर की अनेको प्रजातियां हैं. दुनिया भर में लगभग 750 प्रकार के अंजीर के पेड़ पाए जाते हैं। 

आम अंजीर का पेड़ (Ficus carica) घर के बागवानों के लिए अंजीर की सबसे लोकप्रिय प्रजाति है क्योंकि इसके फूलों को अंजीर की पैदावार के लिए परागण की आवश्यकता नहीं होती है।

अंजीर की अन्य प्रजातियां या तो खाने योग्य फल नहीं देती हैं या उनमें बहुत विशिष्ट परागण की आवश्यकताएं होती हैं (जैसे कि एक निश्चित प्रकार के ततैया द्वारा परागित होने की आवश्यकता), जिससे उन्हें घर के बागवानों को उगाने में बहुत परेशानी होती है।

प्राचीन यूनान में यह फल व्यापारिक दृष्टि से इतना अधिक महत्त्वपूर्ण था की इसके निर्यात पर पाबंदी थी। आज विश्व का सबसे पुराना अंजीर का पेड़ सिसली के एक बगीचे में है।

कहा जाता है की अंजीर को ग्रीसवासियों ने कैरिया (एशिया माइनर का एक प्रदेश) से प्राप्त किया था। इसलिए इसकी जाति का नाम कैरिका पड़ा।

रोम के निवासी इस वृक्ष को भविष्य की समृद्धि का चिह्न मानकर इसका आदर करते थे। स्पेन, अल्जीरिया, इटली, तुर्की, पुर्तगाल तथा ग्रीस आदि में इसकी खेती व्यावसायिक स्तर पर की जाती है। इस बात पर कोई शक नहीं की यह वृक्ष आदिकाल के वृक्षों में से एक है और प्राचीन समय के सभी व्यक्तियों के द्वारा इसे बहुत पसंद किया जाता है।

अंजीर एक मात्र ऐसा फल है जिसे बच्चे, बूढ़े या किसी भी बीमारी से ग्रसित व्यक्ति आसानी से खा सकता है। यह एक हेल्थ सप्लीमेंट है, हम एक दिन में जितना जनक फ़ूड कहते है। उतना अंजीर खाये तो सायद हमें डॉक्टर की आवश्यकता ना पड़े।

अंजीर खाने के हैं ये फायदे Figs health benefits Anjeer ke fayde in hindi 

बालों का झड़ना कम होता है

अंजीर में कैल्शियम, पोटेशियम, विटामिन ए, सी और आयरन पर्याप्त मात्रा में होते हैं। यहीं कारण है कि अंजीर का सेवन करने से बाल जड़ों से मजबूत बनते हैं।

त्वचा को खूबसूरत बनाता है

अंजीर में विटामिन सी आदि कई एंटी-ऑक्सीडेंट्स होते हैं जो कि त्वचा को हाइड्रेट रखते हैं।

100 ग्राम अंजीर (FIGS) में क्या-क्या मिलता है?

अंजीर में विटामिन A, विटामिन C, विटामिन K और विटामिन B के साथ-साथ पोटैशियम, मैग्नीशियम, जिंक, कॉपर, मैंगनीज और आयरन मौजूद होता है।

Nutritional Value of Figs

100 ग्राम ड्राई अंजीर में 209 कैलोरी, 3.3 ग्राम प्रोटीन, 1.5 ग्राम फैट, 48.6 ग्राम कार्बोहाइड्रेट, 9.2 ग्राम फाइबर प्राप्त होता है। वहीं, 100 ग्राम फ्रेश अंजीर से हमें 43 कैलोरी, 1.3 ग्राम प्रोटीन, 0.3 ग्राम फैट, 9.5 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 2 ग्राम फाइबर मिलता है।

Figs for Babies अंजीर हम 6 माह से ऊपर के बच्चो को भी दे सकते है।

बच्चों के लिए रोज़ाना एक ही तरह का खाना खिलाने से हमे यह चिंता सताने लगती है इस भोजन से बच्चे या शिशु को सभी पोषक तत्व मिल भी रहे है या नहीं ? और यह सवाल हर माता पिता के दिमाग में आता है।

आमतौर पर माता-पिता बाज़ार में उपलब्ध प्रोडक्ट को चुनते है। अगर आप इन उत्पादों के के बारे में ध्यान से पढ़ेंगे तो केवल कुछ मानव निर्मित flavors और शुगर के अलावा उनमे कुछ भी नहीं होता। और यह सब जानकारी आपके उत्पाद पर साफ़ तोर पर लिखी भी होती है।

6 माह तक बच्चा माँ के दूध पर ही निर्भर रहता है। परन्तु बाद में उसे अन्य पौष्टिक आहार के साथ अंजीर दे सकते है। लेकिन बच्चे को अंजीर देने से पहले आप इस बात को सुनिश्चित करें कि क्या आपका बच्चा अन्य खाद्य पदार्थों को देने पर सहज महसूस करता है अगर हां तो तभी अंजीर दे।

अंजीर, संयोग से, सबसे अच्छे स्वास्थ्य पूरक में से एक है जो आप अपने बच्चे को दे सकते हैं – इसमें बहुत सारे आवश्यक पोषक तत्व और खनिज होते हैं जो आपके बच्चे को अच्छी तरह से बढ़ने में मदद कर सकते हैं।

अंजीर एक एंटीमाइक्रोबियल एजेंट भी है, जो (Healthy Fig Recipes for Babies) बच्चे की इम्युनिटी सिस्टम को मजबूत करने में मदद करता है। यह बच्चे के पाचन तंत्र के लिए भी बहुत फायदेमंद होता है। 

क्या गर्भावस्था में अंजीर खाना सुरक्षित है? (is eating anjeer safe during pregnancy?)

गर्भावस्था में सीमित मात्रा में अंजीर खाना सुरक्षित है। इस दौरान अंजीर के नुकसान कम हैं, लेकिन अगर गर्भवती महिला किसी गंभीर स्वास्थ्य समस्या से जूझ रही है या एलर्जी के प्रति संवेदनशील है, तो उसे डॉक्टर से सलाह लेकर ही अंजीर का सेवन करना चाहिए

शिशुओं के लिए अंजीर कैसे तैयार करें? (How to Prepare figs for Babies?)

बच्चे की उम्र पर निर्भर करता है और क्या वह ठोस खाद्य पदार्थों के लिए उपयोग किया जाता है, आपके पास चुनने के लिए विभिन्न प्रकार के व्यंजनों हैं। शिशुओं के लिए अंजीर सिरप के रूप में इसे तरल रूप में देना बेहतर होगा।

Ingredients | Method

यह बनाने में काफी आसान है। सबसे पहले दो ताजा अंजीर को छोटे टुकड़ों में काट लें। फिर, उन्हें केवल एक ब्लेंडर में मिलाएं जब तक कि प्यूरी चिकनी न हो। आप इसे अपने बच्चे के लिए खाने में आसान बनाने के लिए इसे दलिया में भी शामिल कर सकते हैं।

Nutritional value of 100 gram of figs.

Nutritional ComponentValue per 100 g
Water79.1 g
Calories74
Protein0.7 g
Total Lipid (fat)0.3 g
Carbohydrates19.2 g
Dietary fibre2.9 g
Vitamin C2 mg
Riboflavin0.1 mg
Vitamin B60.1 mg
Vitamin A4 ug
Thiamin0.1 mg
Niacin0.3 mg
Folate6 ug
Vitamin E0.1 mg
Vitamin K4.7 ug
Calcium35 mg
Iron0.4 mg
Magnesium17 mg
Phosphorous14 mg
Potassium232 mg
Sodium1 mg
Zinc0.2 mg

अंजीर बहुत सारे पोषक तत्व के साथ -साथ अच्छी मात्रा में फाइबर भी प्रदान करता है।

How to Choose and store figs?

अंजीर की गुणवत्ता (अच्छे है या बुरे) को कैसे पहचाने और कैसे स्टोर करें ?जब ताजा अंजीर चुने तो ध्यान दे कि यह बाहर से खराब या सड़ा हुआ या कटा हुआ नहीं होना चाहिए। अंजीर अच्छे ब्रांड का लें जिसकी पैकेजिंग भी अच्छी की गई हो।

जब अंजीर ताजा होता है तो इसे लगभग पांच दिनों तक बाहर रखा जा सकता है और फ्रिज में एक सप्ताह तक रखा जा सकता हैं। इसे फ्रिज में या फिर सूखी जगह में स्टोर करके रखे।

अंजीर के नुकसान – Side Effects of Figs

अधिक मात्रा में अंजीर का सेवन नुकसान भी कर सकता है जो इस प्रकार है –

  • अंजीर का सेवन संतुलित मात्रा में करना चाहिए, नहीं तो इसमें मौजूद शुगर मोटापे का कारण बन सकती है।
  • संवेदनशील त्वचा वाले व्यक्तियों को अंजीर के पत्तों से कभी-कभी जलन और खुजली की समस्या हो सकती है। इसमें मौजूद फ्यूरोकोमोरिंस नामक तत्व त्वचा समस्याओं का कारण बन सकता है ।अंजीर खाने से एलर्जी भी हो सकती है, 
  • उच्च रक्तचाप वालों को अंजीर खाने की सलाह दी जाती है, ताकि ब्लड ग्लूकोज व इंसुलिन की मात्रा संतुलित रह सके। इसलिए, कम रक्तचाप वालों को इसका सेवन डॉक्टर से पूछकर करना चाहिए, वरना उनका रक्तचाप और कम हो सकता है।
  • अंजीर का सेवन करने से पहले एक बार अपने डॉक्टर से जरूर पूछ लें।

Leave a Reply