इंस्टेंट कॉफी और फ़िल्टर कॉफी में क्या अंतर होता है ।Filter coffee & Instant coffee

हेल्थ
Filter coffee & Instant coffee
Advertisement
Filter coffee & Instant coffee

इंस्टेंट कॉफी और फ़िल्टर कॉफी में क्या अंतर होता है। Filter coffee & Instant coffee : instant or filter coffee which one is better you must know these facts

Filter coffee & Instant coffee : जब भी बात कॉफी की होती है, तो फिल्टर और इंस्टेंट कॉफी की जरूर बात होती है। चाय की तरह ही कॉफी भी कई तरह की होती है। कॉफी के शौकीनों में अक्सर यह बात होती  

इंस्टेंट कॉफ़ी सामान्य रूप से एक कॉफ़ी है जो पहले से ही बनाई गई है इसे घुलनशील कॉफी , कॉफी क्रिस्टल और कॉफी पाउडर भी कहा जाता है इंस्टेंट कॉफी एक प्री-ग्राउंड कॉफी है जिसे एक तरह के कॉफी सॉल्यूशन में बदल दिया गया है जो पूरी सुखाने की प्रक्रिया से गुजरता है। इस कॉफी के दानों (कॉफी बीन्स) से प्राप्त एक पेय है

इंस्टेंट कॉफी बनाने के लिए आपको बस इतना करना है कि थोड़ा पानी उबालें, या दूध उबालें और अपने कप में थोड़ी सी कॉफी डालें और उबलता हुआ पानी या दूध डालें और इस तरह आपकी कॉफी तैयार हो जाएगी। इंस्टेंट कॉफी व्यावसायिक रूप से या तो फ्रीज-ड्रायिंग या स्प्रे ड्रायिंग द्वारा तैयार की जाती है ,

यह भी पढ़े : सबसे महंगी कॉफी Kopi luwak तैयार के विधि जानकर हो जायेगे हैरान

जिसके बाद इसे रीहाइड्रेट किया जा सकता है। इंस्टेंट कॉफी के बारे में एक और खास बात यह है कि इसे बनाते समय किसी तरह की कोई अतिरिक्त चीज नहीं बचती। इंस्टेंट कॉफी सबसे सुविधाजनक है क्योंकि यह वास्तव में एक कप में घुल जाता है इंस्टेंट कॉफी में ताजे कॉफी की प्रचुरता नहीं होती है और इसमें कैफीन की मात्रा भी कम होती है।

इंस्टेंट कॉफी रेसिपी

  • कितने लोगों के लिए: 1
  • तैयारी का समय: 05 मिनट
  • पकने का समय: 05 मिनट
  • कुल समय: 10 मिनट

इंस्टेंट कॉफी की सामग्री

कॉफी पाउडर
पानी
दूध
चीनी

इंस्टेंट कॉफी बनाने की वि​धि

  • एक कप गर्म पानी में या फिर एक कप पानी और दूध के मिश्रण में कॉफी पाउडर मिला लें।
  • अपनी इच्छानुसार चीनी डालकर सर्व करें।
  • आपकी इंस्टेंट कॉफी तैयार

यह भी पढ़े : कॉफी पीने के फायदे

ताजगी से भरपूर और हल्दी होती है फिल्टर कॉफी

इस कॉफी को ताज़ा या भुनी हुई कॉफी बीन्स के साथ तैयार किया जाता है, यह कॉफी स्वाद और सुगंध के लिए जानी जाती है इसे फिल्टर कापी या डिग्री कॉफी भी कहते है। जिन्हें पहले जमीन पर उगाया जाता है और फिर इस्तेमाल किया जाता है। पूरी प्रक्रिया में कम से कम कुछ मिनटों और कुछ विशेष कॉफी उपकरणों की आवश्यकता होती है, जिसके बिना फिल्टर कॉफी तैयार करना मुश्किल है।

यह प्रक्रिया मुश्किल होने के साथ महंगी भी है, साथ ही लंबी भी । वहीं, जब स्वाद की बात आती है, तो फिल्टर कॉफी, इंस्टेंट कॉफी की तुलना में थोड़ी हल्की और ताजगी का अनुभव कराती है। ऐसा इसलिए है क्योंकि कॉफी बीन्स आमतौर पर उच्च गुणवत्ता के होते हैं कैफीन की सामग्री एक फिल्टर या ताजी कॉफी में स्वाभाविक रूप से अधिक होती है क्योंकि इसका ग्राउंडिंग प्रोसेस बहुत लम्बा है। इस कॉफी में हाइ क्वालिटी बीन्स यानी रोबस्टा बीन्स इस्तेमाल किए जाते है।

यह भी पढ़े :Tea and Coffee: चाय और कॉफी में सबसे अच्छा क्या है

Leave a Reply