Foods for women: 20 साल की उम्र से हर महिला को खाने चाहिए ये फूड

हेल्थ

20 साल की उम्र से हर महिला को खाने चाहिए ये फूड 

Foods for women: महिलाओं का स्वास्थ्य ज्यादा संवेदनशील होता है. जिसके कारण शरीर की जरूरत भी बदलती रहती है और कुछ बीमारियों का खतरा भी बढ़ जाता है. घर में ‘क्या बनेगा’ से लेकर ‘कहां क्या रखा जाएगा’ तक कि हर जिम्मेदारी महिलाएं संभालती हैं. वहीं, बदलते माहौल में महिलाएं कामकाजी भी हो रही हैं. इन सभी जिम्मेदारियों के बीच वह अपनी सेहत पर ध्यान देना बिल्कुल भूल जाती हैं.

Advertisement

लेकिन, अगर आप एक्सपर्ट (डाइटिशियन ) से जानेंगे तो वो कहेंगे कि महिलाओं को 20 की उम्र के बाद मानसिक और शारीरिक रूप (मेंटल, फिजिकल और हॉर्मोनल चेंज ) से कई बदलावों का सामना करना पड़ता है. इसलिए उन्हें अपनी सेहत पर ज्यादा ध्यान देना चाहिए. महिलाओं को 20 साल की उम्र के बाद कुछ खास फूड्स (Foods for women) को अपनी डाइट (healthy diet for woman) में शामिल करना चाहिए. जिससे वह आशंकित खतरों से बचकर रह सकती हैं.

ये भी पढ़ें: women health : यहां जानें कुछ हर्ब्स जो महिलाओं की इम्युनिटी को बूस्ट करेंगे

ब्राउन यूनिवर्सिटी की एक स्टडी के मुताबिक, टीनेजर्स के मुकाबले 20 की उम्र में लोग 25 फीसदी ज्यादा फास्ट फूड खाते हैं. इससे उनकी सेहत पर बुरा असर पड़ रहा है.फास्ट फूड बदले 20 की उम्र के बाद महिलाओं के लिए जरूरी फूड्स (Healthy foods for women)

महिलाओं का स्वास्थ्य (Foods for women) अधिक संवेदनशील होता है. क्योंकि, उनमें जिंदगी के विभिन्न पड़ावों पर हॉर्मोनल चेंज होते रहते हैं. जो कि सीधे तौर पर उनकी सेहत को प्रभावित करते हैं. महिलाओं को 20 साल की उम्र के बाद निम्नलिखित फूड्स का सेवन करना चाहिए.

प्रोटीन- एक हालिया स्टडी की रिपोर्ट में बताया गया है कि शरीर को एक दिन में लगभग 60 से 70 ग्राम प्रोटीन की जरूरत होती है. प्रोटीन शरीर के विकास और सेहत सेहतमंद रखने के लिए बेहद जरूरी होता है. हेल्थ एक्सपर्ट 20 की उम्र के लोगों को ज्यादा से ज्यादा व्हाइट मीट, अंडा, बींस, दूध का सेवन करने की सलाह देते है. ये भी पढ़ें:  A1 और A2 दूध में अंतर

foods for female: दूध – महिलाओं को दूध का सेवन नियमित रूप से करना चाहिए. क्योंकि उनकी हड्डियों के कमजोर होने का खतरा काफी ज्यादा होता है. दूध में कैल्शियम, प्रोटीन, विटामिन डी आदि पोषक तत्व मौजूद होते हैं.


healthy foods: संतरे का जूस – 20 की उम्र के बाद पीरियड्स और हॉर्मोनल बदलाव के साथ पर्सनल लाइफ में भी कई बदलाव आते हैं. जिसके लिए खुद को मानसिक व शारीरिक रूप से तैयार करना बहुत जरूरी है. महिलाओं को संतरे का जूस पीना चाहिए. जो कि ना सिर्फ ऊर्जा प्रदान करेगा. बल्कि उसमें मौजूद विटामिन-सी बालों, त्वचा और इम्यून सिस्टम (immunity booster foods) को भी मजबूत रखेगा.

ये भी पढ़ें: Green Vegetables : हरी सब्जियां खाने से क्या लाभ है

महिलाओं के लिए फूड: टमाटर – महिलाओं को 20 की उम्र के बाद डाइट में टमाटर को मुख्य रूप से शामिल करना चाहिए. क्योंकि इसमें लाइकोपीन नामक तत्व होता है. यह तत्व ब्रेस्ट कैंसर से सुरक्षा प्रदान करने में सहायक माना गया है. वहीं, टमाटर त्वचा को जवान रखने के लिए भी जाना जाता है.

Diet for women: सोयाबीन – महिलाओं को सोयाबीन का सेवन भी करना चाहिए. जो कि शरीर को प्रोटीन (protein foods), आयरन और विटामिन-बी प्रदान करता है. महिलाओं के लिए आयरन काफी जरूरी है. क्योंकि उनमें आयरन की कमी के कारण होने वाले एनीमिया (Anemia) का खतरा ज्यादा होता है.

महिलाओं की डाइट- ड्राई फ्रूट्स – संपूर्ण स्वास्थ्य (Foods for women) को सही रखने के लिए महिलाओं के लिए ड्राई फ्रूट्स का सेवन काफी महत्वपूर्ण है. जिससे प्रोटीन, फाइबर, आयरन, ओमेगा-3, हेल्दी फैट्स आदि प्राप्त किए जा सकते हैं. महिलाओं को बादाम, अखरोट, किशमिश, अंजीर का सेवन जरूर करना चाहिए

प्रतिदिन 3 से 4 लीटर पानी पिएं – प्रतिदिन 3 से 4 लीटर पानी जरूर पिएं। लेकिन अगर सेहत को लेकर ज्‍यादा सतर्क रहना चाहते हैं तो अपने कुल वजन को 16 से भाग कीजिए और उतना पानी रोज पीजिए। उदाहरण के तौर पर अगर आपका वजन 60 किलो हैं तो आपको रोज 3.75 लीटर पानी पीना चाहिए

ये भी पढ़ें: Mahatma Gandhi Jayanti: क्या सच में महात्मा गांधी इस जानवर का दूध पीते थे,मिलते हैं कमाल के फायदे

पौष्टिक आहार – दिन की शुरुआत पौष्टिक आहार के साथ करें। आप शरीर में ऊर्जा महसूस करेंगे। बहुत कम लोग जानते हैं कि हैवी ब्रेकफास्‍ट वजन कम करने में मददगार होता है। सुबह आप पोहा, केला, दलिया और दूध भी ले सकते हैं।

समय पर भोजन – आप चाहे कितना ही व्‍यस्‍त क्‍यों न हों, पर समय पर भोजन करना न भूलें। ऐसा करने से आपकी पाचन शक्ति कमजोर हो जाती है। इसके अलावा यह भी ध्‍यान रखें कि एक जैसा न खाना रोज न खाएं। भोजन में वैरायटी जरूर रखें।

पोटेशियम – दिल और मांसपेशियों के सही तरह से काम करने के लिए पोटेशियम बेहद जरूरी होता है. लेकिन अधकितर 20 की उम्र की महिलाओं में पोटेशियम की कमी देखी जाती है. इसके लिए रोजाना अपने खाने में फल और सब्जियों का इस्तेमाल करें.

ओमेगा-3 -ओमेगा-3- ये दिमाग में पाए जाने वाले केमिकल सेरोटोनिन के स्तर को बढ़ाता है. सेरोटोनिन केमिकल हमें अच्छा महसूस कराने का काम करता है. ये हमारे मूड को खुशहाल कर हमें डिप्रेशन से बचाता है.

कच्ची गाजर खाएं- रोजाना दही कुछ अखरोट के साथ खाएं. किशमिश का अधिक सेवन करें. 6 सूखी खुबानी 2 चम्मच सूरजमुखी के बीज के साथ खाएं. कच्ची गाजर का अधिक सेवन करें. दूध, पनीर भी अपनी डाइट में शामिल करें.

ये भी पढ़ें: डेंगू बुखार के कारण, लक्षण एवम घरेलु उपचार

30 की उम्र के अधिकतर लोग जॉब, फैमिली की जिम्मेदारियों में इतने उलझ जाते हैं कि वो अपनी सेहत पर ध्यान ही नहीं देते हैं. ऐसा करने से लोगों की सेहत पर बुरा असर पड़ता है और शरीर में धीरे-धीरे कमजोरी बढ़ने लगती है. जल्दी थकान महसूस होने लगती है. इससे बचने के लिए 30 की उम्र में इन न्यूट्रिएंट्स को अपनी डाइट (Foods for women) में जरूर शामिल करें.

हर महिला को खाने चाहिए ये फूड
हर महिला को खाने चाहिए ये फूड

फोलेट- डाइट में फोलेट शामिल करने से दिल की बीमारी का खतरा कम हो जाता है. पालक,  ब्रोकली, अवोकेडो, संतरा, साबुत अनाज का सेवन फायदेमंद होता है.रोज एक्सरसाइज और योग करें – अपनी पसंद के नियमित एक्सरसाइज और योग के साथ शारीरिक रूप से एक्टिव रहें. महिलाएं चाहें तो जुम्बा, वॉकिंग, एरोबिक्स, स्विमिंग, जॉगिंग की प्रैक्टिस भी कर सकती हैं. इससे जीवन की गुणवत्ता में सुधार करने और रोग मुक्त रहने में मदद मिलती है

हेल्थ टेस्ट करना न भूलें – अगर आप एक्सरसाइज कर रही हैं और अपने डाइट का भी ध्यान रख रही हैं, फिर भी यह सुनिश्चित करने के लिए हेल्थ टेस्ट के लिए जाना ज़रूरी है कि आपके सभी अंग ठीक से काम कर रहे हैं या नहीं. कुछ सामान्य टेस्ट जैसे ब्लड प्रेशर, थायरॉइड, ब्लड शुगर और कोलेस्ट्रॉल लेवल बार बार चेक करना जरूरी है. आपको नियमित रूप से आंख, स्किन, दांत, मैमोग्राम और श्रोणि टेस्ट के लिए भी जाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: Lady Finger For Eyes :आंख की रोशनी बढ़ाने के लिए भी फायदेमंद है भिंडी, डाइट में इस तरह करें शामिल

हड्डियों और मांसपेशियों को रखें मजबूत –  महिलाएं ऑस्टियोपेनिया (हड्डी का कमजोर होना लेकिन फिर भी सामान्य सीमा के भीतर) और ऑस्टियोपोरोसिस (हड्डी की मजबूती से पैथोलॉजिकल लेवल का कम होना) से पीड़ित हो सकती हैं. बाद के जीवन में ये स्थितियां फ्रैक्चर का कारण भी बन सकती हैं. किसी भी जटिलता से बचने के लिए, कैल्शियम का नियमित रूप से सेवन करें. मैनोपॉज के बाद, महिलाओं को इस स्थिति के लिए और भी अधिक जोखिम होता है. कैल्शियम और विटामिन डी से भरपूर चीजों का सेवन जरूर करें.

तनाव मुक्त रहें – आप काम, परिवार और अन्य जिम्मेदारियों को संभालने से तनाव में हो सकती हैं. एक ही समय में सब कुछ मैनेज करना आपको तनाव दे सकता है. तनाव कई स्वास्थ्य समस्याओं के साथ जुड़ा हुआ होता है. आप योग और मेडिटेशन की मदद से तनाव को दूर करने की कोशिश जरूर करें.

अगर आपको यह पोस्ट (Foods for women) अच्छी लगे तो इसे अन्य लोगो को share करे साथ ही ऐसी ही जानकारियों के लिए आप मेरे sangeetaspen youtube chanle और sangeetaspen.com blog को भी subscribe, like,comment and share करे
धन्यवाद

Leave a Reply