Gunjan Dangwal passed away | Gunjan Dangwal death car accident | music world death of gunjan dangwal | gunjan dangwal songs

हेल्थ
gunjan dangwal songs
gunjan dangwal songs

Gunjan Dangwal passed away | Gunjan Dangwal death car accident | music world death of gunjan dangwal | gunjan dangwal songs | संगीतकार गुंजन डंगवाल

Gunjan Dangwal : उत्तराखंड संगीत इंडस्ट्री के उभरते हुए युवा गायक एवं संगीत निर्देशक एवं रिद्म की स्टाइल को नया स्वरूप प्रदान करने के लिए पहचाने जाने वाले संगीतकार गुंजन डंगवाल (Gunjan Dangwal)

Advertisement
का 25 साल (25 years) की उम्र में चंडीगढ़ के पास पंचकूला में एक गंभीर सड़क हादसे में बीती रात निधन (Gunjan Dangwal passed away) हो गया है.

गुंजन डंगवाल (Gunjan Dangwal)ने लोकगीतों की आत्मा बचाए रखने के साथ ही उन्हें नया स्वरूप प्रदान करने की सफल कोशिश की। कुछ समय पहले ही उनका गीत द्यौ लागी रिलीज हुआ था, जिसे सोशल मीडिया पर खूब प्यार मिला। गुंजन डंगवाल, सुभाष पांडेय, विवेक नौटियाल की जोड़ी एक बार फिर जादू जगाने में कामयाब रही। लेकिन किसे पता था कि ये गीत गुंजन डंगवाल का आखिरी गीत बन जाएगा। उनका अचानक चले जाना उत्तराखंड के संगीत जगत के लिए बड़ा झटका है।

गुंजन डंगवाल (Gunjan Dangwal) बीती रात को देहरादून से चंडीगढ़ अपने किसी करीबी मित्र से मिलने जा रहे थे, उससे पहले ही पंचकूला के पास ही गुंजन डंगवाल की कार गंभीर रुप से दुर्घटनाग्रस्त हो गई.यह हादसा तड़के चार से पांच बजे के बीच हुआ। वह रात के समय चंडीगढ़ के लिए देहरादून के बंजारावाला स्थित टिहरी विस्थापित कॉलोनी के अपने घर से रवाना हुए थे,

जिस दोस्त के पास उन्हें जाना था। उसने गुंजन (Gunjan Dangwal)के समय पर न पहुंचने पर गुंजन के मोबाइल में बीस से पच्चीस कॉल किए। इसके बाद उन्होंने पुलिस से संपर्क किया। बताया जा रहा है कि वह अपनी स्विफ्ट कार में सवार थे और दुर्घटना के वक्त अकेले ही थे

गुंजन का जन्म स्थान

गुंजन डंगवाल का जन्म 4 सितंबर 1996 को टिहरी गढ़वाल के अखोडी गावं में श्री कैलाश डंगवाल के घर में हुआ, गुंजन के पिता कैलाश डंगवाल शिक्षक हैं और माता श्रीमती सुनीता डंगवाल भी शिक्षिका हैं, गुंजन का एक छोटा भाई है श्रीजन डंगवाल जो अभी निर्देशक के तौर पर अपना करियर बना रहे हैं।

गुंजन की शिक्षा

गुंजन की प्रारंभिक शिक्षा दीक्षा नई टिहरी से ही हुई और हाईस्कूल की परीक्षा नई टिहरी के कान्वेंट स्कूल से पास की, इसके बाद इंटरमीडिएट की परीक्षा दिल्ली के मॉडर्न स्कूल से पास की। पेशे से संगीतकार गुंजन डंगवाल ने गोविन्द बल्लभ पंत इंजीनियरिंग कॉलेज घुड़दौड़ी से इलेक्ट्रिकल से बीटेक भी किया है साथ ही संगीत विषारद की डिग्री भी हासिल की है

गुंजन का बचपन

गुंजन का संगीत सफर काफी शानदार रहा है, बचपन से ही गुंजन को संगीत से ख़ास लगाव रहा है, अपने स्कूली दिनों से ही गुंजन सांस्कृतिक कार्यक्रमों में बढ़ चढ़कर हिस्सा लेते थे, कभी डांस तो कभी गाकर कार्यक्रमों में हिस्सा लेते थे।धीरे धीरे ये सफर चलता रहा और गुंजन का हाथ वाद्य यंत्रों में सधने लगा और उन्हें संगीत में रूचि आने लगी,

एक बार गुंजन के पिताजी ने स्कूल के बच्चों की एल्बम निकालने की सोची तो इसमें गुंजन ने भी एक गीत में अपनी आवाज दी और तब से गुंजन का ये सफर शुरू होने लगा,इस एल्बम में संगीतकार थे सुमंत पंवार जिन्हें गुंजन अपना गुरु भी मानते हैं और उन्ही से इन्होने संगीत की शिक्षा ली।

Gunjan Dangwal passed away
Gunjan Dangwal passed away

बारहवीं के बाद क्या किया

गुंजन के माता पिता दोनों ही शिक्षक हैं और जाहिर सी बात है गुंजन को अपना करियर म्यूजिक में बनाने में इतनी आसानी तो होती नहीं, हर अभिभावक की तरह ही गुंजन के माता पिता चाहते थे कि गुंजन भी पढ़ लिख कर किसी प्रतिष्ठित पद पर तैनात हो लेकिन किस्मत को कुछ और ही मंजूर था, गुंजन ने अपनी बारहवीं की पढ़ाई के दौरान जेईई की परीक्षा भी दी और जमकर पढाई में लग गए लेकिन उनके दिल में तो संगीत बस चुका था और पढाई में मन लगना कम हो गया।

गुंजन के माता पिता गुंजन को लेकर परेशान होने लगे कि इसके करियर का क्या होगा और आगे चलकर जीवन में ये क्या करेगा। फिर घरवालों ने एक बेहतरीन करियर को चुना और गुंजन का दाखिला घुड़दौड़ी स्थित गोविन्द बल्लभ पंत इंजनियरिंग कॉलेज में करवा दिया, शुरुआत में तो सब ठीक रहा लेकिन यहाँ भी गुंजन का पढ़ाई में मन नहीं लगा यहाँ भी गुंजन का ध्यान संगीत की तरफ ही ज्यादा रहा, कॉलेज के दिनों में गुंजन हॉस्टल में रहते थे और अपने हॉस्टल के दोस्तों को पकड़कर उनसे गाने गवाते थे और खुद उनमें अपने लैपटॉप से ही म्यूजिक देते थे,

इसी दौरान गुंजन की मुलाकात अमित सागर से हुई और उन्होंने रांझणा गीत पर म्यूजिक देने की बात कही, गुंजन ने म्यूजिक दे दिया लेकिन ये इतना ख़ास चला नहीं, फिर गुंजन और अमित सागर ने ”चैता की चैत्वाली” पर काम करना शुरू कर दिया और ये गीत अमित सागर के चैनल से रिलीज़ किया गया शुरुआत में तो गीत पर कोई रिस्पॉन्स नहीं मिला लेकिन जब चैत्वाली चल पड़ा तो आज ये गीत इतिहास रच रहा है, इसी गीत ने गुंजन को एक संगीतकार के रूप में उत्तराखंड संगीत जगत में पहचान दिलाई।

गुंजन डंगवाल (Gunjan Dangwal) से जुड़ी कुछ खास बातें

गुंजन डंगवाल (Gunjan Dangwal)की गिनती उत्तराखंड (Uttrakhand) के प्रसिद्ध संगीतकारों में होती थी, उनका पहला ही गीत बेहद सुपरहिट रहा, अनोखी संगीत कला के बदौलत गुंजन बेहद कम समय में अपनी कड़ी मेहनत और लगन से इंडस्ट्री में एक बहुत बड़ा नाम बन गए थे,

टिहरी गढ़वाल के अखोडी गांव में जन्में गुंजन डंगवाल (Gunjan Dangwal)ने अपने इस सफलता के सफर में बेहद उताव चढ़ाव देखे, लेकिन कभी हार ना मानने की जिद उन्हें इतने कामयाबी के शिखर में लाई की उसके बाद उन्होंने पीछे नहीं देखा, गुंजन के कई गीत सुपरहिट रहे, हर गीत में जान झोंकने वाले गुंजन (Gunjan Dangwal)के हर गीतों को दर्शकों ने बेहद पसंद किया.

Gunjan Dangwal Songs | गुंजन के सुपरहिट गीत

गुंजन डंगवाल भले ही अब हमारे बीच नहीं रहे, लेकिन उनके गीत हमेशा उत्तराखंड के संगीत जगत का हिस्सा रहेंगे।

गायक के तौर पर: नंदू मामा की स्याली, चन्द्रमा सूरज, बाली ज्वानी का सुपिन्या, गंजयाली ।

  • Nandu Mama ki syali
  • Chanderma Suraj
  • Bali Jawani Ka Supniya
  • Ganjyali

संगीतकार के तौर पर: चैता की चैत्वाली, भग्यानी बौ, भामा मेरी।

  • Chaita Ki Chaitwal
  • Bhagyani Bou
  • BHAMA MERI

गुंजन (Gunjan Dangwal)हाल ही में पहाड़ी अ-कपेला 3 की तैयारी कर रहे थे, अपनी फेसबुक पोस्ट के माध्यम से उन्होंने लोगों को इस बारे में जानकारी दी थी, बीते शुक्रवार उनकी शॉर्ट फिल्म पहाड़ी सौदा भी रिलीज हुई थी, जिसे दर्शकों का अच्छा रिस्पांस मिला, उनकी यह फिल्म मनोरंजन से भरपूर थी,

लेकिन किसी ने नहीं जाना था कि एक दिन पहले अपनी फिल्म के माध्यम से सबको हसाने वाला गुंजन (Gunjan Dangwal) दूसरी ही सुबह सभी की आखों का नम कर देगा, गुंजन के जाने से उत्तराखँड के संगीत जगत को एक बड़ा झटका लगा है, आज हर कोई सन्न है, निशब्द है.

कुछ साल पूर्व लगभग इन्ही दिनों बेहद लोकप्रिय युवा गायक पप्पू कार्की (Pappu Karki) की भी सड़क दुर्घटना में दुखद मौत के बाद उत्तराखंडी गीत संगीत के लिए यह बड़ा झटका माना जा रहा है। सोशल मीडिया पर गुंजन के आकस्मिक निधन पर शोक संदेशों की भरमार होने लगी है। अनेकों लोग इस आकस्मिक घटना पर स्तब्ध हैं।

Gunjan Dangwal
Gunjan Dangwal

FAQ :

Q : Gunjan Dangwal Songs | गुंजन के सुपरहिट गीत कौन कौन से है ?

Ans : गायक के तौर पर: नंदू मामा की स्याली (Nandu Mama ki syali), चन्द्रमा सूरज (Chanderma Suraj), बाली ज्वानी का सुपिन्या (Bali Jawani Ka Supniya), गंजयाली (Ganjyali)।

Q : Gunjan Dangwal Songs | गुंजन के सुपरहिट गीत कौन कौन से है ?

Ans : संगीतकार के तौर पर: चैता की चैत्वाली (Chaita Ki Chaitwal) , भग्यानी बौ (Bhagyani Bou) , भामा मेरी (BHAMA MERI)।

Q : गुंजन डंगवाल की शॉर्ट फिल्म (2022) कौन सी है

Ans : गुंजन डंगवाल की शॉर्ट फिल्म पहाड़ी सौदा

Q : गुंजन का जन्म कब हुआ

Ans : गुंजन डंगवाल का जन्म 4 सितंबर 1996 को टिहरी गढ़वाल के अखोडी गावं में

Q : गुंजन डंगवाल की मृत्यु

Ans : गुंजन डंगवाल का 18 जून 2022 ( 18 june 2022) को चंडीगढ़ के पास सड़क दुर्घटना में आकस्मिक निधन हो गया है।

Leave a Reply