Health Benefits Of Gond | gond katira in hindi | Tragacanth Gum benefits | gond katira ayurvedic benefits | gond katira benefits in hindi

हेल्थ
Health Benefits Of Gond
Health Benefits Of Gond

Health Benefits Of Gond | gond katira in hindi | Tragacanth Gum benefits | gond katira ayurvedic benefits | gond katira benefitsin hindi | gond katira side effects in hindi | गोंद कतीरा पीने से क्या फायदा हो सकता है ?

Advertisement

Gond Katira : गोंद कतीरा (Gond Katira)पेड़ से निकलने वाला एक पीले रंग का गोंद है। यानी कतीरा पेड़ से निकलने वाली गोंद को सुखाने के बाद बनता है। यह छूने में चिपचिपा, बदबूदार और बेस्‍वाद होता है। इसकी तासीर ठंडी होती है इसलिये इसका सेवन गर्मियों में करना बेहद लाभकारी माना जाता है।

गोंद कतीरे का प्रयोग कब्ज दूर करने, स्तन में वृद्धि, त्वचा रोग, शीघ्रपतन से छुटकारा या प्रसव के बाद लगने वाली कमजारी आदि के लिये किया जाता है। यही नहीं अगर किसी को हृदय रोग का खतरा है तो वह भी इसके प्रयोग से दूर हो जाता है।

इसके अलावा गर्मियों में गोंद कतीरा का सेवन करके हीट स्ट्रोक, कमजोरी, पसीना आने की समस्या को दूर किया जा सकता है। पोषण की बात करें, तो यह कैल्शियम, मैग्नीशियम, फॉलिक एसिड और प्रोटीन से भरपूर है।यह आपको पंसारी की दुकान पर आसानी से मिल जाएगा। घर इसे बहुत अधिक इस्तेमाल किया जाता है। क्योंकि इसकी तासीर ठंडी होती है.

भारत में कई लोग इसका सेवन कई तरीकों से करते हैं। कई लोग मिश्री के साथ पीसकर या फिर दूध में मिक्स करके इसका सेवन करते हैं। वहीं, कुछ लोग लड्डू के रूप में भी गोंद कतीरा का सेवन करते हैं। गोंद तरीका को लेकर लोगों के मन में कई तरह के सवाल हैं आइए जानते हैं क्या है गोंद कतीरा, गोंद कतीरा खाने के क्या फायदे हैं और इसे कैसे खाना चाहिए?

क्या है गोंद कतीरा

ट्रागाकैंथ गोंद (Tragacanth Gum) का एक पौधा है, जो पानी में घुलने पर नरम और चिपचिपा हो जाता है। गोंद कतीरा सफेद और पीले रंग का बेहद गुणकारी खाद्य पदार्थ है। ये कतीरा पेड़ से निकलने वाली गोंद के सूखने के बाद बनता है। इसका कांटेदार पेड़ भारत में गर्म पथरीले क्षेत्रों में पाया जाता है।

इसकी छाल काटने और टहनियों से जो तरल निकलता है वही जम कर सफेद और पीला हो जाता है, इसे ही पेड़ की गोंद कहते हैं। हर गोंद का टुकड़ा कुछ घंटे भीगने के बाद 3-4 चम्मच गोंद कतीरा बनाता है। इसका मतलब है कि गर्मी में शरीर में ठंडक बनाए रखने के लिए इसकी थोड़ी मात्रा ही काफी है।

आमतौर पर गर्मी के मौसम में गोंद कतीरे का इस्तेमाल मिल्क शेक या नींबू पानी में मिलाकर किया जाता है। इसमें कोई स्वाद नहीं होता, लेकिन स्वास्थ्य को सही बनाए रखने के लिए इसका सेवन जरूर करना चाहिए। टेस्टलेस होने की वजह से आप इसे किसी भी चीज के साथ मिलाकर ले सकते हैं हालांकि इसका स्वाद भी कुछ लोग तो पसंद है कुछ को नहीं पसंद.

गोंद कतीरा के फायदे | Gond Katira Benefits in Hindi

गर्मी से दिलाए राहत,जलन में रामबाण – अगर आपके हाथ-पैरों में जलन की समस्या हो तो 2 चम्मच कतीरा को रात को सोने से पहले 1 गिलास पानी में भिगों दें। सुबह कतीरा फूल जाए तो इसे शक्कर मिलाकर खाएं। रोजाना ऐसा करने से फायदा मिलेगा। कतीरा लू और हीट स्ट्रोक से भी बचाता है। शरीर में गर्मी महसूस हो रही हो तो कतीरा को पानी में भिगो लें और इस पानी में और मिश्री मिलाएं। शर्बत के साथ कतीरा घोटकर सुबह-शाम लें। इससे शरीर की गर्मी दूर होती है।

gond katira side effects in hindi
gond katira side effects in hindi

रक्त की समस्याओं से दिलाए निजात – गोंद कतीरा में प्रोटीन और फॉलिक एसिड भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं।शरीर के खून को गाढ़ा करता है।10 से 20 ग्राम गोंद कतीरा पानी में भिगो कर रख दें और सुबह उसी पानी में मिश्री मिलाकर शर्बत बनाकर पिएं। इस शर्बत से रक्त प्रदर की समस्या भी दूर होती है।

कमजोरी करे दूर- कतीरा रोजाना दूध के साथ लेने से थकान, कमजोरी, चक्कर उल्टी और माइग्रेन जैसी समस्याओं से राहत मिलती है।आधा ग्लास दूध में गोंद कतीरा कूटकर डालें साथ में मिश्री घोलें। इसे पीने से पित्ती में भी राहत मिलती है।

महिलाओं के लिए बेहद फायदेमंद- महिलाओं में मासिकधर्म में अनियमतिता के चलते अक्सर फॉलिक एसिड या खून की कमी हो जाती है।इसके अलावा बच्चा होने के बाद की कमजोरी,माहवारी की गड़बड़ी या ल्यूकोरिया जैसी समस्याओं में भी ये फायदेमंद होता है। गोंद कतीरा और मिश्री को साथ में पीस लें, फिर इसे दो चम्मच कच्चे दूध में मिलाकर खाएं। वहीं गोंद के लड्डू भी बेहद फायदेमंद होते हैं।

पसीने की समस्या से निजात- जिन लोगों को बहुत पसीना आता है, वे भी गोंद कतीरा का नियमित सेवन कर सकते हैं।उन्हें इस समस्या से निजात मिलेगी।

दर्दनाक टान्सिल में राहत – अगर आप भी दर्दनाक टांन्सिल की समस्या से परेशान रहते हैं तो गोंद कतीरा का इस्तेमाल आजमा सकते हैं। इसके लिए 2 भाग कतीरा और 2 भाग नानख्वा को बारीक पीस लें। अब इसे धनिया के पत्तों के रस में मिलाकर रोजाना गले पर लेप लगाएं, आराम मिलेगा। इसके अलावा लगभग 10 से 20 ग्राम कतीरा को पानी में भिगोकर फुला लें और फिर इसे मिश्री मिले शर्बत में मिलाकर सुबह-शाम पिएं इससे गले में खराश सहित सभी रोगों में फायदा मिलेगा।

मूत्ररोग में फायदा – मूत्ररोगों में भी गोंद कतीरा फायदेमंद है। 10 ग्राम से 20 ग्राम गोंद कतीरा फुलाकर इसे मिश्री के साथ घोंटे और शर्बत बनाकर पिएं।

माइग्रेन में लाभकारी – 4 ग्राम मेहंदी के फूल और 3 ग्राम कतीरा मिट्टी के बर्तन में भिगोकर रख दें। इसे रात में भिगोएं और सुबह मिश्री के साथ मिलाकर पिएं,सिरदर्द,माइग्रेन से छुटकारा मिलने के साथ ये बाल झड़ना भी कम करेगा।

स्वप्नदोष – स्वप्नदोष की समस्या है तो रात में एक कप पानी में 6 ग्राम गोंद कतीरा भिगो दें। सुबह ये फूल जाए तो इसमें 12 ग्राम मिश्री मिलाकर खाएं।कुछ ही दिनों में आपको इसका लाभ महसूस होगा।

गोंद कतीरा के साइड इफेक्ट्स और एतियात | gond katira side effects in hindi

  • गोंद कतीरा का सेवन करने से पहले अपने शरीर को पूरी तरह से हाइड्रेट रखें। इससे नसें और आंत ब्‍लॉक होने से बचेंगी।
  • इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है। इसको खाया भी जा सकता है और लगाया भी।
  • यह उन लोगों में सांस लेने की समस्या पैदा कर सकता है, जिन्हें क्विलिया की छाल (सोपबर्क) से एलर्जी है, इसलिए इसका सेवन करने से पहले अपने चिकित्सक से परामर्श करें।
  • गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाएं डॉक्‍टर की सलाह से इसका सेवन कर सकती हैं।
  • सलाह दी जाती है कि आप किसी भी एलोपैथिक दवा का सेवन करने से कम से कम एक घंटे पहले इस जड़ी बूटी का सेवन करें।

FAQ :

gond katira side effects in hindi
gond katira side effects in hindi

Q : गोंद की तासीर क्या होती है?

Ans : असल में गोंद कतीरे की तासीर ठंडी होती है और यह गर्मियों में बेहद फायदेमंद होता है। शीतल और पाचक गुणों के कारण आयुर्वेद में हर्बल औषधि के रूप में गोंद कतीरा यानि ट्रैगेकैन्‍थ गम (Tragacanth Gum) का अत्यधिक इस्तेमाल किया जाता है

Q : गोंद कतीरा कौन सी बीमारी में काम आता है?

Ans : गोंद कतीरा शरीर के खून को गाढ़ा करता है। इसके अलावा ये हृदय रोगों के लिए भी फायदेमंद होता है। ये टॉन्सिल जैसी समस्याएं दूर करता है साथ ही शरीर को बलवान भी बनाता है। यह शरीर से निकलने वाले खून को रोकता है, सांस रोग को दूर करता,खांसी को नष्ट करता व कफ दूर करता है।

Q : क्या वजन घटाने में मददगार है गोंद कतीरा ?

Ans : वजन घटाने के लिए भी आप गोंद कतीरा का सेवन कर सकते हैं। इसमें फाइबर की अधिकता होती है, जो आपको लंबे समय तक भरा हुआ महसूस कराती है। ऐसे में अगर आप रोजाना गोंद कतीरा खाते हैं, तो यह आपके भूख को कंट्रोल रखकर वजन को घटाने में प्रभावी हो सकती है। गोंद कतीरा का इस्तेमाल आप ड्रिंक्स के रूप में कर सकते हैं। साथ ही यह हीट स्ट्रोक से भी बचाव करती है।

Q : गोंद कतीरा कैसे बनता है?

Ans : गोंद कतीरा, कतीरा नाम के पेड़ की छाल से प्राप्त होता है। इसे तैयार करने के लिए पेड़ की छाल को काटा जाता है। इसके बाद इससे पीले और सफेद रंग का रस निकलता है। जिसे किसी बर्तन में जमा कर लिया जाता है। जब यह गोंद जम जाती है, तो इसे ही गोंद कतीरा कहा जाता है।

Q : गोंद कतीरा कब खाना चाहिए ?

Ans : गोंद कतीरा का सेवन कभी भी किया जा सकता है। हालांकि, प्रेग्नेंसी के बाद महिलाओं को इसे खाने की सलाह काफी ज्यादा ही जाती है। क्योंकि इसमें मौजूद पोषक तत्व महिलाओं के शरीर में होने वाले पोषक तत्वों की कमी को पूरा करता है। साथ ही यह महिलाओं में पीरियड्स को नियमित करने के लिए भी लाभकारी होता है। इससे उनकी हड्डियों को मजबूती मिलती है। इसके अलावा इनफर्टिलिटी की समस्या से जूझ रहे पुरुषों को भी गोंद कतीरा खाने की सलाह दी जाती है।

Q : गोंद कतीरा का प्रयोग कैसे करें?

Ans : गोंद कतीरा कई परेशानियों को दूर करने में प्रभावी होता है। इसका इस्तेमाल आप कई तरीकों से कर सकते हैं। कई लोग गोंद कतीरा का इस्तेमाल लड्डू बनाने में करते हैं। गोंद का लड्डू स्वास्थ्य के लिए काफी फायदेमंद होता है। वहीं, दूध और मिश्री के साथ मिक्स करके भी इसका सेवन किया जा सकता है। इसके अलावा किसी भी खाने की चीज को गाढ़ा बनाने के लिए भी गोंद कतीरा का इस्तेमाल किया जा सकता है।

Q : गोंद कतीरा पीने से क्या होता है?

Ans : गोंद कतीरा स्वास्थ्य के लिए कई तरह से फायदेमंद हो सकता है। इससे कई तरह की समस्याएं जैसे- शारीरिक कमजोरी, अनियमित पीरियड्स, टॉन्सिल्स की समस्या, मुंह के छालों से राहत और वजन घटाने में राहत मिल सकती है। इसके अलावा यह कई अन्य परेशानी को दूर करने में प्रभावी होता है।

Q : गोंद कतीरा कितने दिन तक खाना चाहिए?

Ans : गोंद कतीरा स्वास्थ्य के लिए काफी लाभकारी होता है। इससे आपको कई लाभ हो सकते हैं। ऐसे में आप नियमित रूप से गोंद कतीरा का सेवन कर सकती हैं। हालांकि, सीमित मात्रा मे ही इसका सेवन करें। लगातार कुछ महीनों तक आप गोंद कतीरा का सेवन कर सकते हैं।

Leave a Reply