अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत कब और कैसे हुई

Top News
(international women day 2021)
(अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस 2021)

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत कब और कैसे हुई ? When and how did International Women’s Day begin

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस –International women’s day 2021

Advertisement

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस” ​​(“अंतर्राष्ट्रीय वीमन्स डे”) हर वर्ष, 8 मार्च को मनाया जाता है। विश्व के विभिन्न क्षेत्रों में महिलाओं के प्रति सम्मान, प्रशंसा और प्यार प्रकट करते हुए इस दिन को महिलाओं के लिए आर्थिक,सामाजिक और राजनीतिक उपलब्धियों के उत्सव के रूप में मनाया जाता है।

“अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस” (International women’s day) को मनाने का मुख्य उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों को बढ़ावा देना है। दुनियाभर में हर साल 8 मार्च को अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया जाता है। जिसका उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों के साथ विश्व शांति को बढ़ावा देना है।

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुरुआत कब और कैसे हुई ?

1908 में 15000 महिलाओं ने न्यूयॉर्क सिटी में काम के घंटे कम करने के लिए एवं वोटिंग के अधिकारों की मांग के लिए आवाज़ उठायी, और ठीक एक साल बाद 1909 अमेरिका की सोशलिस्ट पार्टी ने महिलाओ को वोटिंग का अधिकार दे दिया और तब से ही (1909) यूनाइटेड स्टेट्स में पहला राष्ट्रीय महिला दिवस 28 फरवरी को मनाया गया।

इसके बाद साल 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया था. 1975 में महिला दिवस को आधिकारिक मान्यता उस वक्त दी गई थी जब संयुक्त राष्ट्र ने इसे वार्षिक तौर पर एक थीम के साथ मनाना शुरू किया. अब इस साल हम 110वां अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मना रहे हैं.

पहली महिला दिवस की थीम – I am Generation Equality: Realizing Women’s Rights

हर साल एक खास थीम के साथ अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का आयोजन किया जाता है। 1909 से ही अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस किसी न किसी थीम के साथ मनाया जाता है। अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस की पहली थीम ‘सेलीब्रेटिंग द पास्ट, प्लानिंग फ़ॉर द फ्यूचर’ थी।

इस वर्ष के लिए “अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस” ​​2021 की थीम “थीम “Women in leadership: an equal future in a COVID-19 world” (“महिला नेतृत्व: COVID-19 की दुनिया में एक समान भविष्य को प्राप्त करना”) COVID-19 दुनिया में एक समान भविष्य”

यह थीम COVID-19 महामारी के दौरान स्वास्थ्य देखभाल श्रमिकों, इनोवेटर आदि के रूप में दुनिया भर में लड़कियों और महिलाओं के योगदान को उजागर करती है। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस को थीम के साथ पहली बार 1996 में मनाया गया था। उस वर्ष संयुक्त राष्ट्र ने इसके लिए थीम रखी थी ‘अतीत का जश्न, भविष्य की योजना’है।

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस का इतिहास

अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस (international women day 2021)  एक मज़दूर आंदोलन से उपजा है. सन 1909 में सोशलिस्ट पार्टी ऑफ अमेरिका द्वारा पहली बार सम्पूर्ण अमेरिका में 8 मार्च को महिला दिवस मनाया गया। सन 1910 में सोशलिस्ट इंटरनेशनल द्वारा कोपनहेगन में महिला दिवस की स्थापना हुई

और 1911 में ऑस्ट्रि‍या,जर्मनी, डेनमार्क,और स्विटजरलैंड में लाखों महिलाओं द्वारा रैली निकाली गई थी। जिसका मकसद नौकरी में भेदभाव खत्म करने से लेकर, सरकारी संस्थानों में समान अधिकार के साथ मताधिकार जैसे कई अहम मुद्दे थे।

1913-14 प्रथम विश्व युद्ध के दौरान, रूसी महिलाओं द्वारा पहली बार शांति की स्थापना के लिए फरवरी माह के अंतिम रविवार को महिला दिवस मनाया गया। यूरोप भर में भी युद्ध के खिलाफ प्रदर्शन हुए। 1917 तक विश्व युद्ध में रूस के 2 लाख से ज्यादा सैनिक मारे गए, रूसी महिलाओं ने फिर रोटी और शांति के लिए इस दिन हड़ताल की।

हालांकि राजनेता इस आंदोलन के खिलाफ थे, फिर भी महिलाओं ने एक नहीं सुनी और अपना आंदोलन जारी रखा और इसके फलस्वरूप रूस के जार को अपनी गद्दी छोड़नी पड़ी साथ हीसरकार को महिलाओं को वोट देने के अधिकार की घोषणा भी करनी पड़ी।

8 मार्च को ही अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस क्यों मनाया जाता है?

कहा जाता है की क्लारा ज़ेटकिन ने महिला दिवस मनाने के लिए कोई तारीख़ पक्की नहीं की थी.और जब 1917 में युद्ध के दौरान रूस की महिलाओं ने ‘ब्रेड एंड पीस’ (खाना और शांति) की मांग की. महिलाओं की हड़ताल ने वहां के सम्राट निकोलस को पद छोड़ने के लिए मजबूर कर दिया और अंतरिम सरकार ने महिलाओं को मतदान का अधिकार दे दिया.

उस समय रूस में जूलियन कैलेंडर का प्रयोग होता था. जिस दिन महिलाओं ने यह हड़ताल शुरू की थी वो तारीख़ 23 फ़रवरी थी. जो की ग्रेगेरियन कैलेंडर में 8 मार्च का दिन होता था और तब से ही अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस 8 मार्च को मनाया जाने लगा.

महिला दिवस पर कार्यक्रम

अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस (international women day 2021) घोषित का उद्देश्य महिलाओं के अधिकारों तथा विश्व शांति को बढ़ावा देना है। सबसे पहले साल 1911 में ऑस्ट्रिया, डेनमार्क, जर्मनी और स्विट्ज़रलैंड में अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस मनाया गया था। लेकिन अब लगभग सभी देशों में इसे मनाया जाता है। महिलाओं को उनकी अनोखी उपलब्धियों के लिए सम्मानित करने के साथ गिफ्ट्स दिए जाते हैं और संस्थानों से लेकर स्कूल, कॉलेजों में कई तरह के कार्यक्रमों का भी

इंटरनेशनल वुमन्स डे (international women day 2021) कैसे मनाया जाता है ?

इंटरनेशनल वुमन्स डे के दिन घर हो या ऑफिस, सभी महिलाओं को स्पेशल ट्रीटमेंट दिया जाता है.उन्हें पार्टी दी जाती है या गिफ्ट्स दिए जाते है वुमन्स डे के दिन कई ऑफिसों में हाफ डे या छुट्टी दी जाती है उन्हें गुलाब, गिफ्ट्स और चॉकलेट दी जाती हैं या फिर उन्हें पार्टी दी जाती है.

बहुत से ऐसे देश भी है जहा इंटरनेशनल वुमन्स डे पर राष्ट्रीय अवकाश की घोषणा की जाती है. रूस और कई अन्य देशों में इंटरनेशनल वुमन्स डे के दिन फूलों के दाम काफी बढ़ जाते है. क्युकी इस दिन महिला और पुरुष एक-दूसरे को फूल देते हैं.
अमरीका में मार्च का महीना ‘विमेन्स हिस्ट्री मंथ’ के तौर पर मनाया जाता है.और चीन में ज़्यादातर दफ़्तरों में महिलाओं को आधे दिन की छुट्टी दी जाती है.

Leave a Reply