Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye | Incredible Benefits of bottle gourd juice | लौकी का जूस

हेल्थ
Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye
Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye

Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye | When-And How Much Drink Bottle Gourd Juice In Hindi | bottle gourd juice|क्या आप जानते है लौकी का जूस कब और कितनी मात्रा में पीना चाहिए
Advertisement

Gourd Juice : लौकी के पोषक तत्वों का अधिक फायदा पाने के लिए आपको लौकी को जूस की शक्ल में इस्तेमाल करना चाहिए. लौकी ऐसी ही एक हैरतअंगेज सब्जी है. उसका जूस अप्रत्याशित रूप से आपका स्वास्थ्य बदल सकता है और लगभग तीन महीने में आपको स्वस्थ और तंदुरस्त बना सकता है.लौकी जूस पीने के अनगिनत स्वास्थ्य फायदे हैं. उसका शरीर पर प्रभाव ठंडा होता है, ये आपके ब्लड प्रेशर को काबू में रखता है. ये भूरे बाल और झुर्रियों से छुटकारा दिलाने में मदद कर सकता है.

यह भी पढ़ें : Bottle Gourd : लौकी खाने के फायदे और नुकसान


Incredible Benefits of bottle gourd juice : लौकी का जूस नियमित रूप से सेवन करने के असंख्य स्वास्थ्य लाभ हैं। वास्तव में किसी भी रस का सेवन करने का मुख्य कारण शरीर को हाइड्रेट और तापमान को कम करना है। और लौकी का रस पेट और अन्य अंगों को ठंडा रखकर तेजी से करता है। इसके अलावा, मुंह के अल्सर, चेहरे के मुहासों के लिए यह एक अच्छा उपाय है।

यह शरीर को शुद्ध करने में मदद करता है और कब्ज, अपच से निपटने में मदद करता है। लौकी का दूसरा महत्वपूर्ण लाभ यह है कि यह तनाव और चिंता के स्तर को कम करने में मदद करता है और अंततः हृदय स्वास्थ्य में सुधार करता है। दिल से संबंधित समस्याओं से निपटने के लिए रोजाना खाली पेट में दुधी के रस का सेवन करने की सिफारिश की जाती है।

लौकी का जूस घर पर कैसे बनाएं Incredible Benefits of bottle gourd juice

2 मध्यम आकार की लौकी लें, छिलका उतार लें, बीज निकाल लें और काट लें. एक चम्मच जीरा, 15-20 पुदीने की पत्तियां, 2-3 चम्मच नींबू का जूस, स्वाद के बराबर नमक तैयार रखें. ब्लेंडर में लौकी, अदरक, पुदीने की पत्तियां और जीरा को पीसें. आगे, एक प्याला पानी मिलाएं और 3-4 मिनट के लिए मिश्रण करें. अब, नींबू का रस और नमक को अच्छी तरह मिलाएं. जूस को छान कर रोजाना सुबह पीएं. सुबह में सबसे पहले उसे पीने से पूरे दिन के लिए आपको सेट कर सकता है.

लौकी शरीर के तापमान को कम करने के लिए एक स्वस्थ और स्वादिष्ट ताज़ा जूस रेसिपी है। लौकी का जूस तुरंत शरीर को हाइड्रेट करता है क्योंकि इसमें अन्य खनिजों और पोषक तत्वों के साथ लगभग 95% पानी होता है। इसके अलावा, यह स्वस्थ दिल को बनाए रखने के लिए और खराब कोलेस्ट्रॉल को कम करने में भी मदद करता है।

Incredible Benefits of bottle gourd juice

दिल की सेहत को बढ़ाता है- 90 दिनों तक खाली पेट लौकी जूस पीने से आपका कोलेस्ट्रोल लेवल कम हो सकता है. इस सब्जी में ज्यादा घुलनशील डाइटरी फाइबर होता है, जो आपके ब्लड प्रेशर को काबू में भी रखेगा.

वजन कम करने में मददगार- लौकी जूस कैलोरी और फैट्स में कम होता है, जो उसे वजन कम करने के लिए प्रभावी ड्रिंक बनाता है. उसके अलावा, ये फाइबर में अधिक होता है जो देर तक आपको संतुष्ट रखता है, इस तरह भूख लगने से आपको रोकता है. उसमें जरूरी विटामिन्स और मिनरल्स जैसे विटामिन सी, विटामिन बी, विटामिन के, विटामिन ए, आयरन, पोटैशियम और मैग्नीज भी होते हैं.

तनाव और डिप्रेशन को करे दूर- लौकी में चोलिन की अधिक मात्रा होती है- ये एक न्यूरोट्रांसमिटर है जो दिमाग के सेल्स को उचित काम में मदद करता है, इस तरह दिमागी बीमारी को रोकता है.

पेट की समस्या का करे इलाज- लौकी का जूस कब्ज की सहायता में मदद करता है और डायरिया का इलाज भी करता है. फाइबर तत्व और 98 फीसद पानी होने के कारण, ये आपके पाचन तंत्र को साफ करता है और मल त्याग को आसान बनाने में मदद करता है.

लौकी जूस में फाइबर, एंटी-ऑक्सीडेंट्स, विटामिन ए, विटामिन सी, कैल्शियम, आयरन, मैग्नीशियम , जिंक, पोटैशियम और प्रोटीन प्रचुर मात्रा में होता है। ये सभी तत्व शरीर को हेल्दी रखने में मदद करते हैं। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि ब्लड प्रेशर कंट्रोल करने, डायबिटीज और किडनी की बीमारियों के खतरे को कम करने में लौकी फायदेमंद है। बताया जाता है कि लौकी का जूस पीने से फैटी लिवर की समस्या भी कम होती है।

लौकी का जूस बनाते समय कुछ महत्वपूर्ण टिप्स और सलाह देना चाहूंगी। सबसे पहले, और अधिक महत्वपूर्ण बात यह है कि यदि आप लौकी जूस सेवन करने की योजना बना रहे हैं तो लौकी के रस को अन्य सब्जियों के साथ न मिलाएं। हालांकि, यदि आप इससे फेस पैक बनाने की योजना बना रहे हैं, तो इसे अन्य सब्जियों के साथ मिश्रित किया जा सकता है विशेष रूप से ककड़ी।

Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye
Lauki Ka Juice Kab Aur Kitni Matra Me Pina Chaiye

दूसरा, लौकी के रस के लिए इसका उपयोग करने से पहले लौकी को चख ले, असल में, कड़वा लौकी का उपयोग नहीं किया जाना चाहिए क्योंकि यह उल्टी और दस्त की समस्याओं का कारण बन सकता है। अंत में, जूस को ताजा परोसा जाना चाहिए और इसे रेफ्रिजरेट करके स्टोर करने की योजना नहीं है।

क्यों सेहत के लिए है नुकसानदायक

एक्सपर्ट्स के अनुसार कई बार लौकी को कृत्रिम विकास प्रदान करने के लिए लोग इंजेक्शन लगाते हैं। इन लौकियों के जूस को पीना शरीर के लिए हानिकारक हो सकता है। इसके अलावा, कच्चे लौकी के जूस को पीने से भी पेट संबंधी दिक्कतें होने लगती हैं।

क्या हैं लौकी के जूस के साइड इफेक्ट्स

स्वास्थ्य विशेषज्ञों का मानना है कि इसके अधिक सेवन से लोगों का पाचन तंत्र बिगड़ सकता है, इससे दस्त और उल्टी जैसी दिक्कतें हो सकती हैं। इतना ही नहीं, अगर साफ-सफाई को अनदेखा किया गया हो तो इससे कई बार बैक्टीरियल इंफेक्शन भी हो सकता है।

बताया जाता है कि जो लोग मधुमेह और उच्च रक्तचाप जैसी बीमारियों से ग्रस्त हैं उन्हें सीमित मात्रा में ही लौकी के जूस का सेवन करना चाहिए। अगर मरीज इस जूस को जरूरत से ज्यादा पीयेंगे तो इससे शुगर और बीपी का स्तर असामान्य रूप से घट सकता है। इस गिरावट के कारण चक्कर आने, बेहोशी, आंखों के सामने अंधेरा छा जाने जैसी परेशानी हो सकती है।

लौकी का जूस कड़वा होता है, इसे पीने से कई लोगों को एलर्जी भी हो सकती है। इस वजह से उनके चेहरे या हाथ-पैर में सूजन, फेस पर दाने निकल सकते हैं। इसके अलावा, रैशेज और खुजली जैसी परेशानी भी हो सकती है।

लौकी के कड़वेपन को कैसे दूर करें

हेल्थ एक्सपर्ट्स का मानना है कि जो लोग लौकी के जूस का सेवन करते हैं उन्हें इस बात का ख्याल रखना चाहिए कि जूस कड़वा न हो। इसका कड़वापन पेट में गैस जैसी दिक्कत पैदा कर सकता है। ऐसे में इसे हटाने के लिए आप जूस में काला नमक, काली मिर्च पाउडर, नींबू, पिसा हुआ जीरा और पुदीना के कुछ पत्तों को डालकर पी सकते हैं।

कब और कितना पीयें लौकी का जूस

एक्सपर्ट्स के अनुसार लौकी का जूस सुबह खाली पेट पीना चाहिए। साथ ही, दिन भर में एक गिलास से अधिक इसका सेवन नहीं करना चाहिए।

Leave a Reply