Lockdown:पूरा भारत 21 दिन के लिए बंद

न्यूज़
lockdown for 21 days
lockdown for 21 days

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कोरोना वायरस का संक्रमण रोकने के लिए संपूर्ण देश में पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन होने जा रहा है। उन्हों कहा की यह लॉकडाउन आपको बचाने के लिए, आपके परिवार को बचाने के लिए लागू किया जा रहा है। इस दौरान घरों से निकलने पर पूरी पाबंदी लगाई जा रही है। पीएम ने कहा कि 21 दिन नहीं संभले तो कई परिवार तबाह हो जाएंगे।

Advertisement

कोरोना वायरस दुनिया भर में बढ़ते संक्रमण को देखते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देशव्यापी लॉकडाउन की घोषणा कर दी है। जो रात 12 बजे से 21 दिनों के लिए लागू हो चुका है।

सोशल डिस्टेंसिंग एकमात्र विकल्प

दुनिया भर में अब तक 18,605 लोगो की जान जा चुकी है और अब तक 417,654 लोग इस महामारी से संक्रमित हो चुके है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा सोशल डिस्टेंसिंग एकमात्र विकल्प है इस खतरनाक वायरस के खिलाफ सबसे अहम हथियार सोशल डिस्टेंसिंग (सामाजिक दूरी) को सख्त तरीके से लागू करने के लिए यह कदम उठाया गया है हमे इसके संक्रमण की साइकिल को तोड़ना ही होगा

सोशल डिस्टेंसिंग मतलब है कि एक दूसरे से दूर रहना, अपने घरों में बंद रहना।

उन्होंने कहा की कुछ लोग इस गलतफहमी में हैं कि सोशल डिस्टेंसिंग केवल बीमार लोगों के लिए है, लेकिन ये सोचना सही नहीं है। सोशल डिस्टेंसिंग सभी के लिए है, प्रधानमंत्री के लिए भी है।

कुछ लोगों की गलत सोच आपके परिवार को, आपको, आपके बच्चों को आपके दोस्तों बहुत मुश्किल में डाल देगी। अगर ऐसी लापरवाही जारी रही तो भारत को इसकी बहुत बड़ी कीमत चुकानी पड़ेगी और इसकी कीमत कितनी बड़ी होगी इसका अंदाजा लगाना मुश्किल है।

वह पहले भी आप जनता द्वारा लॉकडाउन का पालन ना करने पर अपनी चिंता जाहिर कर चुके

देशवासियों से प्रार्थना है कि आप इस समय देश में जहां भी हैं, वहीं रहें।

देशवासियों से अपील करते हुए पीएम मोदी ने कहा कि उनकी देशवासियों से प्रार्थना है कि आप इस समय देश में जहां भी हैं, वहीं रहें। अभी के हालात को देखते हुए, देश में ये लॉकडाउन 21 दिन का होगा। उन्होंने कहा कि आने वाले 21 दिन हमारे लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो, कोरोना वायरस की संक्रमण सायकिल तोड़ने के लिए कम से कम 21 दिन का समय बहुत अहम है।

सरकारी संस्थानों में काम होता रहेगा

डिफेंस, केंद्रीय सशस्त्र पुलिस बल, राजकोष, डिजास्टर मैनेजमेंट, बिजली उत्पादन और ट्रांसमिशन यूनिट, पोस्ट ऑफिस, नैशनल इन्फॉर्मेटिक्स सेंटर, पूर्वानुमान की एजेंसियां खुली रहेंगी। पुलिस, होम गार्ड, सिविल डिफेंस, फायर और इमर्जेंसी सर्विस, जेल, जिला प्रशासन और राजकोष, बिजली, पानी और सैनिटेशन का काम होता रहेगा।

कौन सी दुकानें खुलेंगी?

हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर जैसे केमिस्ट की शॉप, मेडिकल इक्विपमेंट की दुकानें, लैब, अस्पताल, डिस्पेंसरी, क्लीनिक, नर्सिंग होम तथा डॉक्टर के यहां जाने की इजाजत होगी। 

राशन की दुकानें, पेट्रोल, सीएनजी, एलपीजी, पीएनजी और फल और सब्जी, डेयरी और दूध, मीट, मछली, चारे की दुकानें खुली रहेंगी।

लोगों को सिर्फ मेडिकल जरूरत के लिए, राशन, दवा, दूध और सब्जी खरीदने जाने के लिए इजाजत होगी। प्राइवेट गाड़ियों का इस्तेमाल केवल इमरजेंसी में किया जा सकेगा।

क्या है पूरी तरह बंद?

सभी फैक्ट्रियां, वर्कशॉप, ऑफिस, गोदाम, हफ्ते में लगने वाली मार्केट बंद रहेंगी। केंद्र और राज्य सरकारों और केंद्र शासित प्रदेशों के सभी दफ्तर, ऑटोनॉमस/सबऑर्डिनेट ऑफिस और पब्लिक कॉर्पोरेशन बंद रहेंगे। कमर्शल और प्राइवेट संस्थान बंद रहेंगे।

सार्वजनिक स्थान और धार्मिक और पूजास्थल बंद रहगे। किसी भी धार्मिक आयोजन की इजाजत नहीं होगी। अंतिम संस्कार की स्थित में 20 से ज्यादा लोगों के शामिल होने की इजाजत नहीं होगी।

Leave a Reply