IPL Full Form|IPL Team List in Hindi Format

हेल्थ, Sports News
IPL History
IPL History

Table of Contents

IPL Full Form, Facts, Winners Teams List, Winners and Runners List in IPL, IPL Format, Players, Earning, Profit, Loss, IPL Controversy

आईपीएल का फुल फॉर्म (IPL Full Form)

आईपीएल (IPL) का पूरा नाम यानि फुल फॉर्म इंडियन प्रीमियर लीग (Indian Premier League) है. जोकि देश की विभिन्न राज्यों की टीमों के बीच खेला जाता है.

आईपीएल (IPL) किस तरह का खेल है

आईपीएल (IPL)एक क्रिकेट खेल है जोकि टी 20 लीग के रूप में खेला जाता है. यह हर वर्ष हमारे देश में होता है और इस लीग में भारत सहित अन्य देशों के खिलाड़ी भी भाग लेते हैं. क्रिकेट के इस लीग में हिस्सा लेने वाली टीमें भारतीय शहरों या राज्यों का नेतृत्व करती हैं. इन टीमों के बीच मैच खेले जाते हैं

Advertisement

और अंत में जो टीम विजय रहती है उसे ट्रॉफी एवं ईनाम दिया जाता है.इसे टी20 लीग के नाम में भले ही जाना जाता है, लेकिन यह असल में ऐसा ग्लोबल टूर्नामेंट है, जिसमें दुनिया के बड़े से बड़े क्रिकेटर खेलने को बेकरार रहते हैं. संक्षिप्त शब्दों में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के विषय में कहु तो यह खेल भारतीय क्रिकेट नियंत्रण बोर्ड द्वारा संचालित ट्वेन्टी ट्वेन्टी (20-20) प्रतियोगिता है

आईपीएल की शुरुआत (IPL History)

बीसीसीआई (बोर्ड ऑफ कंट्रोल फॉर क्रिकेट इन इंइिया) ने इंडियन प्रीमियर लीग को शुरू करने की घोषणा साल 2007 में की थी और इस घोषणा के एक साल बाद ही यानि सन 2008 में इस लीग की शुरुआत कर दी गई थी.इस प्रतियोगिता का आयोजन प्रतिवर्ष अप्रैल, मई और जून के महीने में किया जाता है,

तथा कुछ परिस्थितियों में इसके कार्यक्रम में बदलाव भी किया जा सकता है इस प्रतियोगिता में अंतराष्ट्रीय स्तर के खिलाडी, राष्टीय क्रिकेट टूर्नामेंट खेलने वाले खिलाडी तथा विदेशी खिलाडी सभी साथ में खेलते है, आईपीएल क्रिकेट टूर्नामेंट में 20 ओवर के मैच खेले जाते हैं

इस साल आईपीएल (2022) की शुरुआत

इस साल (Saturday, 26 March 2022) आईपीएल का 15वां सीजन (IPL 15) खेलाना आरम्भ हो चूका है. अब तक हुए 14 सीजन में मुंबई इंडियंस (Mumbai Indians) ने सबसे अधिक 5 खिताब जीते हैं. चेन्नई सुपरकिंग्स (Chennai Super Kings) ने 4 ट्रॉफी अपने नाम किए हैं. कोलकाता नाइटराइडर्स (Kolkata Knight Riders) ने दो ट्रॉफी जीती हैं. सनराइजर्स हैदराबाद, डेक्कन चार्जर्स और राजस्थान रॉयल्स के नाम एक-एक खिताब दर्ज हैं. इन सभी टीमों की जीत में एक बात मिलती है. वह यह कि वैसे तो इन टीमों में बड़े-बड़े विदेशी खिलाड़ी हैं, लेकिन टीम का कोर भारतीय खिलाड़ी ही हैं.

आईपीएल 2022 में सभी दस टीमों के कप्तान

आईपीएल 2022 टीमों के कप्तान आईपीएल 2022 टीमों के कप्तान
चेन्नई सुपरकिंग्स एमएस धोनी
मुंबई इंडियंस रोहित शर्मा
दिल्ली कैपिटलस रिषभ पंत
कोलकाता नाइटराइडर्स श्रेयस अय्यर
राजस्थान रॉयलस
संजू सैमसन
सनराइजर्स हैदराबाद केन विलियमसन
लखनऊ सुपरजाएंट्स केएल राहुल
गुजरात टाइटंस हार्दिक पांड्या
पंजाब किंग्स मयंक अग्रवाल
रॉयल चैलेंजर्स बेंगलेा
फैफ डू प्लेसिस

आईपीएल टीम फ्रेंचाइजी (IPL Franchise)

इस लीग की घोषणा करने के कुछ महीनों बाद इस लीग की टीमों की फ्रेंचाइजी को बेचा गया था. टीम की फ्रेंचाइजी लेने के लिए लोगों ने बोली लगाई थी, जिस व्यक्ति या ट्रस्ट ने अधिक बोली लगाई, उन लोगों को टीमों की फ्रेंचाइजी मिल गई

आईपीएल टीमें (IPL Teams)

आईपीएल की इस लीग में कुल आठ टीमें हिस्सा लेती थी किन्तु इस बार (2022) आईपीएल में 10 टीमें खेल रही हे और इन10 टीमों को हमारे देश के कारोबारी और अभिनेताओँ द्वारा खरीदा गया है. आईपीएल में इस बार (2022) 10 टीमों के टूर्नामेंट में लीग राउंड में कुल 70 मुकाबले हैं। सभी मैच महाराष्ट्र में ही खेले जाएंगे। इसमें मुंबई के 3 वेन्यू शामिल हैं।

आईपीएल मैच फॉर्मेट (Format)

  • आईपीएल में भाग लेने वाली हर टीम को दूसरी टीम के साथ दो मुकाबले खेलने होते हैं और इन मुकाबलों के बाद जो टीम टॉप चार नंबर पर आती हैं. वो प्लेऑफ्स के लिए क्वालिवफ कर जाती हैं.
  • प्लेऑफ्स में टॉप नबंर पर आई दो टीमों के बीच फाइनल में जगह बनाने के लिए मुकाबला होता है और जो टीम इस मुकाबले को जीत जाती है वो फाइनल में अपनी जगह बना लेती है.
  • जबकि हारी गई टीम को फाइनल में जगह बनाने के लिए एक और मौका मिलता है और ये टीम दूसरा क्वालीफायर, तीसरे और चौथे नंबर की टीमों के बीच हुए मुकाबले में जीती गई टीम के साथ खेलती है. और जो टीम दूसरा क्वालीफायर जीत जाती है, वो फाइनल मुकाबला खेलती है.
  • इसलिए आईपीएल की हर टीम टॉप दो में आने की कोशिश करती हैं, ताकि अगर वो हार भी जाए तो उसको फाइनल में जगह बनाने के लिए दूसरा मौका मिल सके.

आईपीएल नीलामी

कोई भी टीम की फ्रेंचाइजी तीन तरह से प्लेयर्स को हासिल कर सकती हैं, जिनमें से एक जरिए ऑक्शन का है, दूसरा ट्रेडिंग विंडो (एक टीम दूसरी टीम के साथ खिलाड़ियों को एक्सचेंज करती है) का है और तीसरा अनुपलब्ध खिलाड़ियों के लिए प्रतिस्थापन पर हस्ताक्षर (signing replacements for unavailable players) है.

नीलामी की प्रक्रिया (Auction Process)

  • आईपीएल में हर साल ऑक्शन होती है. इस ऑक्शन में हर फ्रेंचाइजी टीम के मालिक हिस्सा लेते हैं और अपने मनपसंद प्लेयर्स को हासिल करने के लिए बोली लगाते हैं.
  • हर प्लेयर्स के लिए एक बेस प्राइज तय किया जाता है और इस बेस प्राइज के ऊपर की बोली फ्रेंचाइजी द्वारा लगाई जाती है. जो फ्रेंचाइजी अधिक मूल्य की बोली लगाती है उसे वो खिलाड़ी मिल जाता है.
  • हर फ्रेंचाइजी अपने 3 प्लेयर्स को रिटेन यानी ऑक्शन से पहले ही खरीद सकती है और फ्रेंचाइजी के पास ‘राइट टू मैच’ को इस्तेमाल करने की भी ताकत होती है.

खिलाड़ी रिटेन क्या है (Retain)

कोई भी फ्रेंचाइजी ऑक्सन शुरू होने से पहले अपनी टीम के अधिकतम तीन प्लेयर्स को अपनी टीम में बनाए रख सकती है और ऐसा करने से ऑक्सन के दौरान रिटेन किए गए खिलाड़ियों की नीलामी नहीं लगती है.

रिटेन का इस्तेमाल क्यों किया जाता है

अपनी टीम के सबसे महत्वपूर्ण खिलाड़ियों को अपनी टीम का हिस्सा बनाए रखने के लिए इसका इस्तेमाल किया जाता है. हालाकिं ये फ्रेंचाइजी पर निर्भर होता है कि वो अपने किसी खिलाड़ी को रिटेन करना चाहती है कि नहीं.

this year ipl tropy 2022
this year ipl tropy 2022

रिटेन किए गए खिलाड़ियों की कीमत (Price)

तीन प्लेयर्स को रिटेन करने की कीमत
फ्रेंचाइजी अपने तीन प्लेयर्स को बरकरार रखता है, तो उन प्लेयर्स के लिए उन्होंने क्रमशः कीमत देनी पड़ती है. पहले खिलाड़ी के लिए 15 करोड़ रुपये, दूसरे खिलाड़ी के लिए 11 करोड़ रुपये और तीसरे खिलाड़ी के लिए 7 करोड़ रुपये. इस तरह से ऑक्सन के लिए तय की गई राशि में से उस फ्रेंचाइजी के 33 कोरड़ रुपए कम हो जाते हैं.

दो प्लेयर्स को रिटेन करने की कीमत

यदि फ्रेंचाइजी अपने दो प्लेयर्स को रिटेन करती है, तो उन प्लेयर्स के लिए उन्होंने क्रमशः कीमत देनी पड़ती है. पहले खिलाड़ी के लिए 12.5 करोड़ रुपये और दूसरे खिलाड़ी के लिए 8.5 करोड़ रुपये और इस तरह से ऑक्सन के लिए तय की गई राशि में से उस फ्रेंचाइजी के 21 कोरड़ रुपए कम हो जाते हैं.

एक प्लेयर्स को रिटेन करने की कीमत

अगर फ्रेंचाइजी अपने एक प्लेयर्स को रिटेन करती है तो उस प्लेयर्स के लिए उन्होंने 12.5 करोड़ रुपये देने पड़ते है. जिसके बाद ये राशि ऑक्सन के लिए तय किए गई राशि में से काट ली जाती है.

राइट टू मैच क्या होता है (What is Right To Match card)

राइट टू मैच एक प्रकार का अधिकार होता है, जिसकी मदद से कोई सी भी फ्रेंचाइजी अपने टीम के बिके हुए प्लेयर्स को हासिल कर सकती है. उदाहरण के तौर पर अगर कोई फ्रेंचाइजी अपने किसी प्लेयर्स को रिटेन नहीं करती है और उस प्लेयर्स को कोई अन्य फ्रेंचाइजी खरीद लेती है.

तो उस प्लेयर्स को वापस से अपनी टीम का हिस्सा बनाने के लिए फ्रेंचाइजी, ऑक्शन की प्रक्रिया खत्म होने के बाद इस कार्ड की मदद से उसे हासिल कर सकती. जिसके बाद वो प्लेयर वापस से अपनी पुरानी फ्रेंचाइजी के पास चला जाता है. प्लेयर की फ्रेंचाइजी टीम को उसको अपनी टीम में शामिल करने के लिए उतने ही पैसे देने होते हैं, जितनी राशि में उसे दूसरी फ्रेंचाइजी द्वारा खरीदा जाता है.

राइट टू मैच नियम (Right To Match card Rules)

  • कोई फ्रेंचाइजी अपने 3 प्लेयर्स को रिटेन करती है, तो नियमों के अनुसार वो केवल दो बार ‘राइट टू मैच’ कार्ड यूज कर सकती है.
  • अगर फ्रेंचाइजी द्वारा अपनी टीम के दो या एक प्लेयर्स बरकरार रखे जाते हैं तो नियमों के तहत वो तीन इस कार्ड का यूज कर सकती है.

आईपीएल कुल सीजन (IPL Seasons)

इस लीग के अभी तक 14 सीजन पूरे हो चुके हैं जबकि 14 वां सीजन सन 2021 में मई में आया था, किन्तु कोरोना वायरस की चलते यह बीच में ही रद्द कर दिया गया.

आईपीएल अवार्ड (IPL Awards)

आईपीएल के हर सीजन में कई तरह के अवार्ड भी प्लेयर्स को दिए जाते हैं और इन्हीं अवार्ड में से दो अवार्ड ऑरेंज और पर्पल कैप है. ऑरेंज कैप बल्लेबाजों के लिए बनाई गई है और पर्पल कैप गेंदबाजों के लिए. आईपीएल के सीजन में जो बल्लेबाज सबसे अधिक रन बनाते हैं ये कैप उसके पास चली जाती है और इस तरह से फाइनल मैच होते होते ये कैप उस बल्लेबाज के पास होती है जिसने मौजूद सीजन में सबसे अधिक रन बनाए हों. ठीक इसी तरह गेंदबाज के साथ भी होता है.

this year ipl tropy 2022
this year ipl tropy 2022

विजेता टीम को मिलने वाली राशि (Prize Money)

आईपीएल के हर सीजन में ईनाम राशि अलग अलग होती है और इस वर्ष के लीग को जीतने वाली टीम को 20 करोड़ रुपए दिए जाएंगे. दूसरी पोजीशन पर आने वाली टीम के लिए ये प्राइज मनी 12.5 करोड़ तय की गई है, तीसरी और चौथी पोजीशन कर आने वाली टीम के लिए ये राशि 8.75 करोड़ है.

आईपीएल कितना फेमस है (IPL Popularity)

  • आईपीएल का जुनून केवल भारत तक सीमित नहीं है, इस लीग को अन्य देशों में भी देखा जाता है. एशिया, मध्य पूर्व, ब्रिटेन, ऑस्ट्रेलिया, और अमेरिका में आईपीएल की व्यूवरशिप काफी अधिक है.
  • साल 2017 के आईपीएल सीजन की व्यूवरशिप में साल 2016 के मुकाबले में 40 प्रतिशात वृद्धि हुई थी. जिसके साथ ही आईपीएल का पिछला सीजन सबसे प्रसिद्ध सीजन बन गया था.
  • उम्मीद की जारी रही है कि इस साल के आईपीएल सीजन को साल 2017 से अधिक व्यूवरशिप मिलेगी. क्योंकि इस साल के सीजन के ओपनिंग मैच को सबसे ज्यादा दर्शकों द्वारा देखा गया है.
  • आईपीएली की प्रसिद्धता का अंदाजा आप इस बात से भी लगा सकते हैं कि आईपीएल दुनिया में सबसे महंगे खेलों में से एक हैं और हर साल इस लीग से करोड़ रुपए का मुनाफा होता है.
  • ये गेम टी.वी तक सीमित नहीं रहकर ऑनलाइन भी खूब देखा जाता है और ऑनलाइन भी इसकी व्यूवरशिप लाखों की है. साल 2018 के इसके लीग के पहले सप्ताहांत में आईपीएल की आधारिक वेबसाइट को 3.5 मिलियन से अधिक हिट मिलें हैं.

    आईपीएल की कमाई कैसे होती है (How the IPL Team Owners Make Money)

दुनिया के सबसे महंगे खेलों में शामिल आईपीएल की टीमों के मालिक पांच तरीकों के जरिए पैसे कमाते हैं, जो कि इस प्रकार हैं

ईनाम राशि (Prize Money)

आईपीएल के सीजन के अंत में टॉप चार टीमों को इनाम के तौर पर पैसे दिए जाते हैं, जो कि इस टीम के मालिकों के पास जाते हैं. आईपीएल के तहत दी जानी वाली ये राशि हर साल बढ़ती है और हर साल विजेता टीम को करोड़ रुपए मिलते हैं.

ब्रांड वैल्यू (Brand Value)

आईपीएल टीमों के मालिक हर साल करोड़ों रुपए देकर सबसे लोकप्रिय खिलाड़ियों को खरीदते हैं ताकि उनकी टीम की ब्रांड वैल्यू बढ सके. क्योंकि टीम की वैल्यू बढ़ने से ही टीम को अच्छे खासे निवेशकों मिलते हैं.

प्रायोजक (Sponsors)

इंडियन प्रीमियर लीग के मालिक प्रायोजक के जरिए पैसे कमाते हैं और प्रायोजक आय ही टीमों की कमाई का असली सोर्स हैं. आप लोगों ने आईपीएल टीमों के प्लेयर्स की जर्सी पर कई सारे कंपनियों के नाम लिखे हुए देखें होंगे, जो कि टीमों के प्रायोजक होते हैं.

टिकटों के जरिए (Tickets)

आईपीएल फ्रेंचाइजी लेने वाले मालिकों की आय का अन्य प्रमुख सोर्स टिकट भी है. यानी जिस भी टीम के घरेलू मैदान पर मैच खेले जाते हैं. उस मैच को देखने के लिए दर्शकों द्वारा खरीदी गई टिकट के पैसे उस टीम के मालिकों के पास जाते हैं.

मीडिया राइट्स (Media Rights)

  • मीडिया राइट्स के जरिए आईपीएल टीमों के मालिक सबसे अधिक कमाई करते हैं और ये आय का सबसे महत्वपूर्ण सोर्स है.
  • मीडिया राइट्स का मतबल होता है कि किसी चैनल को मैच प्रसारण करना का अधिकार देना और ये आधिकार हासिल करने के लिए चैनल द्वारा बीसीसीआई को पैसे दिए जाते हैं.
  • जिसके बाद बीसीसीआई इन पैसों में से अपना हिस्सा रख लेती है और बाकी बेचे हुए पैसे टीमों में बांट देती है. ये पैसे टीमों की रैंक के हिसाब से उनके मालिकों को दिए जाते हैं.
  • यानी जो टीम सीजन में पहले नंबर पर आती है उसे ज्यादा पैसे मिलते हैं और जो टीम आखिरी नंबर पर आती हैं उन्हें कम पैसे दिए जाते हैं.

मर्चेंडाइजिंग सेल्स (Merchandising Sales)

आईपीएल की टीमे कैप्स, कलाई वाली घड़ियों टी- शर्ट बचकर भी कमाई करती हैं और इन सब चीजों को दर्शकों और आईपीएल प्रेमियों द्वारा काफी खरीदा जाता है. जो कि आईपीएल टीमों के मालिकों के लिए एक आय की तरह कार्य करती है.

आईपीएल के कारण भारत की पॉपुलैरिटी बढ़ी

  • आईपीएल की कामयाबी के कारण भारत की पहचान भी दुनिया भर में और बढ़ सकी है. आज आईपीएल की वजह से ही भारत का नाम भी खेल जगत में होने वाली सभी प्रसिद्ध लीगों में गिना जाता है.
  • दुनिया भर के क्रिकेटर भारत के इस क्रिकेट लीग का हिस्सा बनना चाहते हैं. जिसके कारण भारत देश क्रिकेटरों के व्यापार में सबसे अधिक पॉपुलर हो गया है.

आईपीएल के फायदा (Advantages of the IPL)

  • नए टैलेंट को बढ़ावा
  • आईपीएल के कारण ही आज भारत के युवा प्लेयर्स को अपना हुनर दिखाने का चांस मिल रहा है और इस समय हमारे देश के काफी काबिल युवा प्लेयर्स अपने देश के और अन्य देशों के प्लेयर्स के साथ खेल पा रहे हैं और उनसे काफी कुछ सीख पा रहे हैं.

देश की इकॉनमी को फायदा

आईपीएल की वजह से हमारे देश को कई फायदे भी हो रहे हैं, जैसे कि इसकी वजह से हमारे देश की इकॉनमी बढ़ रही है और अन्य देश से लोग इन खेलों को देखने के लिए भारत आ रहे हैं, जिससे की हमारे देश के टूरिज्म को भी बढ़ावा मिल रहा है.

अन्य तरह के लीगों की हुई शुरूआत

आईपीएल के कामयाब होने के बाद हमारे देश में अन्य खेलों जैसे कि कबड्डी, फुटबॉल और बैडमिंटन इत्यादि के लीग भी शुरू किए गए हैं जिससे की इन खेलों को भी भारत में बढ़ावा मिल रहा है.

आईपीएल के नुकासन (Disadvantages of the IPL)

  • आईपीएल की वजह से हमारे देश के प्लेयर्स को आराम करना का मौका नहीं मिलता है. जिसकी वजह से वो
  • अंतरराष्ट्रीय स्तर पर होने वाले खेलों में सही तरह से प्रदर्शन नहीं दे पाते हैं.
  • आईपीएल के जरिए कई प्लेयर्स काफी अधिक कमाई कर रहें हैं, जिसके कारण उनका झुकाव पैसों की और ज्यादा हो रहा है और कई प्लेयर्स समय से पहले रिटायरमेंट भी ले रहे हैं.

आईपीएल के कारण बीसीसीआई की पहचान

बीसीसीआई क्रिकेट जगत में सबसे अधिक पैसा कमाने वाला क्रिकेट बोर्ड हैं और काफी प्रसिद्ध भी है. लेकिन आईपीएल शुरू होने के बाद से बीसीसीआई का कद क्रिकेट की दुनिया में और बढ़ गया है. आज बीसीसीआई आईपीएल के जरिए करोड़ों रुपये की कमाई कर रहा है. इसके साथ ही आईपीएल की वजह से ही दुनिया भर में क्रिकेट को और पहचान मिल सकी है.

आईपीएल के साथ जुड़े विवाद (IPL Controversies)

  • साल 2013 के लीग के दौरान मैच फिक्सिंग की गई थी जिसके कारण दो टीमों पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और ये टीम चेन्नई सुपर किंग्स और राजस्थान रॉयल्स थी. इन टीमों के अलावा कई प्लेयर्स पर भी इस लीग में भाग लेने पर बैन लगाया गया था. हालांकि की बैन लगी टीमों ने साल 2018 के लीग में फिर से वापसी कर ली है.
  • साल 2013 में आईपीएल की फ्रेंचाइजी टीम पुणे वॉरियर्स इंडिया (पीडब्ल्यूआई) के मालिकों ने अपनी ये फ्रेंचाइजी छोड़ दी थी. क्योंकि इस टीम के मालिकों द्वारा फ्रेंचाइजी लेने का शुल्क भुगतान नहीं किया गया था.
  • आईपीएल को शुरू करने के पीछे सबसे बड़ा हाथ ललित मोदी का ही था और ये आईपीएल के अध्यक्ष हुआ करते थे. लेकिन सट्टेबाजी और मनी लॉंडरिंग में शामिल होने के कारण मोदी को आईपीएल से निकाल दिया गया था और इस वक्त ये दूसरे देश में रह रहे हैं.

आईपीएल से जुड़े रोचक तथ्य (IPL Interesting Facts)

  • एक खिलाड़ी के अनुबंध (contract) की अवधि एक वर्ष की होती है मगर फ्रेंचाइजी चाहे तो अपने खिलाड़ी के अनुबंध को दो साल तक के लिए भी बढ़ा सकती है.
  • आईपीएल की एक टीम में 18 से लेकर 25 प्लेयर्स हो सकते हैं, जिनमें अधिकतम 8 विदेशी प्लेयर्स को एक टीम रख सकती हैं.
  • डेक्कन चार्जर्स, गुजरात लॉयन्स, कोच्चि टस्कर्स केरल, पुणे वॉरियर्स इंडिया और राइजिंग पुणे सुपरर्जेंट एक समय में आईपीएल की टीमें हुआ करती थी लेकिन अब ये टीमें आईपीएल का हिस्सा नहीं हैं.
  • विवो कंपनी ने आईपीएल की शीर्षक प्रायोजक (Title sponsor) करीब 439.8 करोड़ रुपये में खरीदी है और विवो को ये शीर्षक प्रायोजक 5 सालों के लिए यानी साल 2018 से साल 2022 तक के लिए दी गई है.
  • विश्व भर के करीब 18 देशों में आईपीएल मैच को प्रसारण किया जाता है, जबकि आईपीएल को इंटरनेट में प्रसारण करने का अधिकार हॉटस्टार के पास हैं.
  • आईपीएल गवर्निंग काउंसिल इस टूर्नामेंट के सभी कार्यों के लिए ज़िम्मेदार है और इस काउंसिल के मेंबर राजीव शुक्ला, अजय शिर्कि, सौरव गांगुली, अनुराग ठाकुर और अनिरुद्ध चौधरी हैं.
  • आईपीएल में किसी भी पाकिस्तान के प्लेयर्स को हिस्सा लेने का अधिकार नहीं है. हालांकि जिस वक्त आईपीएल स्टार्ट हुआ था, उस समय कई टीमों में पाकिस्तान के प्लेयर्स हुआ करते थे. लेकिन बाद में इस देश के प्लेयर्स को आईपीएल में लेने पर बैन लगा दिया गया था.
  • आईपीएल को जब हमारे देश में स्टार्ट किया गया था, तो उस समय किसी को भी इस लीग के इतने कामयाब होने की उम्मीद नहीं थी. लेकिन ये लीग धीरे -धीरे भारत सहित दुनिया भर में काफी प्रसिद्ध हो गया है और इस लीग का भविष्य काफी सुनहरा है.

FAQ :

Q : आईपीएल में पर्पल कैप किसे मिलती है ?

Ans : गेंदबाज को सबसे ज्यादा विकेट लेने पर

Q : आईपीएल की टीम कितनी है ?

Ans : पहले आठ (8) और अब (2022) दस (10)

Q : आईपीएल में ऑरेंज कैप किसे मिलती है ?

Ans : बल्लेबाज को सबसे ज्यादा रन बनाने पर

Q : आईपीएल (2022)कब शुरू हुआ ?

26 मार्च को आईपीएल 2022 शुरू हुआ

Q : पहला आईपीएल मैच कब हुआ?

Ans : 2008 का आईपीएल 18 अप्रैल से 1 जून के बीच आयोजित किया गया था

Leave a Reply