Jammu kashmir: शेहला रशीद ने पिता पर लगाए घरेलू हिंसा के आरोप, पिता के आरोपों को बताया बेबुनियाद

न्यूज़, Top News
Jammu kashmir: Shehla Rashid accuses father of domestic violence,
Jammu kashmir: Shehla Rashid accuses father of domestic violence
IMAGE BY : YOUTUBE

शहला रशीद (Shehla Rashid) ने अपने पिता के आरोपों को बेबनियाद बताते हुए आज (सोमवार) को एक बयान जारी किया जिसमे शहला रशीद (Shehla Rashid)

Advertisement
ने अपने पिता अब्‍दुल रशीद शौरा पर घरेलू हिंसा के आरोप लगाए। शहला रशीद (Shehla Rashid) ने एक बयान जारी करते हुए

कहा कि परिवार में ऐसा नहीं होता, जैसा मेरे पिता ने किया है. उन्होंने मेरे साथ-साथ मेरी मां और बहन पर भी बेबुनियाद आरोप लगाए हैं. शहला रशीद (Shehla Rashid) ने ट्वीट करते हुए कहा कि वह पत्नी को पीटने वाले, एक अपमानजनक और दुष्‍ट इंसान हैं।

हमने आखिरकार उनके खिलाफ कार्रवाई करने का फैसला किया है और यह स्टंट उसी की प्रतिक्रिया है।”

आइये जानते है,पूरा मामला

दरअसल, शहला रशीद (Shehla Rashid) के पिता ने जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलिस महानिदेशक (DGP) को पत्र लिखकर अपनी बेटी पर संगीन आरोप लगाए हैं. जिसके बाद से यह मुद्दा सुर्खियों में चल रहा है.

शहला रशीद (Shehla Rashid) के पिता अब्‍दुल रशीद शौरा ने जानकारी दी है। कि उसके घर में करोड़ो रुपए के ट्रांजेक्शन हो रहे हैं. पिछले दिनों अचानक उनके घर में 3 करोड़ कैश आया. जिसके बारे में पूछने पर शहला (Shehla) ने अपने पिता को ही जान से मारने की धमकी दे दी थी 

शहला रशीद (Shehla Rashid) के पिता ने उसकी देशद्रोही मानसिकता को देश के सामने उजागर कर दिया. उन्होंने आरोप लगाया है कि लीगल डॉक्युमेंट्स में  शहला रशीद (Shehla Rashid) अपने आपको बेरोजगार बताती है,

तो ऐसे में पैसा कहां से आएगा. उसकी जांच होनी चाहिए. सभी को पता चल जाएगा कि फंडिंग कहां से आ रही है और क्यों आ रही है

जब शहला रशीद शहला (Shehla) और अब्‍दुल रशीद शौरा के मामले ने तूल पकड़ना सुरु किया तो शहला (Shehla) ने भी एक के बाद एक ट्वीट करके अपनी सफाई पेश की है.

परिवार में ऐसा नहीं होता, जैसा मेरे पिता ने किया है। उन्होंने मेरे साथ-साथ मेरी मां और बहन पर भी बेबुनियाद आरोप लगाए हैं। शहला (Shehla) ने ट्वीट करते हुए कहा कि

वह पत्नी को पीटने वाले, एक अपमानजनक और दुष्‍ट इंसान हैं। हमने आखिरकार उनके खिलाफ कार्रवाई करने का फैसला किया है और यह स्टंट उसी की प्रतिक्रिया है।”

यह कोई राजनीतिक मामला नहीं है, क्योंकि यह तब से चल रहा है जब से मैं होश में आई हूं.

 उसने कभी अपने सपनों में नहीं सोचा था कि उसकी आज्ञाकारी पत्नी और डरपोक बेटियां कभी उसके खिलाफ बोलेंगी. चूंकि उन्हें माननीय न्यायालय द्वारा घर में प्रवेश करने से रोका गया था, इसलिए वे सस्ते स्टंट का सहारा लेकर न्यायिक प्रक्रिया को पटरी से उतारने की कोशिश कर रहे हैं.”

यह पारिवारिक मसला है लेकिन हम पर लगाए गए आरोप बहुत गंभीर हैं. असलियत तो यह है कि मेरी मां, बहन और मैंने अपने पिता के खिलाफ कोर्ट में घरेलू हिंसा की शिकायत दर्ज कराई है. 17 नवंबर 2020 से उनके हमारे घर में घुसने से रोक लगा दी गई है. आप सभी से निवेदन है कि उनकी बातों को गंभीरता से न लें.”

Leave a Reply