kanji wada recipe : कांजी वड़ा बनाने की विधि

न्यूज़, हेल्थ
kanji wada recipe : कांजी वड़ा बनाने की विधि
kanji wada recipe : कांजी वड़ा बनाने की विधि

कांजी वड़ा बनाने की विधि – kanji wada recipe : Method of preparation for Kanji Vada

त्यौहारों एवं पार्टियों में लगातार लज़ीज़ पकवान खा-खा कर मन ऊब जाता है।आज हम आपके लिए कांजी वड़ा रेसिपी (Kanji Vada) लाए हैं।मुख्य रूप से कांजी वड़ा (Kanji Vada

Advertisement
) एक राजस्थानी रेसिपी (Rajasthani Recipe) है यह विशेष रूप से त्यौहारों पर बनाया जाता है।

रेसिपी ऑफ़ कांजी वड़ाKanji wada recipe : Method of preparation for Kanji Vada

त्यौहारों के अवसर पर पर पकवान और स्वादिस्ट मिठाईया खाने में बहुत अच्छी लगती है पर कुछ समय के बाद इन पकवानो और मिठाइयों के कारण अनेको समस्याएं होने लगती है ऐसे अवसर पर कांजी वड़ा (Kanji Vada) पिने को मिल जाए,तो मुंह का स्वाद एवं हाजमा (digestion) दोनों ही ठीक हो जाये,

तो अब देर किस बात की,आइये जानते है कांजी वड़ा बनाने की विधि । हमें उम्‍मीद है कि https://sangeetaspen.com ब्लॉग के माध्यम से बताई गयी कांजी वड़ा रेसेपी आपको जरूर पसंद आएगी।

कांजी वड़ा बनाने की विधि एवं कांजी के लिए आवश्यक सामग्री – kanji wada recipe 

लाल मिर्च पाउडर (Chilli powder ) 1/2 छोटा चम्मच,
पिसी राई (Mustard seed powder) 02 बड़े चम्मच,
काला नमक (Black salt ) 1/2 छोटा चम्मच,
हल्दी पाउडर (Turmeric powder) 1 छोटा चम्मच,
नमक (Salt) स्वादानुसार।
हींग (Asafotida) 02 चुटकी,
तेल (Oil)
पानी (Water) 02 लीटर,

कांजी बनाने की विधि – Method of making Kanji (kanji wada recipe)

किसी बर्तन में पानी डालकर उबाल आने तक गरम कर लीजिए. फिर, पानी को ठंडा कीजिए. (आरो वाटर हो तो पानी को उबालने की आवश्यकता नहीं है).

एक कांच या प्लास्टिक का कन्टेनर लीजिए. इसे अच्छे से गरम पानी से धोकर धूप में सुखा लीजिए. फिर, इस साफ और सूखे कन्टेनर में सारे मसाले एक बड़े बाउल में हल्दी, लाल मिर्च, पिसी राई, हींग, काला नमक और नमक लेकर उसमें 1/2 बाउल पानी डालें और सारी चीजों को अच्छी तरह से मिला लें।अब इसमें 2 लीटर पानी मिला लें और उसमें वड़े डाल कर कर अच्छी तरह से चलाएं।

अब वड़ों को किसी गर्म जगह पर 2 दिनों के लिए रख दें। गर्म मौसम में इसमें दो दिन में एक सोंधी सी खटास आ जाएगी। पानी में डाले गये मसाले नीचे की ओर बैठ जाते हैं। इसलिए दिन में 1-2 बार सूखे और साफ चमचे से चला दें,जिससे कांजी अच्छी तरह से तैयार हो जाए। 2 दिन बाद कांजी (Kanji) तैयार हो जाएंगे।

तीसरे दिन कांजी को चखिए, कांजी हल्की हल्की खट्टी हो जाती है हल्की खट्टी कांजी आप पीना चाहें तो पी सकते हैं।चौथे दिन आप पानी को टेस्ट करेंगे तो पानी का स्वाद एकदम अच्छा खट्टा और बड़ा ही स्वादिष्ट हो गया है,अगर मौसम में ठंडक हो, तो कांजी तैयार होने में ज्यादा वक्त लग सकता है।

और हां,जब कांजी का पानी आपके मुताबिक खट्टा हो जाए, तो उसे फ्रिज में रख दें और 7 दिनों तक फ्रिज में रख कर इस्तेमाल सकते हैं।

kanji wada recipe : कांजी वड़ा बनाने की विधि
kanji wada recipe : कांजी वड़ा बनाने की विधि

बड़े को त्यार करने के लिए – Method of making Vada

मूंग दाल (Moong दाल) 100 ग्राम,
नमक (Salt ) 1/4 छोटा चम्मच,
तेल (Oil) तलने के लिए।

वड़ा बनाने की विधि – Method of making Vada

वड़ा बनाने के लिये सबसे पहले मूंग दाल को साफ करके धो लें और लगभग 3 से 4 घंटो के लिए पानी में भिगो दें। बाद में, इसमें से अतिरिक्त पानी निकाल दीजिए और दाल को भीगने के बाद दाल को ग्राइंडर में दरदरा करके पीस लें। अब किसी बड़े बर्तन हल्का नमक डाल कर अच्छी तरह से फेंट लें।

फेंटने के बाद दाल (जिसे पिट्ठी कहते हैं) की एक छोटी सी गोली पानी में डालें। अगर यह पानी के ऊपर तैरती रहे, तो ठीक, और अगर नीचे चली जाती है, तो इसका मतलब अभी इसे और फेंटने की ज़रूरत है।

पिट्ठी तैयार होने के बाद कड़ाही में तेल गरम करें। तेल गरम होने पर उसमें एक बड़े चम्मच के बराबर दाल की पिट्ठी हाथ से लेकर छोटे-छोटे वड़े डालें और वड़ों को पलट-पलट कर सुनहरा भूरा होने तक तलें। तलने के बाद वड़ों को किचन पेपर पर निकाल कर रख दे ।

जब सारे वड़े बन जाएं, तो एक बर्तन में गरम पानी लेकर उसमें एक छोटा चम्मच नमक मिला दें और फिर उसमें तले हुए बड़े डाल दें। पांच मिनट में वड़े अच्छी तरह से भीग जाएंगे। उसके बाद उन्हें हल्के हाथ से दबा कर पानी निकल दें और अलग रख दें। जिससे इन बड़ो से अतिरिक्त तेल निकल जायेगा ।

आधे घंटे बाद, गिलास में कांजी डालिए और 4 से 5 वड़े डाल दीजिए। स्वादिष्ट कांजी वड़ा तैयार है। खट्टे-खट्टे कांजी वड़ा को ऎसे ही सर्व कीजिए और चटखारे लेते हुए खाइए।

सूखे वड़े 3 दिनों तक फ्रिज में रख सकते हैं और जब भी कांजी सर्व करनी हो, तभी ऊपर दिए गए तरीके से सर्व करिए।

अगर आप वड़े नहीं बना सके हैं, तो कांजी के गिलास में रायते वाली बूंदी डालकर भी सर्व कर सकते है। पीली या काली सरसों उपलब्ध न हो तो राई का भी उपयोग किया जा सकता है।

kanji wada recipe 

क्या डायबिटीज में कांजी वड़ा खा सकते है ?

नहीं कोई भी डायबिटीज का मरीज़ या हार्ट से संबंधित प्रॉब्लम वाला व्यक्ति या फिर जो वजन कम करना चाहते है । वो सभी कांजी वड़ा नहीं खा सकते .क्युकी यह डीप फ़्राय होता है। और जो खाना ज्यादा तला हो वह स्वास्थ्य के लिए उत्तम नहीं है।

कांजी वड़ा में कितनी कैलोरी होती है ?

एक कांजी वड़ा में 155 कैलोरी होती है। जिसमे कार्बोहाइड्रेट 76 कैलोरी, प्रोटीन 31 कैलोरी और अन्य शेष कैलोरी वसा से आती वो है। 49कैलोरी एक कांजी वादा 2,000कैलोरी के एक मानक वयस्क आहार की कुल दैनिक कैलोरी आवश्यकता का 8 प्रतिशत प्रदान करता है।

कांजी वड़ा में क्या क्या परेशानिया है ?

Deep fried food – कांजी वड़ा एक डीप फ्राइड फ़ूड (deep fried food) है कोई भी तला भोजन स्वास्थ्य के लिए अच्छा नहीं है क्युकी तलने के कारण ज्यादा तेल सोखा जाता है। इसके अलावा जब तलने के लिए बार बार उसी तेल का उसे होता है । तो उसका स्मोकिंग पॉइंट (smoking point) कम हो जाता है । जिससे नीले धुवे का विकाश होता है।

यह नीला धुँआ स्वास्थ्य के लिए बेहद नुकशान दायक होता है। .प्रोसेस्ड फ़ूड, डीप फ्राइड फूड्स, शरीर में सूजन (inflammation) बढ़ाते है और वसा जलाने की प्रकिया को बंद कर देते है। जिससे ज्यादातर बीमारिया जैसे की ह्रदय की परेशानिया, डायब्टिस, पार्किसन, कैंसर, अल्ज़ाइमा और मोटापा इन सब का कारण बनता है।

इससे कोशिकाओं का इन्फ्लमेशन (inflammation) होना सुरु हो जाता है जो दिल के दौरे का कारण बनता है । इसलिए हमेसा ऑइलफ्री आहार या ऐसे आहार अपनी डाइट में शामिल करे जो आपकी बॉडी को स्वस्थ्य रखे यह स्वस्थ आहार आपको बीमारियों से बचाएगा और रोग मुक्त रहना किसी वरदान से कम नहीं

हमें कमेंट कर जरूर बताये की आपको यह रेसेपी का टेस्ट कैसा लगा। आपका एक – एक कमेंट हमे नए – नए टॉपिक लिखने के लिए मोटिवेट करता है ।

kanji wada recipe

अगर आपको यह पोस्ट पसंद आयी हो तो इसे शेयर अवश्य करे आप मुझे मेरे यूट्यूब चैनल sangeetaspen पर भी सब्सक्राइब कर सकते है जहा पर में हर लेटेस्ट जानकारी शेयर करती हु ।

Leave a Reply