Karwa Chauth 2021 and Pregnancy:प्रेग्नेंसी में रख रहीं हैं करवा चौथ का व्रत ? इन चीजों का रखें ख्याल

न्यूज़
Karwa Chauth 2021 and Pregnancy: are keep fasting during pregnancy
Karwa Chauth 2021 and Pregnancy: are keep fasting during pregnancy

Karwa Chauth 2021 and Pregnancy: प्रेग्नेंसी में रख रहीं हैं करवा चौथ का व्रत? इन चीजों का रखें खास ख्याल, नहीं होगी कोई परेशानी
Advertisement

Karwa Chauth 2021: दिनभर प्यासी रहने के कारण महिलाओं को कई बार डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है जिससे शरीर में की तरह की परेशानियां हो सकती है. गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है.

यह भी पढ़ें : Karwa Chauth 2021: करवा चौथ पर सास बहू को दें ऐसा गिफ्ट


Karwa Chauth 2021: देशभर में 24 अक्टूबर को सुहागिन औरतें बड़ी धूमधाम और श्रद्धा के साथ करवा चौथ (karwa chauth 2021) का व्रत मनाएंगी. यह व्रत महिलाएं अपने पति के लंबे और स्वस्थ जीवन के लिए रखती हैं. वैसे देखा जाए तो व्रत दो तरह के होते हैं. एक व्रत जिसमें आप फलाहार, फ्रूट जूस, दूध, चाय, पानी और व्रत वाले अनाज से बनी चीजों को खा सकती हैं. वहीं निर्जला व्रत में आप कुछ भी खा पी नहीं सकती हैं. करवा चौथ के दिन निर्जला उपवास रखती हैं और शाम को चांद की पूजा करके अपने व्रत को खत्म करती है.


दिन भर बिना पानी पिएं रहना बेहद मुश्किल काम हो सकता है. लेकिन, यह परेशानी और बढ़ जाती है जब आप प्रेग्नेंट हैं. निर्जला व्रत करना आपके और आपके बच्चों की सेहत के लिए खतरनाक साबित हो सकती है. हालांकि, गर्भवती महिलाओं को व्रत रखने के लिए मना किया जाता है इसलिए कई प्रेगनेंट महिलाओं के मन में यह सवाल रहता है कि क्‍या वो करवा चौथ का व्रत रख सकती है और हां तो इस व्रत के दौरान उन्‍हें किन बातों का ध्‍यान रखना होगा।अगर आप भी प्रेग्नेंट हैं और करवा चौथ के दिन निर्जला उपवास (Karwa Chauth Fast for Pregnant Ladies) रखने वाली हैं तो कुछ जरूरी बातों का विशेष ध्यान रखें.

यह भी पढ़ें : Karwa Chauth Vrat 2021 : करवा चौथ कब है 2021,व्रत की कहानी, पूजा उद्यापन विधि

शरीर को जरूरत के अनुसार कैलोरी नहीं मिल पाती है

आपको बता दें कि डॉक्टर्स और न्यूट्रिशनिस्ट्स का यह मानना है कि प्रेग्नेंसी के दौरान व्रत रखने नें शरीर को जरूरत के अनुसार कैलोरी नहीं मिल पाती है. इससे शरीर में हार्मोन्स का नेचुरल मेटाबॉलिज्म लेवल (Metabolism of Body) खराब हो जाता है. प्रेग्नेंसी के दौरान महिलाओं को यह जरूरत होती है कि वह दिनभर कुछ न कुछ खाती रहे.

गर्भावस्‍था के दौरान प्रेगनेंट महिला द्वारा लिए गए आहार के जरिए ही गर्भस्‍थ शिशु को पोषण मिलता है। यही वजह है कि प्रेगनेंसी के नौ महीनों में महिलाओं को पौष्टिक आहार लेने के लिए कहा जाता है क्‍योंकि उनके आहार पर ही शिशु का विकास निर्भर करता है।

ऐसे में अगर प्रेगनेंट महिला व्रत रख ले और दिनभर कुछ न खाए तो बच्‍चा भी पूरा दिन भूखा रहता है जो कि उसके विकास के लिए सही नहीं है। 

व्रत रखने से पहले गाइनैकॉलजिस्ट से ले सलाह

दिनभर प्यासी रहने के कारण महिलाओं को कई बार डिहाइड्रेशन की समस्या हो सकती है जिससे शरीर में की तरह की परेशानियां हो सकती है. गर्भ में पल रहे बच्चे पर भी इसका बुरा प्रभाव पड़ता है. बच्चे के डेली पोषण की जरूरत पूरी नहीं हो पाती है. ऐसे में में कोशिश करें कि व्रत करने से पहले अपने गाइनैकॉलजिस्ट से सलाह जरूर कर लें. डॉक्टर की सलाह और देखरेख में ही व्रत करें. डॉक्टर आपको अपके केस और हेल्थ कंडीशन के अनुसार ही स्वास्थ्य सलाह देते हैं.

आप व्रत को हेल्दी तरीके से रखें

अगर आपके घर में कोई बड़ा बुजुर्ग हो तो उनसे निर्जला व्रत करने के बजाए फलहार व्रत करने के बारे में आप पूछ सकती है. वह अपको बेहतर सलाह देंगे. इस तरह आप व्रत के तरीके में कुछ बदलाव कर सकती हैं. सुबह सबसे पहले उठकर एक गिलास दूध जरूर पी लें. यह अपको दिन भर एनर्जी से भरपूर रखेगा. अगर आपको दिन के समय में कमजोरी या ऐसिडिटी फिल हो रही है तो फ्रूट सलाद बिना नमक के खा सकती है. कोशिश करें कि दिन में कम से कम दो बार नारियल पानी जरूर पिएं. यह अपको एनर्जी से भरपूर रखेगा. करवा चौथ का व्रत खोलने के बाद एक गिलास दूध फिर से पिएं. यह आपको एनर्जी से भरपूर रखेगा.

जितना हो सके आराम करें

अगर आप प्रेग्नेंट हैं और आपने व्रत रखा है तो कोशिश करें कि जितना हो सके दिनभर आराम करें. दिन में कुछ घंटे सो लें, किताबे पढ़ लें और चाहें तो अपना मन पसंद म्यूजिक सुन लें. यह आपकी एनर्जी को भी सेल करेगा और साथ ही आपका दिन कैसे निकल जाएगा आपको पता भी नहीं चलेगा.

गर्भावस्‍था में व्रत रखने के नुकसान

प्रेगनेंसी में लंबे समय तक भूखे रहने की वजह से पेट फूलने, एसिडिटी, मतली और असहज महसूस हो सकता है। यही वजह है कि गर्भवती महिलाओं को थोड़ी-थोड़ी देर में कुछ न कुछ खाते रहने की सलाह दी जाती है वरना उनकी तबियत खराब हो सकती है।

इस बात का रखें ध्‍यानजा प्रेगनेंट महिलाएं करवा चौथ का व्रत (karwa chauth fast in pregnancy in hindi) रखने का मन बना चुकी हैं, वो एक बात का और ध्‍यान रखें कि व्रत वाले दिन कोई भी ज्‍यादा मेहनत वाला काम न करें। ऐसा कोई भी काम न करें जिससे आपको जल्‍दी थकान हो। इससे आपकी तबियत बिगड़ सकती है।


करवा चौथ का व्रत पति-पत्‍नी के रिश्‍ते के लिए बहुत खास होता है लेकिन इस व्रत का उद्देश्‍य यह बिलकुल नहीं है कि आप अपने गर्भस्‍थ शिशु और अपनी सेहत पर ध्‍यान न दें। यदि आप बहुत कमजोर हैं तो व्रत न रखें और डॉक्‍टर से परामर्श करने के बाद ही व्रत रखने का फैसला लें।


Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की sangeetaspen.com पुष्टि नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. 

Karwa Chauth Vrat 2021 : करवा चौथ कब है 2021,व्रत की कहानी, पूजा उद्यापन विधि

 Ghar par kaise sajaye Karwa Chauth thali

सरगी क्या है,क्यों दी जाती है,सरगी का महत्व

कोरोना काल में कैसे मनाये Karwa Chauth व्रत

 

Leave a Reply