Karwa Chauth 2020 : करवा चौथ कब है, करवा चौथ का शुभ मुहूर्त,कथा,मंत्र,आरती

आस्था
Karwa Chauth 2020 Kab Hai,Karwa Chauth 2020 Date And Time, Mantra,
Karwa Chauth 2020 Kab Hai,Karwa Chauth 2020 Date And Time, Mantra,

करवा चौथ 2020 में कब है (Karwa Chauth 2020  Kab Hai)

Karwa Chauth 2020 Date And Time 

करवा चौथ के दिन पार्वती माता की पूजा की जाती है, और रात्रि में चंद्रमा को अर्घ्य देकर व्रत को खोला जाता है, क्यों कि चंद्रमा को जाग्रत देवता (जिसकी पूजा, अर्चना से सभी मनोकामनाएं पूरी हो जाती है) माना जाता है।

Advertisement

तो आइए जानते हैं करवा चौथ 2020 में कब है (Karwa Chauth 2020  Kab Hai),करवा चौथ का शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth Shubh Muhurat),करवा चौथ का महत्व (Karwa Chauth Ka Mahatva), करवा चौथ की  कथा (Karwa Chauth Story), करवा चौथ के मंत्र करवा चौथ का शुभ मुहूर्त (Karwa Chauth Mantra) और करवा चौथ की आरती (Karwa Chauth Aarti)

यह भी पढ़े : karva chauth 2020 : special saree


चौथ का शुभ मुहूर्त  (Karwa Chauth 2020 Shubh Muhurat)

करवा चौथ तिथि- 04 नवंबर 2020 (बुधवार)
करवा चौथ पूजा मुहूर्त-
शाम 5 बजकर 29 मिनट से शाम 6 बजकर 48 मिनट तक
चंद्रोदय- रात 8 बजकर 16 मिनट पर
चतुर्थी तिथि आरंभ- सुबह 3 बजकर 24 मिनट पर (04 नवंबर)

करवा चौथ (Karwa Chauth 2020 Story) व्रत कथा

करवा चौथ व्रत कथा के अनुसार एक साहूकार के सात बेटे थे और करवा नाम की एक बेटी थी. एक बार करवा चौथ के दिन उनके घर में व्रत रखा गया. रात्रि को जब सब भोजन करने लगे तो करवा के भाइयों ने उससे भी भोजन करने का आग्रह किया. उसने यह कहकर मना कर दिया कि अभी चांद नहीं निकला है

और वह चन्द्रमा को अर्घ्य देकर ही भोजन करेगी. सुबह से भूखी-प्यासी बहन की हालत भाइयों से नहीं देखी गई. सबसे छोटा भाई दूर एक पीपल के पेड़ में एक दीपक प्रज्वलित कर आया और अपनी बहन से बोला- व्रत तोड़ लो, चांद निकल आया है. बहन को भाई की चतुराई समझ में नहीं आई और उसने खाने का निवाला खा लिया. निवाला खाते ही उसे अपने पति की मृत्यु का समाचार मिला.

यह भी पढ़े : karva chauth 2020 : special saree

शोकातुर होकर वह अपने पति के शव को लेकर एक वर्ष तक बैठी रही और उसके ऊपर उगने वाली घास को इकट्ठा करती रही. अगले साल कार्तिक कृष्ण चतुर्थी फिर से आने पर उसने पूरे विधि-विधान से करवा चौथ व्रत किया, जिसके फलस्वरूप उसका पति दोबारा जीवित हो गया.

करवा चौथ के मंत्र (Karwa Chauth Ke Mantra)

1.ॐ गणेशाय नमः
2.ॐ नमः शिवाय
3.ॐ शिवायै नमः
4.ॐ षण्मुखाय नमः 5.ॐ सोमाय नमः

यह भी पढ़े : Karwa Chauth 2020 :पूजा,शुभ मुहूर्त,तथा कथा


करवा चौथ माता की आरती (Karwa Chauth 2020 Aarti) आरती

ऊँ जय करवा मइया, माता जय करवा मइया ।
जो व्रत करे तुम्हारा, पार करो नइया ।।
ऊँ जय करवा मइया। सब जग की हो माता, तुम हो रुद्राणी।
यश तुम्हारा गावत, जग के सब प्राणी ।।
ऊँ जय करवा मइया। कार्तिक कृष्ण चतुर्थी, जो नारी व्रत करती।
दीर्घायु पति होवे , दुख सारे हरती ।।
ऊँ जय करवा मइया। होए सुहागिन नारी, सुख सम्पत्ति पावे।
गणपति जी बड़े दयालु, विघ्न सभी नाशे।।
ऊँ जय करवा मइया।
करवा मइया की आरती, व्रत कर जो गावे।
व्रत हो जाता पूरन, सब विधि सुख पावे।।
ऊँ जय करवा मइया।
ऊँ जय करवा मइया।।

(Disclaimer: इस लेख में दी गई सभी जानकारियां और सूचनाएं सामान्य मान्यताओं पर आधारित हैं. https://sangeetaspen.com/ इनकी पुष्टि नहीं करता है.

(इन विचारो पर अमल करने से पहले संबंधित जानकारों/विशेषज्ञ से संपर्क अवश्य कर ले)

Leave a Reply