kilmora benefit : किल्मोडा के फायदे / लाभ

हेल्थ
kilmora benefit
kilmora benefit

kilmora benefit : आज की इस पोस्ट में हम आपको sangeetaspen.com के माध्यम से किल्मोडा (किन्गोड) के खास औषधीय गुणों से परिचित करवाते हैं।साथ ही जाएंगे इसके फायदे (kilmora benefit)

Advertisement
क्या क्या है। यदि इसक़ा सही से उपयोग किया जाए तो इससे कई प्रकार के खाने पीने (चटनी, जूस, चाट, आयुर्वेदिक दवाइया) क़ी  चीजें बनायी जा सकती है। एवं किल्मोडा (किन्गोड) की जड़ो से भी अनेक रोगो (कैंसर, टीवी ) का इलाज़ किया जाता है।

किलमोड़ा (Kilmora) उत्तराखंड (Utrkhand) में 1400 से 2000 मीटर की ऊंचाई पर उगने वाला एक औषधीय प्रजाति का पौधा है। इसका बॉटनिकल नाम ‘बरबरिस अरिस्टाटा’(Berberidacese B.aristata) है। इसको अनेक स्थानों पर दारु हल्दी या दारु हरिद्रा के नाम से भी जाना जाता है। पर्वतीय क्षेत्र में उगने वाले किल्मोड़े से अब एंटी डायबिटिक दवा भी तैयार की जाने लगी है ।

किलमोड़ा पौधा दो से तीन मीटर ऊंचा होता है। पहाड़ में पायी जाने वाली कंटीली झाड़ी किनगोड़/ किलमोड़ा (Kilmora)आमतौर पर खेत के चारों तरफ बाउंड्री वॉल (खेतों की मुँडेरो पर बाड़) के तौर पर लगाकर जंगली जानवरों के नुकसान से बचा जा सकता है। साथ ही फल बेचकर रोजगार का साधन भी बन जाता है।

कुमाऊं विवि बॉयोटेक्नोलॉजी विभाग ने इस दवा के सफल प्रयोग के बाद अमेरिका के इंटरनेशनल पेटेंट सेंटर से पेटेंट भी हासिल कर लिया है। वनस्पति विज्ञान में ब्रेवरीज एरिस्टाटा को पहाड़ में किलमोड़ा के नाम से जाना जाता है।

इसकी लगभग 450 प्रजातियां दुनियाभर में पाई जाती हैं। भारत, नेपाल, भूटान और दक्षिण-पश्चिम चीन सहित अमेरिका में भी इसकी अनेक प्रजातियां मिलती हैं।किलमोड़े के फल में पाए जाने वाले एंटी बैक्टीरियल तत्व शरीर को अनेक बींमारियों से लड़ने में मदद (kilmora benefit) देते हैं।

दाद, खाज, फोड़े, फुंसी का इलाज तो इसकी पत्तियों में ही है। डॉक्टर्स कहते हैं कि अगर आप एक दिन में 5 से 10 किलमोड़े (Kilmora) के फल खाते है।तो शुगर के लेवल को बहुत ही जल्दी कंट्रोल किया जा सकता है। इसके अलावा खास बात ये है कि किलमोड़ा के फल और पत्तियां एंटी ऑक्सिडेंट कही जाती हैं।

एंटी ऑक्सीडेंट यानी कैंसर की मारक दवा। किलमोड़े (Kilmora) के फलों के रस और पत्तियों के रस का इस्तेमाल कैंसर की दवाएं तैयार करने के लिए किया जा सकता है। लेकिन धीरे धीरे किलमोड़े के खत्म होते अस्तित्व को वैज्ञानिकों और पर्यवरण प्रेमियों ने इसके खत्म होते अस्तित्व को लेकर चिंता जताई है।

किल्मोडा के फायदे / लाभ-Kilmora: beneficial to health,

kilmora benefit
kilmora benefit
  • किल्मोडा (Kilmora) के पौधे कंटीली झाड़ियों वाले होते हैं। और एक खास मौसम में इस पर बैंगनी फल आते हैं।
  • किल्मोडा की ताज़ा जड़ों का उपयोग मधुमेह और पीलिया के इलाज (kilmora benefit) के लिए किया जाता है।
  • किलमोड़े के तेल से जो दवाएं तैयार हो रही हैं। उनका इस्तेमाल शुगर, बीपी, वजन कम करने, अवसाद, दिल की बीमारियों की रोक-थाम करने में किया जा रहा है।
  • किल्मोडा (Kilmora) (बर्बेरिस एशियाटिक) अर्क ने शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट गतिविधि को दिखाया जो स्वस्थ दवा और खाद्य उद्योग दोनों में लागू होता है।
  • यह गठिया के इलाज में भी उपयोगी होता हैं।
  • किल्मोड़ा के फलों के रस और पत्तियों के रस का इस्तेमाल कैंसर की दवाएं तैयार करने के लिए किया जा सकता है।
  • इस पौधे किल्मोडा (Kilmora)  में एंटी डायबिटिक, एंटी इंफ्लेमेटरी, एंटी ट्यूमर, एंटी वायरल और एंटी बैक्टीरियल तत्व पाए जाते हैं। डायबिटीज के इलाज में इसका सबसे ज्यादा इस्तेमाल किया जाता है।
  • इस पौधे की जडो का रस पेट दर्द में तुरंत आराम देती है।

उमीद करती हु आपको हमारी किल्मोडा के फायदे / लाभ (Kilmora: beneficial to health,) पोस्ट पसंद आयी होगी। अगर आपको यह पोस्ट पसंद आये तो इसे like, share, और ऐसी ख़बरों के लिए मेरे ब्लॉग को subscribe, करे। अगर आपका कोई सुझाव या सवाल हो तो कमेंट करे में reply करूंगी

उत्तराखंड में पाये जाने वाले औषधीय जड़ी बूटी के बारे में और अधिक जानकारियों के तो नीचे दिए link पर click करें।

2 comments

Leave a Reply