M S dhoni retired from international cricket

न्यूज़
mahendra singh dhoni retirement from cricket
Advertisement

भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कैप्टन महेंद्र सिंह धोनी ने क्रिकेट से सन्यास की घोषणा कर दी  हलाकि अभी महेंद्र सिंह धोनी के फैन उनको IPL में खेलते हुए देख सकेंगे।

माहि के फैन के लिए यह थोड़ा निराशा जनक है की वह उनको ब्लू जर्सी में खेलते हुए विदाई नहीं दे पाए उनके संन्यास की अटखले बहुत पहले से लगाई जा रही थी BCCI चाहता तो वह Mahendra Singh dhoni से उनके फ्यूचर प्लान पर बात कर उन्हें farewell दिया जा सकता था।

dhoni most successful captain

2007 में टीम की कमान अपने हाथ में लेने के बाद धोनी ने कभी पीछे मुड़ कर नहीं देखा मुश्किल परिथितियों में भी वह मैदान में हमेशा शांत रहते इसलिए उनको Captain cool भी कहा जाता है। 

उन्होंने अपने ODI  क्रिकेट करियर की शुरुवाद 23, Dec 2004 को Bangladesh के खिलाफ  Chattogram से की थी। 

उनके ODI करियर की बात की जाये तो अब तक उन्होंने 350 मैच की  297 पारी में  50.57 के औसत से 10 शतको और 50 अर्ध शतको की सहायता से 10773 रन बनाये है उनका उच्तम स्क्रोर 183* अविजित है । 

वह ODI में 84 बार नाबाद रहे यह एक और विश्व रिकॉर्ड है।

वही उनके टेस्ट करियर की बात की जाये तो 90 मैच की 144 पारी में 38.09 के औसत से 4876 रन बनाये जिसमे 6 शतको और 33 अर्ध शतक शामिल है उनका उच्तम स्क्रोर 224 हैं। और वह 16 बार नाबाद रहे हैं।

T20 करियर में 98 मैच की 85 पारी में 37.60 के औसत से 1617 रन बनाये जिसमे 2 अर्ध शतक शामिल है उनका उच्तम स्क्रोर 56 हैं। और वह 42 बार नाबाद रहे हैं।

कप्तान के रूप में सबसे ज्यादा एकदिवसीय जीत

धोनी ने भारत को 6 अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय टूर्नामेंट के फाइनल में पहुँचाया और जिनमें से 4 में भारत ने जीत दर्ज की जिससे वह अंतर्राष्ट्रीय एकदिवसीय टूर्नामेंट के फाइनल में सबसे सफल कप्तान बने। कुल मिलाकर, धोनी ने एक कप्तान के रूप में 110 एकदिवसीय अंतर्राष्ट्रीय मैच जीते हैं, जो किसी भी खिलाड़ी द्वारा दूसरा सबसे अधिक है। पोंटिंग 165 वनडे जीतकर सूची में पहले स्थान पर हैं।

उनके द्वारा लगाए गए winning shot of world cup 2011 को कौन भूल सकता है। 

वनडे में सर्वाधिक नॉट आउट

एमएस धोनी 84 एकदिवसीय मैचों में नाबाद रहे हैं, यह एक और विश्व रिकॉर्ड है। दूसरा सर्वश्रेष्ठ दक्षिण अफ्रीका के पूर्व ऑलराउंडर शॉन पोलक का है, जो 72 नाबाद रहे है। जब भारत लक्ष्य का पीछा कर रहा था तब वह 51 बार नाबाद रहे हैं और आश्चर्यजनक रूप से, भारत 47 में विजयी हुआ जबकि दो मैच टाई हुए थे और केवल 2 बार हार का सामना करना पड़ा।

वह 16 बार Tests में और 42 बार T20 में नाबाद रहे हैं।

MS Dhoni: One name, a million memories! What’s your favourite memory

Ms Dhoni के life पर मूवी भी बन चुकी है मुझे उस मूवी से एक सीन याद आता है जिसमे उनकी माँ कहती है की “वह इतने में संतुष्ट होने वाला नहीं है”  हम भी यही कहंगे की “इतने से संतुष्ट मत होना” M S आपके फैन आपको जल्दी ही मैदान में नए रूप में देखना चाहते है। 

Leave a Reply