Madhya Pradesh Governor Lalji Tandon Death

न्यूज़
Madhya Pradesh Governor Lalji Tandon Death
Madhya Pradesh Governor Lalji Tandon Death

Table of Contents

मध्यप्रदेश के राज्यपाल और लखनऊ के पूर्व सांसद लाल जी टंडन का 85 साल की उम्र में निधन

मध्य प्रदेश के पूर्व राज्यपाल और लखनऊ के पूर्व सांसद लाल जी टंडन का आज सुबह निधन हो गया। लाल जी टंडन 85 साल के थे। 12 जून से उनका इलाज लखनऊ के मेदांता अस्पताल में चल रहा था। तबीयत बिगड़ने के बाद सीएम शिवराज सिंह चौहान उनसे मिलने के लिए लखनऊ भी गए थे। शिवराज सिंह चौहान लगातार लालजी टंडन के परिजनों के संपर्क में थे। पिछले कुछ दिनों से पूर्व सांसद लाल जी टंडन की तबीयत ज्यादा खराब थी।

Advertisement

लाल जी टंडन का बीजेपी और आरएसएस से भी लंबा रिश्ता रहा। लालजी टंडन लखनऊ से 15वीं लोकसभा के सदस्य रह चुके हैं। मूल रूप से उत्तर प्रदेश की राजनीति में सक्रिय रहने वाले टंडन प्रदेश की बीजेपी सरकारों में मंत्री भी रहे हैं और अटल बिहारी वाजपेयी के सहयोगी के रूप में जाने जाते रहे हैं। इन्होंने वाजपेयी के चुनाव क्षेत्र लखनऊ की कमान संभाली थी।

अटल बिहारी वाजपेयी के सहयोगी के रूप में जाने जाते हे लालजी टंडन
अटल बिहारी वाजपेयी के सहयोगी के रूप में जाने जाते हे लालजी टंडन

बीएसपी चीफ मायावती भी लालजी टंडन को अपना भाई मानती थीं और उन्हें राखी बांधती थीं
लाल जी टंडन को बेहद सामान्य जीवनशैली वाला नेता माना जाता था। लाल जी टंडन उत्तर प्रदेश में बीजेपी बीएसपी सरकार के सूत्रधार भी रहे। उन्होंने कल्याण सिंह सरकार और मायावती सरकार में बतौर मंत्री भी काम किया।

मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन हो गया, उनके बेटे आशुतोष टंडन ने बताया
लाल जी टंडन के निधन की सूचना उनके बेटे आशुतोष टंडन ने दी। इससे पहले सोमवार को खबर आई थी कि लालजी टंडन की हालत गंभीर है और वह वेंटिलेटर पर थे। आशुतोष टंडन उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार में नगर विकास, शहरी समग्र विकास, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन मंत्री हैं।

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने लालजी टंडन के निधन पर शोक जताया

भारत के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने शोक व्यक्त करते हुए ट्विटर पर लिखा- मध्य प्रदेश के राज्यपाल लाल जी टंडन के निधन में, हमने एक दिग्गज नेता को खो दिया है, जिन्होंने लखनऊ के सांस्कृतिक परिष्कार और एक राष्ट्रीय गतिरोध के संयोजन को जोड़ा है। मैं उनकी मृत्यु पर गहरा शोक व्यक्त करता हूं। उनके परिवार और दोस्तों के प्रति मेरी संवेदना।

पीएम मोदी ने भी जताया शोक

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी लालजी टंडन के निधन पर शोक जताया। पीएम ने ट्वीट किया, ‘श्रद्धेय श्री लालजी टंडन जी को विनम्र श्रद्धांजलि । ईश्वर दिवंगत आत्मा को शांति प्रदान करें। टंडन जी ने समाज की सेवा में अमूल्य योगदान दिया। यूपी में बीजेपी को मजबूत करने में उनकी अहम भूमिका रही। वह कुशल प्रशासक और आम लोगों की सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहे।’

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लालजी टंडन के निधन पर दो ट्वीट करते हुए लिखा- लालजी टंडन को समाज की सेवा के उनके अथक प्रयासों के लिए याद किया जाएगा। उन्होंने उत्तर प्रदेश में भाजपा को मजबूत करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई। उन्होंने एक प्रभावी प्रशासक के रूप में अपनी पहचान बनाई, हमेशा लोक कल्याण को महत्व दिया। उनके निधन से दुखी हूं।

लालजी टंडन का राजनीति सफर कब सुरु हुआ था

1960 से शुरु हुआ था लालजी टंडन का राजनीति सफर 12 अप्रैल 1935 को लखनऊ में जन्मे लालजी टंडन 1958 में शादी के बंधन में बंध गए। उन्होने स्नातक तक क शिक्षा हासिल की है। उनके पुत्र गोाल जी टंडन इस समय यूपी की योगी सरकार में मंत्री हैं। एमपी के राज्यपाल लालजी टंडन ने राजनीतिक सफर की शुरुआत 1960 में की थी। टंडन दो बारा पार्षद चुने गए और दो बार विधान परिषद के सदस्य भी रहे। उन्होंने इंदिरा गांधी की सरकार के खिलाफ जेपी आंदोलन में भी बढ़चढ़कर हिस्सा लिया था।


UP मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लालजी टंडन के निधन पर दुख जताते हुए कहा लखनऊ के प्राण थे लालजी’

UP मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने लालजी टंडन के निधन पर दुख जताते हुए कहा कि लालजी टंडन के निधन पर देश ने एक लोकप्रिय जन नेता, योग्य प्रशासक एवं प्रखर समाज सेवी को खोया है। वह लखनऊ के प्राण थे। यूपी सरकार ने लालजी टंडन के निधन पर 3 दिन का राजकीय शोक की घोषणा की।

लखनऊ से सांसद और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने भी लालजी टंडन के निधन पर ट्वीट कर शोक जताया है

उन्होंने लिखा, ”स्वभाव से बेहद मिलनसार टंडनजी कार्यकर्ताओं के बीच भी बेहद लोकप्रिय थे। विभिन्न पदों पर रहते हुए उन्होंने जो विकास कार्य कराये उसकी सराहना आज भी लखनऊ और उत्तर प्रदेश के लोग करते हैं। ईश्वर समस्त शोक संतप्त परिवार को दुःख की इस घड़ी में धैर्य और संबल प्रदान करे. ओम शान्ति!”

लाल जी टंडन के निधन पर स्मृति ईरानी ने ट्वीट कर संवेदना जाहिर की है

स्मृति ईरानी ने ट्वीट किया, ”श्री लालजी टंडन के निधन के बारे में सुनकर मैं व्यथित हूं। एक कद्दावर नेता, बाबूजी ने कई युवाओं के लिए मार्ग प्रशस्त किया। हमें अपनी वैचारिक यात्रा पर धीरे से मार्गदर्शन दिया। गोपाल भैया और परिवार के प्रति मेरी संवेदना। शांति”

बसपा सुप्रीमो ने ट्विट किया- लालजी के निधन होने की खबर अति-दुःखद व उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदना।

अब लाल जी टंडन के अंतिम संस्कार की तैयारी

लालजी के परिवार ने बताया, ‘उनकी अंतिम यात्रा मंगलवार चार बजे गुलाला घाट, चौक के लिए प्रस्थान करेगी। अंतिम संस्कार गुलाला घाट, चौक में 4.30 बजे संपन्न होगा। कोरोना आपदा के कारण आपसे प्रार्थना है कि शासन की ओर से निर्धारित दिशा-निर्देशों का पालन करते हुए अपने-अपने घरों से ही पूज्य बाबूजी को श्रद्धा-सुमन अर्पित करें, जिससे सोशल डिसटेंसिंग का पालन हो सके।’

मेदांता हॉस्पिटल के डायरेक्टर डॉक्टर राकेश कपूर ने बताया कि आज सुबह 5:35 बजे मध्य प्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन का निधन हो गया है। उनकी किडनी के साथ-साथ लिवर फंक्शन भी गड़बड़ा गया था।

लालजी टंडन का निधन हो गया
लालजी टंडन का निधन हो गया

लालजी टंडन के निधन पर उत्तर प्रदेश सरकार ने तीन दिन का राजकीय शोक घोषित किया गया।

Leave a Reply