Mamata Banerjee : जय श्रीराम’ के नारे पर नाराज हुईं ममता बनर्जी ने भाषण देने से किया इनकार

Top News
Mamata Banerjee, angry at the slogan of 'Jai Shriram
Mamata Banerjee, angry at the slogan of ‘Jai Shriram
image by : India TV news

जय श्रीराम’ के नारे पर नाराज हुईं ममता बनर्जी ने भाषण देने से किया इनकार,कहा- बुलाकर बेइज्जती मत करिए

नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के मौके पर कोलकाता के विक्टोरिया मेमोरियल हाल में आयोजित कार्यक्रम में आज ममता बनर्जी ने अपना भाषण रोक दिया ।” नेताजी सुभाष चंद्र बोस की 125 वीं जयंती पर विक्टोरिया मेमोरियल में आयोजित इस समारोह में ममता बनर्जी ने भाषण देने से मना कर दिया

Advertisement

ममता ने मुश्किल से एक मिनट का भाषण दिया और मंच पर पीएम के बगल में जाकर बैठ गईं ,दरअसल ममता बनर्जी जब अपने संबोधन के लिए मंच पर चढ़ रही थीं, उसी दौरान नीचे खड़े लोगों ने ‘जय श्रीराम’ और ‘भारत माता की जय’ की नारेबाजी शुरू कर दी।

नाराज ममता बनर्जी सरकारी कार्यक्रम को राजनीतिक कार्यक्रम बना दिया

नाराज ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने कहा कि सरकारी कार्यक्रम को राजनीतिक कार्यक्रम बना दिया गया है। किसी का अपमान करना ठीक नहीं है। ममता ने कहा- ‘सरकार के कार्यक्रम की गरिमा होनी चाहिए। यह कोई राजनीतिक कार्यक्रम नहीं है।

आपको किसी को आमंत्रित करने के बाद उसकी बेइज्‍जती करना शोभा नहीं देता है। विरोध के रूप में मैं कुछ भी नहीं बोलूंगीं।’ इसके बाद ‘जय हिंद-जय बांग्‍ला’ बोलकर वह माइक के सामने से हट गईं। इससे पहले ममता बनर्जी ने कोलकाता में कार्यक्रम आयोजित करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय संस्‍कृति मंत्रालय का आभार भी जताया

अनिल विज ने कहा ममता के लिए जय श्री राम का नारा, सांड को लाल कपड़ा दिखाने जैसा

हरियाणा के गृह मंत्री अनिल विज ने शनिवार को पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर हमला बोलते हुए कहा कि उनके लिए जय श्री राम का नारा सांड को लाल कपड़ा दिखाने के समान है और यही कारण है कि

कोलकाता के समारोह में उन्होंने अपना भाषण रोक दिया। नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती के मौके पर आयोजित कार्यक्रम में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की मौजूदगी में बोलने से ममता ने इंकार कर दिया क्योंकि उस समारोह में जय श्री राम के नारे लगे थे।

टीएमसी ने कहा ‘देशनायक दिवस’ के रूप में मनाई जाए नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती

इससे पहले सुबह, ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) ने स्वतंत्रता सेनानी नेताजी सुभाष चंद्र बोस की जयंती पर उन्हें श्रद्धांजलि देते हुए केंद्र सरकार से 23 जनवरी को राष्ट्रीय अवकाश घोषित करने की अपील की। उन्होंने कहा कि आजाद हिंद फौज के नाम पर राजरहाट क्षेत्र में एक समाधि स्थल का निर्माण किया जाएगा और नेताजी के नाम पर एक विश्वविद्यालय की स्थापना भी की जा रही है। ममता ने कहा कि हम यह दिवस देश नायक दिवस के रूप में मना रहे हैं।


पराक्रम दिवस पर ममता ने पीएम पर लगाए ये आरोप

जब केंद्र सरकार ने नेताजी के जन्‍मदिन को पराक्रम दिवस के रूप में मनाने का फैसला लिया तो ममता बनर्जी ने इसे चुनावी फायदा उठाने की कोशिश कहा । साथ ही ममता बनर्जी ने यह आरोप भी लगाया कि पराक्रम दिवस को लेकर पीएम मोदी ने उनसे कोई सलाह मशविरा नहीं लिया।

Leave a Reply