Milkha Singh Death: फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह का निधन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया शोक

न्यूज़
Milkha Singh Death
Milkha Singh Death

Milkha Singh Death: फ्लाइंग सिख मिल्खा सिंह का 91 साल की उम्र में कोरोना से निधन, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने जताया शोक

Milkha Singh Death: भारत के महान धावक मिल्खा सिंह (Milkha Singh Death) का कोरोना से 91 साल की उम्र में निधन हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी

Advertisement
ने ट्वीट कर शोक जताया है. बता दें, बीते दिन उनकी तबीयत काफी खराब हो गई थी। उन्हें फिर बुखार आ गया था और उनका आक्सीजन स्तर नीचे गिरने लगा।

 पीजीआई के डॉक्टरों की सीनियर टीम उन पर नजर बनाए हुए थी लेकिन देर रात उनकी हालत बिगड़ गई और रात 11.40 बजे उन्होंने अंतिम सांस ली। उनके निधन के साथ भारतीय खेल के एक युग का अंत हो गया। इस दुखद सूचना से देश और दुनिया के खेल प्रेमियों में शोक की लहर फैल गई। 

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिल्खा सिंह (Milkha Singh Death) के निधन पर शोक जताया है. उन्होंने ट्वीट कर कहा कि, “हमने एक महान खिलाड़ी को खो दिया है. भारतीयों के दिलों में मिल्खा सिंह के लिए खास जगह थी. उन्होंने लोगों को अपने व्यक्तिव से प्रेरित किया. मैं उनके निधन से मैं बहुत दुखी हूं.”

बता दें, मिल्खा सिंह (Milkha Singh Death) का कोविड-19 परीक्षण बुधवार को निगेटिव आया था, जिसके बाद उन्हें कोविड आईसीयू से सामान्य आईसीयू में शिफ्ट कर दिया गया था लेकिन फिर गुरुवार को उनकी तबीयत काफी बिगड़ गई थी.

आपको बता दें, पूर्व ओलंपियन पद्मश्री मिल्खा सिंह (91) का शुक्रवार देर रात पीजीआई चंडीगढ़ में निधन (Milkha Singh Death) हो गया। मिल्खा सिंह आज से एक महीने पहले 19 मई को कोरोना सक्रमित हुए थे। इसके बाद 24 मई को उन्हें मोहाली के फोर्टिस अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

इसी हफ्ते मिल्खा सिंह की पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह का कोरोना से 85 साल की उम्र में निधन हुआ है. मिल्खा सिंह उस वक्त पीजीआई अस्पताल के आईसीयू में भर्ती थे जिस कारण वो पत्नी के दाह संस्कार में शामिल नहीं हो सके थे.

26 मई को उनकी पत्नी निर्मल मिल्खा सिंह (85) को भी संक्रमण के चलते इसी अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा था। उनकी भी हालत कई दिनों तक स्थिर बनी हुई थी लेकिन 13 जून की शाम को उनका निधन हो गया। मिल्खा सिंह (Milkha Singh Death) और उनकी पत्नी के बीच काफी जुड़ाव था। 

पत्नी की मौत के बाद परिजनों को लगने लगा था कि वे ज्यादा दिन तक जी नहीं पाएंगे, इसलिए पत्नी के निधन की खबर मिल्खा सिंह से छिपाकर रखी गई थी। परिजनों ने बताया कि दो दिन से मिल्खा सिंह पत्नी निम्मी से बात करने की जिद कर रहे थे।

उन्होंने यह भी कहा था कि उनके सपने में निम्मी आ रही हैं और वे इस दुनिया चलीं गईं हैं। बता दें कि निर्मल कौर भारतीय वॉलीबाल टीम की पूर्व कप्तान थीं। साथ ही वह चंडीगढ़ के खेल निदेशक के पद पर भी रही थीं।

Milkha Singh Death
Milkha Singh Death

प्रधानमंत्री ने चार जून को पूछा था हाल

मिल्खा सिंह के पीजीआई में भर्ती होने और सेहत खराब होने की खबर के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने फोन कर उनका हाल पूछा था। साथ ही उनके जल्द स्वस्थ होने की कामना भी की थी। प्रधानमंत्री ने उनका हौसला बढ़ाते हुए कहा था कि अभी खिलाड़ियों को आपके मार्गदर्शन की जरूरत है।

आप जल्द स्वस्थ होकर टोक्यो ओलंपिक में हिस्सा लेने वाले खिलाड़ियों का हौसला बढ़ाएं। बता दें कि मिल्खा सिंह के परिवार में उनकी तीन बेटियां व एक बेटा जीव मिल्खा सिंह हैं। जीव अंतरराष्ट्रीय स्तर के गोल्फर हैं।

मिल्खा सिंह के निधन से आहत
नहीं पता था आखिरी बातचीत है: मोदी

महान धावक मिल्खा सिंह (Milkha Singh Death) के निधन की खबर से सोशल मीडिया पर शोक की लहर दौड़ गई। निधन के कुछ ही मिनट बाद मिल्खा सिंह को याद करने वालों व उन्हें श्रद्धांजलि देने वालों की सुनामी आ गई।

कुछ ही मिनट में मिल्खा सिंह ट्रेंड (#MilkhaSingh) करने लगे। लाखों लोगों ने एक साथ ट्वीट किया। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह समेत कई केंद्रीय मंत्री, राज्यपाल, खिलाड़ी, अभिनेता से लेकर हर वर्ग के लोगों ने मिल्खा सिंह को श्रद्धाजंलि दी।

देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मिल्खा सिंह के निधन पर शोक जताया है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि हमने एक बेहद ही धावक खिलाड़ी को खो दिया। देश के नागरिकों के दिलों में मिल्खा सिंह बसते थे, उन्होंने देश के लाखों लोगों को अपनी व्यक्तित्व से प्रेरित किया है। उनके निधन से मैं बहुत आहत हुआ हूं।

पीएम ने लिखा कि उन्होंने कुछ ही दिनों पहले मिल्खा सिंह से बात की थी लेकिन उन्हें नहीं पता था कि वे आखिरी बार उनसे बात कर रहे हैं। 

बता दें कि पीएम ने मिल्खा सिंह के बेहतर स्वास्थ्य की कामना की थी। उन्होंने कहा था कि ओलंपिक जाने वाली टीम को आपके आशीर्वाद की जरूरत है। शुक्रवार देर रात पीएम ने इस महान व्यक्तित्व के निधन की खबर पर शोक जताया और परिवार को इस मुश्किल वक्त में हिम्मत बनाए रखने की बात कही।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने ट्विटर पर लिखा कि मिल्खा सिंह ने विश्व एथलेटिक्स पर एक अमिट छाप छोड़ी है। राष्ट्र उन्हें हमेशा भारतीय खेलों के सबसे चमकीले सितारों में से एक के रूप में याद रखेगा।

खेल मंत्री बोले- वादा करता हूं, आपकी आखिरी इच्छा को पूरा करेंगे

केंद्रीय खेल मंत्री किरन रिजिजू ने ट्विटर पर मिल्खा सिंह का एक वीडियो शेयर करते हुए लिखा कि वादा करते हैं कि वह मिल्खा सिंह की आखिरी इच्छा को पूरा करेंगे। वीडियो में मिल्खा सिंह ये कहते हुए दिख रहे हैं कि उनकी आखिरी इच्छा है कि जैसे उन्होंने एथलेटिक्स में देश के लिए गोल्ड जीता, वैसे ही कोई देश का नौजवान देश के लिए रोम ओलंपिक में गोल्ड जीते और भारत का झंडा लहराए।

केंद्रीय मंत्री हरदीप सिंह पुरी और भारतीय फुटबाल टीम ने भी मिल्खा सिंह के निधन पर शोक जताया।

पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने लिखा कि उन्हें हमेशा याद किया जाएगा। उनकी जिंदगी अगली कई पीढ़ियों को प्रेरणा देगी।

कैप्टन अमरिंदर बोले- एक युग का अंत 

पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने कहा कि मिल्खा सिंह का जाना एक युग का अंत है। ये पंजाब के लिए बड़ी हानि है। उन्होंने ट्विटर पर लिखा कि मिल्खा सिंह हमेशा हमारे लिए प्रेरक बने रहेंगे।

पूर्व केंद्रीय मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने लिखा  मिल्खा सिंह भले इस दुनिया से चले गए हैं लेकिन वह हमेशा हमारे दिल में रहेंगे। मशहूर टेनिस खिलाड़ी सानिया मिर्जा ने लिखा कि ये दुनिया मिल्खा सिंह जैसे लीजेंड को बहुत मिस करेगी। ट्विटर पर लिखा कि उन्हें मिल्खा सिंह से मिलने और आशीर्वाद लेने का कई बार अवसर मिला। वे हमेशा बहुत दयाभाव से मिलते थे।

पूर्व केंद्रीय मंत्री सुरेश प्रभु ने लिखा 

मिल्खा सिंह (Milkha Singh Death) ने सिर्फ मेडल ही नहीं जीता था, बल्कि उन्होंने लोगों के दिलों में हमेशा के लिए जगह बनाई है। वे युवा पीढ़ी के लिए एक प्रेरणा का स्रोत रहेंगे।

मशहूर यूट्यूबर आशीष चंचलानी ने लिखा कि मिल्खा सिंह के देहांत की खबर सुनने के बाद वे बेहद दुखी हैं।

news sources :abplive,amarujala ।

Leave a Reply