Mouth Ulcer Treatment In Hindi | Mouth Ulcer Best Home Remedies In Hindi | Remedies For Mouth Ulcers | Muh ke chaale

हेल्थ
Mouth Ulcer Treatment
Mouth Ulcer Treatment

Mouth Ulcer Treatment In Hindi | Mouth Ulcer Best Home Remedies In Hindi | Remedies For Mouth Ulcers | Muh ke chaale

Mouth Ulcer : मुंह में छालों का निकलना बहुत ही आम समस्या है, यह हर उम्र के लोगों को हो जाती है। जब भी छाले (Mouth Ulcer) निकलते हैं तो व्यक्ति का खाना-पीना

Advertisement
मुश्किल हो जाता है। यहां तक की बात करने तक में मुश्किल होती है। जो लगभग सभी लोगों को कभी न कभी होती है।

यह छाले (Muh ke chaale) गालों के अन्दर, जीभ पर और होंठो के अन्दर की तरफ होते हैं। यह सफेद या लाल घाव की तरह दिखाई देते हैं। यह ऐसे तो कोई बड़ी समस्या नहीं है पर यह बहुत ही कष्टदायक होती है, छालों की वजह से मुँह में जलन तथा कुछ भी खाने में परेशानी होती है तथा कईं बार मुँह से खून भी निकलता है।

मुंह में छाले (Mouth Ulcer Reason) अधिकतर पेट की गड़बड़ी से निकलते हैं, पेट सही तरीके से साफ न होने या पानी कम पीने पर भी ये आ जाते हैं अतः ऐसे में हम कुछ घरेलु नुस्खों (Mouth Ulcer Home Remedies) का प्रयोग कर सकते हैं जो की हमें छालों से निजात दिला सकते हैं लेकिन उसके पहले जानते हैं

मुँह का छाला क्या है (What is Mouth Ulcer in Hindi?

आयुर्वेद में मुँह के छालों (Mouth Ulcer)की समस्या को मुखपाक कहा गया है। अधिक तीखा, पेट की खराबी या कब्ज होने पर यह स्थिति देखी जाती है इसमें जलन तथा कुछ भी खाने में बहुत कठिनाई होती है। मुँह में छाले पित्त दोष होने के कारण होता है। आयुर्वेदिक उपचार के द्वारा पित्त दोष को संतुलित करके छालों का आना कम किया जाता है।

मुंह में छाले क्यों होते हैं Causes of mouth ulcers/ What causes mouth ulcers and blisters?

जीभ या होंठ के गलती से कट जानें पर। चाय, कॉफी आदि से जीभ जल जानें पर। स्मोकिंग व तम्बाकू के सेवन से। तनाव व बीमारी की वजह से कमजोर इम्यून सिस्टम विटामिन B12 की कमी की वजह से आंतों की गड़बड़ी की वजह से। दूषित जल पीने से।

मुंह के छालों को दूर करने के घरेलू उपाय Home Remedies For Mouth Ulcers/ Mouth Ulcer Treatment

छाले कई तरह के होते हैं, जानें इनके प्रकार

छोटे छाले (canker sores): इन्हें सामान्य अल्सर भी कहते हैं। ये छाले सफेद, ग्रे या हल्के पीले रंग के ओवल शेप में होते हैं और इनके आस पास लालिमा होती है। यह काफी दर्द भी देते हैं। NCBI की 2021 की रिपोर्ट के अनुसार, करीब 20 फीसदी लोगों को छाले होते हैं।

छोटे घाव वाले छालों को उनके साइज के हिसाब से अलग-अलग वर्गों में रखा गया है-

जिन छालों का डायमीटर 1 सेंटीमीटर से कम होता है और 1 से 2 सप्ताह में ठीक हो जाते हैं, उन्हें माइल्ड सोर (छोटे घाव) की श्रेणी में रखा जाता है।

छोटे घाव वाले छाले क्यों होते हैं?

  • स्ट्रेस या बीमारी की वजह से कमजोर इम्यून सिस्टम
  • पीरियड्स के दौरान हार्मोन में होने वाले बदलाव के कारण
  • B12 या फोलेट जैसे विटामिन की कमी की वजह से
  • आंतों की गड़बड़ी जैसे इर्रिटेबल बाउल सिंड्रोम, क्रोहन डिजीज
  • दूषित पीने का पानी
  • इमोशनल या साइकोलॉजिकल स्ट्रेस
  • स्मोकिंग करने से भी मुंह में छाले होते हैं
Mouth Ulcer Treatment
Mouth Ulcer Treatment

कोल्ड सोर (Cold sores): इसे ब्लिस्टर फीवर भी कहते हैं। इसमें मुंह और होंठों पर फ्लूइड से भरे छाले होते हैं जो फफोले की तरह दिखते हैं। हल्के लाल रंग के इन छालों में झुनझुनी और जलन महसूस होती है।

कोल्ड सोर क्यों होते हैं?

ये छाले सिंप्लेक्स टाइप 1 वायरस (HSV-1) के कारण होते हैं। ये छाले होने पर हल्का बुखार, शरीर में दर्द, लिम्फ नोड्स में सूजन और हल्के फ्लू जैसे लक्षण दिखते हैं। यह छाले 2 से 6 हफ्ते तक रहते हैं।

बड़े छाले (Major sore): 2 से 3 सेंटीमीटर के डायमीटर वाले छाले को बड़े छाले यानी मेजर सोर कहते हैं। इन्हें ठीक होने में कई सप्ताह या महीने भर का समय लगता है।

हेरपेटीफॉर्म अल्सर: इसका दूसरा नाम पिनप्वाइंट अल्सर भी है। इनका साइज 1 से 2 मिलीमीटर होता है।

छाले से निजात पाने के घरेलू नुस्खे

  • हमेशा छाले से परेशान रहते हैं तो बहुत ज्यादा तले-भुने या मसाले वाले खाने से परहेज करें। कम मसाले वाला पौष्टिक भोजन खाएं। सलाद को डाइट में शामिल करें। नियमित रूप से सूप और जूस पिएं।
  • मुलेठी औषधीय गुणों से भरपूर है। छाले दूर करने के लिए मुलेठी चबाएं। इसके अलावा 1 टी स्पून शहद में ½ टी स्पून मुलेठी पाउडर मिला कर खाएं। इससे छाले जल्दी ठीक होते हैं।
  • एलोवेरा जूस पेट की गर्मी दूर करता है। इससे छाले ठीक होते हैं। एलोवेरा के पल्प का जूस बनाएं और रोजाना इसका सेवन करें, आपको फायदा होगा।
  • टमाटर में पाए जाने वाले तत्व भी छाले दूर करने में प्रभावी होते हैं। एक गिलास पानी में टमाटर का रस मिलाएं। इससे कुल्ला करने से छाले दूर होते हैं।
  • सूखे नारियल के छोटे-छोटे टुकड़े मुंह में लें और चबा-चबा कर पेस्ट जैसा बनाएं। इन्हें थोड़ी देर तक मुंह में रखें, फिर निगल लें। दिन में 2 से 3 बार ऐसा करें, छालों से निजात मिलेगी।
  • मुंह में छाले हैं तो ठंडी तासीर वाली चीजें जैसे खीरा और ठंडा दही का सेवन किया जा सकता है। इससे छाले की वजह से होने वाले दर्द और सूजन में राहत मिलती है।
  • पेट की गर्मी की वजह से बार-बार छाले होते हैं, तो दिन में थोड़ा-थोड़ा पानी या जूस सिप करके पीते रहें। छाले की वजह से होने वाली जलन में आराम मिलेगा।
Mouth Ulcer Best Home Remedies
Mouth Ulcer Best Home Remedies
  • नीम में एंटी-बैक्टीरियल गुण होते हैं। पानी में नीम की पत्तियां और लहसुन के रस की 5 बूंदें डाल कर उबालें। इस पानी से गरारे करें।
  • हल्दी में हीलिंग प्रॉपर्टी होती है। गुनगुने पानी में हल्दी और नमक डालकर गरारे करें। इससे छाले ठीक हो जाते हैं।
  • 1 टी स्पून शहद में ½ टी स्पून इलायची पाउडर मिला कर गाढ़ा पेस्ट बनाएं। इस पेस्ट को छाले पर लगाएं, आराम मिलेगा।
  • मुंह के छाले दूर करने के लिए तुलसी के पत्तों का सेवन किया जा सकता है। तुलसी के पत्तों में एंटी बैक्टीरियल और एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं, जो वायरल बीमारियों के साथ ही गर्मी से होने वाली समस्याओं से भी राहत दिलाते हैं। जिन लोगों को मुंह में छालों की समस्या है, वो रोज तुलसी की पत्तियों को चबाएं, फिर पानी पिएं, फायदा मिलेगा।
  • मुंह में छाले की परेशानी होने पर इलायची चबाने से आराम मिलता है। इसके लिए सुबह-शाम इलायची चबाएं। बाद में गुनगुने पानी से मुंह को धो लें। इससे मुंह के छालों से आराम मिलेगा और गले की खराश भी कम होगी।
  • छाले ठीक करने में काला मुनक्का बहुत उपयोगी है। काले मुनक्का को भिगोकर रात में सोते समय चबाकर खाएं, इससे पेट की गर्मी निकल जाएगी और पित्त दोष भी दूर होगा। ऐसा नियमित रूप से करने से कुछ दिनों में ही मुंह के छाले पूरी तरह ठीक हो जाएंगे।
  • सरसों के तेल और नारियल के तेल में एंटी-इंफ्लेमेटरी गुण होते हैं। मुंह में छाले हो गए हैं तो इनमें से किसी भी तेल को मुंह के अंदर लगाएं।

Leave a Reply