Muskmelon Benefits, Uses and Side Effects in Hindi गर्मियों में खरबूजे खाने के हैं कई हेल्थ बेनिफिट्स

हेल्थ
Muskmelon Benefits, Uses and Side Effects .Kharbuje Ke Fayde or Nuksan
Muskmelon Benefits, Uses and Side Effects .

Table of Contents

Muskmelon Benefits, Uses and Side Effects in Hindi गर्मियों में खरबूजे खाने के हैं कई हेल्थ बेनिफिट्स

गर्मियों का मौसम शुरू होते ही कई तरह के बीमारियां दस्तक देने लग जाती है. इन मौसम में कई ऐसे फल हैं, जो आपको इन बीमारियों से बचाता है. इनमें तरबूज, खीरा, ककड़ी, आम, लीची के अलावा खरबूजा (Muskmelon)

Advertisement
भी शामिल हैं. खरबूजा (Kharbuja benefits) डिहाइड्रेशन जैसी समस्याओं से बचाता है और इसमें लगभग 95 प्रतिशत पानी, विटामिन्स और मिनरल्स पाए जाते हैं. शरीर को यह ठंडा रखता है. यह शरीर में पानी की कमी नहीं होने देता है खरबूजा अनिद्रा, गूर्दे की पथरी और गठिया की समस्या के लिए एक रामबाण औषधि है. आइए जानते हैं खरबूजे के स्वास्थ्य लाभ.

गर्मियों में खरबूजे खाने के हैं कई हेल्थ बेनिफिट्स

शारीरिक और मानसिक रूप से स्वस्थ रहने के लिए फलों का खास योगदान होता है। इसमें पाए जाने वाले पोषक तत्व न सिर्फ शरीर को ऊर्जा से भर देते हैं, बल्कि बीमारियों व छोटी-मोटी शारीरिक परेशानियों से बचाने का भी काम करते हैं। ऐसा ही एक फल है, खरबूजा। गर्मियों में खूब बिकने वाला यह फल शरीर के लिए कई मायनों में फायदेमंद हो सकता है।

खरबूजा (Muskmelon Fruit)अपनी मिठास एवं स्वाद के लिए बहुत लोकप्रिय है। खरबूज के बीजों की गिरी से मेवा बनाया जाता है जिसका इस्तेमाल विभिन्न प्रकार की मिठाई में किया जाता है। आप भी खरबूजा का सेवन जरूर करते होंगे, लेकिन क्या आपको यह पता है कि खरबूजा के फायदे से रोगों का इलाज भी किया जा सकता है।

आयुर्वेद के अनुसार, खरबूजा में कैल्शियम, आयरन, विटामिन ए और विटामिन सी अधिक मात्रा में होता है। इन गुणों के कारण खरबूजा (chibud fruit) के सेवन से शरीर को बहुत लाभ मिलता है।बस इतना ध्यान दें कि यहां बताए गए घरेलू नुस्खे गंभीर बीमारियों का इलाज नहीं, बल्कि उनसे बचाव का एक तरीका मात्र हैं।

खरबूजा क्या है? (What is Musk Melon in Hindi?)

खरबूजा एक मौसमी फल है, जो गर्मियों के दिनों में आता है। खरबूजे का वैज्ञानिक नाम कुकुमिस मेलो है, जो कुकुरबिटेसी (Cucurbitaceae) के परिवार से संबंधित है। गर्मियों में इसका सेवन करना अच्छा होता है, क्योंकि इसमें पौष्टिक तत्व के साथ-साथ पानी की अच्छी मात्रा पाई जाती है।

यह गर्मियों में शरीर को डिहाइड्रेट होने से बचा सकता है। खरबूज, ककड़ी, फूट एक ही जाति के फल (chibud fruit) है। इन फलों को ताजा ही खाया जाता है। भारत के अलग-अलग राज्यों में खरबूजा की कई उपजातियां मिलती हैं, किन्तु गुणों में विशेष अन्तर नहीं होता है। खरबूज कई रंगों में मिलता है,

लेकिन सामान्यतः यह पकने पर हरा से पीला या नारंगी रंग का हो जाता है। इसके फल लम्बी लताओं में लगते हैं। इसकी लता पतली, जमीन पर फैलने वाली, तरबूज की बेल जैसी, और मोटी जड़ वाली होती है।

इसमें 90 प्रतिशत तक पानी होता है। इसलिए गर्मियों में खरबूजा का सेवन बहुत लाभ देता है। खरबूज के बीजों (magaz seeds) में 40-50 प्रतिशत तेल पाया जाता है। खरबूज का उपयोग सलाद के रूप में होता है। कच्चे फलों का उपयोग ग्रामीण क्षे़त्रों में सब्जी के रूप में भी किया जाता है।

sangeetaspen के माध्यम से खरबूजा से होने वाले सभी फायदे के बारे को बहुत ही आसान शब्दों (muskmelon benefits in hindi) में लिखा गया है ताकि आप खरबूजा (Musk Melon)से पूरा-पूरा लाभ ले पाएं।

खरबूजा के फायदे – Benefits of Muskmelon in Hindi

वजन कम  – वजन कम करने में भी खरबूजा काफी फायदेमंद होता है, क्योंकि इसमें शुगर और कैलोरी की मात्रा ज्यादा नहीं होती है. साथ ही यह एंटी-ऑक्सीडेंट विटामिन ‘सी’ का भी अच्छा स्रोत माना जाता है. यह दिल की बीमारी और कैंसर से भी बचाता है. इतना ही नहीं, खरबूजे से त्वचा को भी फायदा पहुंचता है. इसमें विटामिन ‘ए’ पाया जाता है,

रोग प्रति रोधक क्षमता – खरबूजे के सेवन से रोग प्रति रोधक क्षमता को भी बढ़ाया जा सकता है. खरबूजे में विटामिन सी की मात्रा पाई जाती है जो कि शरीर की रोग-प्रति रोधक क्षमता को बढ़ाता है.

पाचन के लिए अच्छा – खरबूजे से शौच की समस्या भी दूर होती है. अगर आप पाचन की समस्या से जूझ रहे हैं, तो खरबूजा खाइए. इससे शौच की समस्या दूर हो जाएगी. खरबूजे में मौजूद पानी की मात्रा पाचन में सहायक होती है. इसमें पाए जाने वाले मिनरल्स पेट की एसीडीटी को खत्म करते हैं, जिससे पाचन प्रक्रिया दुरुस्त रहती है.

ह्रदय के लिए – खरबूजे का सेवन इसलिए लाभदायक हो सकता है, क्योंकि इसमें विटामिन ए व विटामिन सी के साथ-साथ बीटा कैरोटीन और पोटैशियम जैसे तत्व भी पाए जाते हैं. बता दें कि इनमें बीटा कैरोटीन एक पॉवरफुल एंटीऑक्सीडेंट है, जो इम्यून सिस्टम को मजबूत करने का काम करता है. खरबूजे में मौजूद यही एंटीऑक्सीडेंट कैंसर, दिल का दौरा व ह्रदय रोग जैसी घातक बीमारियों से निपटने का काम कर सकता है.

खूबसूरत त्वचा – अक्सर शरीर में पानी की कमी हो जाती है. खरबूजा शरीर में पानी की पूर्ति के लिए भी काफी फायदेमंद साबित होता है. खरबूजा शरीर में पानी की पूर्ति कर शरीर को गर्मी से राहत देकर उसे ठंडक और ताजगी प्रदान करता है. इससे त्वचा पर भी निखार आता है.

बालों के लिए लाभदायक – बालों का झड़ना आज आम समस्या बन चूका है. यदि आप भी इस तरह की समस्या से परेशान हैं तो आपको खरबूजा से लाभ मिल सकता है. दरअसल इसमें पाया जाने वाला विटामिन बी बालों को झड़ने से तो रोकता ही है इसके साथ ही बालों का विकास भी करता है. खरबूजे का पेस्ट बनाकर इसे 10 मिनट तक बालों में लगाने से एक अच्छा हेयर कंडिशनर का भी काम करता है

दांत दर्द – दांत दर्द की समस्या में भी खरबूजा के फायदे देखे जा सकते हैं. खरबूजे में विटामिन भरपूर मात्रा में पाए जाते हैं और एक वैज्ञानिक शोध के अनुसार, विटामिन दांत दर्द से छुटकारा दिलाने का काम कर सकते हैं. वहीं, विटामिन सी दांतों के इलाज में हिलिंग को बढ़ावा देने का काम कर सकता है.

आंखों के लिए – खरबूजे में विटामिन ए और बीटा कैरोटीन की मात्रा पाई जाती है. इसकी मदद से आंखों को स्वस्थ रखने में मदद मिलती है. खरबूजे की मदद से आंखों की रोशनी को कम होने से बचाया जा सकता है. इसके साथ ही मोतियाबिंद की समस्या से भी बचाव करता है.

कैंसर से करे बचाव – खरबूजे में बड़ी मात्रा में आर्गेनिक पिगमेंट केरोटेन्वाइड पाया जाता है, जो कैंसर से बचाने के साथ ही लंग कैंसर की संभावना को भी कम करता है. यह शरीर में पनप रहे कैंसर के मूल को नष्ट कर देता है.

किडनी की बीमारी और एगजिमा से रखे दूर – खूरबूजे में डाइयुरेटिक (मूत्रवर्धक) क्षमता काफी अच्छी होती है. इस कारण इससे किडनी की बीमारियां ठीक होती हैं और यह एकजिमा को कम करता है. अगर खरबूजे में नींबू मिलाकर इसका सेवन किया जाए तो इससे गठिया की बीमारी भी ठीक हो सकती है.

डायबिटीज में लाभकारी – खरबूजे का सेवन करने से डायबिटीज में फायदा रहता है. यह रक्त शर्करा के स्तर को नियंत्रित करता है और डायबिटीज के स्तर को सामान्य बनाए रखने में मददगार साबित होता है.

तनाव मुक्ति के लिए –तनाव से राहत दिलाने के लिए विटामिन-बी 6 और मैग्नीशियम सहायता कर सकता हैं. एक वैज्ञानिक शोध से यह पता चला है कि खरबूजे में विटामिन-बी6 और मैग्नीशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है. जो तनाव मुक्त करने में सहायता कर सकते हैं.

कब्ज – खरबूजे से कब्ज जैसी समस्या से भी निजात पाई जा सकती है. खरबूजे में पाए जाने वाले डाइटरी फाइबर्स कब्ज की समस्या को दूर करने में सफल साबित होते हैं.

वजन कम करने मददगार –अगर आप अपना वजन कम करना चाहते हैं, तो खरबूजा इसके लिए आदर्श जरिया हो सकता है. इसमें काफी कम मात्रा में सोडियम पाया जाता है. साथ ही यह फैट और कोलेस्ट्रोल से भी मुक्त होता है. वहीं इससे काफी कम कैलोरी मिलती है. एक कप खरबूजे में सिर्फ 48 कैलोरी ऊर्जा होती है. खरबूजे में पाए जाने वाले प्रकृतिक मीठेपन से आप उच्च कैलोरी वाली मिठाईयों से भी दूर रहेंगे.

अनिद्रा के लिए – शारीरिक और मानसिक तनाव अनिद्रा जैसी समस्या का कारण बन सकता है, जो कई गंभीर बीमारियों को बुलावा दे सकती है. ऐसे में खरबूजे का सेवन आपके लिए लाभदायक साबित हो सकता है, क्योंकि इसमें मैग्नीशियम की अच्छी मात्रा पाई जाती है, जो सुकून की नींद दिलाने में सक्षम है.

मासिक धर्म के दर्द से राहत – खरबूजा खाने के फायदे तो सभी जानते हैं, लेकिन खरबूजे के बीज के फायदे से बहुत कम लोग वाकिफ होंगे. मासिक धर्म के कारण होने वाले दर्द को कम करने के लिए खरबूजे का बीज मददगार साबित हो सकता है. खरबूजे के बीज को पीसकर सामान मात्रा में शक्कर मिलाकर खाने से इस दौरान होने वाले दर्द से राहत मिल सकती है. शोध में रोजाना तीन दिन तक मिश्रण की छह ग्राम मात्रा दी जाने की सलाह दी गई है.

धूम्रपान छोड़ने के लिए – धूम्रपान करने वाले लोगों में बीटा-कैरोटीन और विटामिन सी की कमी हो सकती है. इन पोषक तत्वों की कमी कैंसर और ह्रदय से जुड़ी समस्याओं का कारण बन सकती है. ऐसे में खरबूजा का सेवन धूम्रपान से होने वाले इस पोषक तत्वों की कमी को पूरा करने का काम कर सकता है, जिससे दिल का दौरा और स्ट्रोक के जोखिम से बचाव हो सकता है. हालांकि, इस विषय पर अभी और शोध की आवश्यकता है.

गर्भवती महिलाओं के लिए – गर्भावस्था के दौरान महिलाओं में फोलिक एसिड की कमी हो जाती है. ऐसे में इस दौरान खरबूजे में मौजूद फोइक एसिड उनके शरीर में फोलिक एसिड की भरपाई कर सकता है. इसके अलावा खरबूजे में मौजूद फोलेट सामग्री विशेष रूप से गर्भवती महिलाओं में नए कोशिकाओं के उत्पादन और रखरखाव में मदद करती है और यह भ्रूण में ट्यूब की परेशानियों को भी दूर करता है

Muskmelon Benefits, Uses and Side Effects .Kharbuje Ke Fayde or Nuksan
Kharbuje Ke Fayde or Nuksan

खरबूजा के नुकसान – Kharbuje Ke Nuksan

  • कुछ लोगों को खरबूजे के सेवन से एलर्जी हो सकती है.
  • खरबूजा खाने के तुरंत बाद पानी पिने से हैजा होने की आशंका रहती है.
  • सुबह खाली पेट खरबूजे का सेवन नहीं करना चाहिए.
  • गर्म प्रकृति वालो को खरबूजे के अधिक सेवन से सूजन हो सकती है
  • खरबूजा को खाने से पहले थोड़ी देर ठंढे पानी में डाल दें।
  • भोजन के कुछ देर बाद ही खरबूजा का सेवन करना ठीक होता है।
  • खरबूजा (kharbooja) बहुत ही ठण्डा और सुगन्धित होता है, इसलिए जिनको बहुत ज्यादा जुकाम तथा खाँसी होती हो, या जिनकी पाचन क्रिया कमजोर हो, उन्हें खरबूजा नहीं खाना चाहिए।
  • खरबूजा खाने के बाद पानी और दूध का सेवन नुकसान पहुंचाता है।

खरबूजा कहाँ पाया या उगाया जाता है? (Where is Kharbuja Fruits Found or Grown in Hindi?)

भारत में नदियों के किनारे तथा उष्ण व शुष्क प्रदेशों में खरबूजा (muskmelon fruit) की खेती की जाती है। खरबूज की खेती के लिए काली रेतीली जमीन ज्यादा अनुकूल होती है। खेत में क्यारी बनाकर खरबूजे का बीज लगाया जाता है। इसकी बेल जमीन में ही फैलती है। बिहार,उत्तर प्रदेश,पंजाब,राजस्थान और मध्यप्रदेश में खरबूजे की खेती होती है।

खरबूजा का चयन कैसे करें और लंबे समय तक सुरक्षित कैसे रखें?

सभी ताजा और अच्छा खरबूजा खरीदना चाहते हैं, जिसकी पहचान होना जरूरी है। ऐसे में sangeetaspen के इस लेख के माध्यम से खरबूजे का चयन करने के कुछ तरीके बता रही हु । साथ ही इसे लंबे समय तक सुरक्षित रखने के तरीके भी बताऊगी ।

  • खरजूबे को सीधा सब्जी मंडी से लेना अच्छा होगा, क्योंकि मंडी में रोजाना ताजे फल आते हैं।
  • खरबूजा खरीदते समय ध्यान रहे कि यह अधिक नरम न हो।
  • खरबूजा लेते समय ध्यान रखें कि उसके बाहरी भाग में किसी भी तरह का दाग व कटे-फटे का निशान न हो।
  • ऑर्गेनिक तरीके से उगाए हुए खरबूजा मिले, तो उसे लेना अच्छा होगा।
  • खरबूजे का रंग एक जैसा होना चाहिए। इससे यह पता चलता है कि वह खुद पका हुआ है और स्वाद में भी अच्छा होगा।

खरबूजे को सुरक्षित कैसे रखें

कच्चे खरबूजे को स्टोर करने से लिए सबसे पहले उसे पेपर बैग में रखें और फिर इसे कमरे के तापमान में रख दें। जब तक खरबूजा पक न जाए, इसे ऐसे ही रहने दें। जब आपको लगे की खरबूजा पक चुका है, तो इसे फ्रिज में रख दें।
पके हुए खरबूजे को दूसरे फलों से दूर ही रखें, क्योंकि बाकी फलों के कारण इसके पकने की गति तेज हो सकती है।
पके हुए खरबूजे को लगभग 5 दिन तक फ्रिज में स्टोर किया जा सकता है।

खरबूजा का उपयोग – How to Use Muskmelon in Hindi

खरबूजा का सेवन कई अलग-अलग रूप में किया जा सकता है, जिनमें से कुछ इस तरह से हैं।

  • खरबूजे को सामान्य रूप से सीधे खाने के लिए इस्तेमाल किया जा सकता है।
  • खरबूजे की स्मूदी बनाकर भी सेवन किया जा सकता है।
  • खरबूजे को अन्य फलों के साथ सलाद के रूप में भी खा सकते हैं।
  • खरबूजे के बीज की चाय बनाकर पी सकते हैं।
  • खरबूजे के बीज के लड्डू भी बनाए जा सकते हैं।
  • खरबूज के बीज का पाउडर बनाकर भी सेवन किया जा सकता है।

खरबूजे को कब खाएं

खरबूजे को खाने का कोई निश्चित समय नहीं है। इसे गर्मियों में कभी भी खाया जा सकता है। आजकल खरबूजे सर्दियों में भी मिलते हैं, लेकिन इससे सर्दी-जुकाम जल्दी हो सकता है।

FAQ :

Q : खरबूजा की तासीर क्या होती है?

Ans : खरबूजा की तासीर ठंडी होती है

Q : खरबूजा खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए?

Ans :खरबूजा खाने के बाद पानी और दूध का सेवन नहीं करना चाहिए

Q : खरबूजा कब खाना चाहिए?

Ans :भोजन के कुछ देर बाद ही खरबूजा का सेवन करना ठीक होता है।

Q : खरबूजे में कौनसा विटामिन होता है?

Ans : खरबूजे में विटामिन ए व विटामिन सी के साथ-साथ बीटा कैरोटीन और पोटैशियम होता है

Q :खरबूजा कैसे लगाई जाती है?

Ans :खरबूजे के लिए गर्मी का मौसम सबसे उपयुक्त है इसलिए इसे लगाने का समय है. जनवरी की शुरुआत से लेकर फरवरी के अंत तक इसकी बेल लगाई जाती है. जमीन रेतिली हो और तापमान 22 से 26 डीग्री के बीच हो तो फसल उत्पादन भी अच्छा रहता है.

Q : खरबूजे की तासीर कैसी होती है?

Ans : गर्मियों में मिलने वाले इस फल की तासीर ठंडी होती है।

Q : खरबूजा कितना खा सकते हैं ?

Ans : इसे खाने की कोई सटीक मात्रा उपलब्ध नहीं है। इसी वजह से इसे अपने अनुसार सीमित मात्रा में ही खाए। अधिक खाने से आपको समस्याएं हो सकती हैं,

Q : खरबूजे के बीज से क्या फायदा हो सकता है?

Ans : खरबूजे के बीज के फायदे मासिक धर्म के दर्द से राहत दिलाने के लिए हो सकते हैं। इस बारे में हमने ऊपर लेख में विस्तार से बताया है । इसके अलावा, खरबूजे के बीज से बना तेल एक्जीमा जैसी त्वचा समस्या से निजात दिलाने में मदद कर सकता है।

Q : तरबूज और खरबूजा में कौनसा अच्छा है?

Ans : यह दोनों फल अपनी-अपनी विशेषताओं के लिए जाने जाते हैं। दोनों ही फल शरीर को फायदे पहुंचा सकते हैं। इसी वजह से अपनी जगह पर दोनों फल अच्छे हैं। एक दूसरे से इनकी तुलना करना ठीक नहीं है।

Q : क्या गर्भावस्था के दौरान खरबूजे को खाया जा सकता है?

Ans : जैसा कि हमने खरबूजे के फायदे वाले भाग में बताए है कि गर्भावस्था के दौरान खरबूजा के सेवन करने से बच्चों को होने वाली न्यूरल ट्यूब (शिशु के मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डियों से जुड़ी समस्या) से बचाव किया जा सकता है । इसी वजह से गर्भावस्था के दौरान खरबूजे का सेवन किया जा सकता है।

Leave a Reply