राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस 2021 का उद्देश्य विषय इतिहास और महत्व

न्यूज़
राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (national safety day)
राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (national safety day)

image by : google

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस 2021 का उद्देश्य विषय इतिहास और महत्व – national security day 2021 objectives theme history and significance

प्रतेक वर्ष 4 मार्च को राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (national security day 2021) की स्थापना को याद करने के लिये राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस /सप्ताह अभियान मनाया जाता है। यह अभियान 4 मार्च से 10 मार्च

Advertisement
तक पुरे एक सप्ताह चलता है। नेशनल सेफ्टी दिवस या राष्ट्रीय सुरक्षा अभियान पूरे एक सप्ताह तक चलने वाला अभियान है.

यह महत्वपूर्ण दिवस हर साल 4 मार्च को पुरे भारत देश में मनाया जाता हैं. यह दिवस उन सभी बलिदानियों को समर्पित हैं, जिन्होंने अपना रक्त देकर देश की सुरक्षा की. इस दिन भारत उनके हौसले और जस्बे को सलाम करता हैं.

इस साल 2021 में हम राष्ट्रीय स्तर पर 50 वां राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस मनाएंगे. हर साल की तरह इस साल भी यह दिन 4 मार्च को बड़ी धूम धाम से मनाया जायेगा. राष्ट्रीय सुरक्षा दिन या सप्ताह 4 मार्च से शुरू होकर 10 मार्च तक चलेगा.

इस दौरान देश में मौजूद सरकारी और गैर सरकारी संगठनो द्वारा कई कार्यक्रमों का आयोजन किया जाएगा.भारत की राष्ट्रीय सुरक्षा परिषद एक स्वशासित संस्था (लोक सेवा के लिये गैर लाभांस और गैर सरकारी संस्था) है

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस और सप्ताह 2021 में कब हैं ? – National Security Day or week

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस (नेशनल सेफ्टी डे) भारत में हर साल 4 मार्च के दिन मनाया जाता है. इस दिन को मनाए जाने का मुख्य उद्देश्य हमारे जीवन के विभिन्न समयों में जागरूकता न होने या ध्यान न देने के कारण होने वाली दुर्घटनाओं को रोकना है.

पहले से मनाए जाने वाले नेशनल सेफ्टी डे (national security day 2021) को अब नेशनल सेफ्टी सप्ताह के रूप में मनाया जाने लगा है. इस सप्ताह के दौरान विभिन्न जागरूकता कार्यक्रमों के माध्यम से औद्योगिक दुर्घटनाओं से बचाव के तरीको द्वारा लोगों को अवगत कराया जाता है.

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/सप्ताह पूरे एक सप्ताह का सुरक्षा अभियान है जो हर साल 4 मार्च (गुरुवार) से 10 मार्च (बुधवार) तक मनाया जाता है।

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस यह दिवस देश के सिक्यूरिटी विभाग एवम उन सभी सोल्जर को समर्पित है, जो देश को सुरक्षा में अपना महत्वपूर्ण योगदान देते हैतथा इस सभी के सभी के योगदान एवं अदम्य साहस के कारण ही देश की सीमायें सुरक्षित हैं

और इन्ही के कारण देश में शांति एवम सुरक्षा का भाव होता हैं. इस दिन हम सभी देशवासी, इन सभी सुरक्षाबलों का तहे दिल से अभिवादन एवं धन्यवाद करते हैं.

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/सप्ताह का इतिहास – History of the National Safety and Security Day/ week

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/सप्ताह के अस्तित्व में पहली पहल नेशनल सेफ्टी काउंसिल द्वारा ही की गई थी. और 4 मार्च के ही दिन भारत में नेशनल सेफ्टी काउंसिल की स्थापना हुई थी, इसलिए इस दिन को ही नेशनल सेफ्टी डे (national security day 2021) के रूप में मनाया जाता है. नेशनल सेफ्टी काउंसिल एक स्वशासी निकाय है,

जो कि सार्वजनिक सेवा के लिए गैर सरकारी और गैर लाभकारी संगठन के रूप में कार्य करता है. इस संगठन की स्थापना साल 1966 में मुंबई सोसायटी अधिनियम के तहत हुई थी, जो 8000 सदस्यों के साथ मुम्बई में सोसाइटी एक्ट के तहत 4 मार्च 1966 में स्थापित हुआ था।

सुरक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण संबंधी सहायता सेवा के साथ उनको लाभ पहुँचाने के द्वारा उनके आर्थिक नुकसान और विभिन्न मानव समस्या सहित जीवन के घाटे को कम करने और बचाने के लिये वार्षिक आधार पर ये एक राष्ट्रीय आंदोलन है।.

1966 के बाद वर्ष 1972 में इस संगठन द्वारा नेशनल सेफ्टी दिवस मनाने का निर्णय लिया गया. और इसके बाद बहुत ही जल्द इसे नेशनल सेफ्टी डे की जगह नेशनल सेफ्टी सप्ताह National Safety and Security Day or week) के रूप में मनाया जाने लगा.

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस कैसे मनाया जाता हैं ? – How to Celebrate National Safety and Security Day/ week

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस पहली बार 4 मार्च 1966 में मनाया गया था, जिसमे 8 हजार सदस्य शामिल हुये थे, उस समय यह दिवस देश के लोगो को सुरक्षा के प्रति जागृत करने के उद्देश्य से लाया गया था, जिसमे उन्हें देश में, समाज में कैसे एक दुसरे की सुरक्षा को ध्यान में रखकर कार्य करना चाहिये, उस दिशा में प्रेरित किया गया था.

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस उद्देश्य – National Safety and Security Day/ week Objectives

ऐसे बहुत विषय हैं, जिन पर राष्ट्रिय सुरक्षा दिवस  (national security day 2021) के दिन हम सभी एकजुट होकर संकल्प लेते हुए कार्य करे जिससे देश के असुरक्षित मुद्दे समाप्त हो सके. जैसे कि महिला सुरक्षा,

बिमारियों से सुरक्षति रखना : देश की सुरक्षा में केवल दुश्मनों से देश को सुरक्षित रखना ही नहीं आता, बल्कि देश में लोगो को बिमारियों से सुरक्षति रखना भी सुरक्षा के अंतर्गत आता हैं. राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस सभी को इस दिशा में अपना कदम बढ़ाने का रास्ता दिखाता हैं.

महिला सुरक्षा : इस सुरक्षा का वहन भी हम सभी को मिलकर करना होगा. घटना होने के बाद सजा देना तो न्याय पालिका का काम हैं, लेकिन हम सभी एकजुट होकर इन होने वाली घटनाओं को सोचे और उन्हें समाप्त करने के विषय में कार्य करे . तब ही राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस/ नेशनल सिक्यूरिटी डे जैसे दिन का होना कारगर साबित होगा.

स्वच्छता : देश को स्वच्छ रखना भी सुरक्षा के अंतर्गत आता हैं, जिसमे देश के प्रतेक नागरिक को अपना योगदान देना चाहिए . सभी को एक साथ मिलकर देश में स्वच्छता संबंधी सुरक्षा लाना अनिवार्य हैं इस प्रकार यह भी स्वछता भी सुरक्षा दिवस का उद्देश्य हैं.

गरीबी : देश में गरीबों की संख्या भी बहुत अधिक हैं, जिसके कारण वे असुरक्षित हैं. उनके लिए भी सोचना हम सभी का कर्तव्य हैं. गरीबों को भूखा ना रहना पड़े और उन्हें आजीविका का कोई जरिया मिल सके. इसके लिए भी हम सभी को एक होना आवश्यक हैं .

ऐसे कई विषय हो सकते हैं, जिनको तय करके हम राष्ट्रिय सुरक्षा दिवस के दिन एकजुट होकर इन पर कार्य करे, ताकि देश के ऐसे असुरक्षित मुद्दे समाप्त हो सके. यह सभी थे वे मुद्दे जो देश के भीतर हैं, इसके आलावा वे मुद्दे जिनके लिए हम सुरक्षा शब्द को परिभाषित करते हैं, वो हैं देश की सुरक्षा.

राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह पूरे भारत देश में एक साथ मनाया जाता है, इसे मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों को सुरक्षा के साथ-साथ विभिन्न स्वास्थ्य और पर्यावरण संबंधित आंदोलनो के प्रति जागरूक करना है. इसे मनाने का एक अन्य उद्देश्य विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों में सुरक्षा के लिए सार्वजनिक भागीदारी को प्रोत्साहित करना भी है.

विभिन्न सुरक्षा स्वास्थ्य और पर्यावरण संबंधित गतिविधियों में विभिन्न व्यवसाय मालिको द्वारा अपने कर्मचारियों को जोड़कर सहभागी दृष्टिकोण को बढ़ावा देना.इस अभियान के माध्यम से जरूरत आधारित गतिविधियों, कानूनी आवश्यकताओ के साथ आत्म-निरीक्षण और आधिकारिक स्वास्थ्य सुरक्षा और पर्यावरण संबंधित गतिविधियों को वर्क प्लेस पर बढ़ावा देना.


मालिको और कर्मचारियों को उनकी कानूनी ज़िम्मेदारी याद दिलाकर वर्क प्लेस पर सुरक्षा को बढ़ावा देना. वैज्ञानिक दृष्टिकोण और ऐतिहात बरतने वाली प्रवृत्ति के साथ सुरक्षा को बढ़ावा देना.

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस की थीम 2011 -2020 – Themes of National Safety Day From  2020 -2011

साल   थीम
2011   निवारक सुरक्षा और स्वास्थ्य संस्कृति की स्थापना और रखरखाव करना
2012   सुरक्षित और स्वस्थ कार्य वातावरण सुनिश्चित करना था – यह एक मौलिक मानव अधिकार है
2013   सुरक्षित और स्वस्थ कार्यस्थल सुनिश्चित करने के लिए मिलकर काम करना
2014   कार्यस्थल पर दबाव और सुरक्षा के साथ खतरों का नियंत्रण
2015   सतत आपूर्ति श्रृंखला के लिए एक सुरक्षा संस्कृति बनाये
2016   ऐसा सुरक्षा आंदोलन जिसमें लोगों को कोई नुकसान न हो
2017   एक दूसरे को सुरक्षित रखें
2018   सुरक्षा हमारी प्राथमिकता नहीं है, यह हमारा मूल्य है
 2019   औद्योगिक संस्थानों की सुरक्षा
 2020 “सुरक्षाकर्मियों को सलाम
 2021 “आपदा से सीखें और सुरक्षित भविष्य की तैयारी करें

इस प्रकार हर वर्ष राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस  (national security day 2021) एक विशेष ध्येय के साथ मनाया जाता है, ताकि लोगों को इस और जागरूक किया जा सके.

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस की गतिविधियां और कार्यक्रम – Safety Week Activities and Events

यह सप्ताह विभिन्न सरकारी, गैर सरकारी संस्थानों के साथ-साथ स्वास्थ्य विभाग और विभिन्न ओद्योगिक संगठनो द्वारा मिलकर मनाया जाता है. ये संस्थाए विभिन्न कार्यक्रमों और विभिन्न प्रमोशनल मटेरियल्स के द्वारा लोगों में राष्ट्रीय सुरक्षा कि भावना को जागरूक करती है.

इन कार्यक्रमों को विभिन्न इलेक्ट्रोनिक मीडिया पत्रिकाओं, समाचार पत्रों और अन्य ओद्योगिक पत्रिकाओं के माध्यम से लोगों तक पहुँचाया जाता है. इस पूरे राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह के दौरान राष्ट्रीय स्तर और राज्य स्तर पर विभिन्न गतिविधियों जैसे वाद-विवाद प्रतियोगिता, सेमिनार, सुरक्षा संदेशो के पोस्टर,

स्लोगन, निबंध प्रतियोगिता, सुरक्षा पुरुस्कार वितरण, बैनर प्रदर्शनी, विभिन्न नाटक गीत तथा खेल प्रतियोगिता, विभिन्न कार्यशालाए और प्रशिक्षण कार्यक्रमों के माध्यम से लोगों को सुरक्षा, स्वास्थ्य और पर्यावरण के मुद्दो पर जागरूक किया जाता है.

इसके अलावा विभिन्न औद्योगिक कर्मचारियों के लिए सुरक्षा के मुद्दे पर विभिन्न प्रशिक्षण कार्यक्रमों का आयोजन किया जाता है ताकि वे अपनी ज़िम्मेदारी अच्छे से समझ सकें.

इस प्रशिक्षण में उन्हे विभिन्न मशीनों, रसायनिक और विद्युत जोखिमो से निपटने और विभिन्न सुरक्षा उपकरणो जैसे अग्निशामक, प्राथमिक चिकित्सा आदि का ज्ञान दिया जाता है. इस प्रकार इन कार्यक्रमों का संपूर्ण उद्देश्य राष्ट्रीय सुरक्षा को बढ़ावा देना ही होता है.

राष्ट्रीय सुरक्षा दिवस पर स्लोगन – Slogan on National Safety Day

  • सुरक्षित और स्वास्थ्य कारी कार्यस्थल के लिए मिलकर प्रयास करें.
  • जब तक आप सुरक्षा को अपना प्रथम ध्येय रखते है सफलता हमेशा आपके साथ रहेगी
  • जीवन सुरक्षा ही सर्वोपरि है, सुरक्षा बिना सब व्यर्थ है.
  • जीवन सुरक्षा कोई नारा नहीं है बल्कि यह एक जीने का तरीका है.
  • आपकी सुरक्षा केवल आप ही की ज़िम्मेदारी है, जो सुरक्षा से नाता तोड़ेगा वह समय से पहले जीवन को छोड़ेगा.
  • आपकी सुरक्षा सिर्फ और सिर्फ आप ही के हाथो में है.
  • स्वयं की सुरक्षा एक बेहद ही सस्ती और कारगर सुरक्षा पॉलिसी है.
  • घर में अपनों कि सुरक्षा अपने हाथो में रखे पर कार में सीट बेल्ट का प्रयोग करे.
  • सेफ्टी एक इंजन है जिसे चालू करने की चाबी केवल आपके पास है.

इस प्रकार राष्ट्रीय सुरक्षा सप्ताह मनाने का एक मात्र उद्देश्य आपको आपकी सुरक्षा के प्रति जागरूक करना है. 

Leave a Reply