Omega-3 Benefits: ओमेगा-3 फैटी एसिड के प्राकृतिक स्रोत,एवं फायदे

हेल्थ
ओमेगा-3 से मिलते हैं गजब के फायदे
ओमेगा-3 से मिलते हैं गजब के फायदे
Advertisement

Omega-3 Benefits: ओमेगा-3 से मिलते हैं गजब के फायदे, ये हैं ओमेगा-3 से भरपूर प्राकृतिक खाद्य पदार्थ

Omega-3 Benefits: हार्ट को स्वस्थ और मजबूत बनाने में ओमेगा-3 फैटी एसिड जरूरी है. ओमेगा-3 से त्वचा और बालों की समस्या को दूर करने में मदद मिलती है. इसमें भरपूर प्राकृतिक खाद्य पदार्थ.

Omega-3 Benefits: ओमेगा-3 फैटी एसिड (Omega-3 Fetty Acid ) एक ऐसा पोषक तत्व है, जो शरीर को कई फायदे पहुंचाता है. रोगों से लड़ने की क्षमता विकसित करने के लिए ओमेगा-3 फैटी एसिड (Omega 3 Fetty Acid) जरूरी है. ओमेगा-3 फैटी एसिड 3 तरह के होते हैं,

जिनमें ALA (अल्फा-लिनोलेनिक एसिड) ओमेगा पौधों में होता है. दूसरा DHA (डोकोसाहेक्सानोइक एसिड) और तीसरा EPA (इकोसापैनटोइनिक एसिड) ओमेगा पशु खाद्य पदार्थों में पाया जाता है. ये तीनों ही तरह के ओमेगा शरीर के लिए बहुत जरूरी हैं. हालांकि इनमें सबसे जरूरी ओमेगा-3 फैटी एसिड है. जानते हैं ओमेगा-3 फैटी एसिड से शरीर को मिलने वाले फायदे (Benefits of Omega-3) और प्राकृतिक स्रोत.


Omega-3 Benefits: ओमेगा-3 से मिलते हैं गजब के फायदे, ये हैं ओमेगा-3 से भरपूर प्राकृतिक खाद्य पदार्थ

अंडे- ओमेगा-3 एसिड के लिए आप डाइट में अंडे जरूर शामिल करें. अंडे में प्रोटीन, विटामिन और ओमेगा 3 एसिड होता है.

अलसी- अलसी के बीजों में भी काफी मात्रा में ओमेगा-3 फैटी एसिड होता है. अलसी में और भी कई पोषक तत्व जैसे विटामिन ई और मैग्नीशियम होते हैं.

यह भी पढ़े : अलसी क्या है,अलसी के फायदे और नुकसान

अखरोट- ओमेगा-3 फैटी एसिड का अच्छा सोर्स अखरोट भी है. आप डाइट में अखरोट शामिल कर सकते हैं. अखरोट में कई और पोषक कॉपर, विटामिन ई और मैग्नीशियम जैसे तत्व होते हैं.

सोयाबीन- सोयबीन में भरपूर ओमेगा-3 और ओमेगा-6 दोनों होते हैं. सोयाबीन में प्रोटीन, फोलेट, मैग्नीशियम और पोटैशियम, फाइबर और विटामिन होते हैं.

यह भी पढ़े : Vitamins : विटामिन क्या है एवं इनकी खोज

फूलगोभी- सब्जियों में फूलगोभी में भी ओमेगा-3 एसिड होता है. फूल गोभी में मैग्नीशियम, पोटैशियम और दूसरे कई जरूरी पोषक तत्व होते हैं.

मछली- सैल्मन मछली ओमेगा 3 का सबसे अच्छा स्रोत है. ओमेगा-3 में प्रोटीन, विटामिन बी5, मैग्नीशियम और पोटैशियम होता है. टूना मछली में सबसे ज्यादा ओमेगा 3 होता है.

ब्लूबेरी- ब्लूबेरी में कैलोरी कम और ओमेगा-3 फैटी एसिड काफी ज्यादा होता है. बेरीज में एंथोसायनिन एंटीऑक्सीडेंट होता है. जिससे हार्ट के रोग कम होते हैं.

राजमा- राजमा और सोयाबीन में भी डीएचए काफी होता है. चना और हमस से ज्यादा ओमेगा 3 न्यूट्रीएंट्स पाए जाते है

हरी सब्जियां- वेजिटेरियन लोगों के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड का अच्छा स्रोत हरी सब्जियां हैं. आप खाने में पालक और साग शामिल कर सकते हैं. इन सब्जियों में अल्फा-लिनोलेनिक एसिड होता है.

शैवाल- ओमेगा- 3 फैटी एसिड के लिए आप खाने में शैवाल और सीवीड शामिल कर सकते हैं. इसमें डीएचए की काफी मात्रा होती है. शाकाहारी लोग इसे अपनी डाइट शामिल कर सकते है.


ओमेगा 3 फैटी एसिड के फायदे (Omega-3 Fetty Acid Benefits)

  • त्वचा को मुलायम बनाने, झुर्रियां मिटाने, त्वचा को हाइड्रेट रखने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड बहुत फायदेमंद होता है.
  • प्रेग्नेंसी में शिशु और मां को निरोगी बनाने के काम करता है. इससे शिशु के शरीर और मस्तिष्क का विकास ठीक से होता है.
  • ह्रदय संबंधी रोगों को दूर करने के लिए ओमेगा 3 फैटी एसिड बहुत जरूरी है. ओमेगा 3 फैटी एसिड मेटाबोलिक सिंड्रोम को ठीक करने में मदद करता है.
  • ओमेगा 3 फैटी एसिड वजन घटाने और मोटापा दूर करने में भी मदद करता है.
  • ओमेगा 3 फैटी एसिड आंखों के रेटिना और दूसरी समस्याओं के लिए फायदेमंद होता है.
  • हाई ब्लड प्रेशर को कम करने में भी ओमेगा-3 फैटी एसिड मदद करता है.
  • शरीर में रोग प्रतिरोधक क्षमता को मजबूत बनाने के लिए भी ओमेगा 3 फैटी एसिड जरूरी है.
  • मनोविकार दूर करने के लिए भी ओमेगा 3 फैटी एसिड जरूरी है. इसकी कमी से भूलने की बीमारी जैसे अल्जाइमर हो सकती है.
  • कैंसर रोकने में असरदायक है ओमेगा-3 फैटी एसिड.
  • लिवर और अस्थमा में भी ओमेगा 3 फैटी एसिड की जरूरत होती है.


Disclaimer: इस आर्टिकल में बताई विधि, तरीक़ों व दावों की पुष्टि sangeetaspen.com नहीं करता है. इनको केवल सुझाव के रूप में लें. इस तरह के किसी भी उपचार/डाइट पर अमल करने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर लें.

Leave a Reply