Papaya health benefits and side effects| know the right time to eat papaya | Papita khane ka sahi samay

हेल्थ
पपीता कब खाना चाहिए और कब नहीं खाना चाहिए
पपीता कब खाना चाहिए और कब नहीं खाना चाहिए

Table of Contents

papaya health benefits, side effects and know the right time and quantity to eat क्या आप जानते है पपीता कब खाना चाहिए और कब नहीं खाना चाहिए?

Papaya health benefits : पपीता ऐसा फल है, जिसका हर भाग किसी-न-किसी रूप में उपयोग में आता है। इसे खाने से कई रोग दूर हो जाते हैं।साथ ही बाल और त्वचा स्वास्थ्य के लिए भी अच्छा माना गया है। और यह फल आपको कहीं भी बड़ी आसानी से मिल जाता है.

Advertisement
इसमें फाइबर, मिनरल्स, विटामिन C और एंटीऑक्सीडेंट्स भरपूर मात्रा में होते हैं.

यही वजह है कि वजन घटाने से लेकर शरीर को बीमारियों से दूर रखने तक में पपीते को बहुत फायदेमंद माना जाता है. यह एक लो कैलरी फ्रूट है। जो व्यक्ति को कई तरह के स्‍वास्‍थ्‍य लाभ देता है।हर दिन पपीता खाने से दिल की बीमारियां, कैंसर और ब्लड प्रेशर की समस्या दूर होती है. इसके अलावा, पपीते के पत्तों को डेंगू बुखार में भी काफी प्रभावी माना गया है।

साथ ही डायबिटीज पेशेंट के लिए पपीता एक बेहतरीन ऑप्शन है। स्वाद में मीठा होने के बावजूद इसमें शुगर की मात्रा बेहद कम होती है। पपीते में मौजूद विटामिन-ए की मात्रा आंखों की रोशनी के लिए सबसे अच्छा ऑप्शन होता है।

यह ही पढ़े : Green Banana: जानिए कच्चे केले के फायदे और नुकसान

Papaya side effects

भले ही पपीता सेहत के लिए बहुत अच्छा है लेकिन कुछ लोगों के लिए ये नुकसानदायक (Papaya Side Effects) भी साबित हो सकता है.

Papaya side effects: पपीते की लेटेक्स और हाई फाइबर सामग्री को देखते हुए , इसका ज्यादा सेवन आपके लिए रिस्क पैदा कर सकता है।हालांकि फल के साइड इफेक्ट पूरी तरह से सिद्ध नहीं हुए हैं, लेकिन ये जरूरी है कि आप उनके बारे में जागरूक हों। ऐसे में आप पपीते से होने वाले नुकसान से बच सकते हैं।

प्रेग्नेंट महिलाएं- प्रेग्नेंट महिलाओं को पपीते का सेवन नहीं करना चाहिए. पपीते में लेटेक्स और पैपीन होता है जो गर्भाशय को संकुचित कर सकता है. इसकी वजह से लेबर पेन समय से पहले होने लगता है. यह भ्रूण को सहारा देने वाली झिल्ली को भी कमजोर कर सकता है. हालांकि, ज्यादातर अधपका पपीता खाने पर ये दिक्कतें आ सकती हैं.

बच्चों के लिए असुरक्षित – डॉक्टर अक्सर कहते हैं कि एक साल से कम की आयु वाले बच्चे को पपीता नहीं खिलाना चाहिए। दरअसल, छोटे बच्चे पानी बहुत कम पीते हैं। ऐसे में पर्याप्त पानी के सेवन के बिना उच्च फाइबर वाला ये फल मल को कठोर बना देता है, जिससे बच्चों को कब्ज की शिकायत हो सकती है। इसलिए कच्चा या पका किसी भी रूप में बच्चों को यह फल न दें।

papaya ya papita khane ka sahi samay
papaya ya papita khane ka sahi samay

लूज मोशन होने का खतरा – पपीता विटामिन सी से भरा हुआ होता है। अगर जरूरत से ज्यादा पपीते खाते हैं तो लूज मोशन होने का खतरा बना रहता है।

अनियमित दिल की धड़कन वाले लोग- पपीता खाने से दिल से जुड़ीं बीमारियों का खतरा कम हो सकता है, लेकिन अगर आप पहले से ही अनियमित दिल की धड़कन की समस्या से जूझ रहे हैं तो पपीता आपके लिए हानिकारक हो सकता है. स्टडीज के मुताबिक, पपीते में कुछ मात्रा में साइनोजेनिक ग्लाइकोसाइड पाया जाता है ये एमिनो एसिड पाचन तंत्र में हाइड्रोजन साइनाइड बना सकता है. बहुत ज्यादा मात्रा में पपीता खाने से अनियमित दिल की धड़कन वाले मरीजों की समस्या और बढ़ सकती है.

एलर्जी वाले लोग- लेटेक्स एलर्जी से पीड़ित लोगों को पपीते से भी एलर्जी हो सकती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पपीते में चिटिनासेस नाम का एंजाइम होता हैये एंजाइम बॉडी में क्रॉस-रिएक्शन बनता है. इससे छींकने, सांस लेने में कठिनाई, खांसी और आंखों में पानी आने जैसी समस्या हो सकती है.

यह ही पढ़े :Pears : नाशपाती के फायदे व नुकसान

किडनी स्टोन वाले लोग- पपीते में विटामिन C की मात्रा बहुत ज्यादा होती है. इसमें पाया जाने वाला एंटीऑक्सीडेंट है, किडनी स्टोन की समस्या को और बढ़ाने का का काम कर सकता है. विटामिन C के बहुत अधिक सेवन से कैल्शियम ऑक्सालेट किडनी स्टोन बन सकता है. यह पथरी के आकार को भी बढ़ा सकता है.इससे पेशाब करने में बहुत कठिनाई महसूस होती है.

हाइपोग्लाइसीमिया वाले लोग- डायबिटीज के मरीजों के लिए पपीता बहुत फायदेमंद माना जाता है क्योंकि ये ब्लड शुगर को कंट्रोल में रखता है. हालांकि, पपीता खाना.उनके लिए बिल्कुल भी सही नहीं है जिन्हें हाइपोग्लाइसीमिया की समस्या हो यानी जिनका ब्लड शुगर कम रहता हो. ऐसा इसलिए है क्योंकि इसमें एंटी-हाइपोग्लाइसेमि…

अच्छे स्वास्थ्य और बेहिसाब आयुर्वेदिक गुणों का खजाना है। हालांकि इसे सही मात्रा में और सही समय पर न खाया जाए तो ये सेहत के लिए नुकसानदायक साबित हो सकता है।

know the right time and quantity to eat papaya
know the right time and quantity to eat papaya

पपीता का उपयोग – How to Use Papaya in Hindi

पपीता के गुण और स्वाद की वजह से लगभग हर भारतीय रसोई में पपीता का उपयोग कई प्रकार से किया जाता है। यहां हम पपीते का उपयोग करने के कुछ सरल और फायदेमंद तरीके बता रहे हैं।

पपीता कैसे खाएं 

  • पपीता का छिलका निकालकर उसे ऐसे ही खा सकते हैं।
  • पपीता का उपयोग जूस बनाने में किया जा सकता है।
  • फ्रूट सलाद बनाकर भी इसका सेवन किया जा सकता है।
  • पपीता का उपयोग करके उसका स्वादिष्ट हलवा भी बना सकते हैं।
  • कई स्थानों पर पके हुए पपीते का उपयोग मिठाई बनाने के लिए भी किया जाता है।

पपीता कब खाएं

पपीता का सलाद बनाकर सुबह नाश्ता में खा सकते हैं।
इसका जूस बनाकर दोपहर में पी सकते हैं।
इससे बने हलवा को रात में खा सकते हैं।

रोजाना (1 दिन में ) कितना पपीता खाए 

रोजाना 4 से 5 सर्विंग यानी लगभग 150 ग्राम पपीते का सेवन आदर्श माना जाता है (23)। साथ ही यह प्रति व्यक्ति के स्वास्थ्य व क्षमता पर भी निर्भर करता है।

यह ही पढ़े : Healthy Food : स्वस्थ आहार क्या है, लाभ, आदतें, कैसे खाएं

पपीता खाने का सही समय क्या है

आयुर्वेद में हर चीज को खाने का एक सही समय तय होता है। पपीते को सुबह 5 बजे से 9 बजे तक खाना चाहिए। एक टाइम में एक कटोरी पपीता सेहत के लिए सही होता है। साथ ही कई लोग इसे शाम को खाना पसंद करते हैं। जबकि आयुर्वेद के मुताबिक 6 बजे के बाद पपीता खाना पेट के लिए नुकसानदेह हो सकता है। सुबह के नाश्ते में पपीता खाया जा सकता है।लेकिन पपीते से बने हलवे को रात में खा सकते हैं

क्या पपीता त्वचा में निखार ला सकता है?

जी हां, पपीता त्वचा से टैन को हटाकर निखार लाने का काम कर सकता है ।

क्या पपीता खाने से शीघ्र मल आ सकता है?

जी हां, कुछ लोगों को पपीता खाने पर शीघ्र ही मल आ सकता है। दरअसल, पपीता में फाइबर होता है। फाइबर मल को मुलायम बनाकर शीघ्र मल त्यागने में मदद कर सकता है।

क्या मैं कच्चा पपीता खा सकता हूं?

हां, कच्चा पपीता सब्जी के रूप में खा सकते हैं, लेकिन फल के रूप पपीता खा रहे हैं, तो हमेशा पका हुआ पपीता ही खाएं।

क्या मैं खाली पेट पपीता खा सकता हूं?

जी हां, खाली पेट पपीता का सेवन किया जा सकता है। कहा जाता है कि इससे पाचन बेहतर होता है। वैसे कुछ लोगों का मानना है कि खाली पेट पपीता खाने के फायदे और नुकसान दोनों हो सकते हैं, इसलिए इसे लेने से पहले एक बार विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें।

लगभग हर किसी को पसंद आने वाला पपीता स्वाद और सेहत दोनों के हिसाब से बहुत खास होता है। इसका सेवन शरीर को जरूरी पोषण प्रदान करता है। हालांकि, गंभीर समस्या की स्थिति में इसे लेने से पहले विशेषज्ञ से सलाह जरूर लें। हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख में दी गई सभी जानकारी आपके लिए उपयोगी साबित होगी।

papaya health benifit, side effect
papaya health benifit, side effect

FAQ :

Q : पपीता खाने के बाद क्या नहीं खाना चाहिए?

Ans : पपीता खाने के बाद सामान्यतः तौर पर खट्टी चीजें नहीं खानी चाहिए.

Q : ज्यादा पपीता खाने के नुकसान

Ans : बहुत ज्यादा मात्रा में पपीता खाने से अनियमित दिल की धड़कन वाले मरीजों की समस्या और बढ़ सकती है

Q : पपीता गर्म है या ठंडा पपीते की तासीर

Ans :पपीते की तासीर गर्म होती है.

Q : पपीता खाने से कौन सा रोग होता है?

Ans :लेटेक्स एलर्जी से पीड़ित लोगों को पपीते से भी एलर्जी हो सकती है. ऐसा इसलिए होता है क्योंकि पपीते में चिटिनासेस नाम का एंजाइम होता है

Q : क्या पपीता खाने के बाद पानी पी सकते हैं?

Ans :पपीता खाने के एक घंटे के बाद आपको पानी पीना चाहिए

Leave a Reply